Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
07-10-2019, 04:25 PM,
#31
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
13


अपने कमरे मे लेटा हुआ मैं ये सोचने लगा कि भाई ऑर मामा 20 साल के थे जब मोम को
पहली बार चोदा था बट मामा की बारी तो मोम 22 की थी जबकि भाई 18 का था मोम करीब
34-35 की होगी,,ऑर अब मोम 40 के आस पास है तो मैं 18 का हूँ तो क्या मैं भी मोम को
चोद सकता हूँ,,,,,,ऑर मामा ने देल्ही मे ये क्यूँ कहा कि वो मुझे तैयार कर लेंगे अपनी ही
मोम को चोदने के लिए मैं भला कैसे मामा की बात मान कर अपनी ही माँ को चोद सकता हूँ
ये बात ऑर है कि मेरा दिल भी वही चाहता था बट मामा ने इतने विश्वास के साथ कैसे कह
दिया मोम को कि वो मुझे मना लेंगे,,,मैं यही सोच रहा था,,मेरे मन मे आया कि मैं एक
थर्स्टी फिश हूँ जो पानी मे रह कर भी प्यासी है,,,,घर पे इतनी सारी चूत है जो हर
वक़्त नंगी होके चुदने के इंतज़ार मे रहती है ऑर एक मैं हूँ कि मूठ मार कर टाइम पास कर
लेता हूँ मुझे खुद पे गुस्सा आने लगा,,,मैने सोच लिया अब जो भी हो जाए मुझे कुछ ना
कुछ तो करना ही है,,तभी शोभा मुझे डिन्नर के लिए बुलाने आई ऑर मैं नीचे चला गया
डिन्नर करके वापिस आया ओर सो गया ,,,अगले दिन सनडे था जो बोर गुजरा मैं रूम मे बैठ
कर गेम खेलता रहा,,,,

नेक्स्ट डे मैं सोनिया के साथ जब कॉलेज से वापिस आया तो मामा गेट पे खड़ा हुआ था,,मामा जी
आप घर के बाहर गेट पे क्यू खड़े है आज भी मेरी बाइक चाहिए क्या,,,नही देता

आज बाइकनही चाहिए मुझे तेरे से थोड़ा काम है,,
,क्या काम है मामा जी,,बेटा मुझे कहीं जाना है ,

,तो मेरा बाइक ले जाओ मामा जी,,,,,,,,,

,नही बेटा मुझसे बाइक नही चलेगा आज ,,
,क्यू क्या हुआ मामा जी,,,,तभी मामा ने मुझे अपना राइट हंड दिखाया जिसपे चोट लगी हुई थी,,
मैने बोला ये क्या हुआ मामा जी,कुछ नही बेटा हल्की सी चोट लग गयी है इसलिए बोल रहा
हूँ मुझे बाइक नही बाइक के ड्राइवर की भी ज़रूरत है आज अगर तुझे कोई काम नही हो तो
क्या तू मेरे साथ चल सकता है,,,,,,,

कोई जरोरी काम है क्या मामा जी,,,,,

ज़रूरी है भीऑर नही भी तुम बोलो तुमको तो कोई काम नही है अगर है तो बता दो मैं ऑटो मे चला
जाता हूँ,
,अरे नही मामा जी मेरे पास तो टाइम ही टाइम है आपके लिए मेरे होते हुए आप ऑटो
मे नही जा सकते ,,,मैने सोनिया को उतर कर अंदर जाने को बोला ऑर मामा जी मेरे साथ बैठ
गये,,


मैने बाइक चलाना शुरू किया ऑर मामा जी रास्ता बताते रहे,,मामा जी ने कहाँ जाना था मुझे
पता था बट फिर भी मैं अंजान बनके रास्ता पूछता रहा,,मुझे पता है जब मामा जी की
चरस ख़तम हो जाती है तभी उनको मेरी बाइक की ज़रूरत पड़ती है,,वैसे तो मामा जी को
डॉक्टर ने बोला था चरस पीने को क्यूकी उनको कोई बीमारी थी ऑर चरस मेडिसिन की तरह
लेने को बोला था बट मामा जी को चरस की लत लग गयी थी,,,,मामा जी रास्ता बता रहे थे
ऑर मैं उनके बताए रास्ते पे बाइक चला रहा था लेकिन मैने देखा कि हम तो किसी ऑर ही
रास्ते पर चल रहे थे वो रास्ता चरस वाली जगह की तरफ नही जाता था,,तभी हम लोग
ऐसे मुहल्ले मे पहुँच गये जहाँ बहुत गंदगी थी,,हर तरफ कचरा ही कचरा पुराने घर
कयि घरो पे तो पैंट भी नही हुआ था,,,कुछ लॅडीस वहाँ गली मे ही चारपाई लगाकर
घर के बाहर बैठी हुई थी,,,उन लॅडीस मे से ज़्यादातर ने सिर्फ़ पेटिकोट ऑर ब्लाउस पहना हुआ
था जबकि कुछ ने साड़ी पहनी हुई थी,,ज़्यादातर लॅडीस साँवले या काले रंग की थी बट कुछ
गोरी भी थी,,उन सब के ब्लाउस डीप कट वाले थे,,बहुत बड़े बड़े बूब्स थे सबके ऑर साथ
मे डीप कट ब्लाउस की वजह से उनके बूब्स ब्लाउस मे होते हुए भी नंगे ही लग रहे थे,,
उनके छोटे छोटे बच्चे बाहर गली मे ही खेल रहे थे,,ऑर कुछ को तो रोड पे ही चद्दर
बिछा का वही लेटे हुए थे,,,
Reply
07-10-2019, 04:25 PM,
#32
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
मामा ने एक पुराने से घर के सामने मुझे बाइक रोकने को कहा
मैने बाइक रोक दी,,,,फिर मामा ने मुझे थोड़ी दूर एक पेड़ था उसके नीचे रुकने को बोला
ऑर 15-20 मिनिट वेट करने को बोला,,,बेटा मैं अभी आया अपने एक दोस्त से मिलकर तुम यहीं
रूको वैसे तो मैं 15-20 मिनिट मे आ जाउन्गा बट अगर देर लगी तो जाना नही वेट करना,ऑर
किसी से कोई बात नही करना ,,इतना बोल कर मामा घर के बाहर बैठी हुई लॅडीस की तरफ
चल पड़ा ऑर मैं पेड़ की तरफ,,मैने पेड़ के पास बाइक रोक कर मूड कर मामा की तरफ
देखा तो मामा उन लॅडीस से कुछ बात कर रहा था,,,फिर मामा ने उन लॅडीस मे से एक लेडी
को कुछ पैसे दिए ऑर वो लेडी उनको अपने साथ लेके घर के अंदर चली गयी,,,उसने ब्लॅक रंग
का पेटिकोट ऑर ब्लाउस पहना हुआ था,,,वो बहुत गोरी थी देखने मे नेपाली लग रही थी ऑर
उसका बदन किसी पंजाबी लेडी की तरफ भरा हुआ था,,किसी खाते पीते पंजाबी घर की
औरत लग रही थी वो,,


मामा उसको लेके घर के अंदर चला गया ओर मैं देखने लगा कि उस गली मे जितने भी घर थे
उनके बाहर काफ़ी लॅडीस गली मे चारपाई लगा कर बैठी हुई थी कुछ लोग वहाँ आ जा रहे
थे ,,,जो भी आदमी वहाँ आता वो घर के बाहर बैठी हुई लॅडीस से बात करता फिर एक लेडी
को पैसे देता ऑर उसके साथ घर के अंदर चला जाता,मुझे ये सब देख कर समझने मे ज़्यादा
देर नही लगी थी कि मैं रंडियों के मुहल्ले मे आ गया हूँ,,फिर भी मैं वही खड़ा मामा जी
की वेट करने लगा,,मामा जी करीब 40-45 मिनिट बाद वापिस आए ऑर आके बाइक पर बैठ गये,,,


क्या मामा जी इतना टाइम कहाँ लगा दिया मैं कब्से वेट कर रहा था 15-20 मिनिट का बोला ऑर
45 मिटाट लगा दिए लगता है चरस लेने गये थे ऑर वही सिगरेट भरके पीने लग गये
होगे,,,,,

अरे नही बेटा ऐसी बात नही है मैं ,,,,,,

ऐसी ही बात है आपने अंदर ही कहीं चरस भरके पी ली होगी ऑर नशे मे आप ये भी भूल गये होगे कि बाहर आपका भांजा भीआपका वेट कर रहा है ,,,

,अरे बेटा नशे मे तो था इसलिए भूल गया कि तुम मेरी वेट कर रहे
हो बट नशा चरस का नही था किसी ऑर चीज़ का था,,,

,किसी ऑर चीज़ का???किस चीज़ का मामा जी????

..चरस से भी अच्छा नशा बेटा,,

लेकिन किस चीज़ का मामा जी,,,

औरत का नशा,,,,,,,,,,,,,,,,

,,,ये कॉनसा नशा होता है मामा जी,,,,,,

,तेरी कोई गर्लफ्रेंड है क्या बेटा,,

,नही मामा जी,,,

तभी तो तुझे औरत के नशे के बारे मे पता नही है,,जिस दिन तेरी कोई गर्लफ्रेंड बन गयी तुझे सब
पता चल जाना है फिर तूने भी उसका नशा करना शुरू कर देना है,,,

,मुझे पता था मामा क्या बोल रहा था ऑर क्यू बोल रहा था वो मुझे पटरी पे लाने की कोशिस कर रहा था
बट मैं तो अंजान बनने का नाटक करता रहा,,,,,,औरत नाम का भी कोई नशा होता है क्या
मामा जी ,

,हां बेटा होता है औरत नाम का नशा सबसे बढ़िया नशा है ज़िंदगी का जिसको
एक बार लत्त लग जाती है वो फिर उसके बिना रह नही सकता,,,

मुझे नही पता ऐसे नशे के बारे में मामा जी वैसे भी नशे के बारे में आपको ही पता होगा क्यूकी आप तो अपनी मेडिसिन को भी नशे के लिए लेते हो,

,,अरे क्या करूँ बेटा इसके बिना गुज़ारा नही मेरा ऑर इस नशे को
करने बाद में औरत वाला नशा करके नशा डबल हो जाता है

,,,मैं कुछ समझा नही मामाजी

,,,अभी इतनी जल्दी तू कुछ नही समझेगा बेटा थोड़ा टाइम रुकजा सब समझ जाएगा या फिर
जब तेरी कोई गर्लफ्रेंड बन जाएगी तो अपने आप समझ आ जाएगी,,,मामा पूरी कोशिश कर
रहा था कि मैं उसकी बातों को समझू बट मैं तो ऐसे अंजान बन रहा था जैसे कोई दूध
पीता बच्चा,,,ऐसे ही बातें करते हम लोग घर पहुँच गये,,
Reply
07-10-2019, 04:25 PM,
#33
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
घर पहुँच कर मैने देखा कि हमारे घर के बाहर एक बड़ा सा टेंपो खड़ा हुआ था ऑर कुछ
मजदूर लोग उसमे समान चढ़ा रहे थे,,मैं ऑर मामा जी बाइक से उतर कर घर के अंदर
गये तो वहाँ डॅड सोफे पर बैठ कर कुछ लोगो से बात कर रहे थे वहाँ डॅड के इलावा 2
लोग ऑर थे मोम ऑर सोनिया भी वही पास मे खड़ी हुई थी मैं ऑर मामा जी भी उनके पास जाके
खड़े हो गये,,,उनकी बातों से मुझे पता चला कि वो 2नो लोगो मे से एक ठेकेदार था ऑर एक
राजमिस्त्री जो लोग घर की कन्स्ट्रक्षन करते है ,,,तभी कुछ देर उनकी बातें चलती रही
उनकी बातों से मुझे इतना तो पता चला कि वो लोग हमारे घर की कन्स्ट्रक्षन की बात कर
रहे थे फिर 15-20 मिनिट बाद वो लोग डॅड से अलविदा लेके चले गये,,उनके जाने के बाद डॅड
ने हम लोगो को अपने पास बैठने को बोला,

,,,,,,डॅड ये लोग यहाँ क्या कर रहे थे अपने घर मे,,
,,,,,,,,बेटा ये लोग अपने घर की कन्स्ट्रक्षन के लिए आए है अपने घर की हालत
थोड़ी ख़स्ता हो गयी है पैंट पुराना हो गया है ऑर कई रूम्स मे टाइल्स भी टूटी हुई है
ऑर किचन मे भी की जगह फ्लोरिंग टाइल्स टूट गयी है ऑर वहाँ से कोक्करॉच निकल रहे
है सोनिया ने मुझे बोला था कि तुम लोगो के रूम मे भी कई बार कोक्करॉच निकले थे ऑर
तुम्हारी बुआ ने भी बोला था किचन के बारे मे इसलिए मैने उन लोगो को अपने घर की दोबारा
से री-कंस्ट्रक्शन करने को बोला है,,ज़्यादा कुछ नही करना बस पूरे घर की फ्लोरिंग
टाइल्स चेंज करनी है ऑर बाथरूमस की भी साथ ही सारे घर मे न्यू पैंट भी करना है,,
वो लोग आज से ही काम शुरू कर रहे है

,,,,,,तो क्या डॅड हम लोगो को तब तक किसी ऑर घर मे शिफ्ट होना पड़ेगा,
,,,,नही बेटा,
,,,,,तो फिर बाहर टेंपो क्यू खड़ा हुआ है ऑर लोग उसमे समान क्यू चढ़ा रहे है
,,,बेटा वो तुम्हारी बुआ के रूम का कुछ ज़रूरी समान है
बुआ अपने बुटीक के उपर बने फ्लॅट मे रहेगी जब तक काम पूरा नही हो जाता,
,ऑर हम लोग मैने बाकी लोगो के बारे मे पूछा,
,,,,तुम लोग यही रहोगे,,,पहले वो लोग उपर वाले फ्लोर
का काम ख़तम करेंगे बाद मे नीचे वाले घर की बारी आएगी,,,इसीलिए तुम्हारी बुआ के रूम
का कुछ समान बुटीक पहुँचा दिया है ऑर बाकी का सम्मान तुम दोनो के रूम का कुछ
समान उपर वाले स्टोर रूम मे ऑर कुछ नीचे वाले स्टोर रूम मे रख दिया है,
,,लेकिन तब तक हम लोग कहाँ रहेंगे डॅड,
,,,,,,,बुआ ऑर शोभा दीदी तो बुटीक पे रहेंगे ऑर मैं भी ,,क्यूकी उस एरिया मे चोरियाँ बहुत हो चुकी है पहले के कुछ दिनो मे तुम्हारी बुआ बहुत डर रही है बिना किसी मर्द के वहाँ रहने से वैसे भी घर मे कोई मर्द होता है तो डर
कम लगता है
,,,ऑर सोना अपनी फ्रेंड कविता के घर रहेगी मैने कविता के डॅड से बात करली
है उन लोगो को कोई प्रॉब्लम नही है वैसे भी सोनिया वहाँ रहना चाहती है,
,,,,ऑर हम लोगडॅड,मैने अपने मोम ओर मामा जी के बारे मे पूछा
,,,,,,तुम लोग यहीं रहोगे मैं सीढ़ियों पे एक डोर लगवा देता हूँ आज ही ताकि कोई नीचे नही आ सके ऑर साथ मे गार्डेन के पास वाले डोर को भी लॉक करवा देता हूँ,,वो लोग अपना काम बाहर करते रहेंगे ऑर तुम लोग नीचे
सोते रहना,,,,ऐसा करना तुम मोम के साथ सो जाना बेटा,,,,मेरा तो दिल ही खुश हो गया मैं
बाहर प्लान बना रहा था कि किसी ना किसी तरह घर की किसी चूत को तो चोदना है चाहे
वो किसी की भी चूत हो ऑर घर मे मुझे आते ही मोक़ा भी बन गया मोम के साथ सोने का,,,,,
लेकिन डॅड मैं मोम के साथ कैसे सो सकता हूँ,
,,,,,,क्यू मेरे बेटे को अपनी मोम के साथ सोने मे शरम आती है क्या लगता है मेरा बेटा कुछ ज़्यादा ही बड़ा हो गया है जो मोम के साथ सोने से शर्मा रहा है लेकिन तू ये मत भूल कि बच्चे जितने मर्ज़ी बड़े हो जाए माँ-बाप
के लिए वो बच्चे ही रहते है,
,,,,,,,लेकिन मोम ववूऊ,
,,,,,अरे बेटा वो वो क्या कर रहा है अगर तुझे मोम के साथ सोने मे कोई परेशानी है तो मामा के साथ सो जाना,,
,,,,मैने एक दम ज़ोर्से बोला बोला बिल्कुल नही मामा के साथ तो बिल्कुल नही सो सकता मैं ,,मोम के साथ ही सो
जाउन्गा मेरे ऐसा बोलने पर सब लोग ज़ोर से हँसने लगे,

,,,इस सब मे कितना टाइम लगेगा डॅड
,,,बेटा उन लोगो ने कम से कम 30-40 दिन बोले है तब तक हम लोगो को ऐसे ही रहना पड़ेगा
इतना बोल कर डॅड उठे ऑर बोले कि मैं बॅंक जा आ रहा हूँ शाम को मिलते है ऑर डॅड वहाँ
से चले गये,,

डॅड के जाने के बाद मोम किचन मे चली गयी ऑर सोनिया अपना समान पॅक करने लगी,,मामा जी
सोफे पे बैठ कर टीवी देखने लगे,,,,मजदूर लोग अब भी समान निकाल रहे थे घर से,,

तभी कुछ देर बाद सोनिया ने समान पॅक किया ओर मैं उसको कविता के घर छोड़ने चला गया,,
जब मैं सोनिया को छोड़ कर वापिस आया तो मोम खाना लगा रही थी मैं भी डाइनिंग टेबल पे
बैठ गया ,,मोम ने मुझे ऑर मामा जी को खाना दिया ऑर खुद भी हमारे साथ बैठ कर खाना
खाने लगी,,मैने खाना खाते टाइम नोट किया कि आज मोम कुछ ज़्यादा ही सेक्सी लग रही थी
उनके कपड़े तो वही थे जैसे वो रोज पहनती थी बहुत आज उनका ब्लाउस कुछ डीप कट वाला
था जब डॅड घर पे थे तब तो उन्होने साड़ी से अपने बूब्स को कवर किया हुआ था बहुत अब
उनके साड़ी साइड पर थी ऑर गोरे गोरे बूब्स बाहर की तरफ निकले हुए थे,,,मैं समझ गया
ये मोम ऑर मामा जी का प्लान है मुझे सिड्यूस करने का,,,मोम कुछ ज़्यादा दी देख रही थी मेरी
तरफ ऑर बार-बार स्माइल कर रही थी,,मैने खाना खाया ऑर टीवी देखने चला गया,,,मामा जी
खाना कहके बाहर चले गये ओर मोम मेरे पास आके बैठ गयी,,,,हम लोग ऐसे ही टीवी देखते
रहे,,,तभी कुछ देर बाद एक मजदूर मेरे पास आया ओर बोला ,,बाबू जीई समान टेंपो मे रख
लिया है जो बड़े बाबू जी ने बोला था ऑर बाकी का उपेर वाले स्टोर रूम मे,अब हम जा रहे
है इस समान को वहाँ छोड़ने जहाँ का अड्रेस दिया है अब हम लोग जा रहे है

,,ठीक हैजाओ तुम लोग,मैं उसको बाहर छोड़ कर डोर बंद करके वापिस मुड़ा ही था कि फिर से डोर बेल
बजी,मैने डोर खोला तो 2 लोग हाथ मे कुछ समान लिए खड़े थे,,उनके पास एक लकड़ी का
न्यू डोर भी था,,जी बोलिए

,,साहब हमको बॅंक वाले अशोक सर ने भेजा है बोल रहे थे कोईडोर लगवाना है,

,मैने कहाँ जी हां आप लोग अंदर आए वो लोग अंदर आ गये ओर मैने उनको
सीढ़ियों वाली वो जगह दिखाई जहाँ डोर फिट करना था,,,वो लोग डोर फिट करने लगे ऑर
मैने मोम को उन लोगो के लिए चाइ बनाने को बोला,,मोम किचन मे जाके चाइ बनाने लगी..
उन लोगो ने चाइ पे ऑर करीब 1 अवर मे डोर फिट करके चले गये,,,मैं नीचे जाके एक लॉक
ले आया ऑर डोर पे लगा दिया ऑर चाबी मोम को दे दी,,फिर अब हम दोनो ही थे घर मे,,मैं
ऑर मोम,,,हम टीवी देख रहे थे मोम बार बार टीवी देखते हुए मेरी तरफ देख रही थी बट जब
मैं मोम की तरफ देखता तो वो नज़रे चुराके टीवी देखने लग जाती,,मोम की साड़ी अभी भी
एक तरफ थी उनके खुले हुए बूब्स बाहर निकल रहे थे मेरा दिल तो कर रहा था कि अभी
जाके उनको मसल दूं बट मैं भी जल्दी नही करना चाहता था,,
Reply
07-10-2019, 04:26 PM,
#34
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
शाम के 7 बज चुके थे बट डॅड अभी तक नही आए थे,,मैने मोम को बोला कि डॅड अभी तक
क्यू नही आए तो मोम ने बोला कि मुझे क्या पता बॅंक से सीधा चले गये होंगे अपनी प्यारी
बेहन के पास अब रात को वहीं जो रुकना है उनकी बेहन की देखभाल के लिए,,,मोम के बोलने
का तरीका थोड़ा गुस्से वाला था वो जैसे डॅड को ताना मार रही थी,,,बट मोम डॅड तो अपने
समान यानी कपड़े तो लेके ही नही गये,,कपड़ो की क्या ज़रूरत उनको,

,,क्या मोम मैं समझा नही,
कुछ नही बेटा कपड़े शायद वो सुबह आके बदल लिया करेंगे या फिर कल ले जाएँगे,,मुझे
मोम के बोलने का तरीका कुछ अजीब लग रहा था,,खैर मैने सोचा मुझे टेन्षन लेने की क्या
ज़रूरत मुझे तो अब रात के बारे मे सोचना है आज मोम के साथ जो सोना है,,मैं यही सोच
कर खुश होने लगा ,,




रात को मोम डिन्नर तैयार कर रही थी मामा अभी तक नही आया था बाहर से,,शायद नशे मे
कहीं बैठा होगा जब नशा उतरेगा तो अपने आप वापिस घर आ जाएगा वो तो अक्सर ऐसे ही
करता है कभी कभी तो रात को नशे की हालत मे घर के अंदर ही नही आता ऑर घर के
पीछे वाले गेट से अंदर आके गार्डेन मे सो जाता है,,,मैं सोफे पे बैठा टीवी देख रहा था
ऑर साथ साथ अपनी मोम को किचन मे खाना बनाते देख रहा था,,मोम ने वाइट पेटिकोट ऑर
वाइट ब्लाउस के उपर हल्के ब्लू कलर की साड़ी पहनी हुई थी,,मैं मोम की तरफ देख रहा
था तभी मोम की नज़र मेरे पे पड़ी ऑर वो मुस्कुराने लगी उनकी मुस्कान थोड़ी शरारत भरी
थी उन्होने ने मुझे देखा ऑर मुस्कुरा कर वापिस अपने काम करने मे लग गयी,,,कुछ देर बाद
मुझे मोम की आवाज़ सुनाई दी,,,,,,सन्नी बेटा ज़रा यहाँ आना तो,

,,,,मैं उठकर किचिन की तरफ चल पड़ा ,,,जी मोम अपने मुझे बुलाया,

,,,हां सन्नी बेटा डाल को तड़का लगाना है ऑर घी का डब्बा उपर की शेल्व्स पर पड़ा है मेरा हाथ नही पहुँच रहा पहले तो एक छोटा सा टेबल रखा हुआ था बट अब घर का समान इधर उधर बिखर गया है तो वो टेबल कहीं
नज़र नही आ रहा,

,मैने बोला कोई बात नही मोम मैं हूँ ना मैं उतार देता हूँ वो डब्बा
मैने अपना हाथ उपेर किया बट मेरा हाथ भी वहाँ तक नही पहुँचा वो डब्बा सबसे उपर
वाली शेल्व्स पे पड़ा हुआ था,,मोम ये तो बहुत उपर पड़ा हुआ है मेरा हाथ भी वहाँ तक
नही पहुँच रहा,
,,तो क्या करे बेटा,
,,,मोम एक काम हो सकता है आप मेरे को उपर उठाओ
ओर मैं डब्बा उतार लूँगा मोम बड़ी हैरानी से मेरी तरफ देखने लगी ओर मैं हँसने लगा,,,
मैं मज़ाक कर रहा हूँ मोम ,
,,,,अरे बेटा एसा मज़ाक मत किया कर मेरी तो जान ही निकल गयी थी ये सोच कर कि मैं तुझे कैसे उठा सकती हूँ,,,,,फिर मैं ऑर मों दोनो हँसने लगे,,मैने बोला कि आज बिना घी के ही तड़का लगा दो मोम,
,,,,अरे नही बेटा घी तो नीचे भी पड़ा है लेकिन वो दूसरा है मैं तड़का देसी घी मे लगाती हूँ जो उपर पड़ा हुआ है
,,,तो दूसरे घी से ही तड़का लगा लो मोम

,नही बेटा उस से तड़का लगाने मे मज़ा नही आता ऑरना ही दाल मे वो स्वाद आता है जो देसी घी से आता है,,
,,,,फिर तो एक ही रास्ता है मोम,,,
तभी मोम बीच मे ही बोल पड़ी कॉन्सा रास्ता यही कि मैं तुझे गोद मे उठा लूँ ऑर तुम घी
का डब्बा उतार लो,,,मोम हँसने लगी ऑर मैं भी,
,,,नही मोम मैं आपको उठा लेता हूँ ऑर आप घी का डब्बा उठा लेना,,,,पहले मोम सोच मे पड़ गयी,,मुझे लगा ये नही मानेगी,,,,क्या हुआ मोम ,,

,,,,,कुछ नही बेटा मैं सोच रही थी कि तुम मुझे उठा सकोगे क्यूकी मैं थोड़ी मोटी
हूँ ना,
,,,,मैने बोला मोम आपका बेटा बड़ा हो गया है आपको उठाने के क़ाबिल भी,,,,हाँ वो तो
दिखता है
,,,,इतना बोल कर मों मेरे पास आ गयी,,



मोम मेरे पास आके खड़ी हो गयी ओर मैं उनके पीछे खड़ा हो गया,,मैने थोड़ा नीचे होके
मोम को उनके घुटनो के करीब से उनकी टाँगे पकड़ कर उपर उठा लिया जिस वजह से मोम की
बड़ी ओर मोटी गान्ड मेरे चहरे से लग गयी मैने भी अपना चेहरा मोम की गान्ड से हल्का सा
दबा दिया,,मोम ने डब्बा उठा लिया ऑर मेरी तरफ नीचे देख कर हल्की सी स्माइल की ऑर मुझे
उनको नीचे उतारने का इशारा किया,,मैने अपने हाथों की पकड़ को मोम की टाँगो पे हल्का सा
कमजोर किया ताकि उनको नीचे उतार सकूँ,,मैं एक दम से उनको नही उतारना चाहता था कहीं
वो गिर ना जाए क्यूकी मेरा मोम हल्की सी वजनी थी,,,मेरी पकड़ मोम की टाँगो पर कमजोर
होते ही मोम धीरे से नीचे की तरफ खिसकने लगी,,जिसकी वजह से मेरा फेस मोम की गान्ड
पे होते हुए उनकी नंगी पीठ से टच करने लगा ऑर आगे से मेरे हाथ उनके नंगे पेट
पर टच होने लगे मैने भी अपना फेस थोड़ा आगे की ओर कर दिया ताकि मोम के बदन को अपने
लिप्स से महसूस कर सकूँ आगे से मेरे हाथ मोम के पेट से होते हुए उनके बूब्स पे आ गये
थे ऑर मेरे लिप्स मोम के ब्लाउस के उपर से उनकी गर्दन पे शोल्डर के पास पहुँच गये थे
मोम किचन मे खाना बना रही थी इसलिए उनका बदन पसीने से भीगा हुआ था इसलिए
मुझे उनके पसीने की बहुत तेज गंध आ रही थी,

,,,उनके पसीने की गंध बहुत तेज थी जोमेरी साँसे के साथ अंदर जाके एक तूफान पैदा कर रही थी ऑर मुझे बहुत ज़्यादा आकर्षित कररही थी मुझे वो गंध बहुत अच्छी लग रही थी ,,मुझे ऐसा लग रहा था वो गंध सेक्स ऑर
वासना की एक डोर मुझे अपनी ही सग़ी मोम की तरफ खींच रही थी,,मैं एक अजीब से
एहसास से मदहोश होके एक नई दुनिया मे पहुँच गया था ऑर उस दुनिया की अंजान राहों पे
मस्ती से चलता जा रहा था जहाँ ना सफ़र का पता था ना मंज़िल का,,मैं तो बस रास्ते
पे चलते हुए एक अंजान ऑर मस्ती भरे सफ़र का मज़ा ले रहा था,

,,मैं नीचे उतर गयी हूँ अब तो मुझे छोड़ दो बेटा,
,,मैं एक डर से नींद से जागा ऑर अंजान रस्तो के सफ़र सेवापिस अपनी किचिन मे पहुँच गया,
,,,मोम अपनी गर्दन मेरी तरफ घुमा कर मुझे देख रहीथी ऑर मुझे उनको छोड़ने को बोल रही थी,,,मैने एक झटके मे मोम को छोड़ दिया ,,मोम मेरी तरफ देख कर एक मस्ती भरी मुस्कान देकर वापिस अपने काम मे लग गयी,,



मोम डाल को तड़का लगाने के लिए तड़के वाले बर्तन मे घी डाल रही थी मैं मोम के पास
जाके खड़ा हो गया,,,,,,मोम आप मुझे भी किचिन का काम सीखा दो जैसे डाल सब्जी बनाना ऑर
रोटी पकाना,,,,,मोम हँसने लगी
,,,तू भला कीचिन का काम सीख कर क्या करेगा अपनी बीवी को बना के खिलाएगा क्या
,,नही मोम ऐसी बात नही है मैं तो आपकी हेल्प करने के लिए बोल
रहा था,

,,बेटा ये किचिन के काम मर्दो को शोभा नही देते ये काम तो औरतो का है बस मर्दो
का काम तो कुछ ऑर ही होता है,
,,,,क्या काम मोम,,,,,,,,
,,,,,,यही जॉब पे जाना ओर पैसा कमाना,,
लेकिन मोम मैं तो आपकी हेल्प करना चाहता हूँ बस जबसे शोभा दीदी ने वो भाऊ के साथ उनकी
बुटीक पे जाना शुरू किया है वो तो आपको भूल ही गयी है कभी घर पे आके आपकी हेल्प
ही नही करती तो मैने सोचा कि मैं आपकी हेल्प कर दिया करूँगा,,

,,,मों मेरे पास आई ऑर मेरे फॉरहेड पे किस करके बोली मेरा बेटा कितनी परवाह करता है अपनी मोम की ऑर एक शोभा
है जो अपनी कामिनी बुआ के साथ बुटीक पे जाने लगी तो मोम को भूल गयी कभी किचिन की
तरफ भी नही आती अब,मोम ने ये सब गुस्से मे बोला था,,,,,मोम आप बुआ पे गुस्सा क्यू करती
हो ऑर आप दोनो बात क्यू नही करती कभी,
,,,,,,,चुप कर तू तुझे इस सब मे पड़ने की कोई
ज़रूरत नही तू अपनी स्टडी कर बस ये हम लोगो की आपस की बात है तुम सब बच्चो को इस सब
से दूर रहना है,,,,मों कुछ ज़्यादा ही गुस्से मे आ गयी थी ,,मैं थोड़ा उदास हो गया ये
तो गड़बड़ हो गयी थी मैं तो मोम को खुश करने की कोशिश कर रहा था यहाँ तो बाजी ही
उल्टी पड़ गयी मों तो गुस्सा हो गयी,तभी मुझे उदास देख कर मोम बोली,
,,,,,सॉरी बेटा मैनेतेरे पे गुस्सा किया बट तुझे पता है मैं तेरी बुआ से ऑर तेरी बुआ मेरे से बात नही
करती ऑर कभी अगर हम दोनो की फाइट होती है तो घर का कोई भी शक्स हमारी फाइट मे
नही बोलता यहाँ तक कि तेरे दाद भी नही ,,मैं भी नही चाहती की मेरे बच्चों मे हमारी
फाइट का असर हो इसलिए मैं तुम सबको इस से दूर रखी हूँ,,तुम प्ल्ज़्ज़ कभी दोबारा मेरे
से बुआ के बारे मे कोई बात नही करना उसका नाम भी नही लेना,,
,,,,आइम रेआली-2 सॉरी मोम,,
इतना बोल कर मैने फिर उदास हो गया तभी मोम मेरे पास आयो ऑर मुझे अपनी बाहों मे भर
लिया एक ही पल मे मेरी उदासी दूर हो गयी ऑर मैने फिर से सॉरी बोलके मोम को अपनी बाहों
मे जाकड़ लिया,,
Reply
07-10-2019, 04:26 PM,
#35
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
फिर खाना तैयार हो गया ऑर हम लोग मामा की वेट8 करने लगे करीब 9 बज चुके थे कुछ ही
देर मे डोर खुला ऑर मामा अंदर आ गये,,,,मोम ने मामा को मूह हाथ धोने के लिए बोला ओर
खुद किचन मे खाना लेने चली गयी मैं भी उठ कर मोम की हेल्प करने किचिन मे चला
गया,,मैने किचिन मे जाके कुछ बर्तन उठा लिए
,,,,,,अरे बेटा तुम ये क्या कर रहे हो,,
/.......तुम्हारी हेल्प कर रहा हूँ मोम मैं खाना बना तो नही सकता लेकिन डाइनिंग टेबल पे खाना
लगा कर आपकी हेल्प तो कर ही सकता हूँ,,
,,,,मेरा बेटा कितना स्याना हो गया है कितनी फ़िक्रहै उसको अपनी मोम की,,मोम ने भी कुछ समान उठा लिया ऑर हम बाहर डाइनिंग टेबल पर आ गये

हमने खाना लगाया ऑर तभी मामा भी मूह हाथ धो कर वहाँ आ गये,,कहाँ रह गये थे तुम
भाई हम लोग वेट8 कर रहे थे,,अरे बहना मैं बस बाहर घूमने गया था,
,,थोड़ा जल्दी आ जाते तुमको तो पता है आज घर पे कोई नही है,
,अब आगे से भी टाइम पर आ जाना घर पे,
अरे बहना डरती क्यू है सन्नी तो है ना घर पे तू टेंशन क्यू लेती है अब तेरा बेटा बड़ा
हो गया है जवान हो गया है,,,भाई मैं टेन्षन तो लूँगी तेरी तू मेरा भाई है,,वैसे भी
मैं तो खाने क लिए तेरा वेट8 कर रही थी तुझे पता है ना हम लोग 9 बजे डिन्नर करते
है,
,,,,,,,हां बेहन पता है अब बातें बंद कर ऑर जल्दी खाना लगाओ बहना भूख बहुत लगी
हाँ ऑर हँसने लगा,

,,मोम ने भी मुस्कुरा कर खाना लगा दिया हम सब खाना खाने लगे ,,
खाना कहके मामा सोफे पे बैठ गया ऑर मोम किचिन मे चली गयी बर्तन धोने के लिए मैं
भी उठकर मोम के पीछे-2 किचिन मे चला गया,
,,,कुछ चाहिए क्या बेटा,
,,मैने सोचा कि अब
क्या बोलू की मोम खाना कहके पेट भर गया है अब गान्ड मार कर बदन की भूख मिटाना चाहता
हूँ,,,,,
,,,,,,,कुछ नही मोम मैने सोचा आपकी हेल्प कार्दू बर्तन धोने मे ,,,इतना बोल कर
मैं मोम क पास जाके खड़ा हो गया ऑर उनके साथ बरतन धोने लगा,,वो बर्तन मे साबुन लगा
कर साइड मे रखती रही ओर मैं उनको उठा कर पानी से धो कर एक साइड पे रखता गया,,,

,,क्या बात है आज कल मेरे बेटे को मेरी बड़ी फ़िक्र हो रही है कोई खास वजह है क्या कुछ
चाहिए क्या बोलो मुझे पापा से बोलकर दिलवा दूँगी,
,,,नही मों मैं तो ऐसे ही आपकी हेल्पकर रहा हूँ मुझे कुछ नही चाहिए
,,,कहीं तुम न्यू लॅपटॉप के लिए मुझे मस्का तो नही
लगा रहे
,,,,नही मोम ऐसी कोई बात नही है वैसे भी डॅड ने बोला है कि अगर मैं टेस्ट
मे पास हो गया तो वो मुझेनेव लॅपटॉप लेके देंगे,
,,,मोम हंसते हुए बोली अगर पास हो गये तो
,,मैने बोला मोम क्यू मज़ाक करती हो इस बार सोनिया ने मेरी बहुत हेल्प की है स्टडी मे टेस्ट
मे अच्छे नंबर्स से पास होना तो पक्का है मेरा
,,,,फिर तो अच्छी बात है बेटा फिर तो न्यू लॅपटॉप भी पक्का हो गया तुम्हारा,,
,,,,यस मों 100% ,,हमने काम ख़तम किया ऑर बाहर आ गये
मामा अपने रूम मे जा चुका था मैं ऑर मोम मोम-डॅड के रूम मे चले गये,,मोम रूम मे जाते
ही बाथरूम मे घुस्स गयी ऑर मैं बेड पे लेट गया ,,,,बेड पर लेटा लेटा मैं सोचने लगा ये
वही बेड है जहाँ रोज रात को मेरी माँ नंगी होके डॅड से चुदवाती है,,मैं मोम ऑर डॅड को
वही बेड पे नंगे इमॅजिन करने लगा ऑर डॅड को मोम के उपर लाते कर चुदाई करते देखने
लगा ,,,मेरे लंड ने हार्ड होना शुरू कर दिया था,,मैं यही इमॅजिन करके खुश होने
लगा तभी मोम बाथरूम से बाहर आ गयी,,उनका बदन भीगा हुआ था वो साड़ी उतार चुकी थी
ऑर जस्ट पेटिकोट ओर ब्लाउस मे थी, उनका ब्लाउस पूरे कॉटन का था बालोई से गिरती हुई पानी
की बूंदे उनके ब्लाउस पेर गिरके उसको गीला कर रही थी जिस वजह से वो उनके बदन से पूरी
तरह चिपक गया था ऑर उनके बूब्स नज़र आने लगे थे,,उन्होने ब्लाउस के नीचे ब्रा नही
पहनी थी,,इसीलिए वो कुछ ज़्यादा ही नज़र आने लगे थे,,,


मोम हंसते हुए मेरे बेड क पास आने लगी उनकी नज़र मेरे आधे खड़े लंड पे पड़ी ऑर मुझे
एक नॉटी स्माइल देके वो बेड पे आके एक तरफ लेट गयी,,,मैं मोम को देखने मे इतना खो
गया था कि अपने लंड को छुपाना भूल ही गया था,,
,,,,अरे बेटा तुम ऐसे ही लेट गये सोने से पहले तुम नहाते नही क्या,
,मों नहाता हूँ,,तो जाओ अब किसका वेट8 कर रहे हो जाओ ऑर नहा
लो,,मैं उठकर अपने लंड को छुपाता हुआ बाथरूम की तरफ बड़ी तेज़ी से चलते हुए अंदर
घुस्स गया,,अंदर जाके मैने डोर क्लोज़ किया ओर अपनी हरकत मे गुस्सा करने लगा,,क्या हो गया
थे मेरे को इतना क्यू खू गया था मैं मोम को देखने मे कि अपने लंड को छुपाना ही भूल
गया,,,तभी मैने देखा मेरा लंड अभी भी आधा खड़ा हुआ था मैने कपड़े उतारे ऑर नंगा
होके शवर ऑन कर लिया,,,ऑर मोम को सोच कर अपने लंड को मसल्ने लगा करीब 10 मिनिट
मूठ मारने के बाद मैने थोड़ा बाथ लिया ऑर कपड़े पहन कर बाहर चला गया,,,तब तक मोम
रूम की लाइट ऑफ करके एक छोटी लाइट ऑन करके लेटी हुई थी,,
Reply
07-10-2019, 04:26 PM,
#36
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
बाथरूम से बाहर निकलते टाइम मेरी मोम की नज़रे मेरी तरफ ही थी,,मैं बेड के पास जाके
एक साइड मे लेट गया,,,,,अरे बेटा तुम्हारी साइड पे कोल्ड कॉफी रखी है पी लेना आज गर्मी
बहुत है इसीलिए बना लाई हूँ,,,,मैने बोला ठीक है मोम ,,इतना बोल कर मैने कोल्ड कॉफी
पी लेने बाद मे मुझे याद आया कि देल्ही मे मामा ने मुझे दूध मे नींद की मेडिसिन डालके
दी थी या मोम ने भी कही मुझे कोल्ड कॉफी मे नींद की मेडिसिन तो नही डालके दी ओर
मेरा शक़ ठीक निकला कॉफी मे नींद की मेडिसिन थी मैं रात को सोया तो सुबह 10 बजे
उठा,,,,,उठकर भी मेरे सर मे हल्का सा दर्द था मुझे मामा पे बड़ा गुस्सा आ रहा था,पर
मैं कर भी क्या सकता था,,,अब जो हो गया सो हो गया नेक्स्ट टाइम मैने सोच लिया कि केरफुल
रहूँगा,,,,उठकर फ्रेश होकेर जब बाहर गया तो मोम नज़र नही आ रही थी मैने किचन मे
भी देखा बट मोम वहाँ नही थी फिर मैं सोफे की तरफ जाने लगा तो मैने मोम को मामा जी
के रूम से निकलते देखा,,,,अरे उठ गया मेरा बेटा,,कितना लेट उठा आज तू,,कॉलेज नही
जाना था क्या ,,सोनिया का भी फोन आया था पूछ रही थी नवाबजादे अभी तक कॉलेज क्यू
नही आए,,,,,मैने मन ही मन मे सोचा कि मोम सोनिया को बोलना था कि नवाबजादे को किसी
हरामजादे ने दूध मे नींद की गोली मिला कर सुला दिया था इसलिए लेट उठा सुबह,,,
कुछ नही मोम रात मे तो ठीक था बट सुबह से पता नही क्यू सर मे दर्द शुरू हो गया ,
शायद इसी वजह से आँख नही खुली होगी,,,अब कैसी है तबीयत तुम्हारी बेटा अब भी सर
मे दर्द हो रहा है क्या,,मैने बोला हां मोम लेकिन अभी इतना नही है थोड़ा सा है,,तुम
बैठो बेटा मैं तुम्हारे सर पे थोड़ा बाम लगा देती हूँ ओर एक स्ट्रॉंग ब्लॅक कॉफी बना
देती हूँ,मैने सोचा कि साला रात मे कॉफी मे नींद की गोली डालके दी थी अब भी मामा के
रूम से निकल कर आई है अगर अभी भी चुदाई का मूड हुआ तो कहीं अभी फिर से ब्लॅक
कॉफी मे नींद की गोली डालके ना देदे कहीं,,

,,,,,नही मोम मुझे कॉफी नही पीनी तुम बस
बाम लगा दो,,,,वो कहते है ना दूध का जल छाछ भी फूक-2 कर पीता है मेरा भी कुछ
ऐसा ही हाल था,,,,,मोम अपने रूम मे गयी ओर बाम लेके आ गयी मैं सोफे पे बैठ गया ऑर
मोम मेरे पीछे खड़ी हो गयी,,मैने सोफे के उपर सर रखके हल्का सा पीछे की ओर झुक गया
जिस से मेरा फेस छत की तरफ हो गया मोम मेरे पीछे से मेरे सर के पास आके खड़ी हो गयी
ऑर मेरे सर पे बाम लगाने लगी,,मेरा सर छत की तरफ था इसलिए मेरा सीधा ध्यान मोम
के बूब्स की तरफ था जो इस पोज़ से मुझे किसी हिमालय पर्वत के जैसे लग रहे थे,,बूब्स
इतने बड़े थे कि उनकी वजह से मुझे मोम का फेस भी नज़र नही आ रहा था,,मोम के प्यारे
ऑर मुलायम हाथ जब मेरे फॉरहेड पे लगे तो मेरा सारा गुस्सा ठंडा हो गया जो मुझे अपने मामा
पर आ रहा था लेकिन इसके साथ ही बदन की गर्मी बढ़ने लगी थी,,जिस वजह से लंड ने
ओकात मे आना शुरू कर दिया था,,,मुझे डर था कहीं मोम की नज़र नही पड़ जाए मेरे लंड
पे इसलिए मैने अपने दोनो हाथ लंड के उपर रख लिए,,फिर मैने सोचा कि अगर मोम को
राज़ी करना है वो भी मामा की हेल्प के बिना तो कुछ ऐसा वैसा करना ही पड़ेगा,,क्यूकी मुझे
मोम की चुदाई तो करनी थी बट मामा की हेल्प से नही खुद की हिम्मत से,,इसलिए मैने अपने
हाथ लंड से उठा लिए ताकि मोम को मेरे लंड की झलक मिल जाए,,मेरा लंड इतना बड़ा तो
नही था जितना मामा का था मेरा लंड मामा के लंड से थोड़ा मोटा ज़रूर था जो उसकी लंबाई
की कमी को पूरा करने क लिए काफ़ी थी,,,मामा का लंड 9' लंबा ओर 1 या 1/5 इंच मोटा था
जबकि मेरा लंड 7 इंच से थोड़ा सा ही बड़ा था जबकि 3 इंच मोटा था,,


मेरा लंड इतना हार्ड तो हो चुका था जिस से पॅंट के अंदर से उसकी लंबाई 5 इंच तक लग
रही थी क्यूकी मेरा लंड अभी पूरी तरह ओकात मे नही आया था,,शायद मोम की नज़र मेरे
लंड पे पड़ गयी थी क्यूकी बाम लगाते टाइम उनके हाथों का मेरे सर पे बाम मलने का अंदाज़
थोड़ा बदल गया था वो बड़े प्यार से बाम लगा रही थी इधर मेरे लंड ने भी हल्के-हल्के
झटके मारने शुरू कर दिए थे 2 मिनिट ऐसे ही मोम मेरे सर पे बड़े प्यार से बाम मल्ती
रही फिर उनके हाथों का अंदाज़ फिर से चेंज हो गया था क्यूकी मैने अपने लंड पे फिरसे
हाथ रख लिए थे,,,अब मुझे पक्का यकीन हो गया कि मोम की नज़र मेरे लंड पे थी,मेरा
एक तीर तो निशाने पे लग गया था,,,,

,मोम अब बस करो आप थक जाओगी,,
,अरे बेटा कॉन सी मोम
है जो अपने बेटे की सर की मालिश करते थकती है,,,
,बस करो मोम अब मुझे आराम है,,,
लेकिन बेटा मुझे आराम नही है,,,
क्या मतलब मोम,,,
बेटा जब तक तेरा सर बिल्कुल ठीक नही हो जाता तब तक मेरे को आराम नही मिलना,,,

,,मोम मेरा सर अब बिल्कुल ठीक है,,,बाम लगाया है इसलिए ठंडी हवा नही लग जाए इसलिए आप एक रुमाल बाँध दो मेरे फॉरहेड पे प्लीज़

अरे बेटा मैं तो भूल ही गयी थी बाम लगाने के बाद हवा से बचाने के लिए कोई कपड़ा सर
पे बाँध देना चाहिए पता नही मेरा दिमाग़ कहाँ रहता है आज कल तुम रूको ज़रा मैं
अभी तेरे सर पे बाँधने के लिए रुमाल लेके आती हूँ,,,

मैने सोचा मोम आज कल आपका धान
बस मामा ऑर विशाल भाई की तरफ रहता है बस कुछ दिन रुक जाओ फिर अपना ध्यान हमेशा
सन्नी की तरफ रहेगा,,,,मोम ने रुमाल लाके मेरे सर पे बाँध दिया,,फिर मोम किचिन मे
चली गयी ओर मैं वही लेट गया सोफे पे,,,,,,,


करीब 30 मिनिट बाद मोम ने मुझे नाश्ता दिया ऑर मैं नाश्ता करके बाहर घर के पीछे की
तरफ चला गया ऑर पीछे वाले गेट से अंदर गार्डेन मे आ गया क्यूकी गार्डेन से ही मजदूर
लोगो ने एक सीडी लगाई हुई थी उपर वाले फ्लोर तक जाने के लिए,,मैं भी उसी सीडी से
उपर चला गया ओर देखने लगा वो लोग क्या काम कर रहे है,,,मैं काफ़ी टाइम वहाँ रहकर
उनका काम देखता रहा फिर करीब 2-3 बजे के आस-पास मैं वापिस घर के अंदर चला गया,,
मों अपने रूम मे सो रही थी,,,सोती भी क्यू ना सारी रात मुझे नींद की गोली देके खुद
मामा के साथ चुदाई जो करती रही,,,मैने सोचा आज जो भी हो खाने के बाद रात को कुछ नही
पीना ,,,दूध हो या कॉफी,,,,,,,,
Reply
07-10-2019, 04:27 PM,
#37
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
रात को डिन्नर के लिए हम तीनो लोग डाइनिंग टेबल पर आ गये ऑर डिन्नर करने लगे आज मैने
मोम की डिनर पकाने मे कोई हेल्प नही की,,ऑर ना डिन्नर करके बर्तन धोने मे ,,डिन्नर करके
मैं चुप चाप जाके टीवी देखने लगा,,मोम कीचीं का काम करने लगी ऑर मामा जी मेरे पास आके
बैठ गये,,फिर मों भी आके हमारे पास बैठ गयी,,हम लोग काफ़ी टाइम तक टीवी देखते रहे,,
तभी मामा ने बोला बहना 10:30 हो गये है कोई दूध गर्म कर्लो या कॉफी बना लो फिर
सोना भी है,,,मैं समझ गया था मामा क्या बोल रहा है,,,ठीक है भाई अभी बना देती
हूँ,,मैने बोला मुझे नही पीना कुछ भी मोम,,,,,,

अरे क्यू नही पीना बेटा,

,बस ऐसे ही मोम,,,
,तभी मामा बोला,बेटा रात को खाने के बाद दूध पीने से हाजमा ठीक रहता है,,
मैने मना किया फिर भी मोम किचिन मे चली गयी ऑर तभी मामा भी उठकर अपने रूम मे
गया ओर 1 मिनिट बाद ही वापिस आके किचिन मे मोम के पास चला गया,,मुझे पता था मामा अपने
रूम से नींद की गोली लेने गया है,,मैने भी सोच लिया बेटा आज अगर दूध पी लिया तो
पंगा हो जाना है,,,,तभी मोम दूध लेके आ गयी ऑर दूध के ग्लास टेबल पर रख दिए
मामा ऑर मोम मेरे पास ही सोफे पे बैठ गये,,,तभी मामा उठा ओर अपने रूम की तरफ चला
गया शायद वो सिगरेट लेने गया होगा तभी मुझे प्लान सूझा मैने मोम को बोला मोम दूध के
साथ खाने के लिए कुछ बिस्किट्स देदो प्लज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़

मॉम किचिन मे बिस्किट्स लेने चली गयी ओर
मैने जल्दी से अपने ग्लास को मामा के ग्लास के साथ बदल दिया,,ऑर आराम से बैठ कर टीवी की
तरफ देखने लगा तभी मोम बिस्कट लेके आ गयी ओर मैने दूध पीते हुए साथ मे बिस्कट
खाने शुरू कर दिए,,,मामा भी अपने रूम से आ गया ऑर दूध पीने लगा ऑर मोम भी,,

10 मिनिट बाद मामा उठकर घर से बाहर चला गया मुझे पता था उसको खाने के बाद सिगरेट की
आदत है इसलिए वो रूम मे गया था,,,मोम उठकर किचिन मे दूध के ग्लास रखने चली गयी
मैं उठा ऑर रूम मे जाके बेड पे लेट गया,,तभी मोम भी मेरे पीछे-2 आ गयी,

,अरे बेटा तुम आज फिर ऐसे ही लेट गये बाथ नही लेना क्या,,,

,नही मोम आज दिल नही कर रहा,,,
,ठीक है बेटा वैसे भी तेरे सर मे दर्द था आज इसलिए आज रात तुम ना ही नहाओ तो अच्छा है,,इतना
बोल कर मोम खुद अलमारी से कुछ कपड़े लेके बाथरूम मे चली गयी,,मोम शवर ऑन करके
बाथ लेने लगी ऑर मैं आराम से लेटा रहा ,,फिर कुछ देर बाद मुझे घर के मेन डोर के खुल
कर बंद होने ओर लॉक करने की आवाज़ आई,,,ये मामा था जो बाहर सिगरेट पेके वापिस आया था,
वो कभी घर मे सिगरेट नही पीता था ये पापा का ऑर्डर था जिसको मामा बड़ी इज़्ज़त से मानता
था,,,अगर उनको सिगरेट पीना होता तो वो घर के बाहर जाते थे ,या घर के पीछे बने छोटे
से गार्डेन मे,,,,लेकिन अब गार्डेन वाले डोर पे लॉक लगा था इसीलिए मामा बाहर गया था,,


आज मैं बड़ा खुश था क्यूकी मैने अपना दूध मामा को पिला दिया था,,,,
Reply
07-10-2019, 04:27 PM,
#38
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
मैं खुशी से बेड पे लेटा हुआ था ऑर तभी मेरी खुशी डबल हो गयी,,पहली खुशी थी कि
मैने मामा को अपना नींद की गोली वाला दूध पिला दिया था ऑर दूसरी खुशी मुझे मोम को
बाथरूम से बाहर आते देख कर हुई,,,,मोम ने आज एक ब्लॅक कलर की नाइटी पहनी हुई थी
जो घुटनो तक आती थी,,,शायद मोम ने ब्रा भी नही पहना था क्यूकी उनके बूब्स हल्के से
झुके हुए थे ऑर नाइटी भी भीगी हुई थी ऑर छाती से चिपकी हुई थी तो नज़र भी आ
रहा था कि नाइटी के नीचे ब्रा नही है ,,मैने आज पहली बार मोम को नाइटी मे देखा था
पहले बुआ सोनिया ऑर शोभा को तो देख चुका था बट मोम को पहली बार देखा था मेरी हालत
बहुत बुरी थी,,मेरा खुद पे क़ाबू नही हो रहा था क्यूकी मोम की जो नाइटी थी वो बुआ ,,
शोभा ऑर सोनिया की नाइटी से बिल्कुल अलग थी,,जहाँ बाकी सब की नाइटी हाफ स्लेवी या फिर
स्लेव्वे लेस थी वही मोम की नाइटी मे तो जस्ट दो हल्की-2 ऑर बारीक दो पट्टियाँ थी जिसके
सहारे नाइटी शोल्डर पर टिकी हुई थी,,,,मोम बहुत ज़्यादा सेक्सी लग रही थी,,,,गोरा बदन
जो ब्लॅक नाइटी मे था बट फिर भी आधा नंगा था ,,,आधा क्या पूरा ही नंगा था,,,मैं
नज़रे टिका कर मोम को देख रहा था ,,

,ऐसे क्या देख रहे हो बेटा,,,,
कुछ नही मोम आप इस नाइटी मे बहुत अच्छी लग रही हो मोम वैसे भी ब्लॅक कलर आपको बहुत सूट करता है
,थॅंक्स बेटा,,,
युवर वेलकम मोम,,,,
,इतना बोल कर मोम मेरे पास आके लेट गयी,,रूम मे हल्की सी रोशनी
थी जिसमे मोम का बदन चमक रहा था,,,मैने सोचा ये नाइटी पक्का मोम ने मामा के लिए
पहनी होगी आज दोनो का बहुत मूड होगा प्यार करने का बुत इनको ये नही पता कि आज इन दोनो
के साथ (केएलपीडी) होने वाली है,,,(खड़े लंड पे डंडा लगने वाला है) मैं ये सोच कर ही
खुश हुआ जा रहा था,,खुशी के मारे मुझे नींद नही आ रही थी,,लेकिन मुझे सोना तो
था ही वेर्ना मोम को शक हो जाता इसलिए मैं आँखें बंद करके लेट गया ऑर सोने का नाटक
करने लगा,,,,करीब 30 मिनिट बाद मैने स्नोरिंग(खर्राटे लेने) शुरू करदी तभी मोम
उठी ओर मेरे सर पे हल्का सा हाथ मारा सन्नी बेटा उठो,,सन्नी बेटा उठो,,पहले तो हल्के
से मारा ओर स्लो आवाज़ मे मेरा नाम लिया बाद मे थोड़ा ज़ोर से मारा ओर ज़ोर से उँची आवाज़ मे
मेरा नाम लिया बट मैने स्नोरिंग कंटिन्यू रखी,,,,जब मोम को यकीन हो गया कि मैं सो
गया हूँ तो मोम उठकर रूम से निकल गयी ऑर मामा के रूम मे चली गयी,,करीब 5 मिनिट बाद
ही मोम वापिस भी आ गयी क्यूकी मामा नही उठा होगा उसने तो आज नींद की गोली वाला दूध जो
पिया था,,,,मुझे आज बड़ी खुशी हो रही थी,,मोम वापिस आके लेट गयी,,मैं भी सो गया,,,



करीब रात को 2 बजे मुझे प्यास लगी ओर मैं किचिन मे चला गया पानी पीने,,पानी पेके
जब मैं वापिस रूम मे आके बेड पे लेटने लगा तो मेरी नज़र मोम पे पड़ी जो मेरी तरफ पीठ
करके लेटी हुई थी,,उनकी नाइटी बहुत छोटी थी ऑर इस वक़्त वो ओर भी छोटी लग रही थी
क्यूकी उनकी नाइटी पीठ की तरफ से हल्की उपर उठी हुई थी ऑर उनकी आधी से ज़्यादा मोटी
ऑर भारी गान्ड नंगी ही चुकी थी जिसको देख कर मुझसे रहा नही गया,,बट मेरी हिम्मत भी
नही हो रही थी उनको टच करने की,,फिर मुझे एक आइडिया आया,,,मैने स्नोरिंग शुरू करदी
ओर हल्के से आगे ओम की तरफ खिसक गया,पहले थोड़ा पास फिर थोड़ा ओर पास फाइनली मैं
मोम के बिल्कुल पास पहुँच गया बट मैने स्नोरिंग ज़ारी रखी ओर अपना एक हाथ पीछे से मोम
की कमर मे रख दिया ऑर आगे से मेरा हाथ मोम के पेट के उपर आ गया,,मुझे बड़ा अच्छा लगा
ये मेरा पहला मोका था मोम के साथ सोक उनको टच करने का,,,डर भी लग रहा था बट जो
खुशी ऑर मज़ा मुझे आ रहा था उसने मेरे डर को ख़तम कर दिया था,,,मैने अपने हाथ को
हल्के से मोम के पेट पे घुमाना शुरू किया,,स्नोरिंग कंटिन्यू थी अगर मोम जाग भी जाती तो
उनको लगता कि मैं नींद मे ऐसे कर रहा हूँ,,,,मैं 5-7 मिनिट ऐसे ही मोम के पेट पे
हाथ फेरता रहा ओर तभी मोम हल्का सा हिली मैने अपने हाथ को वही रोक दिया,,फिर मोम ने
मेरी तरफ करवट ले ली जिस वजह से मेरा हाथ उनके उपर से नीचे आ गया,,मैं 2 मिनिट
रुका रहा ओर फिर से अपना हाथ मोम की कमर पे रख दिया इस बार मेरा हाथ उनकी पीठ को
छू रहा था,,तभी मोम फिर से हिली उन्होने मेरा हाथ पकड़ लिया मैं तो डर ही गया बेटा
मोम जाग रही है अब तू तो गया काम से,,मेरी तो हालत बुरी थी,,मोम ने मेरा हाथ पकड़
कर मुझे आवाज़ लगाई,सन्नी ,,सन्नी बेटा,,

बट मैने कोई जवाब नही दिया देता भी कैसे मेरी गंद जो फटी पड़ी थी,,
,मोम ने फिर से मुझे आवाज़ लगाई बट मैने कोई जवाब नही
दिया फिर मोम ने मेरे हाथ को ऐसे ही अपनी कमर पे रहने दिया ओर कुछ ऐसा किया जिस से
मेरी गान्ड ओर ज़्यादा फॅट गयी,,मोम ने अपना हाथ उठा कर मेरी कमर पे रख दिया ऑर मुझे
अपने सीने से लगा लिया अब मेरा फेस मोम के बूब्स के पास था बट मेरी हिम्मत नही हो रही
थी उनको टच करने की क्यूकी मोम जाग रही थी,अगर सो भी जाती तो भी मैं आज की रात
तो इस से ज़्यादा कुछ भी करने की हिम्मत नही करता,,इसलिए मैं ऐसे ही सो गया,,,
Reply
07-10-2019, 04:27 PM,
#39
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
सुबह जब उठा तो मोम पहले ही उठ चुकी थी,,मेरे लिए नाश्ता जो रेडी करना होता है,,,
मैं भी उठकर फ्रेश हुआ ऑर किचिन की तरफ चल पड़ा,,तभी मुझे मोम ऑर मामा की आवाज़
सुनाई दी,,,भाई मैं आपके रूम मे आई थी बट आप सो रहे थे मैने आपको बहुत उठाने की
कोशिश की बट आप नही उठे,,

,बहना मुझे लगता है मैने कल ग़लती से कहीं सन्नी वाला दूध खुद तो नही पी लिया था,,

,नही भाई मैने तुम्हारे पास आने से पहले सन्नी को भी
बहुत कोशिश की थी उठाने की बट वो नही उठा था उस ने नींद की गोली वाला दूध पिया
था ,,लगता है तुमने कल रात कुछ ज़्यादा चरस पी ली होगी इसलिए घोड़े बेच कर सो गये
थे,

,,,हां हो सकता है बहना मुझे माफ़ करदो ,,तुम टेन्षन मत लो आज रात को मैं
कल रात की कसर भी पूरी कर दूँगा,,,ऑर आगे होके मोम को किस करने की कोशिश करने लगे
तभी मैने डोर से थोड़ा पीछे हटके आवाज़ लगाई,,,,,,,मोम नाश्ता लगा दो कॉलेज के लिए
देर हो रही है,,,,ऑर जाके डाइनिंग टेबल पे बैठ गया,,तभी मामा किचिन से बाहर आ गया,
मैने नाश्ता किया ऑर कॉलेज चला गया,,,


आज दिनभर मैं मजदूर लोगो का काम देखता रहा,,क्यूकी डॅड का फोन आया था,,इसलिए मोम
के साथ ज़्यादा टाइम नही बिता सका,,,,,,

रात को जब मोम डिन्नर की तैयारी कर रही थी तो मैं भी किचिन मे चला गया मोम की हेल्प
करने ,,मोम सब्जी तो बना चुकी थी ऑर अब रोटी बना रही थी,,मैने मोम के पास जाके बोला
मोम मैं आपकी हेल्प करता हूँ,,,,,,

,मोम बोली बेटा लगता है तूने पूरा मन बना लिया है खाना पकाना सीखने का,,फिर मोम रोटी को बेलन से बेल्ति रही ऑर मैं उसको तवे पे डालके सेकता रहा,,,,5-7 मिनिट मे खाना तैयार हो गया ऑर हम लोगो ने साथ मे बैठ कर खाना खाया
ऑर रोज की तरह टीवी देखने लगे,,कुछ देर बाद मोम उठी ओर बोली कि मैं सबके लिए दूध
लेके आती हूँ गरम करके ऑर किचिन मे चली गयी,,,तभी मामा भी अपने रूम मे चला गया
ऑर कल की तरह ही 1 मिनिट मे वापिस आ गया,,,लगता है कमीना आज भी नींद की गोली लेने
गया होगा,,,मामा अपने रूम से निकल कर सीधा किचिन मे चला गया,,मामा के पीछे-2 मैं
भी पानी पीने के बहाने ऐसे ही किचिन मे चला गया मोम ऑर मामा दोनो की पीठ थी मेरी तरफ
तो उनको मेरे आने का पता नही चला ओर मैने मामा को एक ग्लास मे नींद की गोली डालते देख
लिया जैसे ही मामा गोली डालके मेरी तरफ पलटा मैने अंजान बनने का नाटक किया और फ्रिड्ज
से पानी की बोतल निकाल कर पानी पीने लगा,,मामा कीचीं से बाहर निकल कर सोफे पे बैठ
ऑर मोम किचिन की शेल्व पे थोड़ा दूध गिर गया था उसको सॉफ करने लगी,,मैने देखा जिस
ग्लास मे मामा ने नींद की गोली डाली थी उसमे एक स्पून भी डाला हुआ था,,मोम सेल्व को कपड़े
से सॉफ कर रही थी मैने मोम से नज़रे बचा कर स्पून को दूसरे ग्लास मे डाल दिया ऑर
बाहर आके सोफे पर बैठ गया,,मोम भी ग्लास ट्रे मे रख कर बाहर आ गयी ऑर ट्रे टेबल
पर रख दी ऑर मुझे दूध का वही ग्लास दिया जिसमे स्पून था,,,मोम ये स्पून क्यू डाला मेरे
ग्लास मे,,,,,बेटा दूध मे चीनी मिलाई थी इसीलिए स्पून ग़लती से ग्लास मे ही रह गया,,
मैने स्पून ट्रे पे रख दिया ऑर दूध पीने लगा,,मोम ऑर मामा जी भी दूध पीने लगे,,
पहले ग्लास शेल्व पर रखे हुए थे ऑर अब ट्रे पर,,,मुझे पक्का पता नही था कि नींद
की गोली किस ग्लास मे है,,,,बट इतना तो पक्का पता था कि मेरे ग्लास मे नही है,,,


हमने दूध ख़तम किया ऑर हम अपने अपने रूम मे चले गये ,,मैं रूम मे गया ओर कुछ देर बेड
पर लेटने के बाद बाथरूम मे चला गया बाथ लेके वापिस आया तो मोम भी बात लेने चली गयी,
आज भी मोम जब बाथ लेके बाहर निकली तो मैं दंग रह गया,,,अब भी बिल्कुल वैसी ही
नाइटी बट कलर चेंज था कल वाली ब्लॅक थी जबकि आज वाली डार्क रॉयल ब्लू कलर की
थी,,मोम मेरे पास आके लेट गयी ,,,मैं भी लेटा हुआ सोने का नाटक करने लगा,,करीब 30
मिनिट तक सोने का नाटक करने के बाद मैने देखा आज मोम उठी क्यू नही ,,सोचा शायद थोड़ा
लेट जाने का इरादा होगा आज मामा के पास,,,,,,,,,लेकिन 1 अवर तक भी मोम जब नही उठी तो
मुझे शक़ हुआ कहीं नींद की गोली वाला दूध आज मोम ने तो नही पी लिया,,ऑर मेरा शक़
सही निकला ,,,क्यूकी तभी हमारे रूम का डोर खुलने की आवाज़ आई मुझे बट मोम तो बेड पर
ही लेटी हुई थी लगता है ये मामा है,,,,मामा रूम मे आए ऑर मुझे उठाने लगे,,वो कुछ
बोले तो नही बस मेरा सर पकड़ कर हिलाने लगे,,जब मैं कुछ देर ऐसे ही लेटा रहा तो
उनको यकीन हो गया मैं सो रहा हूँ फिर वो मोम की तरफ बढ़ गये ऑर मोम के पास जाके उनको
भी ऐसे ही उठाने लगे बट आज मोम कहाँ उठने वाली थी हार कर मामा वापिस अपने रूम मे
चला गया,,,,आज तो मैं कल से भी ज़्यादा खुश था,,मैने सोचा कि मामा ने भी मुझे 2
रात नींद की गोली वाला दूध दिया था जब हम भाई के पास देल्ही गये थे आज उसका बदला
पूरा हो गया,,,,,



मोम आज पक्की नींद मे सो रही थी,,आज तो मेरी लॉटरी लग गयी थी,,मैं बहुत खुश था
मैं मोम के पास गया उनको हाथ पकड़ कर उठाने लगा ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगा मोम नही उठी
अब मुझे कोई डर नही था,,,मैने जल्दी से मोम के बूब्स को पकड़ लिया ऑर मसल्ने लगा
आज तो प्यासे को समुंदर मिल गया था उसका पागल होना आज जाएज था,मैं पागल कुत्ते की
तरह मोम पे झपट पड़ा ऑर नाइटी के उपर से ही उनके बूब्स को मसलता रहा फिर मैने मोम
की नाइटी को शोल्डर की तरफ से निकाल कर नीचे कर दिया मैने ये सब बहुत जल्दबाज़ी मे
किया था क्यूकी मुझे कोई डर नही था,,,नाइटी नीचे होते ही मोम के दोनो बड़े-बड़े बूब्स
आज़ाद हो गये थे,,मैं मोम के बूब्स को बारी-बारी से मूह मे लेके चूसने लगा,,ऑर बारी-2 से
दोनो को मसल्ने लगा,,सच मे मोम के बूब्स बहुत बड़े थे,,मेरे हाथ मे ही नही आ रहे थे
,,मैने मोम के बूब्स चूस्ते-2 उनकी नाइटी नीचे की तरफ से उपर उठानी शुरू करदी,,अब
मोम की नाइटी उनकी बेल्ली तक आ गयी थी ऑर उनकी चूत बिल्कुल नंगी थी,,मोम ने पैंटी भी
नही पहनी हुई थी,,मैने मोम की चूत को देखा तो पागल हो गया उनकी चूत पे एक भी बाल
नही था वो बहुत ही चिकनी थी,,मैने सोचा अब देर नही करनी चाहिए ऑर मैने जल्दी से
अपने कपड़े उतार दिए ऑर नंगा हो गया,,मैं मोम के उपर लेट कर उनको चोदना चाहता था,बट
जैसे ही मैं मोम के उपर लेटा मेरा दिल नही किया लंड को चूत मे डालने को,,मैने सोचा
कि अपना लाइफ का पहला सेक्स मैं किसी को बेहोश करने नही करना चाहता इसमे कोई मज़ा नही
मज़ा तो तब है जब सामने वाला भी आपकी बराबरी करे तभी मज़ा आता है सेक्स करने का,,
बेहोश करके सेक्स किया तो इस से अच्छा है मूठ मारले बंदा,मैं ये सोच कर मोम के उपर से
हट गया,,बट मोम के नंगे बदन को देख कर मुझसे रहा नही गया तो मैने उनको देखते हुए
मूठ मारनी शुरू करदी,,करीब 15-20 मिनिट मैं मोम के बूब्स को दबाता रहा बट मैने एक
बार भी मोम की चूत को टच नही किया 15-20 मिनिट बाद मेरा पानी निकल गया ऑर सार पानी
मोम के पेट पे गिर गया,,मैने जल्दी से एक कपड़ा लिया ओर मोम के पेट को सॉफ कर दिया ऑर
उनके कपड़े भी ठीक कर दिए ऑर आराम से लेट गया,,थक गया था इसीलिए नींद भी जल्दी ही
आ गयी,,,,,
Reply
07-10-2019, 04:27 PM,
#40
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
नेक्स्ट डे जब मैं नाश्ता करके कॉलेज के लिए निकला तो मैने सोचा कि 2 रात से मामा ऑर
मोम ने चुदाई नही है है आज तो मेरे जाने के बाद पक्का चुदाई करेंगे,,मेरे दिल मे फिर से
मोम ऑर मामा जी की चुदाई देखने का चस्का पैदा हुआ मैं बाइक स्टार्ट करने ही वाला था कि
तभी मुझे याद आया कि घर की चाबी तो अंदर ही रह गयी,,मैं वापिस गया ओर चाबी उठा ली
क्या हुआ बेटा कुछ भूल गये थे क्या,

,यस मोम पेन भूल गया था,,,,मैने चाबी ली ओर वहाँ
से चला गया,,,कॉलेज पे पहुँच कर मैने 2 लॅक्चर अटेंड किए ऑर तीसरे लॅक्चर को छोड़
कर कॅंटीन मे आ गया कॉफी पीने सोचा कि कॉफी पीके घर चलता हूँ,,जैसे ही मैं
कॅंटीन मे गया सोनिया ऑर कविता भी वही थी,,सोनिया ने मुझे देख कर अपने पास बुला लिया,,
ब्लॅकी कम हियर ,,,मैं सोनिया के पास गया ऑर गुस्से से बोला तुझे कितनी बार बोला है इस
नाम को कलाज मे मत यूज़ किया कर तुझे समझ नही आता क्या,,,

,अरे भाई मैने तो मज़ाक किया था वैसे कलाज के सामने नही लूँ ये नाम या कविता के सामने,,तभी मैने उसको फिर
से डांटा ओर कविता की तरफ देखने लगा तो उसने शरमा कर चेहरा नीचे झुका लिया,,कुछ
भी बोलती रहती है तू पागल सोनिया ,,शरम किया कर कुछ ,,अपने भाई को तंग करती है ओर
साथ मे अपनी बेस्ट फ्रेंड को भी,

,,अरे भाई गुस्सा मत करो मैं मज़ाक कर रही हूँ,
,सन्नीगुस्सा मत करो ओर बैठ जाओ तुमको तो पता है सोनिया का दिमाग़ खराब है,,,अच्छा ये बताओ
तुम क्लास मे क्यू नही हो ऑर यहाँ क्या कर रहे हो,,

,,,कुछ नही कविता मेरे सर मे हल्का सा दर्द हो रहा था सोचा कॉफी पीने चलता हूँ वैसे भी जिस टीचर का लॅक्चर है वो
आज छुट्टी पे है,

,ज़्यादा दर्द है क्या,,,,,तभी सोनिया बोल पड़ी
,,जी हाँ बहुत दर्द है बोलो तो झन्डू बाम लाके दूं तुमको ऑर तुम अपने हाथों से लगा देना इसके सर पे,
,,,,चुप कर सोनिया की बच्ची तेरे भाई के सर मे दर्द है ऑर तुझे मज़ाक सूझ रहा है,
,ज़्यादा दर्द हो रहा है क्या सन्नी,,
,,येस कविता बहुत दर्द हो रहा है सोचता हूँ घर चला जाउ ऑर जाके आराम करू,

,,यही ठीक रहेगा सन्नी कॉफी पियो ऑर घर जाके आराम करो ओर जाते टाइम डॉक्टर
के पास भी होते जाना
,,,ठीक है कविता,
,,,,,वाह जी वाह कितना फ़िक्र है सन्नी की ,
तभी हमदोनो एक साथ बोल पड़े अपनी बकवास बंद करो पागल सोनिया,,
,,हम दोनो एक साथ ही ये वर्ड बोले थे इसलिए बोलने के बाद कविता ने मेरी तरफ देख कर नज़रे झुका ली ऑर हम तीनो ही इस बात पे हँसने लगे,,,,फिर बातें करते हुए मैने कॉफी पी ओर उन लोगो को बाइ बोलके
घर की तरफ चल पड़ा,,घर जाते टाइम मैने वैसे ही मेडिसिन शॉप से कुछ सर दर्द की
गोलियाँ ले ली थी,,,,


घर पहुँचा तो देखा डोर लॉक नही था,मैने डोर खोला ऑर अंदर चला गया,,सोचने लगा
कि आज इन लोगो ने खेल क्यू नही खेला,,तभी मोम मेरे पास आई ऑर बोली क्या हुआ बेटा तुमको
सोनिया का फोन आया था कि तुम्हारे सर मे दर्द हो रहा है ऑर तुम घर आ रहे हो,
,,ओके तो सोनिया ने पहले ही फोन कर दिया कमिनि कहीं की सारा प्रोग्राम खराब कर दिया मेरा,

,,,हाँ मों तोड़ा दर्द है सर मे,
,,,डॉक्टर के पास गये थे या नही,
,,,गया था मोम
,,,,तो क्या बोला उसने बेटा,
,,मैने सोचा अब क्या जवाब दूँ,,तभी मुझे आइडिया आया,,,,मोम डॉक्टर ने बोला है
कि ये प्रॉब्लम पेट मे बने आसिड की वजह से ही है,
,,,बेटा पेट मे बने आसिड से सर मे कैसे दर्द हो सकता है,,,
,,,मोम डॉक्टर ने पूरी तरह बताया है मुझे,,उसने बोला कि जब
हम खाना कहने के तुरंत बाद पानी पीते है तो उससे खाना पचाने वाले जो एन्ज़ाइम बनते है
वो पानी पीने से कमजोर हो जाते है ऑर खाना ठीक से नही पचता ऑर पेट मे आसिड बन जाता
है जिस से एक गॅस बनती है जो सर तक चली जाती है ऑर सर मे दर्द शुरू हो जाता है,


ऐसा भी कुछ होता है क्या बेटा,
,,,,होता है मोम तभी तो डॉक्टर ने बोला है,,उसने ये भी
बोला है कि खाना खाने के बाद पानी नही पीना,,ऑर भी कुछ नही पीना,,खाना खाते टाइम
बीच-बीच मे जितना चाहो पानी पी सकते हो बट खाना ख़तम करने के बाद बिल्कुल भी नही
पीना,,,मैने ये बहाना इसलिए बनाया कि कब तक दूध के ग्लास चेंज करता रहूँगा एक ना एक
दिन तो इन लोगो को शक़ हो ही जाना है,क्यू ना सारी प्रॉब्लम ही दूर करदी जाए,
,,ठीक है बेटा अभी भी सर मे दर्द हो रहा है क्या
,,जी मोम,
,चलो बाम लगा देती हूँ,
,मैं सोफेपे जाके बैठ गया ऑर मोम बाम की शीशी लेके मेरे पास आ गयी,,मों मेरे साथ ही सोफे पे
बैठ गयी ओर मुझे अपना सर उनकी गोद मे रखके लेटने को बोला ओर मैं लेट गया,,,फिर मोम
ने मुझे बाम लगाना शुरू किया,,मोम की गोद नरम तकिये जैसी थी बिल्कुल सॉफ्ट ऑर उनके
हाथ भी एक दम सॉफ्ट थे जिस से वो बड़े प्यार से मेरे सर की मालिश करने मे लगी हुई थी
मोम का एक बूब मेरे लेफ्ट साइड के गाल पे टच कर रहा था ऑर इसी से मेरे बाबूराव ने ओकात
मे आना शुरू कर दिया था,,,मैने देखा मोम की नज़र मेरे बाबूराव पे थी,,,तभी मामा भी
अपने रूम से निकल कर हमारे पास आ गया,

,सन्नी बेटा मेरे साथ चल सकते हो क्या,
,कहाँ जाना है मामा जी
,,वहीं जाना है बेटा जहाँ उस दिन गये थे,
,,मैं समझ गया मामा को उनरंडियों के मुहल्ले मे जाना है,,,ऑर क्यू जाना है,,,वो मुझे साथ मे इसलिए लेके जाना चाहते
थे ताकि मैं कुछ अकल्मंद हो जाउ ऑर फिर वो मुझे मेरी ही मोम को चोदने के लिए राज़ी कर
सके,,,,बट मैं उनके साथ नही जाना चाहता था क्यूकी मैं मोम को खुद अपनी हिम्मत से ऑर
दिमाग़ से फसा कर चोदना चाहता था,,अगर मामा की बातों मे आके मोम को चोदना था तो
मैं मोम को ऐसे भी बोल सकता था कि मैने आपको भाई ऑर मामा के साथ सेक्स करते देखा है
बट मैं ऐसा कुछ नही करना चाहता था,,,जो करना था खुद करना था,,,,,मामा जी मेरी
तबीयत ठीक नही है सर मे दर्द है

,,तभी मोम भी बोल पड़ी सुरिंदर तुम अकेले ही चले
जाओ सन्नी को रहने दो इसकी तबीयत ठीक नही,,मामा ने मुझसे बाइक की चाबी माँगी ऑर अकेले
ही चले गये,,,अभी मामा ने डोर खोला ही था कि तभी डॅड अंदर आ गये उनके हाथ मे एक
गिफ्ट पॅक था,,,,,वो आते ही हमारे पास बैठ गये अब कैसी तबीयत है तुम्हारी बेटा,मैने
सोचा इनको कैसे पता चला मेरी तबीयत के बारे मे,

,,ठीक हूँ डॅड बस सर मे दर्द है हल्का सा ,
,,मुझे पता है बेटा सोनिया का फोन आया था मुझे,,
,,,मैने सोचा कि ये कमिनिसोनिया सारी खबर घर वालो को देती रहती है,,,,
,,,,,बेटा उसने ये भी बताया कि तुम टेस्ट मे पास हो गये हो वो भी 68% नंबर से इसलिए तुम्हारे लिए न्यू लॅपटॉप लेके आया हूँ,
,,मैंखुशी से झूम उठा ऑर मोम की गोदी से उठकर सोफे पे बैठ गया,
,,देखो कितना उतावला हो गया लॅपटॉप के लिए कि सर दर्द को भूल ही गया,
,,मैने जल्दी से लॅपटॉप लिया ऑर खोल कर देखने लगा,,,बहुत अच्छा है डॅड,
,,,,तुमको पसंद आया बेटा,
,,,,यस डॅड आइ लव यू डॅड ऑर मैने डॅड को प्यार से हग कर लिया,,,,,बट डॅड एक ही लेके आए हो दूसरा कहाँ है सोनिया ने भी लॅपटॉप माँगा था,
,,,,बेटा दूसरा कार मे पड़ा हुआ है जब सोनिया कॉलेज से कविता के घर आएगी तो
वहीं जाके दे दूँगा,,,,,,फिर मोम डॅड के लिए चाइ बनाने चली गयी ऑर हम लोग चाइ पीते
हुए इधर उधर की बातें करते रहे,,,
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Antarvasna kahani नजर का खोट sexstories 119 256,872 09-18-2019, 08:21 PM
Last Post: yoursalok
Thumbs Up Hindi Sex Kahaniya अनौखी दुनियाँ चूत लंड की sexstories 80 84,992 09-14-2019, 03:03 PM
Last Post: sexstories
Star Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ sexstories 21 23,212 09-11-2019, 01:24 PM
Last Post: sexstories
Star Hindi Adult Kahani कामाग्नि sexstories 84 71,381 09-08-2019, 02:12 PM
Last Post: sexstories
  चूतो का समुंदर sexstories 660 1,156,138 09-08-2019, 03:38 AM
Last Post: Rahul0
Thumbs Up vasna story अंजाने में बहन ने ही चुदवाया पूरा परिवार sexstories 144 211,662 09-06-2019, 09:48 PM
Last Post: Mr.X796
Lightbulb Chudai Kahani मेरी कमसिन जवानी की आग sexstories 88 46,918 09-05-2019, 02:28 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Ashleel Kahani रंडी खाना sexstories 66 62,300 08-30-2019, 02:43 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Kamvasna आजाद पंछी जम के चूस. sexstories 121 150,941 08-27-2019, 01:46 PM
Last Post: sexstories
Star Porn Kahani हलवाई की दो बीवियाँ और नौकर sexstories 137 190,253 08-26-2019, 10:35 PM
Last Post: @bigdick

Forum Jump:


Users browsing this thread: 2 Guest(s)