Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
07-10-2019, 03:23 PM,
#21
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
नेक्स्ट मॉर्निंग मैं उठा नाश्ता किया ऑर कॉलेज जाने के लिए निकल पड़ा,,कॉलेज की तो छुट्टी
थी बट मैने घर पे नही बताया था कि आज छुट्टी है,,घर से जाते टाइम मैं घर की चाबी
भी साथ ले गया था,,,,ताकि वापिस आके डोर का लॉक खोल कर बुआ ऑर दीदी का खेल देख सकूँ
मैं घर से निकल कर साथ वाली पार्क पे चला गया ऑर डॅड के जाने की वेट करने लगा,,लेकिन
30 मिंट तक भी डॅड नही गुज़रे वहाँ से,,,फिर मुझे याद आया कि डॅड की कार तो वर्कशॉप पे
दी हुई है ठीक करने के लिए,,मैने सोचा डॅड दूसरी तरफ की रोड से ऑटो रिक्शा लेके बॅंक
चले गये होंगे,,क्यूकी इस रोड पे रिक्शा नही मिलता था वो दूसरी रोड पे मिलता था,,,ये एक
कॉलोनी की रोड थी जबकि मेन रोड दूसरी तरफ थी,,,मैने 15-20 मिनिट ओर वेट किया ऑर घर
की तरफ चल पड़ा,,घर पहुँच कर मैने लॉक खोला ऑर अंदर चला गया,,,
Reply
07-10-2019, 03:23 PM,
#22
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
अंदर जाके मैने रूम को बड़े प्यार से बंद किया ऑर आराम से हल्के-2 कदमो से उपेर की तरफ
जाने लगा,,,उपेर जाके मैने देखा कि बुआ क रूम मे कोई नही था,,मैं समझ गया कि बुआ ऑर
दीदी ड्रॉयिंग रूम मे होंगे,,मैं ड्रॉयिंग रूम के करीब पहुँचा तो देखा रूम का डोर
हल्का सा खुला हुआ था बट मुझे कुछ नज़र नही आ रहा था,,मैने बड़े प्यार से रूम के
डोर को हल्का सा ओर खोल दिया ताकि अंदर का नजारा देख सकूँ,,अंदर देख कर मैं हैरान
रह गया ,,अंदर 2 नही 3 लोग थे,,,बुआ,,शोभा दीदी ऑर बुआ के बुटीक पे काम करने वाली
लड़की जिसका नाम पूजा था,,,

पूजा ऑर उसकी छोटी बेहन मनीषा बुआ के बुटीक पे काम करती थी ऑर पहले वहीं बुटीक
के उपर बने छोटे से 2 रूम क फ्लॅट मे रहती थी,,,वो रूम ज़्यादा बड़े नही थे बट इतनी
जगह तो थी कि एक बेड लग सकता था,,बुटीक 40*40 फीट के एरिया मे बना हुआ था ऑर उसके
उपेर 10 बाइ 10 फीट के दो कमरे एक छोटा सा किचन ओर एक बाथरूम था,,जो उन दोनो के रहने के
लिए काफ़ी था,,,लेकिन कुछ टाइम पहले ही उन लोगो ने एक दूसरा फ्लॅट रेंट पे ले लिया था,,क्यू
लिया था ये नही पता ,,,पूजा की एज 22 रंग सॉफ बट ज़्यादा गोरा नही,,हाइट 5"3 ऑर उसका
वेट करीब 45 के आस पास होगा,,,ओर उसकी छोटी बेहन मनीषा 19 साल की थी,,हाइट
सेम ओर कलर भी ठीक था,,,लेकिन उसकी एज कम थी तो उसके बूब्स भी छोटे-छोटे थे,,
उसका फिगर एक दम मस्त था जैसा किसी आम 19 साल की लड़की का होता है था,,बूब्स अभी
जस्ट छाती से निकले ही थे जबकि पूजा के बूब्स करीब-करीब बुआ के साइज़ के थे,,,पूजा
का फिगर भी मस्त था ओर उसका शरीर शोभा की तरह भरा हुआ था,,,

बुआ दीदी ऑर पूजा बिल्कुल नंगे बेड पर घुटनो के बल बैठे हुए थे ऑर तीनो एक साथ
लिप्स से लिप्स जोड़कर किस कर रहे थे,,ऑर एक दूसरे के बदन को बड़े प्यार से सहला रहे थे
कभी वो कमर पे हाथ फेरते तो कभी एक दूसरे के बूब्स को सहलाते थे,,तीनो की ज़ुबान
बाहर निकल कर हवा मे एक दूसरे से मेल-मिलाप कर रही थी

फिर बुआ ने पूजा को बेड पे लेटा दिया फिर उसके लिप्स को किस करनी लगी ऑर शोभा उसकी
चूत मे उंगली करने लगी,,बुआ बड़े प्यार से पूजा के लिप्स को अपने लिप्स मे सोफ्लती जाकड़ कर
किस कर रही थी ऑर अपने हाथ से उसके दोनो बूब्स को बारी-बारी सहला ऑर मसल रही थी.
इधर शोभा अपनी उंगली को पूजा की चूत मे तेज-तेज अंदर बाहर करने लगी ऑर साथ ही उसकी
चूत के चमड़े को मूह मे भरके चूसने लगी,,फिर बुआ ने उसके लिप्स को अपने लिप्स से आज़ाद
कर दिया ऑर अपने फेस को उसके बूब्स पर ले गयी ऑर उसके बूब्स को चूसने लगी,,फिर बुआ ने
शोभा दीदी को अपनी जगह आने का इशारा किया ऑर खुद शोभा की जगह पे चली गयी,,,अब बुआ
ने अपनी उंगली पूजा की चूत मे डाल दी ऑर उसको उंगली से चोदने लगी ऑर शोभा ने पूजा के
लिप्स को अपने लिप्स मे क़ैद कर लिया,,ऑर उसके बूब्स को मसल्ने लगी,,फिर कुछ देर बाद दीदी
ने पूजा क लिप्स को फ्री किया ऑर बिस्तेर से नीचे उतर कर बुआ के पीछे खड़ी हो गयी,,पूजा
बेड पे पीठ के बल लेटी हुई थी और बुआ डॉग्गी स्टाइल मे अपने घुटनो को मोड़ कर अपने फेस को
पूजा की चूत पे झुका कर उसकी चूत को चाट रही थी ऑर इधर शोभा ने बुआ के पीछे
जाके बुआ की चूत को चाटना शुरू कर दिया,,,,शोभा ने बुआ की चूत के चमड़े को अपने
हाथों से दोनो साइड कर दिया ऑर बुआ की चूत खुल कर शोभा के फेस के सामने की तरफ आ
गयी शोभा ने बुआ की चूत को पूरा मूह मे भर लिया ऑर बड़े ज़ोर-ज़ोर से चूसने लगी,,फिर
ऑर साथ ही अपनी एक उंगली बुआ की गान्ड मे डाल दी जिस वजह से बुआ हल्का सा उछल गयी ओर
पूजा की चूत को ज़ोर-ज़ोर से चाटने लगी,,अहह आआआआआअहह
उूुुुुुुुुउऊहह ईईईसस्स्सीईईई हहिईीईईई चहुउऊउस्स्स्सूऊऊ
म्म्म्मुममीईईररर्र्र्रृिइ कककचूऊऊथततटटतत्त ककककककूऊऊ म्म्म्मामममाआाद्द्द्ददडााअम्म्म
आआआहह ईईएसस्स्स्सीईईई हहिईीईईईई जूओर जजूर्र्र सी दद्दब्बााा
काअरर्ररर कक्च्छुउऊस्स्सूऊ पूजा पूरी मस्ती मे सिसकियाँ ले रही थी ऑर अपने हाथों से बुआ
के फेस को अपनी चूत से दबा कर बुआ को ऑर ज़ोर से ओर दबा-दबा कर चूसने का इशारा कर
रही थी,,,,बुआ भी पूरी तरह मस्त होने चूत को खा जाने वाले स्टाइल से चूस रही थी

फिर बुआ ने उसकी चूत से अपना मूह हटाया ओर अपनी एक उंगली पे थोड़ा थूक लगा कर उंगली
पूजा की गान्ड मे डाल दी,,,पूजा इस अचानक हुए हमले से पूरी तहर चोंक गयी ऑर बिजली की
रफ़्तार से हवा मे उछल पड़ी,,शोभा भी बुआ की गान्ड मे उंगली करते हुए बुआ की चूत को
चूस रही थी ओर एक हाथ से अपनी चूत को सहला रही थी,,,,फिर बुआ उन दोनो के बीच से
हट गयी ओर बेड पे लेट गयी ऑर शोभा को अपने पास आने का इशारा किया ऑर पूजा को बेड से
नीचे जाने का,,पूजा बेड से नीचे की तरफ चली गयी और शोभा बुआ की तरफ बढ़ गयी बुआ
ने शोभा के फेस को पकड़ कर अपनी चूत की तरफ झुका दिया शोभा ने बुआ की चूत को मूह
मे भर लिया ओर उसके चमड़े को ऐसे चूसने लगी जैसे कोई किसी के होंठो को किस करते
टाइम चूस्ता है,,इधर पूजा ने भी अपना मूह शोभा की चूत पे रख दिया ओर दोनो हाथों से
शोभा की चूत को खोल कर चूसने लगी पूजा ने अपनी ज़ुबान बाहर निकाल कर शोभा की चूत
मे घुसा दी जिसस वजह से शोभा की मस्ती ज़्यादा हो गयी ऑर वो पागलो की तरह बुआ की चूत
को चूमने ओर चाटने लगी और बुआ की चूत के चमड़े को मूह मे भरके अपने दांतो से काटने
लगी,,बुआ ने अपने हाथ से शोभा के फेस को बालों से बुरी तरह जकड़ा ऑर अपनी चूत पे
दबा दिया उूुुुउऊहह ईईईसस्स्सिईईईई हहिईीईई चहुउऊस्स्सूऊऊओ
आआप्प्प्पंनननिईिइ बब्बहुउऊआा ककक़क्कीईईईई कचूत्त ककककूऊ बुआ की सिसकियाँ सुन कर
शोभा ने ओर बुरी तरह ऑर बेरेहमी से बुआ की चूत को काटना शुरू कर दिया ऑर अपने हाथ
को अपनी गान्ड पर पूजा के हाथ पर रख दिया ऑर उसके हाथ को पकड़ कर उसको अपनी उंगली
गान्ड मे डालने का इशारा किया,,,पूजा ने भी शोभा का इशारा समझ लिया ऑर अपनी उंगली पे
थूक लगा कर शोभा की गान्ड मे दे दिया ऑर शोभा की गान्ड को उंगली से चोदने लगी,,
Reply
07-10-2019, 03:23 PM,
#23
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
कुछ देर बाद बुआ ने शोभा को हटा दिया अपनी चूत से ऑर उठ कर खड़ी हो गयी ऑर शोभा को
भी अपने साथ खड़ा कर लिया ऑर पोज़ा को बेड पे लेटा दिया,,फिर बुआ को शोभा एक साइड पे
ले गयी जहाँ से वो मुझे नज़र नही आ रहे थे,,,इधर पूजा अपनी चूत मे खुद ही
उंगली कर रही थी ऑर एक बूब को हाथ से मसल रही थी,,,,कुछ टाइम बाद बुआ ऑर शोभा
वापिस आ गयी अपनी जगह पे,,,दोनो की कमर पे स्ट्रॅप-ऑन बँधा हुआ था,( एक पैंटी जैसी
चीज़ जिसके आगे एक नकली लंड लगा होता है) बुआ ने अपने स्ट्रॅपो को पूजा की चूत मे
डाल दिया ऑर शोभा ने मूह मे,,बुआ ने पूजा की चूत को चोदना शुरू किया ऑर शोभा ने उसके
मूह को,,,,,शोभा अपने स्ट्रॅपो वाले नकली लंड को पूजा के मूह के अंदर तक घुसा रही थी
इतना अंदर तक कि कयि बार तो पूजा को खाँसी आ गयी थी,,बुआ ने अपनी पूरी स्पीड से
पूजा की चूत को चोदना जारी रखा


कुछ टाइम बाद बुआ ने पूजा की चूत से अपना स्ट्रॅपो निकाला ओर उसके मुँह के पास ले गयी ऑर
शोभा को पूजा की चूत के पास जाने को इशारा किया ,,,बुआ ने अपना स्ट्रॅपो पूजा के मूह मे
डाल दिया ऑर उसके फेस को अपने हाथों मे उठा लिया ऑर अपने हाथों से उसके फेस को स्ट्रॅपो
पे आगे पीछे करने लगी,,,

इधर शोभा भी अपने स्ट्रॅपो को पूरी स्पीड से पूजा की चूत मे
पेलने लगी,,पूजा की टाँगे हल्की हवा मे उठी हुई थी ,बुआ ने उसकी एक टाँग को अपने हाथ
से पकड़ कर ऑर ज़्यादा पीछे की तरफ कर दिया ऑर शोभा को स्ट्रॅपो उसकी गान्ड मे डालने को
बोला,,,शोभा ने स्ट्रॅपो को चूत से बाहर निकाला ओर उसपे थोड़ा सा थूक लगाया ऑर थोड़ा सा
थूक पूजा की गान्ड पे,,,,,पूजा शायद इसके लिए तैयार नही थी इसलिए उसका बदन झटके
खाने लगा शायद वो ऐसा नही करना चाहती थी,,बट बुआ ने उसको नही छोड़ा ऑर अपनी पकड़
मजबूत करली,


,इधर शोभा ने स्ट्रॅपो को पूजा की गान्ड पे रखा ऑर धक्का लगाया पर वो
अंदर नही घुसा ऑर एक साइड को फिसल गया,,इसी दौरान पूजा छूटने की कोशिश करती रही
बट बुआ के सामने उसका ज़ोर नही चला,,शोभा ने दोबारा से स्ट्रॅपो मे खूब सारा थूक
लगाया ऑर खूब सारा थूक पूजा क़ी गान्ड वाले सुराख पे थूक दिया,,,फिर स्ट्रॅपो को गान्ड के
होल पे रखा ऑर धक्का लगाया तो थोड़ा सा हिस्सा स्ट्रॅपो का पूजा की गान्ड मे घुस गया ऑर
पूजा बिना पानी की मछली की तरह झटपटाने लगी,,

,बट बुआ ने उस पर अपनी पकड़ बना कर
रखी फिर शोभा ने उसको थोड़ा पीछे किया ओर एक जोरदार धक्का मारा तो आधे से ज़्यादा हिस्सा
अंदर चला गया पूजा चिल्लाना चाह रही थी बट बुआ ने अपने स्ट्रॅपो को पूजा के मूह के
लास्ट तक फँसा के रखा हुआ था फिर भी उसकी घुटि-घुटि चीख निकल गयी ऑर उसने बुआ के
उस स्ट्रॅपो को अपने दाँतों से काट भी लिया था,,उसकी आँखों मे पानी आ गया था,,,शायद ये
उसका फर्स्ट टाइम अनल सेक्स था,,,,पहली बार उसने गान्ड मे कुछ लिया था,,शोभा ने फिर से एक
जोरदार धक्का मारा तो स्ट्रॅपो जड़ तक अंदर समा गया ऑर पूजा तड़पति रह गई,,मैने देखा
कि जो स्ट्रॅपो पूजा की गान्ड मे लगा हुआ था उसपे खून लग गया था ,,पूजा की गान्ड फॅट
गयी थी,,,शोभा ने कुछ टाइम ऐसे ही स्ट्रॅपो को गाड़ मे टिका के रखा ऑर ज़रा सा भी नही
हिलाया ,,जब पूजा का बदन झटपटाना बंद हुआ तो शोभा ने स्ट्रॅपो को बड़ी स्लो स्पीड मे
गान्ड मे पेलना शुरू कर दिया,,,कुछ टाइम बाद पूजा का बदन हकला-हल्का ताड़पता रहा बट
शोभा ने उसको चोदना जारी रखा बट स्लो स्पीड मे,,बुआ ने अभी भी अपनी पकड़ बड़ी ज़ोर
से बना क रखी हुई थी पूजा पर ताकि वो हिल भी ना सके ऑर बुआ का लंड अभी भी उसके
मूह मे गले तक जाके अटका हुआ था,,,,
Reply
07-10-2019, 03:24 PM,
#24
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
कुछ टाइम बाद पूजा को मज़ा आने लगा ओर वो खुद ही लंड को चूसने लगी अब उसके बदन ने
तड़पना बंद कर दिया बुआ ओर शोभा दोनो समझ गयी कि उसको मज़ा आना शुरू हो गया है,,अब
बुआ ने अपनी पकड़ थोड़ी कमजोर की ऑर अपने हाथ पूजा के बूब्स पर रख दिया ऑर बड़े प्यार
से उनको सहलाने लगी ,,,,फिर कुछ देर बाद बुआ ने शोभा को पूजा की गान्ड से उस स्ट्रॅपो
को निकालने का इशारा ऑर बेड पे लेटने को बोला,,शोभा ने भी वैसा ही किया स्ट्रॅपो को बाहर
निकाला ऑर बेड पे लेट गयी फिर बुआ ने पूजा को उठाया ऑर उसको शोभा के उपेर लेटा दिया ऑर
खुद पूजा के पीछे चली गयी,,,अब पूजा शोभा के उपेर लेटी हुई थी ऑर बुआ उन-दोनो की
टाँगो के बीच बैठी हुई थी,,,शोभा ने नीचे से अपना स्ट्रॅपो पूजा की चूत मे घुसा दिया
ऑर बुआ ने अपने स्ट्रॅपो पे थूक लगा कर उसको पूजा की गान्ड मे घुसा दिया,,पूजा के बदन
को एक हल्का सा झटका लगा बट वो ज़्यादा नही तडपी,,,अब बुआ उसको पीछे से गान्ड मे चोद
रही थी ऑर शोभा नीचे से चूत मे स्ट्रॅपो पेल रही थी बुआ के हाथ पूजा के बूब्स पर
थे ,,शोभा ऑर पूजा दोनो लिप्स किस करने लगे ऑर पूजा ने अपने हाथ शोभा के बूब्स पर
रख दिए ओर उनको मसल्ने लगी,,बुआ पूरी रफ़्तार से गान्ड को चोद रही थी ऑर शोभा ने
भी अपने हाथ को नीचे से पूजा की पीठ पर रख दिया ऑर पकड़ बना कर ज़ोर-2 से पूजा की
चूत को चोदने लगी अब पूजा फुल मस्ती मे आ गयी थी,,उसके लिप्स शोभा के लिप्स मे जकड़े
हुए थे बट फिर भी वो हल्की हल्की सिसकियाँ ले रही थी,,,शोभा ऑर बुआ दोनो को पता
लग गया कि पूजा मस्ती मे आ गयी है ऑर दोनो ने अपनी स्पीड ऑर ज़्यादा तेज करदी ,,करीब
2 मिनिट बाद ही पूजा के बदन ने 5-7 झटके मारे ऑर उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया,,पानी
निकल जाने के बाद भी बुआ ऑर शोभा उसको 2 मिनिट तक चोदते रहे ऑर बाद मे दोनो ने अपने
स्ट्रॅपो को पूजा की गान्ड ऑर चूत से बाहर निकाल लिया ऑर पूजा बेड पे बेसूध होके गिर गयी
उसकी साँसे उखड़ी उखड़ी थी वो तेज-तेज साँसे लेके हाँफ रही थी,,,शोभा ऑर बुआ भी तेज-2
धक्के लगाने के कारण थक गये थे ऑर पूजा के साथ ही लेट कर हाँफने लगे,,,


उस दिन फिर उन लोगो ने स्ट्रिपो चेंज करके बारी-बारी एक दूसरे की चुदाई की,,,,,,जब सबका
खेल ख़तम हो गया मैं वहाँ से चला गया ओर डोर लॉक करके बाहर चला गया,,मेरी बुआ
ने अपने बुटीक मे काम करने वाली लड़की को भी अपने खेल मे शामिल कर लिया था ये देख
कर मुझे हैरानी हुई ,,,मैं सोचने लगा कि मेरी फॅमिली कितनी गंदी है वासना से भरी
हुई है,,अभी कुछ दिनो पहले तक मेरी नज़र मे मेरी फॅमिली बहुत ही अच्छी फॅमिली थी
बट हाल ही के दिनो मे हुई वारदातों को देख कर मुझे मेरी फॅमिली क़िस्सी रंडी खाने से कम
नही लग रही थी,,,,एक मेरी मोम जो इतनी भोली भाली दिखी है अपने ही भाई ऑर बेटे से
किसी रंडी की तरह नंगी होके चुदवा रही है,,,,दूसरी ओर मेरा मामा जो मेरे बाप की इतनी
इज़्ज़त करता है ऑर उनकी पीठ पीछे उसकी वाइफ को यानी अपनी दीदी को चोद चोद कर बुरा हाल
कर देता है,,,,ऑर तीसरा मेरा भाई जो इतना ज़्यादा मासूम बच्चा बनता है जैसे कि उसको अपनी
स्टडी ओर जॉब के इलावा बाहरी दुनिया का कुछ पता ही नही हाँ उसको दिल्ली की लड़कियों से ज़्यादा
अपनी माँ को चोदना अच्छा लगता है...ऑर इस तरफ मेरी बुआ जो अपने पति को छोड़कर अपने
मयके मे आ गयी थी ऑर दोबारा शादी नही की वो मर्द की लंड की जगह रब्बर के लंड से खुद
को खुश कर रही थी ऑर साथ मे शोभा को जो बेचारी कभी फुल बाजू वाला सूट पहनती
थी वो आज कल स्लीवेलेस्स ऑर डीप कट वाले सूट पहन रही है ऑर बुआ के साथ मिलकर नकली
लंड की दीवानी हो चुकी है,,यही सोचते हुए मुझे शाम हो गयी ओर मैं घर को चल पड़ा
Reply
07-10-2019, 03:24 PM,
#25
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
घर पहुचा तो बुआ नीचे ही बैठी थी ,,,आ गया मेरा बेटा,,,भूक लगी है क्या,,

मैने बोला जी बुआ ,,

,तुम फ्रेश हो जाओ मैं खाना लगा देती हूँ,,

मैं फ्रेश होने क लिए अपनेरूम मे चला गया ऑर फ्रेश होके नीचे आ गया,,,,नीचे आया तो बुआ खाना डाइनिंग टेबल पे
लगा चुकी थी,,,मैं खाना खाने लगा तो देखा कि दीदी ऑर पूजा नीचे आ रहे थे,,,,
मैने देखा तो दीदी ऑर पूजा बहुत खुश लग रहे थे,,,,उन दोनो क बाल गीले थे,,,ऐसा
लगा दोनो साथ साथ नहा कर निकली है,,,,,दीदी सोफे पे बैठ गयी ऑर पूजा जाने लगी,,ओके
मेडम मैं चलती हूँ,,,

अरे बेटी खाना तो ख़ाके जाओ,,,,,

मैने सोचा कि इतनी बड़ा स्ट्रॅपोलिया था गान्ड मे पहले उसको तो हजम करले,,,,,,,,,,,,

नही मेडम फिर कभी खा लूँगी,,इतना बोलके पूजा डोर की तरफ जाने लगी,,उसकी चाल कुछ अजीब लग रही थी,,बेचारी की
गान्ड जो फटी थी आज,,मैने खाना खाया ऑर सोफे पे बैठ गया,,तभी बुआ भी हमारे पास
आके बैठ गयी,,बेटा कॉफी पीनी है क्या,,,,मैने बोला अभी नही बुआ जी अभी तो खाना
खाया है थोड़ी देर बाद पीते है,,,,,,ठीक है बेटा ,,,,,फिर सब टीवी देखने लगे,,,


करीब 15 मिनिट बाद बुआ ने शोभा को कॉफी बनाने के लिए बोला,,शोभा उठकर किचिन की
तरफ़ चल पड़ी,,बुआ उठ कर बड़े सोफे पे चली गयी जहाँ दीदी बैठी हुई थी,,,बुआ ने
मुझे भी वहाँ बुलाया ऑर मैं उठकर चला गया,,बुआ ने मुझे बोला बेटा मेरे सर मे हल्का
सा दर्द हो रहा है क्या तुम दबा दोगे,,,मैने बोला ये भी कोई पूछने की बात है बुआ जी
तभी बुआ मेरी टाँगो पे सर रखके लेट गयी,,टीवी का रिमोट बुआ के हाथ मे था,,बुआ ने
सेट मॅक्स चॅनेल लगाया जिसपे अजब प्रेम की गज़्जब कहानी मूवी आ रही थी,,मैं मूवी
देखते हुए बुआ का सर दबा रहा था सर दबाते हुए मेरे हाथों मे बुआ की जुल्फे आ रही
थी,,मैने बुआ को बोला कि बाल बाँध लो प्लीज़ बार बार मेरे हाथों मे उलझ रहे है


बुआ ने बाल बाँध लिए फिर भी बुआ के बालों की एक लट मेरे हाथ से लग रही थी मैने
उस लट की बुआ के कान के पीछे की ओर कर दिया ,,,जब मैं ऐसे कर रहा था तो बुआ ने
अपने हाथों से क्रॉस करके अपनी छाती को दबा लिया जिस कारण उनकी छाती बाहर निकल
आई,,,,दीदी की छाती तो बड़ी थी इसलिए खुद ही बाहर आ जाती थी लेकिन बुआ की छाती
एवरेज साइज़ की थी जो बुआ के हाथों को क्रॉस करने के बाद बाहर निकली थी,,,,,मेरा ध्यान
उनकी छाती पे टिक गया,,,उनके दोनो बूब्स कम से कम 60% तक नज़र आ रहे थे,,उन्होने
ब्रा भी नही पहना था इसलिए उनके बूब्स की कॅप भी नज़र आ रही थी,,तभी बुआ ने मुझे
उनके बूब्स देखते पकड़ लिया,,बट कुछ कहा नही,,,मैने भी नज़रे टीवी की ओर करली,,तुमको
मूवी अच्छी लगी,,,,,जी बुआ जी अच्छी लगी,,अच्छा तुमको न्यू लेटेस्ट मूवी अच्छी लगती है या
ओल्ड,,,क्या मतलब बुआ जी मैं समझा नही,,,,,,,,अरे बुद्धू न्यू मूवी अच्छी लगती है या
पुराने टाइम की,,,कटरीना कैफ़ या अरुणा ईरानी भी ममता कुलकर्णी,,,,,मैने बोला मुझे तो
सब मूवीस अच्छी लगती है बट एंजायबल होनी चाहिए,,,,फिर वो न्यू हो या ओल्ड,,,ठीक है
बेटा समझ गयी,,,,,अब मूवी देखो ओर एंजाय करो,,,,बुआ भी मूवी देखने लगी ओर मैं भी
बीच-2 मे नज़रे चुराके बुआ के बूब्स को भी देख लेता,,,मुझे लगा शायद बुआ जान भूज
कर ऐसी हरकत कर रही है,,क्यूकी मुझे लग रहा था कि उसको पता है मैं उसके बूब्स को
देख रहा हूँ फिर भी उसको कोई प्राब्लम नही वो अपने बूब्स को छुपाने की जगह अपने चेस्ट
पे बाहों को बाँध कर बूब्स को ऑर ज़्यादा बाहर निकाल रही थी,,मैने सोचा लगता है बुआ को
भी मुझे अपने बूब्स दिखाने मे मज़ा आ रहा है,,मेरा दिल किया कि मैं बुआ के बूब्स को
पकड़ लूँ बट मुझे डर लग रहा था कहीं मेरा ऐसा सोचना ग़लत ना हो ऑर कोई पंगा ना
हो जाए,,फिर भी मैने बुआ के सर को दबाते हुए अपना एक हाथ बुआ के शोल्डर पे रख दिया
ऑर उसको हल्के से दबाने लगा,तभी अचानक घर का मेन डोर खुला ऑर सोनिया घर के अंदर आ
गयी,,आते ही वो मुझे बोलने लगी,,,,,,,जब देखो टीवी देखते रहते है जनाब या गेम खेलते
रहते है कभी स्टडी भी कर लिया करो,,कुछ शरम करो कल्से टेस्ट शुरू हो रहे है,
चलो जल्दी चलो उपेर ऑर स्टडी करो,,,,,,मुझे गुस्सा आया कि अभी तो मेरा खेल शुरू हुआ
था ऑर ये पागल आ टापकी,,,,मैने बोला तुम चलो उपेर मैं अभी आता हूँ कुछ देर मे बस
मूवी ख़तम होने ही वाली है,,,,कोई मूवी नही देखनी अभी चलो,,,मुझे नही जाना अभी
कुछ देर मे आता हूँ,,,,,,,,,,,

,मुझे पता था तुम ऐसे ही करोगे इसलिए मैने डॅड को कॉल
करके बोल दिया था कि तुम स्टडी करने मे आना-कानी करोगे डॅड ने मुझे सॉफ सॉफ बोल दिया
कि तुमको जो करना है करो अपने भाई के साथ ऑर अगर वो कहना नही माने तो मुझे फोन कर
देना,,,ऑर डॅड ने तो तुम्हारा कंप्यूटर भी नीचे वाले रूम मे जहाँ मामा सोते है वहाँ पर
रखने को बोला है,,,,,,,मैं डर गया क्यूकी स्टडी के मामले मे सोनिया बहुत सीरीयस होती है
इसमे कोई बड़ी बात नही थी कि उसने डॅड को कॉल किया होगा ऑर डॅड ने भी कंप्यूटर को नीचे
वाले रूम मे रखने को बोला होगा,,,तभी बुआ बोल पड़ी,,,,सन्नी तुम जाओ सोनिया के साथ ओर
स्टडी करो,ऑर वैसे भी मूवी कॉन्सा कहीं भागी जा रही है तुम भी यहीं हो ऑर मूवी भी
नेक्स्ट टाइम आराम से देख लेना ऑर एंजाय कर लेना,,,,ऑर बुआ हँसने लगी,,मैं अब बुआ की बात
को अच्छी तरह समझ गया वो किस मूवी की बात कर रही है,,मुझे सोनिया पे बड़ा गुस्सा आ
रहा था बट डॅड की वजह से मैं चुप-चाप उसके साथ उपेर अपने रूम मे जाके स्टडी करने
लगा,,,,



रात को खाना खाने के लिए हम दोनो नीचे गये ऑर वापिस आके फिर से स्टडी करने लगे,,मेरा
दिल नही लग रहा था स्टडी मे मैं सोच रहा था कि काश सोनिया सो जाए ओर मैं गेम खेल
लूँ बट मैं तो कपना कंप्यूटर नीचे वाले रूम मे शिफ्ट कर चुका था,,,रात करीब 1 बजे
तक हम स्टडी करते रहे ऑर सो गये,,,,,,सुबह उठकर नाश्ता किया ऑर कॉलेज चले गये,,
जब कॉलेज से वापिस आए तो बुआ आज भी घर पे थी बट शोभा दीदी नही थी,,हम लोग आज
जल्दी आ गये थे बुआ को भी पता था कि आज हमारा टेस्ट है इसलिए हम जल्दी आ जाएँगे
इसलिए बुआ ने शोभा दीदी को कॉलेज भेज दिया होगा क्यूकी आज उनका प्रोग्राम होना मुश्किल
था,,,,आ गये मेरे बच्चे,,,टेस्ट कैसा हुआ

बहुत अच्छा हुआ बुआ सोनिया ने जवाब दिया,,,ऑर तेरा
Reply
07-10-2019, 03:24 PM,
#26
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
टेस्ट कैसा हुआ सन्नी बेटा,,,
ठीक हुआ बुआ,,,
तुम दोनो थक गये होगे मैं कॉफी बना लाती हूँ,,,,,,
बुआ हॉट कॉफी नही प्लीज़ कोल्ड कॉफी बना देना,,,,,
ठीक है सन्नी बेटा आज गर्मीबहुत है ओर वैसे भी जवान लोगो को ज़्यादा ही गर्मी लगती है ऐसा बोलते हुए बुआ किचन मे चली गयी मैं ओर सोनिया सोफे पे बैठ गये,,,बुआ कॉफी लेके आई हम तीनो ने बातें
करते हुए कॉफी ख़तम की तभी डोर की बेल बजी देखा तो मोम ऑर मामा जी आ गये थे,,,
मैने सोचा आ गये भाई-बेहन देल्ही मे मस्ती करके,,,,,सोनिया भाग कर मोम के गले लग गयी
मामा जी चुप-चाप किसी से बात किए बिना अपना समान अपने रूम मे रख कर बाहर चले गये
मोम के आते ही बुआ भी अपने रूम मे चली गयी,,,मोम हमारे पास आके बैठ गयी,,सोनिया ने मोम
को पानी पिलाया ऑर गाओं की बातें करनी लगी,,कि सब कैसे है वहाँ ऑर बस इधर उधेर की
बातें मोम भी बड़े प्यार से उसकी बातों का जवाब देने लगी,,,,मोम तो ऐसे जवाब दे रही
थी जैसे सच मे गाओं ही जाके आई है,,,फिर मोम ने बोला कि वो सफ़र से थक गयी है ऑर
आराम करने के लिए अपने रूम मे चली गयी,,,,मोम के रूम मे जाते ही सोनिया ने मुझे बोला कि
चलो हम भी उपर जाके अपने नेक्स्ट टेस्ट की तैयारी करते है,,मैं चुप-चाप उसके साथ उपर
की तरफ चल पड़ा,,,,अभी तो टेस्ट देके आए है कॉलेज से थोड़ा आराम तो करने दो अगर मैं
ऐसा कुछ बोलता सोनिया से तो उसने भी मुझे डॅड का डर दिखाना था ऑर बोलना था कि कॉलेज
से आते ही गेम खेल सकते हो तो स्टडी क्यू नही कर सकते,,,,इसलिए मैं कुछ नही बोला ओर
चुप चाप उसके साथ उपर चला गया,,,,जब हम लोग उपेर जा रहे थे तो बुआ तैयार होके
नीचे आ रही थी,बुआ आप कहाँ चली,,,,,

बेटा मैं बुटीक जा रही हूँ,,,वैसे भी अब
तुम्हारी मोम आ गयी है,,,,,इतना बोल कर ही बुआ वहाँ से चली गयी,,,मुझे पता है कि मोम
ओर बुआ की बिल्कुल नही बनती इसलिए बुआ को मोम का वापिस घर आना अच्छा नही लग रहा था,
मैं ऑर सोनिया अपने रूम मे चले गये ऑर स्टडी करने लगे...


अगले 6-7 दिनो तक हम लोग स्टडी ही करते रहे ना कभी बुआ को देख सका नहाते हुए ऑर ना
ही दीदी को,,,,,,बड़ा गुस्सा आ रहा था मुझे इस कमिनि सोनिया पे,,,पर क्या कर सकता था
अगर स्टडी नही करता तो डॅड की डाँट खानी पड़ती,,,,सोनिया ने तो मुझे सनडे भी एंजाय न्ही
करने दिया उस दिन भी बस स्टडी करता रहा मैं,,,


एक रात हम लोग स्टडी कर रहे थे रात के करीब 2 बज चुके थे,,हम लोग काफ़ी थक गये
थे सोनिया भी इतना ज़्यादा थक गयी कि मेरे बेड पर ही लेट गयी ऑर उसकी आँख लग गयी,पहले
तो मैने सोचा इसको उठाकर वापिस इसके बेड पे लेटा देता हूँ बाद मे मैने सोचा कि इतना
अच्छा मोक़ा मिला है तो क्यू ना इसका लुफ्त उठाया जाए,,मैं भी बुक्स साइड पे रख कर बेड पे
लेट गया,,,बेड छोटा था (सिंगलेबेड) इसलिए हम दोनो काफ़ी करीब होके लेटे हुए थे,..एक
साइड टर्न करना भी मुश्किल था,,सोनिया ने आज एक वाइट कलर का नाइट सूट पहना हुआ था
जो सिल्क का बना हुआ था ,,काफ़ी पतला ऑर सॉफ्ट,,,वो इतना पतला था कि मुझे उसकी ब्रा भी
नज़र आ रही थी,,साथ मे उसने एक वाइट कलर का सेम वैसा ही पयज़ामा पहना हुआ था,,
जिसमे से उसकी टाँगे हल्की-2 नज़र आ रही थी,,,,वो सोती हुई बड़ी मासूम से परी लग रही
थी ,,,,वो इतनी ज़्यादा क्यूट थी कि मैं 10-15 मिंट ऐसे ही बिना हीले डुले उसकी तरफ देखता
रहा,,,छोटे-2 पिंक कलर के होंठ ऑर छोटा सा मासूम चेहरा,,जिसको देख कर किसी का दिल
नही भर सकता था,,,मेरा भी नही,,काफ़ी टाइम उसको ऐसे देखने के बाद मैने डरते-डरते
हिम्मत करके अपना एक हाथ उसकी कमर पे रख दिया बट हिलाया नही,,ऐसे ही एक जगह पड़ा
रहने दिया,,,,मुझे डर था कहीं वो जाग गयी तो पंगा हो जाएगा,,कुछ देर तक जब वो ज़रा
सा भी नही हिली तो मैं समझ गया कि वो पक्की नींद मे है,,,मैने हिम्मत करके अपने हाथ
को उसके पेट ऑर कमर मे घुमाना शुरू किया,,,,सिल्क का कपड़ा काफ़ी सॉफ्ट ऑर मुलायम था कि
मेरा हाथ खुद-ब-खुद उसके जिस्म पे फिसलने लगा,,,वो कपड़ा इतना ज़्यादा पतला था कि मुझे
उसके बदन पे उस कपड़े के होने का एहसास भी नही हो रहा था मुझे एसा लग रहा था जैसे
उसने कुछ पहना ही नही है ऑर मेरा हाथ उसके नंगे पेट को छू रहा है,,मैं बड़े प्यार
से उसके पेट पे हाथ फेर रहा था फिर मैने हिम्मत करके अपने लिप्स को उसके लिप्स के पास
ले गया ऑर उसके लिप्स को हल्के से चूम लिया,,पहले एक किस फिर दूसरी,,,ऐसा करते करते
मैं उसको काफ़ी टाइम चूमता रहा बट बड़े प्यार ओर नज़ाकत से हल्के-2 ऑर साथ मे अपना हाथ
उसके पेट मे घुमाता रहा,,,कुछ देर बाद मैने उसके लोवर लिप्स को अपने लिप्स से फसा लिया
ओह्ह्ह्ह म्म्म्म,ममय्ययी ग्ग्गूऊद्ददड ये मेरी ज़िंदगी का पहला किस था इतना ज़्यादा अच्छा लग रहा
था कि मैं आपको लफ्जो मे उस एहसास को ब्यान नही कर सकता,,,उसके लिप्स इतने ज़्यादा सॉफ्ट
थे जैसे कोई सॉफ्टी आइस्क्रीम,,जो आपके मूह मे जाते ही पिघल जाती है,,,

मैने बड़े प्यार से उसके लोवरलिप्स को चूसने लगा ओर हाथ उसके पेट पे घुमाते हुए उसकी
छाती तक ले आया ,,,मेरी हिम्मत नही हो रही थी अपना हाथ उसकी छाती पे रखने की बट
मैने हिम्मत करके हाथ उसकी छाती पे रख ही दिया ऑर बड़े प्यार से नाइटी के उपेर से ही
उसके बूब्स को अपनी हथेली मे लेकर हल्के से दबाने लगा,,इधर मेरे लंड ने अपनी ओकात
दिखानी शुरू करदी थी,,,मैं बड़े प्यार से उसके लोवर लिप्स को चूस रहा था कोई जल्दबाज़ी
नही कर रहा था क्यूकी जल्दबाज़ी करने से वो जाग सकती थी,,,मैं हाथ उसके बूब्स से
नीचे की तरफ ले गया ऑर बड़ी स्लोली-2 उसकी नाइटी को उपेर उठाने लगा,,मैने नाइटी को
ज़्यादा उपर नही उठाया था,,,सिर्फ़ बेल्ली तक ही उपर उठाया था,,अब मेरा हाथ उसके नंगे
पेट पर था ओर मैने अपने हाथ को पेट पे चलाना शुरू किया,,,,फिर मैने अपना हाथ अपने
लंड पे लेके जाने की कोशिश की बट ऐसी हालत मे हाथ लंड पे लेके जाना मुश्किल लग रहा
था,,इसलिए मैं उठकर बेड पे बैठ गया ऑर एक हाथ से लंड को मसल्ने लगा दूसरे हाथ को
उसके पेट पे चला रहा ,,जैसे जैसे मज़ा बढ़ता जा रहा था वैसे वैसे मेरे हाथ की
कंपन भी तेज होने लगी,,बेड थोड़ा हिलने लगा मैं डर गया कहीं बेड के हिलने से सोनिया जाग
नही जाए इसलिए मैं बेड ने नीचे उतर कर ज़मीन पर खड़ा हो गया,,,,मैने अपने हाथ की
स्पीड पूरी रफ़्तार पर करदी,,ऑर दूसरा हाथ उसके पेट पर रखा,,,वो सोते हुए बड़ी क्यूट लग
रही थी ओर उसका गोरा बदन मुझे पागल बना रहा था मेरा दिल किया कि अभी इसको नंगी
करके खूब जम कर चोदु,,बट मैं ऐसा कर नही सकता था,,मैने अपना हाथ धीरे से
उसके पयज़ामे की तरफ कर दिया ऑर उसके पयज़ामे के उपेर से उसकी टाँगो को सहलाने लगा बट
मेरी हिम्मत नही हुई अपना हाथ उसकी चूत तक लेके जाने की,,,ऑर इस से पहले मैं हिम्मत
करता मेरे लंड ने पिचकारी मारना शुरू कर दिया मैं जल्दी से दूसरी तरफ घूम गया ताकि
मेरा पानी सोनिया पे ना गिर जाए वरना मेरी गान्ड तो पक्का फॅट जानी थी,,मैने दूसरी तरफ
घूम गया ऑर लंड ने 3-4 पिचकारी मारी ओर सारा पानी ज़मीन पे गिर गया,,मैने उसको सॉफ नही
किया क्यूकी मैं थक गया था ऑर ऐसे ही सोनिया की बगल मे लेट गया कब मुझे नींद आ गयी
पता ही नही चला,,,,,
Reply
07-10-2019, 03:24 PM,
#27
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
सुबह जब उठा तो देखा सोनिया बेड के पास खड़ी थी ऑर ज़मीन पर गिरे हुए पानी को देख रही
थी जो अब तक सूख चुका था बट उसके निशान अभी भी थे ज़मीन पर,,तभी उसने मेरी
तरफ देखा मुझे जागता हुआ देख कर उसने बड़े प्यार से मुस्कुराकर मुझे गुड मॉर्निंग बोला,
मैने भी गुड मॉर्निंग बोला,,,,,भाई ये निशान कैसे है देखो तो ज़रा,,,मैने बोला कोन्से
निशान,उसने ज़मीन की तरफ इशारा करते हुए बोला,,,,,,मैने सोचा कि अब क्या जवाब दूं
इसको कि मैने तेरे नंगे बदन को देखते हुआ अपना पानी निकाला था,,,,,,,,,,,,,वो ये मैने
रात को एक कोक्करॉच मारा था शायद उसी के निशान होंगे,,,बट भाई निशान तो बहुत ज़्यादा है
मैने बोला कोक्करॉच भी तो बहुत ज़्यादा थे,कम से कम 15-20 थे,,,15-20?? वो हैरान हो
गये ऑर डरने लगी,भाई इतने कोक्करॉच कहाँ से आए,,मैने बोला वही से जहाँ वो वापिस गये
,,,कहाँ से भाई,,,,,,,,,,,,,,,बाथरूम से,मैने उसको मारकर फ्लश कर दिया था,,ओककककक
भाई ऐसा बोलके वो बाथरूम मे गयी ऑर एक गीला कपड़ा लेके उसको सॉफ करने लगी,,भाई ऐसे
निशान कुछ दिन पहले भी थे मुझे समझ नही आया कि किस चीज़ के निशान है मैने उनको
सॉफ कर दिया था,,,शायद उस दिन भी तुमने कोक्करॉच मारे होंगे रूम मे,मैने बोला हां हो
सकता है क्यूकी आज कल कुछ ज़्यादा ही कोक्करॉच आ रहे यहीं अपने रूम मे,,,,,,निशान सॉफ
करके वो नीचे चली गयी ओर मैने सुख का सांस लिया,,,,अच्छा हुआ इसको कुछ नही पता वर्ना
मेरी तो शामत आ जाती,,,मैं भी बाथरूम मे जाके नहा धो कर नीचे चला गया,,,फिर
हमने नाश्ता किया ऑर कॉलेज चले गये,,,,

फिर कुछ दिन ऐसे ही बीत गये मैने दोबारा कभी सोनिया को देख कर मूठ नही मारी रूम मे
ऑर ना कभी वो दोबारा मेरे बेड पर सोई थी,,उस दिन तो थक गयी थी इसलिए उसकी आँख लग
गयी थी इसलिए मेरे बेड पे सो गयी थी,,,फिर आया वो दिन जिसका मुझे इंतज़ार था,,,आज लास्ट
टेस्ट था,,,टेस्ट देके जब हम घर वापिस आए तो मोम ऑर मामा जी सोफे पर बैठे थे,,मैं
बहुत खुश था टेस्ट जो ख़तम हो गये थे,,ऑर हमारी 6 दिन की छुट्टी थी कॉलेज से,,मोम
ने हमको खाना दिया ऑर खुद टीवी देखने लगी,,,मैने खाना खाया ओर सीधा उस रूम मे गया
जहाँ मेरा कॉप्यूटर पड़ा हुआ था,,,,मैने जल्दी से कंप्यूटर वहाँ से उठाया ऑर अपने रूम मे
ले गया,,मुझे ऐसा करते देख मोम मामा जी ऑर सोनिया हँसने लगे,,,,,,कितना उतावला है मेरा
बेटा गेम खेलने क लिए,,,,,मोम इसने तो शूकर मनाया होगा कि टेस्ट ख़तम हो गये है,,मैने
उनकी बातों को अनसुना कर दिया ऑर अपने रूम मे जाके कंप्यूटर लगाकर गेम खेलना शुरू कर
दिया,,,,,,काफ़ी दिनो बाद गेम खेल रहा था इसलिए मुझे पता ही नही चला कब रात हो गयी
वो तो जब सोनिया मुझे डिन्नर के लिए बुलाने आई तो पता चला,,,,मैं उठकर डिन्नर करने
नीचे चला गया ,,,,नीचे सब लोग बैठे हुए थे,,मैं भी जाके सब लोगो के साथ डिन्नर
करने लगा,,,डॅड भाई ने आते ही अपना कंप्यूटर उपर अपने रूम मे लगा लिया ऑर तभी से
गेम खेल रहा है कंप्यूटर के बिना तो जान निकल जाती है इसकी पता नही इतने दिन कैसे
दूर रहा ,,ऑर सोनिया हँसने लगी साथ मे बाकी घर वाले भी,मेरा बेटा टेस्ट के दीनो मे अपने
कंप्यूटर के पास तक भी नही गया इस बात की मुझे खुशी है अगर अब ये टेस्ट मे अच्छे
नम्बरो से पास हो गया तो मैं इसको लॅपटॉप लेके दूँगा,,,मैने खुशी से चेर से उठकर
डॅड को गले से लगा लिया आप बहुत अच्छे हो डॅड,,,,बट आपने तो मुझे नेक्स्ट टाइम कार गिफ्ट
करने को बोला था,,,,बेटा कार तुमको तब मिलेगी जब तुम 18 साल के हो जाओगे ऑर तुम्हारा
ड्राइविंग लाइसेन्स बन जाएगा,,तब तक लॅपटॉप ही मिल सकता है,,,,ठीक है पापा जैसे आप ठीक
समझो,,,,,,,,दिस ईज़ नोट फेर डॅड भाई को लॅपटॉप ऑर मुझे कुछ भी नही,,

,तुझे किसने कहाकि मैं तुझे कुछ नही दूँगा,,तुझे भी आक्टिव मिल जाएगी बट 18 साल की उमर के बाद,

,तबतक कुछ नही मिलेगा क्या तो भाई को लॅपटॉप क्यू,,,

अच्छा बोलो मेरी रानी बिटिया तुमको क्याचाहिए,,,,,,

मुझे भी लॅपटॉप चाहिए,,,,

,इसने तो गेम ही खेलना है लॅपटॉप पे बट मेरी तो हल्प हो जाइया करेगी नोट्स बनाने मे,,,,,

ठीक है बेटी तुझे भी लॅपटॉप मिल जाएगा,,
सोनिया भी खुश हो गयी तभी फोन की रिंग बजने लगी,,,,मामा ने उठकर फोन उठाया ओर
वापिस आके अपनी चेर पे बैठ गये,,,,,,,,,,

,मोम--,किसका फोन था भाई,,,

,गाओं से फोन थाबहना हम लोगो को बुलाया है चाचा ने थोड़ा काम है गाओं मे जो हमारी ज़मीन है उसके
बारे मे वकील ने कुछ बात करनी है,

,मुझे भी जाना है इस बार गाओं,,,,,बट मामा ने मना कर दिया,हम लोग वहाँ काम से जा रहे है घूमने फिरने नही,

,तभी मोम भी बोल पड़ी,,,,,कोई ज़रूरत नही है फालतू मे कॉलेज से छुट्टी करने की,,,,,मुझे शक हुआ कि
मोम ऑर मामा को गाओं नही जाना शायद इस बार भी भाई के पास ही जाना होगा इसलिए तो मुझे
साथ नही लेके जा रहे,,,,,,,,,,,,मोम छुट्टी कॉन करेगा कॉलेज से हमे तो वैसे भी 6-7
दिन की छुट्टी है अब,,,

तभी सोना ने भी बोल दिया हां मोम हमे 6-7 दिन की छुट्टी है अब,
तभी डॅड ने मामा को मोम को बोला कि सन्नी अगर जाना चाहता है तो ले जाओ इसको भी,,,

मोंबोली कि हमे कोर्ट कचहरी मे आना जाना है ये क्या करेगा वहाँ जाके,,,,,

मोम मैं वहाँ गाओं मे घूमता रहूँगा वैसे भी बहुत टाइम हो गया मैं गाओं नही गया,,,,

,डॅड बोले ठीक है तुमभी मोम ओर मामा के साथ चले जाना,,,,,अबकी मोम ओर मामा जी कुछ नही बोले,,मैं भी खुश
हो गया अगर तो सच मे गाओं जाना हुआ तो भी मैं गाओं मे घूमता रहूँगा ऑर दिल खुश कर
लूँगा ऑर अगर मोम को भाई के पास जाना है तो इन लोगो की चुदाई देख लूँगा,,,,,,,,
Reply
07-10-2019, 03:25 PM,
#28
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही

सुबह 4:30 पर हम लोग रेलवे स्टेशन पहुच गये ट्रेन 5 बजे की थी,,मामा ऑर मोम दोनो
उदास लग रह थे,,बट मैं तो बहुत खुश था चाहे वो लोग भाई के पास चले चाहे गाओं,
लेकिन वो लोग मेरे साथ भाई के पास क्यू जाने लगे क्यूकी घर पे तो उनलोगो ने गाओं जाने का
बोला है ओर झूठ बोलकर मुझे वो अपने साथ भाई के पास क्यू लेके जाएँगे,,मैने सोचा कि
सच मे ये लोग कहीं गाओं तो नही जा रहे,,इस बात पे मैं भी थोड़ा उदास हो गया,,5 बजे
ट्रेन आई ओर हम लोग अपनी सीट पे जाके बैठ गये कुछ टाइम बाद ट्रेन चल पड़ी,,करीब 9
बजे एक स्टेशन आया ओर 11 बजे एक स्टेशन पर ट्रेन रुकी तो मामा नीचे जाने लगे,,

मामा जीकहाँ जा रहे हो,,,,

कुछ नही बेटा पानी की बोतटेल लेने जा रहा हूँ,,

तभी मैने मोम के बॅग से पानी की बोतल निकाली ऑर बोला की पानी तो है मामा जी,,,,तो बोले कि मुझे एक फोन
भी करना है बेटा,,,,,मामा जी चले गये मोम उदास ही बैठी हुई थी,,5 मिंट बाद ट्रेन
का सायरन बज गया ऑर ट्रेन चल पड़ी मैं डर गया क्यूकी मामा जी अभी तक नही आए थे,,,
मैं उठकर बाहर जाने ही वाला था तभी मामा जी आ गये,,,उसके हाथ मे एक कोल्ड्ड्रिंक थी
मामा जी ने सीट पे बैठते हुए कोल्ड-ड्रिंक की बोतल खोली ऑर मोम ने बॅग मे से ग्लास निकाल
लिए ऑर हम लोग कोल्ड-ड्रिंक पीने लगे,,,,तभी कोई 15-20 मिनिट बाद मामा बोले,,,बहना एक
गड़बड़ हो गयी है,,,,,क्या हुआ भाई,,,मैने भी पूछा क्या हुआ मामा जी,,,,,,मैं जब स्टेशन
पर उतरा था तो मैने चाचा जी को गाओं फोन किया था ताकि पूछ सकूँ कि हमे घर आना
है या सीधा स्टेशन से कोर्ट जाना है तभी चाचा जी ने बोला कि जिस वकील से हमको आज
बात करनी थी वो कहीं बाहर चला गया है अब वो 10-15 दिन बाद आएगा ,,मैने बोला चाचा
जी आप हमे पहले नही बता सकते थे अब तो हम बस पहुचने वाले है,,,तो चाचा जी ने
बोला की बेटा घर का फोन खराब था अभी ठीक हुआ है मैने तेरी चाची को बोला था बट
लगता है वो भूल गयी होगी,,,,,,,

तो अब क्या करना है मामा जी,,,

मैं सोच रहा हूँ बेटा
अब इतना दूर तो आ ही गये है वापिस क्या जाना क्यू ना हम लोग देल्ही चले तेरे विशाल भाई
के पास,,वैसे भी 10-15 दिनो बाद फिर गाओं जाना पड़ेगा तो अब जाके क्या करना तभी चले
जाएँगे बाद मे,,,,,

,मैं मामा की चल समझ गया,,,,,,,,,ठीक है मामा जी जैसा आप कहे,,,
मुझे कोई प्रॉब्लम नही मुझे तो खुशी होगी भाई से मिलकर,,,,

क्यू बहना तुम खुश नही हो क्या अब तो सन्नी भी तैयार है अपने भाई से मिलने को,,,,,
,मोम बोली कॉन माँ है जो अपने बेटेसे मिलकर खुश नही होगी,,,,,,,,बट एक प्रॉब्लम है भाई हम लोग घर से गाओं जाने के लिएनिकले थे ओर अब देल्ही जा रहे है तुम्हारे जीजा जी को पता चला तो वो गुस्सा करेंगे,,,
मामा बोले कि हम उनको कुछ बोलेंगे ही नही,,,,,क्यू सन्नी बेटा तुम अपने भाई से मिलने के
लिए ये बात छुपा सकते हो ना,अगर घर पे कोई पूछे तो या बोल सकते हो कि तुम गाओं ही
गये थे,,,,

मैने बोला क्यू नही माँ जी भाई से मिलने के लिए एक क्या मैं तो 1000 झूठ बोल
सकता हूँ,तभी मामा ऑर मोम दोनो खुश हो गये,,,,,


करीब 12 बजे हम अपने स्टेशन पेर पहुँच गये ओर वहाँ से बाहर निकल कर देल्ही की बस मे
बैठ गये,,मैं झूठ बोलने को तैयार हो गया था इसलिए मोम कुछ ज़्यादा ही खुश लग रही थी
बस से 2 अवर्स का सफ़र करके हम देल्ही भाई के घर पहुच गये,,,,,मेरा भाई देल्ही मे एक
फ्लॅट रेंट पे लेके रहता है,,,,उस फ्लॅट मे एक बेडरूम एक छोटा सा किचन ऑर एक हॉल है,,
हॉल मे एक बाथरूम है जिसका डोर दो तरफ है एक तो हाल की तरफ दूसरा बेडरूम की तरफ,
भाई के फ्लॅट पे पहुँच कर मामा ने डोर बेल बजाई,,,भाई ने डोर खोला ओर मामा जी को
गले लगा लिया फिर बड़ी खुशी से हंसते हुए मोम को गले लगाया बट जैसे ही उसकी नज़र
मेरे पे पड़ी वो उदास हो गया फिर झूठ-मूठ का हंसते हुए मुझे भी गले लगा लिया ओर
बोला कि मेरा भाई मोम ऑर मामा जी एक साथ क्या बात है,,,,मेरा भाई तो पहली बार आया है
मुझे बड़ी खुशी हो रही है,,,,मैने मन ही मन मे सोचा साले कमिने कितनी खुशी हुई
तुझे मेरे को यहाँ देख कर इसका पता तो दूर पे ही लग गया था तेरा बस चले तो तू अभी
इसी वक़्त मुझे घर से निकाल दे क्यूकी मेरे रहते आप लोगो का प्रोग्राम जो नही हो सकता,,
मुझे भी बड़ी खुशी हुई भाई आपके यहाँ आके वैसे भी मैं पहली बार आया हूँ,,मोम-डॅड
तो क्यू बार आ चुके है,,,ओर मामा जी आप भी तो पहली बार आए हो यहाँ है ना,,,,

हां बेटासन्नी मैं भी पहली बार आया हूँ,,

मैने सोचा कितना बड़ा कमीना है साले तू हर 15 दिन
बाद तो आता है अपनी बेहन को विशाल के कोठे ऑर रंडी बनाके चोदता है,,,भाई किचन मे
चला गया चाइ नाश्ते का प्रबंध करने मोम वॉशरूम मे चली गयी ऑर मामा जी टीवी देखने
लगे,,,


चाइ पीते पीते हम लोग इधर उधेर की बातें करते रहे ,,अब ऑर कर भी क्या सकते थे
बातें करके क इलावा,,,अगर मैं नही आया होता तो अभी ये तीनो नंगे होके चुदाई कर रहे
होते,,ऐसे ही बातें करते हुए ऑर टीवी देखते हुए रात हो गयी,,,,मोम डिन्नर की तैयारी करने
लगी,,डिन्नर ख़ाके सोने की तैयारी होने लगी,,बेडरूम एक ही था इसलिए थोड़ा पंगा था सोने
के लिए,,तो सोने का प्रोग्राम ऐसे बना कि मैं मोम ऑर भाई बेडरूम मे एक ही बेड पर सोएंगे
ऑर मामा जी बाहर ज़मीन पर मॅट्रेस लगा कर,,,,सोने से पहले सब लोगो ने एक ग्लास दूध
पिया ऑर लेट गये मुझे हल्की सी थकान थी सफ़र की वजह से ऑर वैसे भी अगर मैं थोड़ी
देर के लिए आँख नही लगाता तो इन लोगो का प्रोग्राम कैसे शुरू होता,,इसलिए मैं आँखे बंद
करके लेट गया ओर सो गया,,,जब आँख खुली तो सुबह के 10 बज रहे थे,,,,,मैं हैरान हो
गया ओर मुझे खुदपे गुस्सा भी आने लगा,,,मैं इतनी देर कैसे सो सकता हूँ मुझे तो रात
को चुदाई देखनी थी सारा काम खराब हो गया,,फिर मैने सोचा कोई बात नही कल तो सफ़र
की वजह से थ्कावट हो गयी थी इसलिए गहरी नींद मे सो गया था बट आज रात मैं नही
सोउंगा ऑर जो मर्ज़ी हो जाए चुदाई देख कर रहूँगा,,,दिन तो ऐसे ही बीत गया बाहर घूमने
मे घर आए तो बातें करते रहे या टीवी देखते रहे,,,,रात को फिर हमने डिन्नर किया ओर
मामा जी ने सब को गर्म दूध दिया दूध पीक मैं लेट गया मोम ऑर भाई भी मेरी दोनो साइड
पे लेट गये,,मैने कुछ देर के लिए अनंखें बंद की ऑर सोने का नाटक करने लगा बट मेरी
आँख लग गयी आज फिर जब सुबह उठा तो 9 बजे का टाइम हो गया था,,,आज तो मुझे खुदपे
बहुत ज़्यादा गुस्सा आने लग,,,,,,2 रात से मेरे साथ (क्ल्प्ड) हो रहा था,,,,उठने के बाद भी
मुझे बदन थका हुआ लग रहा था मुझे लगा शायद ये देल्ही क पानी का असर होगा वैसे भी
देल्ही का पानी बहुत घटिया है पता नही भाई कैसे पीता है पानी को फिल्टर किया था बट
फिर भी अजीब सा स्वाद था उसका,,,,भाई को तो अब आदत हो चुकी थी,,शाम को हम सब लोग
टीवी देख रहे थे मुझे गर्मी लग रही थी तो मैं भाई के रूम मे जाके एसी लगा कर लेट
गया,,कुछ देर बाद मुझे सूसू आया तो मैं उठकर बाथरूम मे गया,,बाथरूम करते हुए मुझे
मामा की आवाज़ सुनाई दी,,वो कुछ चुदाई-चुदाई वर्ड बोल रहे थे,,,मैने सूसू करके दूसरी
तरफ के डोर पे जो हॉल की तरफ खुलता था उसपे कान लगा कर बाहर की बात सुनने लगा..
बहना रात को बड़ा मज़ा आया हां सच मे मोम बहुत मज़ा आया,,तुम दोनो ज़रा आराम से बात
करो भूलो मत सन्नी अंदर रूम मे है,,,ठीक है मोम,,,,,बट मज़ा तो आया ना,,,,हां बहुत
मज़ा आया बेटा,,,अगर सन्नी के जागने की टेन्षन ना हो तो ओर ज़्यादा मज़ा आए,,,अरे बेहन बोला
ना कि सन्नी नही जाग सकता सुबह से पहले देख अभी तक असर है उसको इसलिए बदन मे
थकान महसूस हो रही है,,,मैने सोचा कि ये क्या बात कर रहे है मुझे कुछ भी समझ
नही आ रहा था,,,अरे मोम ये सब तो मामा जी का कमाल है जो अपना तेज दिमाग़ यूज़ करते
हां बेटा इसमे तो कोई शक़ नही कि तेरे मामा का दिमाग़ बहुत तेज है तेरे को भी तो फसा
लिए था मेरी चुदाई करने के लिए,

अरे मोम मैं तो वैसे ही उतावला था तुझे चोदने के लिए
ये तो भला हो मामा जी का जिनकी हेल्प से मैं तुझे चोद सका,,,,अच्छा बेटा अब क्या दिमाग़
चलाया है तेरे मामा जी ने,,,,,,,,
,अरे मामा जी आपने मोम को बताया ही नही अभी तक,,,

क्या नही बताया मेरे बेटा तुम ही बता दो अपनी मोम को,,,,,

मोम मामा जी जो दूध देते है ना सब
लोगो को रात मे गर्म करके तो वो सन्नी के दूध मे नींद की गोली डाल देते है तभी तो वो
सुबह तक सोता रहता है ओर 9-10 बजे से पहले नही जागता,,,,

सच मे भाई तुम ऐसा करते हो ,,

,हां बहना वेर्ना सन्नी सोता नही ऑर हम एंजाय नही कर पाते ,,,,
अच्छा अगर अब सन्नी अगर रात को नींद से जाग गया तो,,,,

ऐसा नही हो सकता बहना वो मेडिसिन बड़ी तेज है एक
गोली जिसको दूध या कोल्ड_ड्रिंक मे डालके देदो तो वो बंदा इतनी गहरी नींद सोता है कि
अगर आप उसके कान के पास ढोल ऑर नगाड़े भी बजाओ तो वो उठने वाला नही..देखो अभी तक
सन्नी को उस मेडिसिन का असर है है इसीलये जाके रूम मे लेट गया है,,तुम टेन्षन मत लिया
करो मेरी बहना जब तक तेरा भाई है तुमको फिकर करने की ज़रूरत नही,,,,,फिर सब लोग
हँसने लगे,,,
Reply
07-10-2019, 03:25 PM,
#29
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
बाथरूम मे खड़ा सबकी बातें सुनके मैं हैरान हो गया ऑर मुझे गुस्सा भी आने लगा.साला
कितना बड़ा कमीना है मेरा मामा नींद की गोली देता है मेरे को,,ऑर इधर मैं सोच रहा
था कि देल्ही का पानी ग़लत असर कर गया मेरे को इसीलिए ज़्यादा देर तक सोने लगा हूँ ओर अब
उठने के बाद भी बदन दर्द कर रहा है,,,,दिल किया मामा को गोली मार दूं,,,मैं रूम मे
जाके बेड पे लेट गया ऑर सोचने लगा कि कैसे 2 रात मैं मामा की वजह से सोता रहा ओर
उन लोगो का प्रोग्राम एंजाय नही कर सका,,लेकिन आज रात कुछ भी हो जाए मैं प्रोग्राम देख
कर रहूँगा,,,,,

रात को करीब 9 बजे हम लोगो ने डिन्नर किया ,डिन्नर करके मैं टीवी देखने लग गया तभी
कुछ देर बाद मामा जी दूध लेके आए ऑर सबको अपना-2 ग्लास पकड़ा दिया,,मैने दूध का
ग्लास लिया ऑर एक-दो सीप लिए उन लोगो क सामने ताकि किसी को शक़ ना हो,,फिर ग्लास लेके
नींद आने का नाटक करते हुए बेड रूम मे चला गया,,बाकी लोग बाहर ही थे मैने जल्दी से
दूध के ग्लास को टाय्लेट मे फ्लश कर दिया ऑर जाके बेड पे लेट गया तभी कुछ देर बाद
मोम ओर भाई रूम मे आ गये,,मोम ने मेरे दूध के ग्लास की तरफ देखा जो खाली था दूध
जो मैने टाय्लेट मे फ्लश कर दिया था,,,,मोम ने देखा दूध का ग्लास खाली है ओर भाई
को इशारे से बता दिया,हल्की आँखें खोल कर उनको देख रहा था,,,,करीब 30 मिनिट बाद
मैने स्नोरिंग (खर्राटे) शुरू कर्दिए ताकि उनलोगो को लगे कि मैं सो गया हुआ,,फिर भाई
उठा उसने मोम को उठाया ऑर मेरे पास आके मेरे गालों पे हाथ मारा,,,पहले तो हल्का सा
मारा बाद मे थोड़ा तेज मारा,,,,वो ये देख रहा था कि मैं गहरी नींद मे हूँ या नही,
मैने स्नोरिंग कंटिन्यू रखी तो भाई को यकीन हो गया कि मैं गहरी नींद सो गया हूँ,फिर
भाई ओर मोम दोनो रूम से नकल गये,,उनके जाने के बाद ही मैं भी अपने बिस्तर से उठा ओर बिना
शोर किए बाथरूम की तरफ चल पड़ा,,मैने कोई लाइट ऑन नही की,,ना रूम की ओर ना ही
बाथरूम की,,,,लेकिन एक पंगा हो गया डोर मे कोई होल नही था जिस-से मैं बाहर देख
सकता,,मैं परेशान हो गया,,,फिर मैं हिम्मत करते हुए बड़े आराम से ओर प्यार से डोर को
खोलने की कोशिश की ताकि कोई आवाज़ ना हो,,,ओर मैं बिना आवाज़ के डोर को खोलने मे कामयाब
हो गया,,बाहर हल्की सी लाइट चल रही थी,,लेकिन लाइट इतनी थी कि मैं उन लोगो को देख
सकता था ,,


मैने देखा कि मोम ऑर भाई मामा जी के बिस्तर के पास खड़े हुए थे,,मोम ऑर भाई ने अपने
कपड़े उतारने शुरू किए ओर 2 मिंट मे नंगे हो गये तभी मामा भी अपने बिस्तेर से उठकर
खड़ा हो गया जो कि ज़मीन पर लगा हुआ था,,तब तक मोम ऑर भाई ने किस शुरू करदी थी
मामा ने खड़े होते ही मोम के बूब्स को अपने मूह मे ले लिया ओर दूसरे को हाथ से मसल्ने लगा
ऑर भाई ने अपने हाथ को मोम की चूत पे रख दिया ओर बड़े प्यार से मोम की चूत को सहलाने
लगा,,मोम ने भी मस्ती मे अपने दोनो हाथों से भाई ऑर मामा के लंड को पकड़ लिया ऑर मूठ
मार के उनको गर्म करने की कोशिश करने लगी जिसमे ज़्यादा टाइम नही लगा,,,फिर मामा मोम के
बूब्स को चूस्ता हुआ नीचे अपने घुटनो पर बैठ गया ओर मोम की टाँग उठा कर अपने शोल्डर
पर रखली ताकि मोम की चूत उनके फेस के करीब आ सके,,फिर मामा ने मोम की गान्ड को दोनो
हाथों से पकड़ा ऑर अपने फेस की तरफ खींचा जिस-से मामा का फेस एक दम मोम की चूत से
चिपक गया ऑर मामा बड़े जोरदार तरीके से मोम की चूत को चाटने लगा,,मोम को मस्ती चढ़ने
लगी ऑर मोम ने अपने एक हाथ से मामा के सर को चूत पे दबा लिया ऑर दूसरा हाथ भाई के गले
मे डालके उसका सहारा लेके खड़ी रही भाई ने भी मोम के लिप्स मे अपने लिप्स कुछ इस कदर
जकड़े हुए थे जैसे उनको खा जाना चाहता हो,,ऑर अपने एक हाथ को मोम की पीठ मे ले गया ओर
दूसरे से मोम्स के बूब्स को बारी-बारी मसल्ने लगा मोम से अब मस्ती बर्दाश्त नही हो रही थी
उसने जल्दी से अपने हाथ को भाई के गले से निकाला ऑर अपनी टाँग को मामा के शोल्डर से हटा
लिया ओर ज़मीन पर घुटनो के बल बैठ गयी ऑर भाई के लंड को पकड़ कर अपनी मुट्ठी मे भर
लिया ऑर सहलाने लगी,,इतनी देर मे मामा भी खड़ा हो चुका था मोम ने अपने दूसरे हाथ से
मामा के लंड को भी मुट्ठी मे भर लिया और उसको भी सहलाने लगी,,फिर मोम ने भाई के लंड को
मूह मे भर लिया ऑर लॉलिपाय्प की तरह चूसने लगी ऑर साथ मे उसको सहलाती रही ओर दूसरे
हाथ से मामा के लंड की मूठ लगाती है,फिर लंड को बाहर निकाल कर लंड की टोपी को अपनी
ज़ुबान से चाटने लगी ऑर टोपी को लिप्स मे भरके चूसने लगी ऑर साथ मे लंड को हाथ से आगे
पीछे करती रही फिर मोम ने भाई के लंड को मूह से निकाल दिया ऑर मामा के लंड को मूह मे
भर लिया ओर चूसने लगी ऑर एक हाथ से सहलाती रही मोम भाई के लंड को तो पूरा मूह मे ले
लेती थी जबकि मामा का लंड हल्का सा बाहर रह जाता था फिर भी मोम बार बार मामा के लंड
को अपने गले तक लेके जाने की कोशिश करने लगी इसी वजह से मोम को हल्की सी खाँसी आ
जाती मोम काफ़ी देर तक दोनो के लंड को बारी बारी चूसने के बाद मोम ने दोनो लंड को छोड़
दिया ओर नीचे बिस्तेर पे लेट गयी,,अब मोम पीठ के बल छाती उपेर करके टाँगे खोल कर
लेटी हुई थी,भाई मोम की टाँगो के बीच आ गया ओर मोम की चूत के पास अपना फेस ले गया ओर
मोम की चूत को चूमने चाटने लगा इधर मामा जी मोम के पास घुटनो के बल बैठ गये ओर मोम
ने मामा का लंड पकड़ लिया ऑर मूठ मारने लगी भाई ने मोम की चूत को अपने दोनो हाथों से
खोल दिया ऑर अपनी ज़ुबान को चूत मे घुसा दिया,,,आआआआआआआआआआअ एआईसीए हहिईिइ
कक्चहुउऊस्स्सूऊ चहाआततटूऊ ऊऊररर ज्जुउउब्ब्बांन्न द्दाल्लक्क्कीए कच्छूड़दूव म्म्मीीररीई
कककचहूऊवटतत्टटटतत्त कककककूऊव मों की सिसकिया सुनके भाई ने अपनी उंगली मोम की गान्ड मे
डाल दी ऑर चूत को चूस्ता रहा ओर साथ ही गान्ड मे उंगली करता रहा,,,इधर मामा ने अपना
लंड मोम के फेस के पास कर दिया मोम ने इशारा समझ कर अपने लिप्स खोल दिए ओर मामा ने
लंड मोम के मूह मे डाल दिया ओर आगे की तरफ बढ़ कर मोम के फेस के उपेर झुक गये ऑर बिस्तेर पे
हाथ रख कर सहारा ले लिया ऑर लंड को मोम के मूह मे पेलना शुरू कर दिया,,,लंड मोम के
मूह मे ऐसे अंदर बाहर हो रहा था जैसे चूत मे होता है,,


काफ़ी टाइम मामा मोम के मूह को लंड से चोदता रहा ऑर भाई मोम की चूत को चाट-ता रहा ओर
साथ मे गान्ड मे उंगली करता रहा,,फिर भाई ने मोम की चूत को मूह से निकाला ओर आगे बढ़ कर
लंड को हल्का सा थूक ल्गया ऑर पेल दिया मोम की चूत मे,,ऑर जोरदार झटके मारने लगा,,
इधर भाई लंड चूत मे डालके चूत चोद रहा था उधर मामा अपने लंड से मॉम के मूह को
चोद रहा था भाई की स्पीड बहुत तेज थी ऑर मोम भी अपनी गान्ड हिला हिला कर लंड ऑर अंदर
तक लेने की कोशिश कर रही थी,,,काफ़ी टाइम ऐसे ही चोदने के बाद मामा ने अपना लंड मोम के
मूह से निकाल लिया ओर साइड होके ज़मीन पर लेट गये,,भाई ने भी अपना लंड मोम की चूत से
निकल लया,,,फिर मोम मामा के उपेर चढ़ गयी ऑर लंड को चूत मे ले लिया,,इधर मामा चूत मे
लंड डालके चोद रहे थे ऑर अपने हाथों से मोम के बूब्स दबा रहे थे,,फिर मामा ने मोम
के लिप्स को अपने लिप्स मे जाकड़ लिया ऑर पागलो की तरह किस करने लगे मोम भी पूरी मस्ती मे
मामा का साथ दे रही थी,,ऑर इधर भाई अपने लंड को हाथ से सहला रहा था,,,फिर भाई ने
अपना लंड मोम के मूह के पास कर दिया ओर मोम ने अपने लिप्स को मामा के लिप्स से हटा लिया ओर
भाई के लंड को अंदर लेने के लिए अपना मूह खोल दिया,,,मोम क़िस्सी रंडी की तरह चुद रही
थी मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था ये सब देखने मे मैं सोचने लगा जब मोम को चुदते देख
मुझे इतना मज़ा आ रहा है तो चोदने मे कितना मज़ा आएगा,,यही सोच कर मेरा हाथ लंड पे
चला गया जो पहले से ही अपनी औकात मे आ चुका था,,मैने लंड को हाथ मे लिया ओर मूठ
मारने लगा...
Reply
07-10-2019, 03:25 PM,
#30
RE: Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही
भाई ने मोम के सर को अपने हाथों मे पकड़ लिया ऑर लंड को मोम क मूह मे पेलने लगा भाई
का लंड पूरा का पूरा मोम के मूह मे जा रहा था बट भाई फिर भी मोम के सर को पकड़ कर
पूरी तेज़ी से अंदर बाहर करते हुए लंड को गले के अंदर तक डालने मे लगा हुआ था,,,मोम
के मूह से थूक निकल कब मामा की छाती पे गिरने लगा था,,,मामा भी पूरी तेज़ी से बूब्स
को मसल रहा था ऑर नीचे से लंड को मोम की चूत मे पेल रहा था,,,कुछ टाइम मोम के मूह
को चोदने के बाद भाई ने अपना लंड मूह से निकाला ऑर घूम कर पीछे की तरफ जाके नीचे
बैठ गया ओर अपना लंड मोम की गान्ड मे दे दिया,,लंड पूरा थूक से भीगा हुआ था इसलिए
पहली बार मे ही पूरा चूत मे घुस्स गया,,भाई ने लंड को अंदर तक घुसा कर मोम की गान्ड
को चोदना शुरू कर दिया,,,अब मोम का मूह फ्री था इसलिए मोम की सिसकियाँ निकलने लगी थी
आआआआआआआहह उूुुुुुउऊहह हमम्म्मम
आईसीईए हहिईिइ कचहूओड़दूव म्म्मी,रीईइ कच्छूत्त ऊरर गगाणन्दड़ कककूऊव प्पूउर्र्राा कक्का
प्प्प्ूउर्रा ग्घुउस्साअ द्दाल्ल्लू ,क्कीिट्ट्त्न्नाअ आककचाअ कच्छूओडदड़त्ती हहााईयईईईई
म्म्मीूरररी ब्बबाहहिईिइ ऊऊरर बबबीतत्त्ताअ मम्मूउुज्झहीई आअहह एआईसीईईई
छ्छूड़दूव म्म्मीघररीि कच्छूटतत ककककककूऊव म्म्ममईएरररीए ब्ब्बभााईइ प्प्प्ुउउर्र्राआआआ
ल्ल्लुउउन्न्द्द्द्दद्ड गगुउुस्स्साआ द्दद्डूऊ आअप्प्पंंनन्निईीईईई म्म्म्मछम्मूऊओंम्म्मम कककककककक्कीईईईई
गगग्गगाआआआआअन्न्न्ननननन्न्ँद्द्द्द्द्द्द्द्द्दद्ड म्म्म्मअममीईईईई म्म्म्मी ईईईरररररीए बबबीएतट्टीए
आअहह मोम की सिसकियों से पूरे फ्लॅट मे एक मस्ती भरा शोर हो रहा
था.अगर उन लोगो ने मुझे नींद की मेडिसिन नही दी होती तो मैं सच मे जाग जाता,,,शोर
बहुत ज़्यादा था,,,ये तो मुझे पता चल गया मामा की चाल के बारे मे,,,


कुछ टाइम बाद भाई की सिसकियाँ निकलने लगी आआआआअहह उूुुुुुुुुउऊहह
करते हुए भाई ने अपनी स्पीड तेज करदी,,मैं समझ गया कि भाई का काम होने वाला है,तभी
भाई ने अपना लंड मोम की गान्ड से निकाला ओर उठकर मोम के पास चला गया ऑर लंड को हाथ से
तेज तेज हिलाते हुए लंड मोम के मूह मे डाल दिया ऑर पानी छोड़ दिया मोम का मूह भाई के लंड
के पानी से भर गया था जिसको मोम ने पी लिया,,मैने आज पहली बार मोम को लंड का पानी पीते
हुए देखा था,,भाई ने पानी निकालने के बाद भी लंड को मोम के मुहमे रखा ओर हल्के हल्के
लंड को मोम के मूह मे पेलने लगा जब भाई का पानी पूरी तरह से निकल गया तो भाई ने लंड
मोम के मूह से निकाल लिया ऑर सोफे पे जाके बैठ गया,,,लंड के निकलते ही लंड का कुछ पानी मोम
के मूह से बाहर आ गया ऑर उनके लिप्स से होते हुए नीचे की तरफ बहने लगा जिसको मोम ने अपनी
फिंगर से सॉफ किया ऑर फिर उस फिंगर को भी चाट कर सॉफ कर दिया,,सोफे पर बैठा हुआ
हाँफ रहा था ,,

इधर मामा ने अभी भी अपनी स्पीड तेज रखी ओर मोम की चूत को चोदता रहा,,ऑर साथ मे मोम
के बूब्स को मसलता रहा,,फिर मामा ने लंड को चूत से निकाल लिया ऑर मोम को उपर से हटने
का इशारा किया ऑर उठ कर मोम के पीछे चला गया ऑर मोम को झुका कर लंड मोम की गान्ड मे
डाल दिया ऑर गान्ड को चोदना शुरू कर दिया,भाई के लंड की वजह से मोम की गान्ड पहले ही
खुल चुकी थी इसलिए मामा का लंड भी पहली बार मे ही 7 इंच तक अंदर चला गया,,मामा ने
मोम की गान्ड को जोरदार ठरीके से चोदा जारी रखा,,इधर भाई की हालत ठीक हुई तो मामा ऑर
मोम की चुदाई देख कर उसका लंड फिर से ओकात मे आने लगा भाई ने लंड को हाथ मे पकड़
लिया ऑर मूठ मारने लगा कुछ ही देर मे लंड पूरी तरफ ओकात मे आ चुका था,,भाई ने मोम
के पास जाके लंड फिर से मोम के मूह मे डाल दिया ऑर सर को पकड़ कर लंड को मूह मे पेलने
लगा ,,वो फिर से मस्ती मे आ गया था ऑर पूरी तेज़ी से लंड को जोरदार धक्को के साथ मोम
के मूह मे पेलने लगा ऑर गले तक डालने की कोशिस करने लगा,,इधर मामा ने भी अपनी स्पीड
तेज रखी ओर साथ मे अपने हाथ मोम के बूब्स तक ले गया ऑर उसको बेरेहमी से मसल्ने लगा,,
कुछ टाइम बाद भाई ने लंड निकाला ऑर ज़मीन पर लेट गये मामा ने भी लंड निकाल लिया ऑर
मोम भाई के उपर चली गयी,,,भाई ने अपना लंड मोम की चूत मे डाल दिया ऑर मामा ने गान्ड मे
मोम फिर से 2 लंड का मज़ा लेने लगी,,मूओंम्म्म म्म्मामआज़्जजजाअ आआ रर्राहहाअ हहाइईईई
,,हहाआंन्णाणन् ब्बीत्त्ताअ ,,,,,कििट्ट्टन्न्नाअ म्ंामाज़्ज़जा एयाया र्राहहा हहाइईइ मम्मूंम्म्ममम
,,,बभहुत्त्त म्ं्माज़्जा आर्राहहा हहाइी बबबीतता त्त्तीररर्ाा ल्लुउउन्न्ड़डड़ कच्छूत्त म्मी
ऊररर ट्तीएरररी म्मामममा कक्का ल्लुउन्न्ड्ड़ ग्गगाणन्ँद्दद्ड म्म्म्मी ई ईकक स्सात्ततह ल्ल्लीक्क्की
ककककच्छुद्दाईईईईईई कककाररर्ंंन्णनीई म्म्म्मुईए बभ्हुउुउत्त्त ंमाज़्ज़जजाअ आआअत्त्ताअ हहाई
म्माऐईिईन्न्न ततटूऊ म्ं्माजज़जीए ककककक स्सात्त्त्ववीई आस्स्म्मानणन प्पपीररर प्फुऊन्नकचह
ज्ज्ाअटत्त्तिईईई हहूऊवन्न्णंणन्,,,,,,


तभी मैने देखा कि मामा ने अपनी स्पीड ऑर तेज करदी थी ओर 1 मिनिट बाद ही मामा ने अपना
पानी निकाल दिया ऑर मोम की गान्ड को अपने पानी से भर दिया,,ऑर बिस्तेर पे गिर गया,,मोम की
गान्ड से पानी निकल कर नीचे बिस्तेर पर गिरने लगा,भाई ने अपनी स्पीड बरकरार रही ओर तेज़ी
से मोम की चूत को चोदता रहा,,,मैने देखा कि मेरी मोम तो किसी रंडी से भी आगे निकल
गयी,भाई ऑर मामा ने पानी छोड़ दिया था लेकिन मोम अभी भी डटी हुई थी,,,कम से कम 40-50
मिनिट से मोम चुदती जा रही थी,,,अभी 2 मिनिट हुए थे मामा को पानी निकले ऑर मोम ने
फिर से उनका लंड पकड़ लिया ऑर मूठ मारने लगी ज़्यादा टाइम नही लगा मामा के लंड को हार्ड
होने मे,,मोम ने थोड़ा साइड की तरफ मूड कर मामा के लंड को मूह मे लेके चूसना शुरू कर
दिया मामा बड़े आराम से नीचे लेटा हुआ मोम को लंड चुस्वा राह था इधर भाई नीचे लेट
कर मोम की चूत को चोद रहा था,,,,ऐसे ही करीब 2 मिनट लंड चुसवाने के बाद मामा उठा
ऑर मोम का हाथ पकड़ कर उसको भी उठा लिया ऑर अपने साथ सोफे के पास ले गया,,मामा खुद
सोफे पे बैठ गया ऑर मोम उसके उपद चढ़ गयी ऑर लंड चूत मे ले लिया तभी भाई भी उठा
ऑर सोफे के पास आ गया ऑर अपना लंड मोम के मूह मे दे दिया,,मोम के 2 मे से 2 होल तो बिज़ी ही
रहते थे हर टाइम चुदाई करते टाइम,,,,मामा ने स्पीड तेज करदी ऑर मोम ने अपनी स्पीड भाई
के लंड पे तेज करदी,,फिर 5 मिनिट ऐसे ही चुदाई चलती रही ऑर एक तेज चीख के साथ मोम
ने पानी छोड़ दिया ऑर भाई के लंड को मूह से निकाल दिया,,मामा ने भी मोम की अपनी गोद से
नीचे उतार दिया ऑर ज़मीन पर लेटा दिया फिर मामा ऑर भाई दोनो मोम के फेस के पास जाके
तेज तेज मूठ मारने लगे ऑर करीब 2-3 मिनिट बाद दोनो ने अपना पानी मोम के मूह मे डाल दिया
जिसको मोम क़िस्सी शरबत की तरह चस्के लेके पीने लगी,,,,,फिर तीनो लोग नंगे ही ज़मीन
पर लेट गये,,इधर मेरा भी पानी छूट गया,,ऑर मैं लंड को सॉफ करके वापिस रूम मे जाने
लगा तो मुझे मामा की आवाज़ सुनाई दी,,,,,,,


आज तो बड़ा मज़ा आ गया बहना,,ये बात तो तुम हर बार मेरी चुदाई के बाद बोलते हो भाई,,,
क्या करू बहना तू चीज़ ही बड़ी मस्त है यकीन नही तो अपने बेटे से पूछ ले,,,,,हां मोम
मामा जी ठीक कह रहे है आज तो बड़ा मज़ा आया,,,

सच मे बेटा,,,,

,हां मोम आज सच मे बहुत मज़ा आया,,,अब मैं क्या करूँगा मोम आपके बिना कल अपने चले जाना है,,,
,तेरा तो फिरभी काम बन जाता है बेटा तेरे पास तो तेरी गर्लफ्रेंड होगी ,,

,हां मोम मेरी 2-3 गर्लफ्रेंड है लेकिन आपके पास भी तो मामा ऑर डॅड है,रात को डॅड चोद्ते है ओर दिन मे मामा जी,,,,,,
अरे बेटाडॅड चोद्ते तो बात ही क्या थी,उनको तो अपने बॅंक ओर जॉब से फ़ुर्सत नही मिलती ऑर तेरा मामा
पता नही चरस पीक कहाँ कहाँ घूमता रहता है कभी-कभी ज़रूरत पड़ती है तो नज़र
ही नही आता,,,,,

,तो तुम क्या चाहती हो बहना मैं हर पल तेरे आस पास रहूं या तेरे लिए
कोई नया लंड तलाश करू,,,,

काश ऐसा हो सकता तुम दोनो जैसा भरोसे का आदमी जो मुझे
खुश कर सकता बट इतनी किस्मत कहाँ,,,,,,,,,

नही बहना ऐसे मत बोल एक लंड है तो बड़े भरोसे का लंड है चुदाई भी करेगा ऑर किसी को कुछ बताएगा भी नही,,,

,मोम खुशी सेपूछने लगी,सच मे भाई कॉन है वो,,

,हाँ मामा बोलो कॉन है वो,,,,,

अरे बताता हूँ सबर करो,,बताता नही दिखाता हूँ,,,,,
दिखाता हूँ,,,

हाँ दिखाता हूँ,,,मैं उसी की बात कर रहा हूँ जो इस टाइम अंदर नींद की गोली ख़ाके सो रहा है,,हमारा सन्नी बेटा,,,

,नहीभाई वो बच्चा है उसके बारे मे मत बोलो प्लज़्ज़्ज़्ज़ ,
,हां मामा सन्नी तो अभी बच्चा है,,,,,,
अरे बहना मैं भी तो 16 का था जब पहली बार तेरी चूत मारी थी,,,,,

तब तो मैं भी 19 की थी भाई,,,

ये विशाल तो जस्ट 15 का था बहना ऑर उस टाइम तू भी कम से कम 35 की थी,,

हाँ भाई ये तो ठीक है बट सन्नी को मनाएगा कॉन,,

,अरे उसकी फिकर मत कर जैसे विशाल को मना लिया था मैने वैसे सन्नी को भी मना लूँगा तू ज़रा सबर कर ऑर भरोसा रख अपने भाई पे,,,,


चलो अब कपड़े पहन कर सो जाते है सुबह ट्रेन भी है 8 बजे की,,,,मामा ने अपने कपड़े
पहने ऑर लेट गये ,मोम ऑर भाई अपने कपड़े पहन-ने लगे तो मैं जल्दी से वापिस जाके बेड पे
लेट गया मोम ओर भाई भी कुछ देर बाद मेरी साइड पे आके लेट गये,,अगली सुबह मैं ,मामा जी
ओर मोम वापिस घर चले गये
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Porn Kahani हलवाई की दो बीवियाँ और नौकर sexstories 136 36,336 08-23-2019, 12:47 PM
Last Post: sexstories
  चूतो का समुंदर sexstories 659 859,307 08-21-2019, 09:39 PM
Last Post: girdhart
Star Adult Kahani कैसे भड़की मेरे जिस्म की प्यास sexstories 171 60,221 08-21-2019, 07:31 PM
Last Post: sexstories
Star Desi Sex Kahani दिल दोस्ती और दारू sexstories 155 34,779 08-18-2019, 02:01 PM
Last Post: sexstories
Star Parivaar Mai Chudai घर के रसीले आम मेरे नाम sexstories 46 81,389 08-16-2019, 11:19 AM
Last Post: sexstories
Star Hindi Porn Story जुली को मिल गई मूली sexstories 139 34,547 08-14-2019, 03:03 PM
Last Post: sexstories
Star Maa Bete ki Vasna मेरा बेटा मेरा यार sexstories 45 72,661 08-13-2019, 11:36 AM
Last Post: sexstories
Thumbs Up Incest Kahani माँ बेटी की मज़बूरी sexstories 15 27,001 08-13-2019, 11:23 AM
Last Post: sexstories
  Indian Porn Kahani वक्त ने बदले रिश्ते sexstories 225 114,470 08-12-2019, 01:27 PM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna तूने मेरे जाना,कभी नही जाना sexstories 30 47,196 08-08-2019, 03:51 PM
Last Post: Maazahmad54

Forum Jump:


Users browsing this thread: 6 Guest(s)