Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
12-28-2018, 12:34 PM,
#31
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
सुजाता : रवि तूने आँखे बंद की हुई है ना
रवि : काँपते होंठो से जी मोम मेरी आँखे बंद है, मेरी बात सुनते ही मोम जैसे ही नीचे बैठने को हुई मुझे ध्यान नही रहा और मैं बिल्कुल उनकी गान्ड के पीछे था और मोम जैसे ही बैठने को झुकी उनकी चूत की फांके खुल कर सीधे मेरे मूह मे से टकराई और मेरे नथुनो मे मोम की गान्ड और चूत की मादक गंध अंदर भर गई, मैं अपनी मोम की मस्त भोस और गान्ड की गंध सूंघते ही पागल हो गया और मोम फिर से खड़ी हो गई और कहने लगी रवि क्या कर रहा है पीछे तो हट अभी तेरे मूह मे मूत जाता तो
मैं जल्दी से पीछे हटा और फिर मोम मंद मंद मुस्कुराते हुए नीचे बैठने लगी, हे क्या मस्त भोसड़ा था और क्या गजब के चौड़े चौड़े और भारी भरकम चूतड़ थे मोम नीचे बैठ गई और मैं उसकी गान्ड और चूत के खुले छेद को देखने लगा, तभी एक सीटी की आवाज़ से मेरा ध्यान भंग हुआ और मोम की चूत से एक मोटी धार निकल कर दूर तक जाने लगी, प्रेसर इतना ज़्यादा था कि मों का भोसड़ा और भी फैल गया था, मोम के पूरे चुतडो को अपनी बाँहो मे भरने के लिए कितने हाथ फैलाने पड़ते, मोम ने जैसे ही मुतना बंद किया और धीरे से अपनी गान्ड उठा कर खड़ी होने लगी वह अभी आधी ही खड़ी हुई थी मैं उसकी फटी चूत को देख रहा था जिसमे से पेशाब टपक रहा था, मैने अपनी मोम की चूत से पेशाब टपकते देखा और मुझसे रहा नही गया और मोम जैसे ही आधी खड़ी हुई मैने अपनी जीभ से मोम की चूत से जो पेशाब टपकने वाला था उसे टपकने से पहले ही चाट लिया, मोम एक दम से सीसीया गई और अभी आधी ही खड़ी हुई थी लेकिन जैसे ही मेरी जीभ उनकी पेशाब टपकती चूत से टकराई वह फिर बैठ गई और कहने लगी हे रवि क्या कर रहा है, जब बैठ रही थी तब भी तू मेरे चुतडो से टकरा गया और अब खड़ी हो रही हू तब भी टकरा रहा है, थोड़ा पीछे हो बेटे मुझे खड़ी होने दे, मैं थोड़ा पीछे हुआ और मोम धीरे से खड़ी हो गई और मेरी तरफ घूम गई उनकी स्कर्ट नीचे हो गई थी लेकिन पैंटी घुटनो तक ही चढ़ि थी, मोम ने मुस्कुरा कर मेरी ओर देखा और मैं वापस चलने को पलटने लगा तो मोम कहने लगी

सुजाता : अरे रवि मेरी पैंटी उपर कौन चढ़ाएगा, इतना सुनना था कि मैं वापस मोम के सामने घुटने टेक कर बैठ गया और पैंटी को उपर चढ़ाने के लिए जैसे ही मैने मोम के स्कर्ट को उपर किया हाई मैं तो मोम की मस्त फूली हुई चूत देख कर मस्त हो गया मोम की चूत बहुत बड़ी और बहुत फूल हुई नज़र आ रही थी, एक पल तो मैं अपनी मोम की मस्त भोसड़ी देख कर गन्गना उठा फिर मोम ने कहा जल्दी कर ना बेटे तब मैने उनकी पैंटी पकड़ कर जब उपर चढ़ाने की कोशिश की तब मैने मोम की फूली हुई गुदाज चूत को भी अपनी हथेली से दबा दिया और मोम की फूली चूत पर पैंटी के उपर से हाथ फेरते हुए स्कर्ट छोड़ दिया, अब मोम मुझे देख कर मुस्कुराते हुए अपनी भारी मस्तानी गान्ड मटकाते हुए वापस कुर्सी पर जाकर बैठ गई और स्टूल पर अपने दोनो पेर टाँग कर बैठ गई, जब मैं उसके सामने पहुचा तो उसने मुझसे कहा आ बेटे बैठ जा और मोम स्टूल से पेट हटाने लगी मैं स्टूल के पास मे बैठ गया और कहने लगा नही मोम मैं आपके सामने ही बैठ जाता हू आप अपना पाँव स्टूल पर ही रखे और एक पाँव मैने अपनी गोद मे रख लिया, मोम ने मेरी नज़रो को देखा जो उनकी मोटी मोटी मखमली जाँघो की जड़ो मे ही देख रही थी, तभी मोम ने अपनी जाँघो को थोड़ा और फैलाकर अपनी चूत को उपर से मसल्ते हुए कहा, बेटे आज अगर तू टाइम पर मुझे मुताने ना ले जाता तो आज तो पैंटी मे ही मेरा मूत निकल गया होता, पर क्या बात है तू बहुत चुप चुप है,
रवि : नही मा ऐसी बात नही है, इतना कह कर मैं मोम की गोरी गोरी पिंदलियो को सहलाने लगा,

सुजाता : मंद मंद मुस्कुराते हुए कहने लगी, अच्छा रवि जब मैं मूत रही थी तब तूने आँखे तो बंद कर ली थी ना
रवि : मुस्कुरा कर हाँ मों मैने आँखे बंद कर ली थी, पर तुम्हारी सीटी की आवाज़ सुन कर मैं चौंक गया था,
सुजाता : सवालिया निगाहो से मुझे देख कर, सीटी मतलब
रवि : वही मोम जब तुम मूतने लगी तो एक सीटी जैसी आवाज़ के साथ तुमने मुतना शुरू किया था
सुजाता : मुस्कुराते हुए, अरे पागल ऐसी सीटी की आवाज़ तो हर औरत के मूतने पर आती है
रवि : पर मोम रिया दी के मूतने पर तो इतनी ज़्यादा आवाज़ नही आती है
सुजाता : अरे पगले मैं कितनी बड़ी भी तो हू, जब लड़किया बड़ी हो जाती है तो उनकी इसमे से सीटी की आवाज़ तेज आने लगती है और पेशाब की धार भी मोटी हो जाती है,
रवि : मुस्कुराते हुए, पर मा मुझे तो तुम्हारी सीटी की आवाज़ बहुत अच्छी लगी
सुजाता : चल बदमाश तुझे अपनी मोम का मुतना अच्छा लगता है
रवि : नही मोम मुतते हुए सीटी की आवाज़ सुनना पसंद है

सुजाता :रवि आज तो तू अपनी मोम को अपने हाथ की चाइ बना कर पिला दे,
रवि : क्यो नही मोम आप बैठो आराम से मैं चाइ बना कर लाता हू
सुजाता : और सुन नीचे से शांपू भी लेते आना चाइ पीने के बाद मैं यही छत की धूप मे नहा भी लूँगी
रवि : और मोम आपके कपड़े
सुजाता : हाँ मेरे बेड पर मेरे कपड़े निकाल कर रख कर आई थी वह भी उठा लाना,
मैं वहाँ से नीचे चला गया और चाइ बनाने लगा. तभी प्रिया का फोन आ गया
प्रिया : रवि आज रात को आ जाओ ना बहुत चुदने का मन कर रहा है
रवि : क्यो नही रानी रात को 9 बजे तक मैं पहुच जाउन्गा,
प्रिया : ओके जान मैं पूरी नंगी होकर तुम्हारा वेट करूँगी. आ जाओ और खूब कस कर मुझे चोदो.
Reply
12-28-2018, 12:34 PM,
#32
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
प्रिया के फोन के बाद मैं मोम के रूम मे गया और वहाँ बेड पर मोम की ब्रा और पैंटी रखी हुई थी मैने मोम की
ब्रा और पैंटी उठा ली और उन्हे सूंघने लगा उसमे बड़ी सौंधी सौंधी गंध आ रही थी, मैने चाइ बनाई और उसे
लेकर मैं मोम के पास पहुच गया और मोम ने चाइ की चुस्किया लेना शुरू कर दी और मैं भी उनके सामने चाइ पीते
हुए बैठ गया, मैने जल्दी से चाइ ख़तम कर दी और फिर वही छत पर लगी टंकी से पानी भर कर मैने मोम
से कहा कि लाओ आपके पेरो को मेहन्दी मैं धो देता हू


मोम मेरी बाते सुनते हुए मुझे देख रही थी और मैं उनके पेरो की मेहन्दी धोने के बहाने उनकी पैंटी के अंदर से फूली
हुई चूत के दर्शन कर रहा था, मैं मोम के पेरो को धोते हुए कभी कभी उनकी टाँगो को फैला कर जब मोड़ता तो मोम
की चूत की फांके भी मुझे नज़र आ जाती थी जिसके कारण मेरा लंड खड़ा हो गया था, मोम की पैंटी उसकी चूत की फांको
को फैलाए हुए अंदर धसि हुई थी और उसकी रस छोड़ती कटोरी अलग ही फूली फूली नज़र आ रही थी, जब मैने मोम के पेर धो दिए तो उसके गोरे गोरे पेर मेहन्दी के रंग मे किसी गोरी दुल्हन की तरह लग रहे थे, मोम के रसीले होंठो
पर अगर लिपस्टिक लगी होती तो उसके होठ और भी पीने लायक नज़र आते, थोड़ी देर बाद मोम खड़ी हुई और सामने नल के पास जाकर बैठ गई और उसका मूह मेरी तरफ था मैं कुर्सी पर बैठ गया और मोम की गुदाज मोटी मोटी जंघे इतनी चिकनी नज़र आ रही थी कि क्या बताऊ मोम ने अपनी टाँगो को धोना शुरू किया और फिर साबुन से अपनी गोरी गोरी टाँगो को धो लिया उसके बाद मोम ने कहा रवि तू नीचे जा मैं नहा कर आती हू
मैने कहा मोम मैं नीचे बोर होऊँगा आप नहा लो मैं यही बैठा हू,

सुजाता : पगले मुझे तेरे सामने शरम नही आएगी क्या
मैने कहा मोम मुझसे क्या शरमाना
सुजाता : अब मैं तेरे सामने ब्रा और पैंटी पहन कर तो नही नहा सकती हू और वैसे भी मुझे पूरे कपड़े उतार कर नहाने की
आदत है, मैने मोम से कहा ओके मोम मैं चला जाता हू, और मैं उठ कर जाने लगा, तभी मोम ने कहा अरे रवि सुन तो, मैने मोम की ओर पलट कर देखा तो उनके चेहरे पर मंद मंद स्माइल थी और वह कहने लगी अच्छा चल यही बैठ जा अब तू तो मेरा बेटा है तुझसे क्या शरमाना और फिर मेरे देखते ही देखते मोम ने अपनी झीनी सी टीशर्ट उतार दी उसके सफेद ब्रा मे कसे हुए मोटे मोटे मेलन देख कर मैं तो मस्त हो गया मोम ने कहा रवि ले ज़रा मेरे पीछे आकर यह ब्रा खोल दे यह वही ब्रा है जो तेरे चक्कर मे एक नंबर. छोटी खरीद ली थी, बहुत कसी रहती है, मैं मोम के पीछे गया मोम का गोरा बदन मुझे पागल किए जा रहा था, मैने ब्रा का हुक खोल दिया और मोम के तंदुरुस्त बोबे पूरे खुल कर बाहर आ गये, मन तो कर रहा था कि मोम के दूध खूब कस कर मसल दू लेकिन मैं कंट्रोल किए हुए था, ब्रा खोलने के बाद मैं वापस मोम के सामने आकर कुर्सी पर बैठ गया और फिर मोम ने मेरे सामने ही अपने मोटे मोटे दूध पर साबुन लगा कर मसलना शुरू कर दिया,


रवि : मोम एक बात कहु
सुजाता : मुस्कुरा कर बोल
रवि : मोम आपके दूध बहुत बड़े बड़े है
सुजाता : अपने दूध को पानी से धोती हुई, कहने लगी तुझे भी तो बड़े बड़े दूध और बड़े बड़े चूतड़ ही पसंद आते है
रवि : हाँ वो तो है मोम
सुजाता : बेटे तू टवल लेकर नही आया, मोम की बात सुन कर मे जल्दी से नीचे गया और टवल लेकर उपर आने लगा उपर आने पर सीढ़ियो के पास से एक जाली लगी थी जो छत की ज़मीन के बराबर मे ही खुलती थी और वही पानी की टंकी थी जिसके पास मोम बैठ कर नहा रही थी, एक पल को मैने सोचा कि मैं झाँक कर यही से मोम को देखता हू और मैने जैसे ही झाँक कर देखा मुझे अपने लंड को बाहर निकाल कर हाथ मे लेना पड़ा,


मोम किसी जवान घोड़ी की तरह केवल पैंटी पहन कर खड़ी थी पहले तो उसकी फूली हुई चूत मेरे सामने नज़र आ रही थी फिर मोम दूसरी तरफ घूम कर जब पानी की बाल्टी उठाने के लिए झुकी तो मैं मोम की मस्त मोटी गंद देख कर मस्त हो गया मोम की पैंटी उसके चुतडो के गहरे पाटो की भीच घुसी हुई थी और मोम के चूतड़ पूरे खुले हुए नज़र आ रहे थे, तभी मोम ने पैंटी को नीचे सरका दिया और मेरी मोम पूरी मादरचोद नंगी हो गई वह जैसे ही
झुकी मोम की फूली हुई चूत खुल कर उभर कर उपर को दिखाने लगी और उसकी गान्ड का भूरा छेद तो ऐसा लग रहा था जैसे उसकी गान्ड का छेद मेरे लंड के साइज़ का हो, मोम की गान्ड मारने मे तो मज़ा आ जाए उसकी गान्ड का छेद बहुत गहरा और कसा हुआ नज़र आ रहा था और उसकी दो बीते की लंबी चौड़ी बुर पूरी चिकनी नज़र आ रही थी, तभी मोम साबुन लगाते लगाते मेरी ओर घूमी और जब मैने मोम की पाव रोटी जैसी फूली हुई चिकनी बुर को देखा तो मैं वही खड़ा खड़ा अपना लंड हिलाने लगा, 


मोम अपने हाथो से अपनी चूत को खूब रगड़ रगड़ कर धो रही थी फिर मोम अचानक नीचे बैठ गई और जब मैने अपनी मोम की खुली हुई चूत देखी तो मज़ा आ गया,


मोम की भोस की फांके फैली हुई थी और उसके भोस का गुलाबी छेद साफ नज़र आ रहा था तभी मोम ने अपनी
चूत मे अच्छे से साबुन लगाया और फिर खूब रगड़ रगड़ कर अपनी चूत के दाने को छेड़ने लगी कुछ देर तक मोम अपनी चूत से खेलती रही और फिर पानी डाल कर धो लिया, अब मोम पूरी नंगी खड़ी थी और नहा चुकी थी, लेकिन मैं वही खड़ा था कुछ देर तक जब मैं नही आया तो मोम ने अपनी ब्रा उठाई और पहनना शुरू कर दिया फिर पैंटी उठा कर पहन ली और फिर मैं टवल लेकर गया तो मोम ने मुझसे जल्दी से टवल ले लिया और मुस्कुराने लगी, और कहने लगी आज तूने बड़ी सेवा की मेरी मैने मोम से कहा मोम ये तो कुछ भी नही आज मैं आपके हाथ पेरो की तेल लगा कर अच्छे से मालिश कर दूँगा,
सुजाता : तुझे आज ड्यूटी नही जाना क्या
मोम मुस्कुरा कर कहने लगी आज बड़ी सेवा कर रहा है अपनी मोम की
मैने कहा मोम बस आपके पेर ही तो धो रहा हू, असली सेवा तो तब होती जब मैं तेल लगा कर आपके हाथ पेरो की अच्छी
मालिश करता
Reply
12-28-2018, 12:35 PM,
#33
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
रवि : मोम अभी तो जाना है पर रात को टाइम निकल कर तुम्हारी सेवा करने आ जाउन्गा
सुजाता : ठीक है मैं भी बहुत दिनो से अपने घुटनो के दर्द से परेशान हू शायद तेरी मालिश से ही सही हो जाए, इतना कह कर मैं वहाँ से चला गया और शाम को प्रिया से मिला और फिर प्रिया मुझे देखते ही अपनी वर्दी उतार कर नंगी हो गई और फिर मैने उसे चोदना शुरू कर दिया, तभी प्रिया के घर की बेल बाजी और हम जल्दी से अलग हुए
प्रिया : इस समय कौन होगा, प्रिया ने एक मॅक्सी डाली और मैने जल्दी से कपड़े पहने और जब प्रिया ने दरवाजा खोला तो सामने वाले को देख कर हम दोनो चौंक गये सामने रिया दी खड़ी थी,

प्रिया : अरे रिया तू
रिया दी ने प्रिया की बिखरी जुल्फे देखी और फिर मुझे देख कर कहने लगी क्यो मुझे इस समय नही आना चाहिए था क्या
प्रिया : कैसी बाते करती है चल अंदर आजा
रवि : दी तुम तो दिन मे प्रिया के पास आने वाली थी फिर दिन भर कहाँ चली गई थी
रिया : तू मुझे बता कर जाता है कि तू कहाँ जा रहा है, चल मुझे घर छोड़ दे, मैने तेरी बाइक प्रिया के गेट पर देखी
इसलिए मैं आ गई
प्रिया : अब आ ही गई हो महरानी तो बैठो, कि अपने भाई के सामने बैठने मे शर्म आती है
रिया : शर्म तुझे आए मुझे भला अपने भाई के सामने बैठने मे काहे की शरम, रिया ने मूह बनाते हुए कहा, लेकिन प्रिया और मुझे ध्यान ही नही रहा कि वही सोफे पर कॉंडम का पॅकेट मैं रख कर भूल गया और रिया दी ने जैसे ही वह कॉंडम देखा तो उसकी नज़र मुझसे मिली और फिर रिया दी गुस्से मे खड़ी हो गई और कहने लगी तू चल रहा है या मैं पेदल जाउ
मैने कहा दी चल रहा हू इतनी जल्दी क्या है, अच्छा प्रिया मैं दी को घर छोड़ने जा रहा हू उसके बाद उस केश के बारे मे डीस्कस्स करेंगे

दी को जब मैने बाइक पर बैठा लिया तब दी कहने लगी कौन से केश की बात प्रिया से करने गया था, मैने कहा दी वही आंटी के मर्डर वाला,
रिया : ज़्यादा बनो मत, तू प्रिया को भी चोदता है ना
रवि : सकपकाते हुए, अरे नही दी क्या बात कर रही हो
रिया : खा मेरी कसम
रवि : दी मैं तुमसे बड़ा परेशान हू हर बात मे अपनी कसम क्यो खिला देती हो
रिया : ऐसे ही बिना कसम के तो तू बताएगा नही इसलिए अब जल्दी से बता दे
रवि : अब दी इसमे मेरी कोई ग़लती नही है, तुम्हारी सहेली प्रिया पहले से ही इतनी चुदासी थी कि वह झट से मुझसे चुदने के लिए तैयार हो गई,


रिया : कब से चोद रहा है तू उसको
रवि : दी अभी बस एक ही बार तो किया है
रिया :' क्यो तेरा मुझसे पेट नही भरता क्या
रवि : दी ऐसी बात नही है भला तुम्हारा मुकाबला कोई कर सकता है क्या
रिया : तो चल और अपनी दी को अभी कस कस कर चोद
रवि : इसमे क्या बड़ी बात है दी, लेकिन आज रात नही दी
रिया : क्यो आज रात तू किसी और की चूत मारने जाने वाला है क्या
रवि : मुस्कुराते हुए बस ऐसा ही समझ लो एक बहुत मस्त और तगड़ा माल है बहुत दिनो से मेरी उस पर नज़र थी शायद आज रात मैं उसकी गुदाज भरी जवानी चोद सकु
रिया : बता ना रवि कौन है वह
रवि : नही दी मैं तुम्हे नही बता सकता
रिया ; पर क्यो
रवि : तुम नाराज़ हो जाओगी


रिया : कसम से भैया मैं भला तुझसे कभी नाराज़ हो सकती हू, प्लीज़ अपनी प्यारी दी को नही बताएगा, मैं भला तुझे कहाँ
मना कर रही हू, तू उसे खूब कस कर चोद लेना पर मुझे बता तो दे वह कौन है
रवि : दी अभी मैं केवल इतनी हिंट दे सकता हू कि वह एक बड़ी उमर की औरत है उसके दो बच्चे भी है, और काफ़ी मोटी ताजी और मस्त है,
Reply
12-28-2018, 12:35 PM,
#34
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
रिया : नाम बता ना उसका
रवि : दी मैं अभी नही बता सकता
रिया : तो कब बताएगा
रवि : दी आज रात अगर उसे चोदने का मोका मिल गया तो कल बता दूँगा और अगर आज उसे नही चोद पाया तो रात को तुम्हे चोद्ते हुए उसके बारे मैं बता दूँगा
रिया : कुछ सोच कर अच्छा ठीक है, अब यह बता उस कुतिया प्रिया ने तुझसे कैसे चुदवा लिया, और तूने उसे चोदा क्यो तू नही जानता एक नंबर. की रंडी है वह ना जाने कितने लोगो का लंड लेती फिरती है
रवि : ओफ्फ हो दी वह कुछ ज़्यादा ही गरम हो गई थी और फिर उसने कपड़े उतार दिए और मैं उसको नंगी देख कर कंट्रोल नही कर सका
रिया : पर भैया ऐसा होता है क्या कल को मा तेरे सामने नंगी हो जाएगी तो क्या तू उसे भी चोद देगा
रवि : मुस्कुराते हुए, दी अब चूत तो चूत है जब वह नंगी दिखाई देती है तो लंड यह थोड़े सोचता है कि यह बहन की चूत
है या मा की वह तो बस उस चूत मे गहराई तक घुसने को तड़पने लगता है इसीलिए तो मुझे राज शर्मा की एक कविता याद आती है 

चूत चूत सब एक सी एक चूत के रंग
उसे प्रेम से चोदिये चौड़ी हो या तंग
चौड़ी हो या तंग मति ना दिल मे घबराओ
जहाँ प्रेम से मिले वही दे बबराओ
कही राज कबिराय चूत की ऐसी तैसी
लंड जाय मुरझाय चूत वैसी की वैसी


रिया : रवि तू बड़ा कमीना है पर फिर भी तुझमे ना जाने क्या बात है कि मैं कितनी भी परेशान या गुस्सा रहू तेरे पास आते ही मेरे अंदर का क्रोध शांत हो जाता है और तेरी हर ग़लती के बाद भी मुझे तो और भी प्यारा लगने लगता है, मे तेरे बिना जी नही सकती हू रवि,


रवि : दी मैं भी आपके बिना नही जी सकता हू, आइ लव यू दी
रिया : तो फिर अपनी दी के होते हुए दूसरी औरतो के पीछे क्यो जाता है,
रवि : दी मेरा मन बहुत चंचल है और मेरी लाइफ मे ऐसा कोई बड़ा रीज़न भी नही कि मैं दूसरी औरतो को ना चोदु,
रिया : भैया मैं तुझे इतना प्यार दूँगी कि तू दूसरी औरतो को भूल जाएगा, बस तू मेरा साथ मत छोड़ना
रवि : ओके दी, मैं भी ख्याल रखूँगा कि तुम्हारे सिवा मेरी लाइफ मे कोई और ना हो
रिया : खुश होते हुए सच भैया


रवि : हाँ दी बिल्कुल सच और फिर हम बाते करते करते घर पहुच गये, अब प्राब्लम यह थी कि मैं रिया दी को बोल चुका था कि आज एक मस्त माल चोदने जाने वाला हू लेकिन दी अगर घर पर रहेगी तब कैसे मैं मोम के रूम मे जाउन्गा, तभी अचानक रिया दी एक दम तैयार होकर बाहर आई और कहने लगी रवि मैं अपनी एक फ्रेंड के साथ आज 9-12 का शो देखने जा रही हू, अगर देर हुई तो सहेली के यहा रुक जाउन्गि
रवि : दी रुकना मत मुझे फोन कर देना मैं तुम्हे लेने आ जाउन्गा फिर आज रात मैं अपनी दी को पूरी नंगी करके खूब कस कस कर चोदना चाहता हू


रिया : खुश होकर मेरे सीने से लगती हुई, रवि तू कहे तो मैं जाती ही नही हू,
रवि : नही दी आराम से मूवी देख कर आओ फिर रात को 12 बजे से हम हमारी पिक्चर चालू करेंगे, मेरी बात सुन कर रिया दी मुस्कुराने लगी और मेरे गाल खींचते हुए बाहर चली गई, अब मेरी लाइन मोम को सिड्यूस करने के लिए क्लियर थी, और मैं खुश होकर मोम के रूम मे चला गया,
Reply
12-28-2018, 12:35 PM,
#35
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
रिया दी के जाने के बाद मैं मोम के रूम मे गया तो मोम ड्रेसिंग टेबल के सामने बैठी थी, मोम ने रेड कलर की साड़ी और उपर रेड कलर की चोली पहनी थी
मोम की चोली पीछे से कुछ इस तरह थी कि सिर्फ़ एक लेस के अलावा कुछ नही था और उसकी मसल गोरी पीठ पूरी नंगी नज़र आ रही थी, मेरा लंड तो मोम का स्लीवलेस डीप गले वाले ब्लॉज को देख कर ही खड़ा हो गया था , मोम का पल्लू नीचे गिरा हुआ था और उसके मस्त छलकते दूध आधे से ज़्यादा बाहर आ रहे थे ,मोम लिपस्टिक लगा रही थी और बड़ी ही मादक नज़र आ रही थी,
रवि : मोम क्या बात है आज आप बहुत सुंदर लग रही हो
सुजाता : मुस्कराते हुए, तुझे तो सभी औरते सुंदर लगती है,
रवि पीछे से मोम की नंगी पीठ पर हाथ फेरते हुए, हाँ लगती तो है लेकिन मुझे सबसे सुंदर मेरी मा लगती है इतना कह कर मैने पीछे से मोम को पकड़ कर अपने चेहरे को उसके गुलाबी गालो से रगड़ते हुए चूम लिया,
सुजाता : क्या बात है आज अपनी मोम पर बड़ा प्यार आ रहा है,
रवि : मोम तुम इतनी सुंदर हो कि तुम्हे देख कर तो किसी को भी तुमसे प्यार करने का मन होगा,
मोम मेरी बात सुन कर कहने लगी, अब तू बड़ा हो गया है जल्दी ही तुझे बीबी लाकर देना पड़ेगी, नही तो पता नही आगे से तू अपनी बीबी वाले कम अपनी मा से ना करने लगे

रवि : मोम तुम तो मेरा ख्याल किसी बीबी से भी ज़्यादा रखती हो,
सुजाता : क्यो ना रखू आख़िर तू मेरा बेटा है तेरी बीबी से भी ज़्यादा हक़ तुझपे मेरा ही रहेगा ना
रवि : हाँ ये बात तो है मोम, और आप पर भी मेरा अधिकार सबसे ज़्यादा है ना, इतना कह कर इस बार मैने मोम के गालो को चूमते हुए अपने होंठो को थोड़ा मोम के रसीले होंठो के पास तक ले गया मोम बैठी थी और मैं पीछे खड़ा होकर उनकी पीठ पर झुका मिरर मे देखता हुआ उनके गालो को चूम रहा था,
सुजाता : अरे बाबा थोड़ा रुक तो सही बाद मे अपनी मोम को जी भर के चूम लेना पहले मुझे लिपस्टिक लगा लेने दे नही तो बिगड़ जाएगी
रवि : मोम आपसे सही नही लग रही है लाओ मैं लगा देता हू
सुजाता : अच्छा ठीक है चल आगे आकर ठीक से लगा दे
मैं मोम के सामने जाकर बैठ गया और उसके गोरे गालो को पकड़ कर लिपस्टिक लगाने लगा, मोम के रसीले होंठो को देख कर दिल कर रहा था कि मैं उनके रस भरे होंठो को पी लू, मैं मोम के होंठो पर लिपस्टिक लगाते हुए उनके होंठो को चूसने के बारे मे सोच रहा था फिर मेरे मन मे आया कि जब मैं मों के होंठो को चुसूंगा तो मेरा मन मोम की रसीली जीभ को पीने और चूसने का करेगा, बस यही सोच कर मैने मोम से कहा मोम ज़रा अपनी जीभ बाहर निकाल कर दिखाओ तो, मोम ने अपनी जीभ बाहर निकाल कर दिखाई, मोम की रसीली जीभ देखते ही दिल करने लगा कि अभी मोम के रसीले होंठो को चूस्ते हुए उसकी जीभ का रस भी पी लू, उपर से मोम के मोटे मोटे मस्त सुडोल दूध ब्लॉज से बाहर नज़र आ रहे थे, मोम की साड़ी बड़ी चिकनी थी मेरा हाथ फिसल रहा था, फिर मोम खड़ी होकर अपने आप को मिरर मे देखने लगी, मोम जब खड़ी हुई तब उसके मोटे मोटे चुतडो से मैं सटा हुआ था और मेरा लंड चुतडो से टकरा रहा था, मोम ने साड़ी नाभि के नीचे बाँधी थी जिसकी वजह से उनका थुलथुला पेट साफ नज़र आ रहा था, मोम ने मुझसे पूछा रवि मैं कैसी लग रही हू
मैने कहा एक दम मस्त लेकिन यह आगे से आपकी नाभि को पूरी बाहर करके साड़ी पहनो और भी अच्छी लगोगी
सुजाता : पर रवि इससे पेट ज़्यादा उभर कर बाहर नज़र आएगा और फिर मेरा उठा हुआ पेट बहुत बड़ा लगेगा
रवि : मोम बड़ी उमर की औरतो का ऐसा उभरा हुआ पेट तो और भी औरतो को खूबसूरत बना देता है आप बहुत अच्छी लगोगी,
सुजाता : मुस्कुराते हुए, बड़ा जानता है बड़ी उमर की औरतो के बारे मे, किसी बड़ी उमर की औरत ने मेरे बेटे को ट्रैनिंग तो नही दी है
रवि : मोम तुम्हारा बेटा तो वैसे ही एक्सपर्ट है
सुजाता : अच्छा तो आ तू खुद ही मुझे साड़ी पहना दे, मोम ने इतना कहा और मैं मोम की मोटी गान्ड पर हाथ फेरते हुए उसके मुलायम पेट को सहला कर उसकी साड़ी को नाभि के और नीचे सरकाने लगा, मैने जब मोम की कमर से लेकर पीछे चुतडो तक साड़ी के उपर से हाथ फेरा तो मुझे मोम की पैंटी की लाइन का एहसास हुआ, मेरा लंड पूरा आकड़ा हुआ था और तभी मैने जब मोम की साड़ी को काफ़ी नीचे तक सरका दिया तब मोम ने मेरे सामने ही लॅडीस पेर्फुम उठा कर अपने स्लीवलेस ब्लॉज से साफ नज़र आ रही बगल को उपर करके जब स्प्रे किया तो मोम की बड़ी बारीक काले बालो वाली बगल को देख कर मैं पागल हो गया और मैने मोके का फ़ायदा उठाते हुए मोम से कहा मोम क्या इस पेर्फुम की खुश्बू बहुत अच्छी है, यह बात मैने अपने पाजामे मे तंबू बनाए लंड को एक बार मसल्ते हुए कहा और मोम ने मुझे अपने लंड को मसल्ते देख लिया और मों का चेहरा एक दम से लाल नज़र आने लगा, मों ने मुझे अपना हाथ उठा कर अपनी बगल दिखाते हुए कहा ले तू ही सूंघ ले कि इसकी खुश्बू कैसी है, मैने इतना सुनते ही मोम की बगल मे अपना मूह घुसा दिया और मोम की काखो को सूंघते हुए चूम लिया, और फिर खुश होते हुए मोम की और देख कर कहा वह मोम कितनी मस्त खुश्बू है,

सुजाता : बेटे औरतो के तो सारे बदन से ऐसी ही खुश्बू आती है,
रवि : मोम तुम्हारी खुश्बू कुछ ज़्यादा ही मादक है, मेरी बात सुन कर मोम की आँखो मे अलग ही चुदास नज़र आने लगी थी, मोम ने अपने ब्लॉज की क्लीवेज मे स्प्रे किया और कहने लगी ले यहाँ सूंघ कर देख कैसी लगती है इसकी खुश्बू
मैने झट से मोम के मोटे मोटे बोबो की गहरी खाई मे अपने मूह को दबा कर सूंघते हुए मोम के दूध को अपने मूह से खूब कस कर दबाया, उस समय मेरा हाथ अपनी मोम की दोनो बाहरी चुतडो के पाटो को हल्के हल्के सहला रहा था लेकिन मोम ने अपने हाथ को इधर उधर करने के बहाने मेरे खड़े लंड को छु लिया और वह दिखा ऐसा रही थी जैसे ग़लती से लगा हो मेरा लंड तो और भी कड़ा हो गया और फिर जब मैं अलग हुआ तो मोम कहने लगी, रवि आज तो तू अपनी मोम की खूब जी भर कर सेवा करना चाहता था,
रवि : हाँ मा क्यो नही, बताओ क्या सेवा करना है आपकी मैं मा के गले मे हाथ डाले उनके सामने खड़ा था और मोम चोर नज़रो से मेरे लंड को देख रही थी, मैने लंड भी ऐसे अड्जस्ट कर लिया था कि उसका ज़्यादा से ज़्यादा उभार मा को नज़र आए,
सुजाता : पहले तू अपनी इच्छा तो पूरी कर ले
रवि : कौन सी इच्छा मा
सुजाता : अरे अभी तो कह रहा था कि मोम आप बहुत सुंदर लग रही हो और मेरे गालो को चूम रहा था, मैं मोम की बात सुन कर समझ गया था कि मेरी रंडी रानी आज खूब पनिया रही है और लंड लेने के लिए अंदर ही अंदर तड़प रही है, मैने मोम के गालो को चूमते हुए कहा मोम आपको जब चूमता हू तो ऐसा लगता है चूमता ही रहू, मोम ने मुझे अपने सीने से दबा लिया और कहने लगी तू तो मेरा बेटा है तू चाहे तो अपनी मोम को दिन भर चूमता रह तुझे कौन मना करने वाला है, मेरा लंड सीधे मोम की बुर के उपर चुभ रहा था और ऐसा लग रहा था कि मोम भी मेरे लंड को अपनी मुट्ठी मे भर कर दबोचना चाहती थी, मैं मोम के चेहरे को दोनो हाथो से पकड़ कर कहा मोम तुम्हारे होंठ कितने सुंदर है, मोम की तब आँखे बंद थी उन्होने अपनी आँखे खोल कर मुझे देखा और कहा, कही तेरा मान अपनी मोम के होंठो को चूमने का तो नही कर रहा,
मैने कहा मोम क्या एक बार चूम लू
सुजाता : मुस्कुराते हुए, अरे इसमे पूछ क्या रहा है बेटे मैं तेरी मा हू किसी और की बीबी तो नही की तू मेरे होंठ चूमने से पहले पूछ रहा है, तू जब छोटा था तो मुझे तेरे होंठ बहुत अच्छे लगते थे और मैं तुझे दूध पिलाते हुए तेरे होंठो को भी चूम लेती थी इतना कह कर मोम ने मेरे होंठो को चूम लिया, मैने मोम के रसीले होंठो को जब चूमा तो ऐसा लगा जैसे लंड पानी छोड़ देगा, अब मोम से मैं बुरी तरह चिपका हुआ था और मेरे हाथ उनके भारी चुतडो को बराबर सहला रहे थे,
सुजाता : रवि अब बस भी कर अब चूमता ही रहेगा या अपनी मोम की सेवा भी करेगा,
रवि : अच्छा मोम बताओ क्या करना है
सुजाता : चल बेड पर और मोम बेड पर बैठ गई और अपने दोनो पेरो को आगे करके उन्होने अपनी साड़ी अपने एक पेर से उपर सरकाई और अपनी साड़ी को घुटनो तक कर लिया और कहने लगी बेटा घुटनो मे और उसके उपर बड़ी जकड़न लग रही है थोड़ा तेल लगा कर मालिश कर दे शायद तेरे मालिश करने से कुछ आराम मिले, मैने मोम की चिकनी गोरी टाँग पर हाथ फेरते हुए उसके घुटनो को पकड़ कर दबाया और कहा, क्या यहाँ दर्द है मोम तभी मोम ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी जाँघो के नीचे वाले हिस्से यानी अगर औरत लेटी हो और अपनी टाँगे फोल्ड की हो तो नीचे तरफ जाँघो मे जहाँ सबसे ज़्यादा माँस भरा होता है वहाँ मोम ने मेरा हाथ रखा और कहा देख यहाँ दबा कर देख बड़ा दर्द है माँस बँध सा गया है मेरी जाँघो का, मैने जब मोम की भरी हुई गदराई जाँघो को खूब कस कर अपने हाथो मे भर कर दबोचा तो मोम के मूह से एक कराह निकल गई, और मोम आह आहहस रवि यही, मैने मोम की जाँघो को ढीला छोड़ कर दुबारा खूब कस कर दबोचा और फिर पूछा यहाँ मा, तब मोम ने कहा हाँ बेटे यहीं, खूब दर्द है यही दबा बेटे यही अच्छे से मसल,
Reply
12-28-2018, 12:35 PM,
#36
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
रवि : मोम तेल लेकर आता हू फिर अच्छे से मसलता हू तब तक तुम यह साड़ी उतार दो नही तो खराब हो जाएगी

मोम ने अपनी साड़ी उतार दी और तकिया लगा कर लेट गई उसने अपने पेटिकोट को जाँघो तक चढ़ा लिया था जब मैं तेल लेकर आया तो मोम की गुदाज जाँघो को देख कर मेरा लंड झटके खाने लगा और मैं मोम के पेरो के पास बैठ गया उन्होने टाँगे फोल्ड की हुई थी मैने उनकी एक टाँग पकड़ कर अपनी जाँघो मे रख ली और तेल लेकर मोम की मोटी जाँघो को खूब कस करे दबोचते हुए मसल्ने लगा, मोम ने अपनी आँखे बंद कर ली और जब मैने उनकी मोटी जाँघो के निचले हिस्से को हाथो मे भर कर दबोचा तो मोम कहने लगी आह रवि यही हाँ बेटे यहीं खूब मसल बहुत दर्द है मैने मोम की जाँघो को दोनो हाथो से दबोचना शुरू कर दिया तभी अचानक मेरी नज़र मोम की जाँघो की जड़ो मे यानी कि उनकी फूली हुई चिकनी चूत पर चली गई मैं यह देख कर हैरान था कि मोम ने अभी पैंटी पहनी थी लेकिन साड़ी निकालने के साथ मोम ने पैंटी भी निकाल दी थी जिससे मैं समझ गया कि मोम का इरादा आज अपनी फूली हुई चूत की मालिश अपने बेटे से करवाने की इच्छा हो रही है, मैने मोम की जाँघो को खूब कस कस कर दबोचते हुए एक हाथ से उनकी दूसरी जाँघ को भी दबोचना शुरू कर दिया और मोम अपनी आँखे बंद किए हुए लेटी थी, मैने खूब सारा तेल लेकर अपने हाथ को मोम की दोनो मोटी जाँघो पर लगते हुए मोम की जाँघो को थोड़ा फैला दिया और जब मैने मोम की मस्त फूली हुई चिकनी उभरी फांको वाली मस्त चूत को देखा तो मेरा लंड पानी छोड़ने लगा, मोम का चेहरा देख कर लग रहा था कि रंडी बहुत मज़े मे है और उसे खूब अच्छा लग रहा था अब मैने धीरे धीरे अपने हाथो को मोम की जाँघो पर फेरते हुए मोम की जाँघो की जड़ो तक फेरने लगा लेकिन मैं मोम की चूत से थोड़ा दूर ही अपने हाथो को ले जा रहा था, मोम तो किसी रंडी की तरह पसरी हुई अपनी जाँघो को चौड़ी कर चुकी थी और मुझे मोम की चूत का दाना और उसकी चूत का गुलाबी लपलपाता हुआ छेद भी नज़र आ रहा था, मन तो कर रहा था कि अपनी मोम की मस्त फूली चूत को खूब फैला फैला कर चाटू लेकिन अभी मैं मोम को खूब अच्छे से गरम करना चाहता था ताकि रंडी खूब मेरे लंड पर चढ़ चढ़ कर खूब उछल उछल कर मज़े ले, मैं अपने हाथ को मोम की फूली चूत के बिल्कुल पास तक ले जाकर सहला रहा था और मोम बार बार अपने मूह का थूक गटक रही थी, तभी मेरी नज़र मोम की चूत पर पड़ी तो मैं यह देख कर मस्त हो गया कि मोम की चूत से पानी बह रहा था और बेडशीट पर कई सारी बूंदे गिरने से गीलापन हो चुका था,

रवि : मोम
सुजाता : आँखे खोल कर हुउऊँ
रवि : मोम आपके घुटनो मे लगता है कोई लचक पड़ गई है आप एक काम करो तकिये के उपर अपने चुतडो को रख लो ताकि मैं आपके घटनो को उपर नीचे करके फोल्ड कर सकु, मोम ने मुझे तकिया अपने सिरहाने से निकाल कर दे दिया और अपनी आँखे वापस बंद कर ली, मैने अब बेफिकर हो कर मोम की मोटी गान्ड के नीचे हाथ डाल कर उनकी गान्ड उठाने को हुआ तो उन्होने खुद ही अपनी भारी गान्ड उठा दी और मैने तकिया लगा दिया अब मोम की मस्त भोस पूरी तरह खुल कर उभर कर उपर आ गई और उसकी चूत खूब फैल गई और उसकी चूत का मस्त गुलाबी छेद साफ नज़र आने लगा, मैने मोम की गदराई जाँघो को दबोचते हुए कहा मोम आपकी जंघे कितनी मुलायम और कसी हुई है,
मोम ने अपनी आँखे खोल ली मोम जानती थी कि मुझे उनकी पूरी खुली हुई भोस नज़र आ रही है मोम के चेहरे पर थोड़ी शर्म की लाली भी नज़र आ रही थी, मोम कहने लगी, कहाँ बेटे इतनी मोटी मोटी तो हो रही है मेरी जंघे, मैने मोम की जाँघो को दबोचते हुए कहा मोम मुझे तो ऐसी गदराई और मोटी जंघे ही अच्छी लगती है,
सुजाता : और क्या अच्छा लगता है तुझे
मैने मोम के चुतडो को दबाते हुए कहा मोम मुझे सबसे अच्छे तो आपके ये मोटे मोटे गुदाज चूतड़ अच्छे लगते है, मोम की चूत से बराबर पानी रिस रहा था और मोम बार बार अपने होंठो को काट रही थी, मैं मोम की गोरी पिंदलियो से लेकर जब अपने हाथ से उसकी गुदाज जाँघो को मसलता हुआ उपर की तरफ जाता तो जब मेरा हाथ मोम की चूत के पास पहुचता तो मोम अपनी जाँघो को और भी चौड़ा कर लेती थी,
रवि : मोम आप आराम से अपनी आँखे बंद कर के लेट जाओ आज मैं आपकी ऐसी मस्त मालिश करूँगा कि आपके बदन का सारा दर्द दूर हो जाएगा, मोम मेरी बात सुन कर मुस्कुराती हुई कहने लगी अपनी मोम को अधनंगी करके अपनी जाँघो पर चढ़ाए हुए तुझे शर्म नही आती
रवि : आप तो मेरी मोम हो अपनी मोम की ऐसी सेवा करने का सबसे पहला हक़ तो उसके बेटे का ही होता है,
सुजाता : मुस्कुराते हुए, ठीक है कर ले जी भर के अपनी मा की सेवा,
रवि : मोम एक बार आपकी जाँघो को चूम लू
सुजाता : गहरी साँसे लेते हुए, चूम ले तुझे किसने मना किया है मा की पर्मिशन मिलते ही मैने अपने मूह से मोम की केले के तनो जैसी मजबूत जाँघो को अपने मूह से कस कर दबाते हुए चूमने लगा जब चूमते हुए मैं मोम की फूली हुई चूत के करीब पहुचा तो मेरे नथुनो मे मोम की मस्त फूली हुई चूत की मादक गंध पहुच गई और मैं पागल हो गया, मेरी नाक से मात्र एक इंच की दूरी पर मोम की मस्त फूली हुई चूत थी और मैं अपनी मोम की मस्त बुर को चाटने के लिए तड़प रहा था, शायद मेरे नथुनो से निकलती गर्म साँसे मोम की तपती भोस पर पड़ी और मोम की कमर अनायास उपर को उछल गई और मोम की बुर मेरे होंठो से टकराई और उसकी चूत का रस मेरे होंठो से लग गया और मैने उसे चाट लिया, मैने मोम से कहा मोम मैं आपकी जाँघो को चाट लू
Reply
12-28-2018, 12:35 PM,
#37
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
सुजाता : आह हाँ बेटे चाट ले, और इतना कह कर मोम ने अपने हाथ को अपने सीने पर रख लिया उसके मोटे मोटे दूध खूब सांसो के साथ उपर नीचे हो रहे थे, मैने मोम की जाँघो को जीभ लगा कर चाटना शुरू कर दिया और मोम हल्के हल्के अपने दूध को प्रेस करने लगी, अब मैने मोम की जाँघो की जड़ो तक जीभ पहुचा कर चाटने लगा और अचानक ना जाने क्या हुआ कि मोम ने अपने दोनो हाथो से मेरे सर को पकड़ लिया और अपनी पूरी जाँघो को खूब फैला दिया, उनका इतना करना था कि मेरा मूह अपने आप ही मोम की मस्त पाव रोटी की तरह खुली बुर पर पहुच गया और मैं मोम की पूरी चूत को अपने मूह मे भर कर पीने लगा और मोम मेरे सर को अपनी जांघे पूरी खोल कर दबाते हुए कहने लगी आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह सीईईई ओह रवि खा जा पूरी खोल कर खा जा अपनी मोम की चूत को खूब ज़ोर ज़ोर से चूस बेटे अपने हाथो से आह्ह्ह्ह्ह ...... सीईईईईईईई... ओह रवि अपने दोनो हाथो से अपनी मम्मी की पूरी चूत फैला कर चाट बेटे आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवि चाट और चाट थोड़ा अच्छे से हाँ ऐसे ही और ज़ोर से पूरी फाँक फैला कर चाट बेटे ओह ओह आहह आह्ह्ह आह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवि मैं लपा लप अपनी मोम की रसीली बुर को खूब कस कस कर चूस रहा था, अब पोज़िशन यह थी कि मोम का पेटीकोत उसके पेट के उपर तक चढ़ चुका था और मैने अपने दोनो हाथो को मोम के चुतडो के बड़े बड़े पाटो ने नीचे ले जाकर मोम के चुतडो को खूब कस कर दबोचते हुए मोम की मस्त रसीली बुर मे अपने मूह को खूब ज़ोर से दबा दिया और खूब लपलप मोम की चूत उसके दाने और उसकी चूत के छेद को चूसने चाटने लगा, अब मैं मोम की चूत पी रहा था और मोम सिस्याते हुए अपनी चूत को मेरे होंठो पर जल्दी जल्दी रगड़ रही थी, फिर अचानक मोम ने खूब ज़ोर ज़ोर से मेरे सर को अपनी चूत पर दबाते हुए मेरे मूह मे अपनी चूत के झटके देना शुरू किया और फिर एक दम से चूत रस से मेरा मूह भीग गया और मैं मोम की चूत को पागलो की तरह अपने मूह मे भर भर कर पीने लगा, अब मोम हान्फते हुए मेरे सर को दूर हटाने लगी और कहने लगी आह ...... सीईईईईईईई... ओह रवि बस बेटे बस कर रवि अब रुक जा मुझसे नही सहा जाता है मोम अपनी जाँघो को खूब कस कर भीच रही थी और मैं पूरी ताक़त लगाए मोम की जाँघो को खोल कर उसकी रसीली बुर मे अपनी जीभ लगाए चूसे जा रहा था, तभी मैने मोम की गान्ड के छेद मे अपनी उंगली घुसा कर दबा दी और फिर मोम की बुर पीने लगा और मोम फिर से सिस्याते हुए अपनी कमर हिला हिला कर अपनी चूत मेरे होंठो से रगड़ने लगी और कहने लगी आह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवि ओह बेटे मैं मर जाउन्गि, आह आह ओह ओह रवि अब छोड़ आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह सीयी सीयी ओह रवि बेटे ले चाट और चाट खूब चूस अपनी मा की बुर को फाड़ दे बेटे और ज़ोर से ले ले अब मा अपनी चूत खूब ताक़त से मेरे मूह पर मार रही थी और मैं पागलो की तरह उसकी बुर को पी रहा था, कुछ देर बाद मोम जल्दी जल्दी चूत के धक्के मारते मारते फिर से पस्त होकर हाँफने लगी, मैं फिर भी उसकी चूत चूसे जा रहा था, तब मोम कहने लगी रवि प्लीज़ छोड़ दे बेटे मुझे बहुत जोरो की पेशाब लगी है, मैं मोम की बात सुन कर उनकी बुर को और भी ताक़त से खाने लगा ऐसा लग रहा था कि रंडी की पूरी चूत खा जाउ,
सुजाता : ये रवि प्लीज़ बेटे अब छोड़ दे, अच्छा मैं पेशाब कर लू उसके बाद फिर तेरा जितना मन करे अपनी मोम की रसीली चूत को पी लेना पर अभी तो छोड़ दे

मैने मोम की बात सुन कर उसकी चूत को छोड़ा मेरा मूह पूरा चूत रस से भीगा था जिसे देख कर मोम मंद मंद मुस्कुराते हुए शर्मा गई, मैने मोम के पेटीकोत का नाडा खोल दिया और फिर उसके ब्लॉज के बटन खोलने लगा तो मोम कहने लगी इन्हे क्यो खोल रहा है
रवि : मोम अब मैं इन्हे खूब दबा दबा कर मसल मसल कर आपकी चूत पियुंगा
सुजाता : मुस्कुराते हुए तुझे शरम नही आएगी अपनी खुद की मम्मी की चूत को पीते हुए,
रवि : मोम आपकी चूत इतनी सुंदर और रसीली है कि इसको जो एक बार पी ले वह इसे बार बार पीना चाहेगा,
मैं मोम से बाते करते हुए उसकी ब्रा भी खोल चुका था और मोम पूरी नंगी हो गई थी उसकी भारी जवानी और भारी भरकम नंगा जिस्म देख कर मैं पागल हो रहा था लेकिन अपने आपको मोम की बातो मे लगाए अपने आप पर कंट्रोल किए हुए धीरे धीरे अपनी मोम के मोटे मोटे दूध को दबा रहा था,
सुजाता : केवल चूत ही पिएगा और और भी कुछ करेगा अपनी मोम के साथ
रवि : मोम की चूत को सहलाते हुए, और क्या करू मोम, मैने अंजान बनते हुए कहा
सुजाता : मुस्कुरा कर मेरे गालो को खिचते हुए, ज़्यादा बन मत मैं सब जानती हू तेरे बारे मे, आख़िर तेरी मा हू कोई रंडी तो नही
रवि : अच्छा क्या जानती हो
सुजाता : यही कि तेरी नीयत तो बहुत पहले से मेरे उपर खराब थी,
रवि : मतलब मा
सुजाता : मतलब कि मैं तो बहुत पहले से जानती थी कि तू मुझे ..................................
रवि : आगे भी बोलो मा क्या जानती थी आप
सुजाता ; यही कि तू मेरे चुतडो को दिन रात देख देख कर क्या सोचता है
रवि : क्या सोचता हू मोम यह कहते हुए मैने मोम की चूत के दाने को उंगली के बीच लेकर मसलना शुरू कर दिया
सुजाता : आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह यही कि तू मेरे मोटे मोटे चुतडो को देख देख कर मुझे चोदने के बारे मे सोचता था ना
रवि : अच्छा और क्या जानती हो
Reply
12-28-2018, 12:36 PM,
#38
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
सुजाता : यही कि तू मुझे जब भी देखता था तो सिर्फ़ मुझे चोदने की नज़र से देखता था, बता सच कह रही हू ना
मैने मा को तकिये से उठा कर अपनी बाँहो मे भर लिया और पागलो की तरह चूमते हुए कहने लगा, हाँ मा मैं तुझे पूरी नंगी करके खूब कस कस कर चोदना चाहता हू, आज मैं तेरी चूत पूरी फाड़ देना चाहता हू बोल चुदवायेगि अपने बेटे से और फिर मैने मों के होंठो को चूमते हुए उसकी बुर मे दो उंगलिया पेल दी और मोम सीसियाते हुए कहने लगी, रवि थोड़ा रुक जा मैं पेशाब तो कर आउ, मैने कहा मोम मैं आपको ले कर चलता हू, मोम बेड से उतरने लगी और मैने उन्हे रोकते हुए कहा मैं अपनी मोम को अपनी गोद मे उठा कर मुताने ले जाउन्गा

सुजाता : मुस्कुराते हुए, रवि तू नही उठा पाएगा मैं इतनी भारी हू
रवि : तुम देखो तो सही मा तुम अपना मूह उधर करो और अपनी पीठ मेरी तरफ घुमा लो, मैं बेड के नीचे खड़ा था और मोम अपनी पीठ मेरी तरफ करके मेरे पेट से अपना सर टिका कर बैठ गई और मैने झुक कर मोम की दोनो मोटी जाँघो के नीचे हाथ भर कर उसे जब उठाया और जैसे ही मैं घूमा सामने ड्रेसिंग टेबल के मिरर मे जब मैने मोम का मस्त भोसड़ा और भारी चुतडो को फैले हुए देखा तो ऐसा लगा मैं पानी छोड़ दूँगा, मोम खुद को अपने बेटे के हाथ मे इस तरह अपनी भोस खोल कर चढ़ि हुई देख कर शरमा गई मैं अपने दोनो हाथो से जाँघो को थामे हुए एक कस कर झटका मारा जैसे लोग वैटलिफ्टिंग उठाते समय करते है मोम को बस उसी अंदाज मे उठाए हुए बाथरूम तक ले गया और फिर मोम से कहा मोम मुतो
सुजाता : रवि बेटे ऐसे कैसे मुतु मुझे नीचे उतार, मैने कहा मोम प्लीज़ मुतो ना मैं तुम्हारी इस फूली हुई मस्त चूत से निकलने वाली पेशाब की मस्त धार देखना चाहता हू खूब प्रेशर से मुतना ताकि तुम्हारी मूत की धार सामने की दीवार तक जाए, अब मोम समझ गई कि मैं क्या चाहता हू और मोम ने दम लगाया और उसकी मस्त बुर से इतनी मोटी धार निकलने लगी कि मैं देख कर मस्त हो गया, अभी मोम की धार दीवार पर पड़ ही रही थी कि मोम की जाँघो को एक दम से मैने छोड़ दिया और मोम की टाँगे नीचे झूल गई और मोम का मुतना एक दम से बंद हो गया, मैने कहा सॉरी मोम और मोम को एक पटले पर बैठा कर फिर मोम की बुर सहलाते हुए कहा मोम अब फिर से मूत लो, मोम ने मूतने की बजाय मेरे पाजामे को खींच कर नीचे किया और मेरी चढ्ढि भी नीचे सरक गई और मोम ने मेरे लोड्‍े को अंडकोष सहित अपनी मुट्ठी मे भर कर मसल्ते हुए कहा इसका भी तो ख्याल कर अब मैं तेरे इस मस्त लंड को चूस्ते हुए मुतुँगी तू अपनी मोम की बुर सहलाता जा तेरी मोम मूतती जाएगी, अब मोम पूरी रंग मे आ चुकी थी
मैं मोम की बुर सहलाते हुए कहा मोम मे भी आपके बारे मे बहुत कुछ जानता हू
सुजाता : लंड चूस्ते हुए क्या जानता है
रवि : यही कि तुम जीन्स पहन कर अपनी मोटी मोटी गान्ड जान बुझ कर मुझे दिखाती थी,
सुजाता : आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह ओह ओर क्या जानता है
रवि : मोम की मूतती हुई बुर के दाने को सहलाते हुए, यही कि तुमने जान बुझ कर मेरे कहने पर जीन्स और स्कर्ट लिया था
सुजाता : वह भला क्यो
रवि : इसलिए कि तुम अपने भारी चुतडो को और गुदाज जवानी को अपने बेटे को दिखा दिखा कर उसका लंड खड़ा कर सको, तुम अपने बेटे के मस्त लंड से चुदने के लिए तड़प रही थी ना
सुजाता : हाँ रवि हाँ आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह सीईइ सीयी आह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह हाईईईईईईईईईईईईईई बेटे मैं तेरे इस केले जैसे मस्त लंड से चुदना चाहती हू, अपनी मा को खूब नंगी करके चोद बेटे, खूब हुमच हुमच कर पेल अपनी मा की चूत मे उंगली आ आह सीई सिई एक बार फिर मोम की चूत से पेशाब की तेज धार निकल पड़ी और मैने मोम की रसीली चूत को अपनी मुट्ठी मे भर कर खूब कस कर दबा दिया
रवि : मोम एक बात पुंच्छू
सुजाता : हान्फते हुए क्या
रवि : तुम जब जानती थी कि तुम्हारा बेटा तुम्हारे चुतडो को घूर रहा है तो तुम्हे कैसा लगता था
सुजाता : बेटे आह मुझे लगता था कि मेरा बेटा अपनी मा के मोटे मोटे बड़े बड़े चुतडो को देखे और उसका लंड अपनी मा की मतवाली गान्ड को देख कर खूब खूटे जैसा तन कर खड़ा हो जाए और फिर मेरा बेटा मेरी मोटी गान्ड को पूरी नंगी करके अपने लोहे जैसे खड़े लंड से खूब कस कस कर चोदे, मैण हमेशा यही सोचती थी कि तू मुझे पूरी नंगी करके मेरी मोटी गान्ड खूब कस कस कर अपने लंड से मारे मुझे खूब हुमच हुमच कर चोदे
रवि : और क्या सोचती थी तुम
सुजाता : यही कि मैं पूरी नंगी होकर तेरे मूह पर बैठ जाउ और तू खूब ज़ोर ज़ोर से अपनी मा की चूत और गान्ड को चाटे और चूसे और फिर मुझे घोड़ी बना कर खूब कस कस कर मेरी चूत और गान्ड मारे, मुझे इतना चोदे की मेरी चूत और मोटी गान्ड मरवा मरवा कर लाल पड़ जाए
रवि : मोम की भोस को सहलाते हुए, पर मोम मैं तो तुम्हारी गान्ड और चूत मार मार कर फाड़ देना चाहता हू
सुजाता : आह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवईयाह ...... सीईईईईईईई... ओह रवि तो फाड़ दे ना बेटे, मैं तो तुझसे अपनी चूत और गान्ड फडवाने के लिए ही तेरे सामने नंगी हुई हू, फाड़ दे बेटे अपनी मम्मी की चूत और गान्ड मार मार कर पूरी फाड़ दे बेटे आह्ह्ह आहह ओह रवि चोद और चोद आह आहह, मैने मोम को उठाया और उसकी मोटी गान्ड मसल्ते हुए उसे बेड पर टाँगे चौड़ी करके बैठा दिया और उसकी बुर को फिर से पागलो की तरह चाटने लगा और मोम अपने एक हाथ से एक दूध को मसल्ते हुए दूसरे हाथ से मेरे सर पर हाथ फेरने लगी, ओह रवि अब नही सहा जाता बेटे अब चोद अपनी मम्मी को खूब कस कस कर चोद बेटे, मैने मोम की बात सुन कर उसे बेड पर झूला दिया उसको उल्टी करके उसके चुतडो को फैला कर देखा और उसकी गुदा को सूंघते हुए चाटने लगा अब मैं मोम की गुदा और फूली चूत को एक साथ फैला फैला कर पहले उसकी चूत और गाण्ड के छेद को खूब कस कर फैला कर सुन्घ्ता और फिर जी भर कर चाट्ता जा रहा था और मोम खूब सिसियाति जा रही थी, फिर मुझसे रहा नही गया और मैने तेल मे लंड को डुबो कर पहले मोम की रसीली चूत मे अपने लंड को लगा कर एक कस कर धक्का मारा और मेरा लंड गच्छ से मोम की रसीली भोस मे पूरा का पूरा अंदर तक समा गया और मोम के मूह से एक करारी आ निकल गई, अब मैने लंबे लंबे धक्के मारते हुए मोम के भारी चुतडो पर थप्पड़ मारना शुरू कर दिया मैं मोम की चूत मे जितनी ताक़त से लंड पेलता उतनी ही ज़ोर से उसकी गान्ड मे अपनी हथेली मारने लगा मोम को गान्ड और चूत मे पड़ने वाले धक्के बड़ा आनंद दे रहे थे
Reply
12-28-2018, 12:36 PM,
#39
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
जब मोम की गान्ड पर हाथ फेरते हुए उसकी चूत मे लंड पेलता तब उसकी फूली चूत और मोटी गान्ड देख कर और भी जोश बढ़ जाता था और मैं मोम को खूब कस कस कर चोदने लगता था, मेरा लंड सतसट मोम की चूत चोद रहा था और मोम अपनी गान्ड के धक्के पीछे मार रही थी, ओह रवि बड़ा मज़ा आ रहा है थोड़ा तेज तेज मार, चोद बेटे खूब कस कस कर चोद अपनी मा को खूब प्यासी और चुदासी चूत है तेरी मा की खूब कस कस कर चोद बेटे आह आह ओह ओह्ह्ह सीयी सीयी ओह, मैं मोम को खूब रगड़ रगड़ कर चोद रहा था, पूरे रूम मे ठप ठप की आवाज़ गूँज रही थी, मैने अपनी उंगलियो पर तेल लगा कर मोम की गान्ड मे डाल कर पेलना शुरू कर दिया, मोम के चूतड़ लाल हो चुके थे और उनकी मस्त चूत और भी फूल गई थी, अब मोम को मैने बेड पर लेटा दिया, मोम ने अपनी टाँगे उठा कर विपरीत दिशा मे फैला लिया और मोम की मस्त फूली हुई चूत उभर कर उपर आ गई अब मैने मोम की मस्त चूत को पहले थोड़ा चाटा और फिर मोम पर चढ़ कर उन्हे चोदने लगा, मोम की चूत मे अब मैं खूब गहराई तक कस कस कर धक्के मारने लगा, लगभग आधे घंटे तक मोम को उसी तरीके से चोद्ते हुए मेरा पानी मोम की बुर मे निकल गया और मोम मुझसे कस कर चिपक गई, मोम काफ़ी देर तक अपनी बुर मेरे लंड से रगड़ती रही और फिर हम शांत हो गये, मैं अभी कुछ सोच ही रहा था कि गेट की बेल बजी और मैं समझ गया रिया दी आ गई है मैने और मोम ने जल्दी से कपड़े पहने और मैं जाकर दरवाजा खोला,

रिया दी मेरे चेहरे को गौर से देखने के बाद कहने लगी, क्या कर रहा था ?
रवि : कुछ नही दी लेटा था
रिया दी ने इधर उधर देखा और फिर सीधे रूम मे चली गई और फिर रूम से बाहर आकर मोम के रूम की ओर जाने लगी, मैं भी उनके पीछे पीछे चला गया मोम बाथरूम मे घुस चुकी थी कुछ देर बाद मोम बाहर आई और
सुजाता : आ गई रिया
रिया : हाँ मोम मैं तो बहुत थक गई हू
सुजाता : खाना तो खा ले
रिया : नही मोम अब तो बस सोना चाहती हू और फिर रिया दी अपने रूम मे चली गई, थोड़ी देर बाद मैं भी रिया दी के पास चला गया, मैं रिया दी के पास पहुचा ही था कि मेरे मोबाइल पर प्रिया के नंबर. से कॉल आया, इतनी रात गये प्रिया का कॉल, मैने फोन उठाया और सामने से आवाज़ आई रवि जल्दी से मेरे फ्लॅट मे आ जाओ और फोन डिसकनेक्ट हो गया
रिया : किसका फोन है, दी के चेहरे पर कठोरता के भाव थे
रवि : प्रिया का फोन है अभी अपने फ्लॅट मे बुलाया है कुछ परेशान लग रही है उसकी आवाज़ भी ठीक से नही आ रही है
रिया : रहने दे अब इतनी रात को कहाँ जाएगा चल आजा मेरी बाँहो मे और सो जा
रवि : नही दी मैने कॉल बॅक भी किया लेकिन अब वह फोन उठा नही रही है मुझे जाना होगा
रिया : तू किसी और के लिए अपनी बहन को अवाय्ड कर रहा है
रवि : दी वह कोई और नही तुम्हारी सहेली है और पोलीस मे होने की वजह से मेरा फर्ज़ है कि मैं जाकर देखु कही वह किसी प्राब्लम मे तो नही है
रिया : गुस्से मे तो जा और मुझसे अब कभी बात मत करना
मैने दी को अपने सीने से लगाते हुए उसके होंठो को चूमा और फिर उसे समझाते हुए कहा दी बस 15 मिनिट मे आता हू ना, तुम तो जानती हो ना तुम्हारे बिना वैसे भी मैं कहाँ रह पाता हू बस कुछ समय मे आ रहा हू तुम सोना मत मेरा वेट करना ओके

रिया दी कुछ कह नही पाई और मैं तुरंत निकल गया जब मैं प्रिया के घर पहुचा तो उसके घर का दरवाजा खुला था और जैसे ही मैं अंदर गया प्रिया खून से लथपथ ज़मीन पर पड़ी थी और उसकी पीठ मे चाकू घुसा हुआ था, उसकी साँसे चल रही थी मैं जल्दी से उसको अपनी बाँहो मे लेकर पूछने लगा प्रिया प्रिया यह सब कैसे हुआ किसने किया है
प्रिया : रवीीईईई आह रवीीईईईईईईईईई मेरा वक़्त आ गया है पर मैं तुमसे इतना कहना चाहती हू कि इस प्रिया को कभी भूलना मत मैं मन ही मन तुम्हारे साथ जिंदगी बिताने के सपने देखा करती थी लेकिन शायद मेरा और तुम्हारा साथ यही तक आ ओह रवि
रवि : प्रिया चलो मैं तुम्हे हॉस्पिटल ले चलता हू तुम्हे कुछ नही होगा
प्रिया : नही रवि अब बहुत देर हो चुकी है
रवि : नही प्रिया प्लीज़ ऐसा मत कहो और मुझे बताओ यह किसने किया है
प्रिया : रवि मैं जानती हू मुझे किसने मारा है लेकिन मैं तुम्हे नही बताउन्गि क्योकि मैं नही चाहती कि वह जेल की सलाखो के पीछे जाए, मैने उसे सिर्फ़ इसलिए माफ़ कर दिया क्योकि..... आहह रवीीईईईईईईईईईईईईईईईईईईईईई और प्रिया की आँखे खुली की खुली ही रह गई, प्रिया की मौत ने मुझे बहुत दुखी किया मैने कंट्रोल रूम फोन किया और फिर वही सब पॉलिसिया करवाही शुरू हो गई
मैं जब घर पहुचा उस समय रात के 2 बजे थे रिया दी ने गेट खोला और वह मुझे देखते ही पूछने लगी क्या हुआ रवि, प्रिया ने कुछ बताया क्या
रवि : दी प्रिया का किसी ने कत्ल कर दिया
रिया : ये क्या बकवास कर रहा है तू
रवि : सच दी प्रिया को किसी ने चाकू मार कर मार डाला
रिया : ओह नो ये नही हो सकता और रिया दी मेरे सीने से लग कर रोने लगी, जैसे तैसे मैने उन्हे अंदर ले जाकर सुलाया और सुबह ऑफीस मे ....
एसपी साहेब : रवि मिस प्रिया पिछले दो मर्डर केश की इंचार्ज थी लेकिन अब अचानक उनकी मौत के बाद इस केश का चार्ज मैं तुम्हे दे रहा हू, मुझे जल्द से जल्द इस केश का रिज़ल्ट चाहिए
रवि : ओके सर
अब मैने इन्वेस्टिगेशन शुरू कर दिया था और सबसे पहले उस चाकू के फिँगूर प्रिंट चेक किए लेकिन कातिल ने शायद प्रिंट मिटा दिए थे, मैने प्रिया के घर की अच्छी तरह छानबीन की लेकिन कोई सुराग नही मिला, मैं अपने रूम पर लेटा हुआ केश के बारे मे सोच रहा था, पास मे दी का मोबाइल रखा हुआ था, मैं दी का मोबाइल देखने लगा तभी मेरी नज़र डाइयल नंबर पर पड़ी मैने देखा कल रात 10 से लेकर 10:30 तक रिया दी ने प्रिया से बात की लेकिन रिया दी तो मूवी देखने गई थी फिर आधा घंटे की बात चीत,
मैने रिया दी से पूछा आप कौन से थियेटर मे मूवी देखने गई थी
दी ने बता दिया, फिर मैं थाने गया तो वहाँ जतिन जेल से रिहा हो रहा था मुझे देखते ही मुस्कुरा दिया और कहने लगा क्या बात है रवि बाबू वर्दी मे तो जम रहे हो आप
रवि ; और जतिन कैसा है
Reply
12-28-2018, 12:36 PM,
#40
RE: Incest Porn Kahani दीवानगी (इन्सेस्ट)
जतिन : अरे साहब हम लोगो का तो यहाँ आना जाना लगा ही रहता है इसलिए जेल से अपनी सेहत पर कोई फ़र्क नही पड़ता, पर यह बताओ, तुम्हारे कॉलेज के दोस्तो के क्या हाल है
रवि : यार अब क्या बताऊ और फिर मैने जतिन को सारी बात बताई,
जतिन : एक बात बोलू साहेब, कत्ल के दो कारण सबसे बड़े होते है, या तो धन दोलत के लिए कत्ल होते है या फिर प्रेम प्रसंग या चुदाई के केश मैं अब इन तीनो केश मे रुपये पैसे का तो कोई मामला नज़र नही आता है तो समझ लो चुदाई के चक्कर मे ये मर्डर हो रहे है, कोई है जो इन सब की सेक्स लाइफ से खुश नही था, जतिन की बात सुन कर मेरा दिमाग़ ठनका कि इन तीनो को मैने ही चोदा तो इससे किसको प्राब्लम है, तभी मेरे दिमाग़ मे वह थियेटर याद आया जहाँ रिया दी ने मूवी देखी थी मैं तुरंत टीम लेकर थियेटर गया और वहाँ से पिछली नाइट के शो से पहले का सीक्ट्व फुटेज लेकर चेक करने लगा लेकिन उस रात के शो मे रिया दी तो कही नज़र नही आई, मेरा शक यकीन मे बदल गया और मैं वहाँ से तुरंत अपने घर की ओर भागा और घर पहुच कर अंदर गया तो मोम बाथरूम मे पूरी नंगी होकर नहा रही थी,
रवि : मोम रिया दी कहा है
सुजाता : मार्केट गई है, रवि ज़रा मेरी पीठ रगड़ दे
रवि : मोम मैं काम कर रहा हू
सुजाता : अब मा से बढ़ कर कौन सा काम है तेरे पास चल जल्दी आजा मैने पूरे कपड़े उतार दिए है, मैं मोम की बात सुन कर उत्तेजित हो गया और जब मैं अंदर गया तो मोम अपने नंगे भारी भरकम चुतडो को मेरी और उठाए बाल्टी मे कपड़े गला रही थी, मैने पीछे से मोम के मस्त मजबूत चुतडो को दबोचते हुए उन्हे सहलाने लगा और फिर पानी और साबुन लगा कर मोम के चुतडो को खूब अच्छे से रगड़ रगड़ कर धोने लगा मोम की गान्ड बड़ी मस्त लग रही थी धोने के बाद मैने सरसो के तेल से मोम की चूत और गान्ड मे तेल लगाया और अपने लंड को तेल मे भिगो कर मोम की मस्त चूत मे पेल दिया और खूब कस कस कर चोदने लगा, मोम आह आह तुझे मैने पीठ रगड़ने के लिए बुलाया था अपनी चूत मरवाने के लिए थोड़ी,
रवि : मोम आपकी गान्ड और चूत देख कर मेरे लंड से रहा नही जाता है
सुजाता : आज तो सचमुच मेरी गान्ड मे बड़ी मीठी मीठी खुजली मची हुई है, थोड़ा अपना लंड अपनी मोम की गान्ड मे भी पेल ने बेटे, मैने मोम की टाइट गान्ड मे तेल भर कर कस कर अपने लंड को पेला और मेरा आधा लंड मोम की गुदा मे फस गया और मोम हाँफने लगी आह आह ओह रवि मेरे दूध दबा बेटे बहुत बड़ा लंड है तेरा मेरी गान्ड फटी जा रही है, मैने मोम की चूत को सहलाते हुए कस कर एक धक्का और मारा और मेरा लंड मोम की मोटी गान्ड मे फस गया और मैने मोम के मोटे मोटे दूध खूब कस कस कर दबाने लगा मोम आह आह हे हे करने लगी वाकई मोम की गान्ड बड़ी टाइट थी मारने मे बड़ा मज़ा आ रहा था, अब मैं मोम की गान्ड मे सतसट अपना लंड पेल रहा था और मोम खूब सीसीया रही थी वह कुछ ज़्यादा ही चिल्ला रही थी और रंडी जितना ज़ोर से चिल्लाति मैं उतने ही ताक़त से उसकी गान्ड मे अपना लंड पेल देता था , ओह मोम क्या मस्त गान्ड है तुम्हारी कितनी टाइट है बड़ा मज़ा आ रहा है तुम्हारी गान्ड मार कर, चोद बेटे और कस के चोद तेरे मोटे डंडे से गान्ड मरवाने मे बड़ा मज़ा आ रहा है आह आह ओह आह सीईईईईईईईईईईईई, अब मैं मोम की गान्ड मे अपने लंड को बिल्कुल फिसलने लगा था और मेरा पानी छूटने वाला था, मैने मोम को अपनी गोद मे उठा लिया और फिर मोम को चूमते हुए उनकी गान्ड मे मस्त सटके देने लगा और मोम अपने बेटे के मोटे तगड़े लंड पर कूदने लगी, मैं एक हाथ से मोम की बुर भी सहला रहा था और कभी उनके मोटे मोटे दूध दबाता कभी उनकी मोटी तगड़ी गान्ड सहलाता अब मैं मोम की गान्ड मे कुछ इस तरह से धक्के मारने लगा कि पूरे कमरे मे ठप ठप की भयानक आवाज़ गूंजने लगी और साथ मे आ आई अह्हाआआआअ जैसे आवाज़ मा अपने मूह से निकालने लगी तभी मेरी नज़र मोम को चोदते हुए घर के बाहर की खिड़की पर पड़ी जो कि थोड़ी खुली थी और वहाँ से रिया दी हम दोनो के भयानक नंगेपन को देख कर वह शॉक्ड थी, जैसे ही मेरी नज़र उस पर पड़ी वह मुझे घूरते हुए वापस जाने लगी, तब तक मेरा पानी मोम ने अपनी गान्ड को दबा दबा कर निचोड़ लिया और ठंडी होकर हाँफने लगी, कुछ देर बाद मा को मैं यह कह कर जल्दी से कपड़े पहन कर बाहर आ गया कि मैं कुछ ज़रूरी काम से जा रहा हू और मैं जल्दी से रिया दी के पीछे पहुच कर मैने उसका हाथ पकड़ कर कहा कहाँ जा रही हो
रिया : छोड़ मुझे और अब मैं जीना नही चाहती मुझे मर जाने दे
रवि : क्या दी पागलो जैसे बाते मत करो
रिया : अब मेरा तुझसे कोई लेना देना नही
रवि : दी मैं तुमसे ही प्यार करता हू
रिया : नही तू मुझसे प्यार नही करता है, तू हट जा रवि नही तो मैं तेरा भी मर्डर ? इतना कह कर रिया दी एक दम से चुप हो गई
रवि : क्या कहा तुमने
रिया : कुछ नही
रवि : बोलो तुमने क्या कहा अभी
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
  Free Sex Kahani काला इश्क़! kw8890 113 155,041 Yesterday, 08:02 PM
Last Post: kw8890
Star Maa Sex Kahani माँ को पाने की हसरत sexstories 358 127,226 12-09-2019, 03:24 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Kamukta kahani बर्बादी को निमंत्रण sexstories 32 37,869 12-09-2019, 12:22 PM
Last Post: sexstories
Information Hindi Porn Story हसीन गुनाह की लज्जत - 2 sexstories 29 18,890 12-09-2019, 12:11 PM
Last Post: sexstories
Thumbs Up vasna story अंजाने में बहन ने ही चुदवाया पूरा परिवार sexstories 149 526,819 12-07-2019, 11:24 PM
Last Post: Didi ka chodu
  Sex kamukta मस्तानी ताई sexstories 23 147,513 12-01-2019, 04:50 PM
Last Post: hari5510
Star Maa Bete ki Sex Kahani मिस्टर & मिसेस पटेल sexstories 102 72,954 11-29-2019, 01:02 PM
Last Post: sexstories
Star Adult kahani पाप पुण्य sexstories 207 659,240 11-24-2019, 05:09 PM
Last Post: Didi ka chodu
Lightbulb non veg kahani एक नया संसार sexstories 252 223,063 11-24-2019, 01:20 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Parivaar Mai Chudai अँधा प्यार या अंधी वासना sexstories 154 153,305 11-22-2019, 12:47 PM
Last Post: sexstories



Users browsing this thread: 10 Guest(s)