Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
01-31-2019, 11:39 AM,
#61
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
अलीज़ा चोरी चोरी वीर को ही देख रही थी..

कुछ ही टाइम मे अलीज़ा ऑर प्रीत गहरे दोस्त बन गये थे....

अलीज़ा प्रीत को धरती लोक घूमने के लिए कहती है..

जिसे प्रीत खुशी खुशी हाँ कर देती है..

प्रीत..जान अलीज़ा भी हमारे साथ जाएगी..


वीर...रानी साहिबा जैसा आप चाहे...चलिए अलीज़ा जी आपको इंसानी दुनिया दिखाते है..

फिर सभी वहाँ से धरती लोक आ जाते है..
तीनो घर पहुँचते है.घर देख अलीज़ा बहुत खुश होती है..


मोम .आ गये बच्चो..ऑर ये प्यारी सी बच्ची कौन है..


वीर..मोम ये परियो की रानी अलीज़ा है..

सब ये सुन हैरान होते है..परियो की रानी ऑर यहाँ....


सब बारी बारी अलीज़ा से मिलते है....


वीर..दद चले फिर मुंबई..


डॅड..हाँ चलो मैने ऑर तुम्हारे चाचा ने यहाँ का सारा कारोबार मुंबई शिफ्ट कर दिया है..


वीर..कैसे जाना पसंद करो गे...प्लेन से या कार से या गायब हो कर...


मोम..कार से चलेंगे..बहुत मज़ा आता है सफ़र किए बहुत टाइम हो गया..

रिया..भाई मेरी चॉकलेट..


वीर..है ना देता हूँ...वीर रिया को चोक्लट देता है..


मोम..हाँ तो मेरी बच्ची अपनी पवर्स को सही इस्तेमाल करना...लोगो की भलाई के लिए ही यूज़ करना..


वीर.चलो सब बाहर एक बस आ चुकी है....किसी को कुछ भी साथ लेजाने की ज़रूरत नही..सब समान वहाँ पहुँच जाएगा..हर एक के कमरे मे...


सभी बस मे बैठ जाते है..बस अंदर से बहुत खूबसूरत थी बड़ा सा टीवी 4 बेड लगे थे साथ मे सोफे थे बैठने के लिए...


दिखने मे बस बाहर से छोटी लग रही थी.पर अंदर से.बहुत बड़ी..


फिर शुरू होता है इनका सफ़र..


अलीज़ा ऐसा सफ़र पहली बार कर रही थी..सब ये देख बहुत खुश होती है


बस के अंदर ऐसा लग रहा था जैसे किसी बड़े से महल मे बैठे हो..व्हाट आ बस यार...


वीर..मैने एक फ़ैसल किया है..

मोम.क्या बेटा..


वीर. यही कि मोम बिस्वा ऑर परी.

नेहा ऑर आशीष की शादी.मुंबई मे जा कर करदेंगे बस एक बार आप परी की मोम से ओर नेहा की माँ से बात कर लेना
.

मोम..वाह ये कब हुआ ...ये तो बड़ी खुशी की बात है...भाई कोई मुँह मीठा कराओ


तभी प्रीत अपने जादू से वहाँ बरफी ले आती है..

जिसे देख सब खुश होते है..

डॅड..वाह मेरी बच्ची जादू करना सीख गयी..


उधर..दोनो लड़किया मारे शर्म के बैठी शरमा रही थी...


मोम..ठीक है वीर आज से इनकी शादी की ज़िम्मेदारी मेरी..


वीर..ऑर हाँ हमे बस के सफ़र मे 2 दिन लगेगे. हम सब रात मे 3 जगह स्टे करेगे...


रात को सफ़र नही करेंगे..


दादाजी..हाँ बेटा ये सही रहेगा.....


फिर सभी इधर उधर की बाते करने लगते है..रात होते ही सब एक होटेल के आगे बस रोकते है..

सब बस से उतर होटेल मे चेक इन करते है..

होटेल बहुत अच्छा था...


सब सफ़र से थके हुए थे कि सब आराम करना चाहते थे इसीलिए सब डिन्नर कर सो जाते है..

उधर...मोम वीर को हग किए सो रही थी..आज उन्हे बहुत बेचैनी सी लग रही थी..बॉडी पूरी गर्म ही चुकी थी..


वीर को अपनी मोम की गर्मी महसूर होती है ऑर वो जाग जाता है.

वीर...मोम आपकी बॉडी तो तप रही है....

मोम.मैं ठीक हूँ.तू फिकर ना कर..

.वीर..क्यूँ फिकर ना करूँ
.

मोम..अगर इतना फिकर होता तो अपनी मोम की गर्मी ना शांत कर देता...चल अब सोजा..मैं ठीक हूँ..

वीर..असमंजस मे था कि वो क्या करे...


नेक्स्ट मॉर्निंग..वीर..संजू ऑर प्रीत को सब बता देता है..


संजू..मैं माँ से बात करती हूँ..

संजू माँ के पास चली जाती है...


संजू..माँ ये क्या आप ठीक तो हो ना..

मों..हाँ मैं ठीक हूँ.तू यहाँ क्या करने आई है..

संजू..अपनी माँ से बात करने आई हूँ..माँ क्या आपको वीर सच मे चाहिए..


मोम..क्या बोल रही है.तू..


संजू..माँ मुझे पता है आप वीर को चाहती हो..मैं भी लड़की हूँ समझती हूँ जब आग लगती है.


कुछ समझ नही आता ....ऑर मोम पाप तब होता है जब आप दोनो मे से कोई ज़बरदस्ती करता ..


पर आप दोनो का प्यार ही सब कुछ है..वीर आपसे बहुत प्यार करता है.हमसे भी कही ज़्यादा..

मोम..मैं क्या करूँ बेटी.जब भी वीर मेरे पास आता है एक अलग सी बेचैनी होनेलगती है.



जब वीर दूर होता है तो अजीब सा डर लगा रहता है..मैं उस से दूर नही रह सकती


संजू..मैं वीर को आज रात को आपके रूम मे तैयार करके भेजुगी ......वीर पर आपका भी उतना ही हक है


मोम संजू को गले लगा लेती है

मोम. .थॅंक्स बेटी तूने मेरी हेल्प कर तू नही जानती तूने मुझे कितना खुशी दिया है...
Reply
01-31-2019, 11:39 AM,
#62
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
उधर..वीर प्रीत के साथ बात चीत कर रहा था...


प्रीत..जान माँ को खुश करना आपका भी कर्तव्य है..बाप के बाद एक बेटा ही माँ को संभलता है...ऑर आपको ही माँ को संभालना होगा..



तभी वहाँ संजू आ जाती है..

संजू.जान आज रात आप माँ को अपना सारा प्यार दोगे चाहे कुछ भी हो जाए.मोम ऑर तड़पना नही चाहिए.


वीर...तुम्हे पता है तुम क्या कह रही हो
.


संजू..हाँ मुझे पता है.मैं मोम को तड़प्ता नही देख सकती..क्या आप भी यही चाहते है कि मोम तड़पति रहे....


वीर...ठीक है अगर किस्मत मे यही लिखा है तो यही सही चलो नाश्ता करो फिर निकलें आगे के सफ़र पर
ब्रेकफास्ट कर सब फिरसे निकलते है अपने सफ़र की तरफ..


दुपेहर को सब लंच करने के लिए रुकते है


वीर बस को एक ढाबे पर रुकवाता है ढाबा बहुत बड़ा था..


सब वहाँ से उतर चारपाई पर बैठ जाते है...


सब अपना अपना ओर्डर करते है...

थोड़ी देर मे खाना खा निकलते है.मुंबई की ओर...


रात को मुंबई पहुँच जाते है..

पर फ़ैसला ये होता है कि घर मे कल सुबह ही जाएँगे..


फिर सब होटेल मे रूम बुक करते है

रात को संजू..


संजू...जान आज मोम को वो खुशी देना जो उन्हो ने पहले कभी ना महसूस की हो..अब जाओ..

वीर वहाँ से मोम के रूम मे जाता है...

ऑर जैसे ही रूम मे एंटर करता है तो हैरान रह जाता है..ये सुहागरात सूट था..

मोम बेड पर घूँघट ओढ़ के बैठी हुई थी...


वीर मोम के पास जाता है .ऑर मोम का घूँघट उठा देता है.


घूँघट उठते ही मोम शर्मा कर नज़रे नीचे कर लेती है..


वीर...मोम मुझे नही पता हम सही कर रहे है या ग़ल्त बस मुझे सिरफ़ ऑर सिर्फ़ इतना पता है


.मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ..ऑर आपके लिए कुछ भी कर जाउन्गा....आइ लव यू 


मोम..आइ लव यू सो मच मेरे बच्चे....जानती हूँ लोगो की नज़रो मे ये पाप है पर मुझे ये पाप मंजूर है


.बाप का काम एक बेटा ही पूरा कर सकता है..बना ले मुझे अपना बेटा बना ले..


वीर..मोम आज मैं आपको मुँह दिखाई का तोहफा दे रहा हूँ....तभी वीर अपनी आँख बंद करता है..ऑर उसकी बॉडी से एक रोशनी निकल मोम की बॉडी मे चली जाती है....


वो रोशनी मोम को चारो तरफ से कवर कर लेती है....मोम की बॉडी 3 4 फीट उपर हवा मे उठने लगती है.ऑर देखते ही देखते रोशनी गायब हो जाती है..


मोम को अपने अंदर बहुत ताक़त महसूस होती है ऑर मोम का फेस पर चमक आ जाती है ऑर साथ मे मोम 18 19 की एज मे पहुँच जाती है
...


वीर आँख खोल देखता है तो उसके फेस पर स्माइल आ जाती है...


वीर...वाह मोम आप तो यंग हो गयी..


मोम..सब तेरी देन है बेटू..आज फिरसे मैं एक कुवारि कली बन गयी हूँ..


वीर .. .मोम हमारे पूरे परिवार को जिन्न बन ना है....ऑर इसकी शुरूवात आपसे हो गयी है....आप मे भी प्रीत जितनी पवर्स है.....



वीर..मोम तो शुरू करे..

वीर मोम को फिर से किस करने लगता है...10 मिनट तक दोनो की किस चलती है .


मोम..वीर. ऑर मत तडपा बहुत सालो से तड़प रही हूँ ऑर नही रुका जाता ..


वीर की मोम जल्दी से एक मॅजिक करती है ऑर दोनो के कपड़े गायब हो जाते है..
..


वीर मोम के संगेमरमर जैसे बदन को देख होश खो बैठता है...आज तक इतना सुंदर ऑर आकर्षित बदन पहले कभी नही देखा था 



वीर मोम को चूत पर हमला बोल देता है..वीर बड़े प्यार से अपनी जीब को मोम की पुस्सी के लिप्स के बीच घुसने लगता है....
....
अपनी चूत पर वीर की जीब को महसूस कर मोम की बॉडी झटका खाती है..


वीर की मोम एक कुवारि कली बन गयी थी ..

वीर ...मोम की चूत मे उंगली डालता है जो बड़ी मुश्किल से अंदर जाती है .
..

जिस से मोम की चीख निकल जाती है 
.

वीर. मोम आप तो सच मे कुवारि कली बन गयी ..बहुत मज़ा आएगा...बस थोड़ा दर्द से लेना
..

मोम..बेटा बस कर अब असली काम कर 

वीर की मोम उठकर वीर का लंड मुँह मे ले लेती है .ऑर तेज़ी से चूसने लगती है..


वीर...ओह्ह्ह्ह मोम.......एस ..एस य्स एस
बहुत मज़ा आ रहा है मोम..करो.


थोड़ी देर चुसाइ के बाद वीर मोम को बेड पर लेटा देता है..ऑर अपना लंड चूत पर सेट कर एक धक्का मारता है..
लंड का टोपा ही अंदर गया था कि मोम की चीखे निकलने लगती है वीर देरी ना करते हुए एक ऑर धक्का मारता है


जो अपनी माँ की सील तोड़ता हुआ आधे से ज़्यादा लंड अंदर चला जाता है.जिस से मोम की चीख निकल जाती है.



मोम..आआआअहह..आराम से बेटू ओह..कितना बड़ा है तेरा ..आराअम से कर...


वीर अपने लिप्स मोम के लिप्स पर रख देता है मोम.की आँखो से आँसू निकले जा रहे थे..जो रुकने का नाम नही ले रहे थे.


वीर 10 मिनट तक लिप्स चूुस्ता रहता है..जब मोम को थोड़ी राहत महसूस होती है तब वीर शुरू होता है.

हल्का हल्का अंदर बाहर करने लगता है .


ऐसा करते करते ही मोम चीख की जगह सिसकिया लेने लगती है..


बेड की चादर पूरी खून से भीगी हुई थी..वीर अपनी स्पीड बढ़ा देता है..


मोम...आआआआहह चोद बेटा चोद अपनी माँ को ओर ज़ोर्से चोद बहुत मज़ा आ रहा है बहुत मज़ा आ रहा है...


वीर. हाँ मेरी जान ये ले..


वीर अपनी फुल स्पीड से चोदे जा रहा था 


थोड़ी देर ऐसे चुदाई करने के बाद वीर मोम को खड़ी करता है.ऑर एक लात उपर कर चोदने लगता है..


ऐसे मे मोम.वीर के लिप्स को चूसने लगती है 
..

पूरे रूम मे दोनो के प्यार की खुश्बू फैली हुई थी...


आज 2 आत्माओ का मिलन हो रहा था 


मोम वीर को बेड पर लेटा देती है ऑर उपर बैठ जाती है....
तेज़ी से उपेर नीचे होने लगती है..
.
.
मोम..ओह आआआअहह इतना मज़ा तो तेरे बाप के साथ भी नही आया था ..जान..ऐसे मेरे दूध मसल ..खा जा इन्हे..कर्दे प्रेज्ञेट फिर से मुझे..


वीर...माँ..बनोगी अपने ही बेटे के बच्चे की माँ...क्या बोलोगी समाज को किसका है ..



मॉम.बोल दूँगी तेरे बाप का है
..

वीर..मोम को नीचे लेटा चोदने लगता है.....दोनो एक दूसरे को पागलो की तरह चूम चाट रहे थे
थोड़ी देर मे दोनो झड़ने के करीब आ जाते है ...


वीर मोम को तेज़ी से शॉट लगाने लगता है..

10 12 धक्के मरने के बाद दोनो एक साथ झड जाते है..


दोनो एक दूसरे की बाहों मे ऐसे ही सो जाते है......
...................................
Reply
01-31-2019, 11:39 AM,
#63
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
पूरे 1 दिन बाद वीर को होश आता है..
सब वीर को देख बहुत खुश होते है...


मोम..अब कैसा है मेरा बेटू..

वीर..मैं ठीक हूँ माँ..


संजू प्रीत..आपने तो हमारी जान ही निकाल दी थी....


वीर..सॉरी...बिस्वा सभा की तैयारी करो..


मोम..बेटू तुझे अभी रेस्ट की ज़रूरत है


वीर...माँ मैं बिलकुक ठीक हूँ..एक दम फ्रेश लग रहा है...


फिर सभी महल मे जमा होते है....

वीर..आप सब को पता है. आज हमारे जिन्न लोक की शील्ड टूट चुकी है..


ऑर जो दानव आया था वो भी मारा जा चुका है.पर एक बात का अब आगे इस से भी ख़तरनाक दानव आएगे..ऐसे मे मेरी पवर काम नही आएगी..
कल बड़ी मुश्किल से उसे मारा ...


मंत्री....महाराज गुरुजी आपके लिए कुछ बता के गये है..उन्हो ने बोला था ऐसा समय आएगा..जब आप कमज़ोर पड़ जाओगे तब आप एक ही काम कर सकते हो..


वीर....कैसा काम..


मंत्री. महाराज आपको महा जिन्न बन ना होगा..आपको अपने आपको जिन्न मे परिवर्तन करना होगा 


आपका इंसानी रूप भी ठीक रहेगा.पर आपको महा जिन्न बन ना होगा...जिस के लिए आपको 4 रतनो को हासिल करना होगा


ये 4 रतन चारो दिशाओ मे कहीं है..जिसका पता आपको चल जाएगा...


वीर..ठीक है..हम जाएँगे उन चार रत्नो को हासिल करने के लिए... 
क्या नाम है रत्नो का 


मंत्री जी...ये चार रतन इस प्रकार है


1 लाल रक्त रत्न 
2 नीला आसमान रत्न 
3 हरा प्रक्रुति रत्न
4 कला धरती रत्न

लाल मे अग्नि जवाला की शक्ति


नीला बिजली की शक्ति


हरे मे पानी पेड़ की शक्ति


काले मे चट्टान की शक्ति


ऑर ये मिले गे...

पूर्ब् पश्चिम उत्तेर दक्षिण 


पूर्ब् मे ज्वालामुखी मे मिलेगा 


पश्चिम मे समुंदर के तल मे मिलेगा


उत्तर मे घने जॅंगल मे


दक्षिण मे बोनो की बस्ती मे


पूरब मे लाल रतन मिलेगा..


पश्चिम मे.नीला रतन..


उत्तर..मे.हरा रतन


दक्षिण..मे काला रतन


वीर.हमे कब जाना होगा..


मंत्री...आपको गुरुजी के आने का वेट करना होगा..कुछ ही दिन मे वो आ जाएँगे...



वीर..ठीक है..चलो शील्ड को दोबारा तैयार किया जाए.सभी ताकतवर जिन्न को बुलाया जाए..


थोड़ी देर मे जिन्न लोक के सारे जिन्न बाहर ग्राउंड मे जमा हो जाते है..


वीर...दोस्तों आज मुझे आप सबकी ज़रूरत आ पड़ी है..आप सब अपनी शक्ति का कुछ हिस्सा अपनी शील्ड मे लगा दे..मुझे पता है आप अपनी शक्ति बढ़ा लेंगे..


ऑर मैं ये सब जिन्न लोक की सुरक्षा जे लिए कर रहा हूँ
जो साथ देगा हाथ उपर कर कवच बनाना शुरू करे..


तभी सब से पहले अलीज़ा हाथ उपर करती है.जिसे देख वीर को खुशी होती है.फिर मोम प्रीत..देखते देखते सारे हाथ उपेर करते है.


वीर अपनी आधी शक्ति उस कवच मे लगा देता है..


थोड़ी देर मे एक अटूट कवच तैयार हो जाता है...


वीर...दोस्तों अब चाहे मैं ही क्यू ना इसे तोड़ना चाहू ये नही टूटेगा ये कवच हमारे प्यार ..अपने पन से बना है.....


तभी सभी बोलने लगते है..राजा की जय हो राजा की जय हो


मोम.बेटू चलो घर चले..सब परेशान होंगे..


वीर..हाँ मोम.चलो..फिर वीर न्ड बाकी सब धरती लोक पहुँच जाते है...


वीर को देख सब बहुत खुश होते है


सब आ कर वीर के गले लगते है...


डॅड..कैसा है मेरा बच्चा..तूने तो हमारी जान निकाल दी थी..


वीर...मैं ठीक हूँ डॅड..आम पर्फेक्ट....


दादाजी...सच मे तूने हमारी जान निकाल दी थी ...इतना बोल दादा जी की आँखो में पानी आ जाता है...


वीर आगे बढ़ दादा जी को गले लगा लेता है..



वीर .दादा जी मैं आपका वीर हूँ घबराइये नही मुझे कुछ नही होगा....


सभी थोड़ी देर इधर उधर की बाते करते रहते है..


वीर...कल कॉलेज चलेंगे..जब तक गुरुजी नही आ जाते..मैने कॉलेज मे पहले ही एडमिसन करवा दिया था....

मोम..चल वीर चल कर डिन्नर कर फिर आराम करना है..


सभी डिन्नर करते है.ऑर चलते है.सोने.उस रात वीर मोम के साथ कुछ नही करता ऑर सो जाता है...

नेक्स्ट डे सब रेडी होते है
.

सब ब्रेक फास्ट कर निकलते है कॉलेज की ओर..


वीर...तो फ्रेंड्स.कैसी एंटेरी करनी है सिंपल या धाँसू..


संजू..जान सिंपल तो बहुत हो गयी अब धाँसू से ही काम चलाते है.


वीर..ठीक है..तभी वहाँ 


जस्सी...भाई हमे भी साथ ले चलो..

वीर..आ मेरे यार कैसा है..

जस्सी...भाई मस्त हूँ..


वीर...मोहित कहाँ है..

जस्सी...अंदर ही होगा..

फिर सब अपनी अपनी अपनी गाड़ी से कॉलेज मे एंटेरी करते है....


सब के सब इन्हे ही देख रहे थे.एक से बढ़ कर एक गाड़ी...


सब से पहले वीर निकलता है प्रीत के साथ.


वहाँ खड़ी सारी लड़किया तो आँखे फाड़े वीर को ही देखे जा रही थी..


ऑर लड़के भी प्रीत को ताड़ने मे लगे हुए थे..




सभी गाड़ी से उतर जाते है तभी इनके पास मोहित आता है.ऑर सबके गले मिलता है..

सभी कॉलेज के अंदर जाने लगते है .अभी थोड़ी दूर ही गये थे के तभी वहाँ किसी ने आवाज़ मारी.


लड़का...ओह हेलो इधर अजजु भाई का आशीर्वाद तो लेता जा..


बिस्वा..क्यूँ ये कोई बुजुर्ग है क्या बिस्वा की बात पर सभी हँसने लगते है....


लड़का2...बहुत हँसी आ रही है..


वीर .ओह सॉरी सर कहिए आप क्या चाहते है..


लड़का ..सब के सब लाइन मे खड़े हो जाओ...


सभी एक लाइन मे खड़े हो जाते है..

लड़का..प्रीत को....ए लड़की चल मेरे अज्जु भाई को किस कर..


प्रीत...शकल देखी है तेरे अज्जु भाई की..किस ओर इसे किस तो मैं अपनी जान को करूगी..


इतना बोल प्रीत वीर को किस कर देती है


अजजु..बहुत स्यानी बनती है..अभी देखता हूँ तुझे..


अज्जु इतना बोल आगे बढ़ता है ऑर जैसे ही प्रीत के कंधे पर हाथ रखता है तो गुस्से मे उसका हाथ पकड़ ज़ोर से ट्विस्ट करती है ऑर ज़मीन पर दे मारती है..


वहाँ खड़े सब लड़के लड़किया हैरान हो जाते है...


लड़का.ओह तेरी सालो तुम्हे पता है ये कौन है तुम तो गये.तुम लोगो ने होम मिनिस्टर शिंदे पाटिल जी के बेटे को मारा है..


लड़का नीचे पड़ा थे दूसरे लड़के उसे उठाते है...


वीर...क्यूँ सर लड़की से पंगा लोगे क्या. 


अजजु..रूको अभी बताता हूँ तुम्हे तभी अज्जी अपने डॅड को फ़ोन करता है ऑर सब बता देता है..उसके डॅड गुन्डो को फ़ोन कर देता है...
ऑर 15 20 मिनट मे कॉलेज मे 4 गाडिया आती है गुन्डो की..


अज्जु साथ मे अपने बाप को भी फ़ोन कर देता ..है


सभी गुन्डे अज्जु के पास आते हैं ऑर उसे पूछते है किसने मारा..


अज्जु गुन्डो को सब बॅया देता है...


गुंडा..बहुत बड़ी ग़लती करदी तुम लोगो ने सब से पहले तुम लड़को को सबक सिखाएँगे बाद मे लड़कियो को उन्हे तो मैं अपने बिस्तेर पर ..


वो गुंडा अभी इतना ही बोला था कि तभी अलीज़ा आगे आती है ऑर उस गुन्डे को थप्पड़ जड़ देती है जिस से गुंडा बेहोश हो ज़मीन चाटने लगता था ..


ये देख सब शॉक हो जाते है


अलीज़ा....लड़कियो को कभी हल्के मे मत लेना..


अपने साथी को बेहोश देख बाकी सब गुन्डे अलीज़ा पर टूट पड़ते है .


जब तक वो गुन्डे अलीज़ा तक पहुँचते वीर तेज़ी अलीज़ा के आमने खड़ा होता है साथ मे बिस्वा 


ऑर सभी गुन्डे उनसे भिड़ जाते है..देखते ही देखते सारे गुन्डे ज़मीन चाट रहे थे..
Reply
01-31-2019, 11:39 AM,
#64
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
तभी वीर अज्जु के पास जा उसे एक थप्पड़ मारता है..जिस से अज्जु नीचे गिर जाता है.


वीर एक चेर मँगवाता है ..ऑर अज्जु के उपर रख बैठ जाता है..
..तभी वहाँ पोलीस की गाडिया आती है..


डीजीपी खुद आया था होममिनिस्टर के कहने पर जब डीजीपी वीर को देखता है तो उसके पसीने छूटने लगते है...


डीजीपी..सर आप यहाँ .


वीर...क्यूँ मैं यहाँ नही आ सकता क्या..मुझे आरेस्ट करने आए हो 



डीजीपी...ये क्या कह रहे है सर..आपको मैं हाथ भी नही लगा सकता ..



तभी वहाँ हॉममिनिस्टर की गाड़ी आती है.ऑर वो पोलीस वालो पर रोब झाड़ने लगता है..


आगे आकर डीजीपी को बोलने लगता है..पर अभी तक उसने वीर को देखा नही था....


होममिनिस्टर..ये क्या डीजीपी तुमने अभी तक इसे आरेस्ट क्यूँ नही किया..


डीजीपी...सर जब आप उसे देखो गे तो आरेस्ट करने की तो दूर आप उसके पैरी गिर जाओगे उधर देखो..


होममिनिस्टर..ऐसा कौनसा वो पीएम है.

ऑर तभी जब होममिनिस्टर वीर को देखता है और उसकी आँखे बड़ी हो जाती है.उसके पैर वहीं जाम हो जाते है


होममिनिस्टर अपने घुटनो के बल बैठ हाथ जोड़ माफी माँगने लगते है..


होममिनिस्टर..सर आप सर प्लज़्ज़्ज़्ज़ माफ़ कर दीजिए. इस नालयक को आपके बारे मे पता नही होगा इसीलिए ऐसी ग़लती कर बैठा.


वीर...पहले आप खड़े हो जाइए....आप होम मिनिस्टर है.ऐसे सेवा करेगे लोगो की आप गुन्डे भेज कर...ऐसा है तो मैं आपको सपोर्ट नही कर रहा..


होममिनिस्टर.सर प्लज़्ज़्ज़ ग़लती हो गयी.सब इस नालयक की वजह से मुझे नही पता था था यहाँ क्या हुआ है...


वीर..पहले आप अपने बेटे को शिक्षा दीजिए..अगर अगली बार ऐसा कुछ किसी भी स्टूडेंट के साथ हुआ तो ये जिंदा नही बचेगा.. आप जा सकते है..


इतना बोल वीर खड़ा होता है ऑर अपने दोस्तों को साथ ले कॅंटीन मे चला जाता है मगर खड़े सभी स्टूडेंट तालियाँ बजाने लगते है..... ......


कॅंटीन मे पहुँच सब खाने को कुछ ओर्डर करते है..


उधर...


होम मिनिस्टर..अपने बेटे से....पागल हो गया है जो उस लड़के से पंगा ले लिया बाप है वो हम सब का..

सभी होम मिनिस्टर की बात सुन रह थे.


होम मिनिस्टर...वो लड़का दिखने मे सिंपल सा दिखता है..पर वो सिंग कंपनीज़ का मालिक है..आज तुझे छोड़ रहा हूँ...लास्ट वॉर्निंग..देकर ....आगे से भूल कर भी पंगा मत लेना उस से


......................
इधर..तांत्रिक.अपनी दूसरी नाकामयाबी से बौखला गया था..उसे समझ नही आ रहा था कि मेरे सब से शक्ति शालि दानव को कैसे हरा दिया ..जिसमे मैने अपनी आधी शक्ति डाल दी थी.


अब मुझे अपनी शक्ति बढ़ानी होगी.....


वापिस पृथ्वी पर..

बिस्वा. भाई आज एक बात नोट किया आशीष तो अपनी छमिया से ही चिपका हुआ है.


बिस्वा की बात पर सभी हँसने लगते है ऑर नेहा शर्मा जाती है.

मोहित..वाह भाई आज पहले दिन ही कॉलेज मे हीरो बन्गये आप...


सभी ऐसे ही एक दूसरे हसी मज़ाक करने लगते है..


प्रीत....ऑर एक बात आज से अलीज़ा भी हमारे साथ रहेगी हमारे फ्रेंड सर्कल मे एक ऑर मेंबर जुड़ गया है..सभी अलीज़ा को वलकम करते है..


इतना प्यार देख अलीज़ा बहुत खुश होती है...


वही एक लड़की ऐसी भी थी जो दिनो दिन वीर से ओर आकर्षित होती जा रही थी..दिल मे वीर के लिए प्यार ही प्यार उमड़ रहा था..


वीर..चलो दोस्तों क्लास का टाइम हो गया..

फिर सभी क्लास मे चलते है..
आज कुछ ख़ास नही होता सब का इंट्रो होता है..


सभी वहाँ से घर की ओर निकल जाते है ..


घर पहुँच क्या देखते है आज मोम जीन्स ऑर टॉप मे खड़ी हमारा ही वेट कर रही थी..


मोम बाकी सब लड़कियो से भी ज़्यादा सुंदर लग रही थी...


संजू...क्या बात है मोम..क़िस्सपर बिजलिया गिरानी है .


संजू की बात पर मोम शरमाने लगती है..


मोम..कही नही चुप कर..अपने जमाने मे तो मैं ऐसा कुछ पहन नही पाई पर आज अपने बेटे की वजह से मुझे ये नयी जिंदगी मिली है ऑर मैं इसे खुल के जीना चाहती हूँ....


वीर...मोम आप दिल खोल कर जिओ...


सभी फ्रेश हो डाइनिंग टेबल पर बैठ जाते है.


मोम..तो कौन कौन जाएगा तेरे साथ..


वीर ..मोम अभी कुछ नही कह सकता पता नही वहाँ कैसा महॉल हो..आप प्रीत ऑर अलीज़ा तो जा भी सकती हो.आप सब केपास तो पवर्स है..बाकी किसी के पास भी नही है


मोम..ऑर तूने शादी का क्या सोचा है..


वीर..वो भी जल्दी हो जाएगी.अभी समय है...


सभी इधर उधर की बात करने लगते है.....


उधर..


आदमी ...बॉस वो अपनी फॅमिली को साथ ले मुंबई आ चुका है..पर बॉस वो बहुत बड़ा आदमी है..डीजीपी से लेकर होम मिनिस्टर उसका पानी भरते है..


बस...बस कुछ दिन ऑर सब ख़तम आज के हमले की तैयारी करो बचना नही चाहिए.वो....


उधर...

मोम..चल बेटू मुझे मार्केट जाना है..


वीर..चलो डार्लिंग...


डॅड....शर्म कर माँ है तेरी...

वीर...हाहाहा..मेरी माँ कुछ भी बोलू..क्यूँ डार्लिंग माँ.


मोम..हाँ क्यू नही..चल बेटू मैं रेडी हो कर आई


थोड़ी देर मे मोम जब बाहर आई.तो बस सब देखते ही रह गये....डॅड भी सोच रहे होंगे काश मैं ठीक होता...


वीर अपनी सबसे एक्सपेन्सिव बाइक बाहर निकालता है...


बाइक देख मोम बहुत खुश होती है...
वीर..तो चले...


वीर की मोम वीर को पीछे से हग कर बैठ जाती है..


ऑर निकलते है माल की तरफ..
रास्ते मे जो भी कोई इन्हे देख रहा था आँहे भर रहा था..

दोनो इस टाइम सूपर हॉट कपल लग रहे थे.....


दोनो माल पहुँचते है...

मोम..चल कुछ शॉपिंग कर लेते है..


वीर की मोम वीर को एक गर्ल्स सेक्षन मे ले जाती है..

वीर जब उपर लिखा पढ़ता है..लड़किया की ब्रा पैंटी की शॉप थी..

दोनो अंदर जाते है..

सेल्स गर्ल...जी कहिए मैं आपकी क्या मदद कर सकती हू..


वीर..मुझे इनके लिए सब से महनगी ऑर सब से बेस्ट ब्रा पैंटी दिखाए.


सेल्स गर्ल मोम का साइज़ पूछती है.ऑर फिर उन्हे सब से इंपोर्टेड ब्रा पैंटी दिखाती है..


मोम..मैं चेक करके देखती हूँ..


सेल्स गर्ल..सर आपकी वाइफ बहुत खूबसूरत है .

वीर ..स्माइल के साथ थॅंक्स जी..


तभी मोम की आवाज़ आती है.


मोम..जी एक मिनट आइए..


सेल्स गर्ल हंस कर नॉटी स्माइल के साथ ..जाइए.सर..


वीर अंदर जाता है ओर क्या देखता है उसकी मोम ब्रा पैंटी मे खड़ी बहुत हॉट लग रही थी 


वीर अंदर जा कर मोम को हग कर लेता है ऑर किस करने लगता है ....

.दोनो की किस वाइल्ड रूप ले लेती है ऑर थोड़ी देर मे दोनो अलग होते है. 


मोम..क्या आप भी..


वीर ..मोम ये क्या आप आप लगा रखा है. मैं आपका बेटा हूँ..


मोम..तू बेटा मेरा दूसरे रूप मे है इस रूप मे सिरफ़ तुम्हारी पत्नी..


थोड़ी.देर मे दोनो बाहर आते है जिसे देख सेल्स गर्ल हँसने लगती है


वीर...मॅम इसे पॅक करवा दीजिए ऑर इसी मे तीन चार जोड़े ऑर पॅक कर दीजिए.....


दोनो वहाँ से समान ले चलते है.फुड कॉर्नर मे..


दोनो वहाँ कुछ हल्का फूलका खाते है...


मोम..बेटू तू कब जा रहा है 


वीर...जब गुरु जी आ जाएँगे.....
Reply
01-31-2019, 11:40 AM,
#65
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
उधर..


वैम्पायर का किंग भेड़ियो के किंग से मिलने जाता है ऑर उसे अपनी सारी प्रॉब्लम बता देता है..


वेम्पायर किंग.....मानता हूँ हम दोनो दुश्मन है पर मैं चाहता हूँ तुम मेरा साथ दो उस इंसान को हराने मे जो जिन्न लोक का राजा बना हुआ है....


भेड़िया...पर उस से मुझे क्या फ़ायदा होगा..

वेम्पाइर....तुम्हे मैं जिन्न लोक की शक्ति का आधा हिस्सा दूँगा..


भेड़िया..ठीक है मैं तैयार हूँ...तुम्हारा साथ दूँगा..


इधर ..वीर अपनी माँ के साथ गाड़ी के पास ही जा रहा था कि तभी ...बूऊऊऊòम्म्म्ममम.


वीर की गाड़ी उड़ जाती जाती.है..

अभी वीर की गाड़ी उड़ी ही थी कि तभी आस पास की गाडिया भी बूओमम्म्ममम ब्लास्ट होने लगती है

वीर अपनी मोम को वहाँ से गायब कर दूसरी साइड ले जाता है..

मोम.बेटू ये हो क्या रहा है..

तभी वीर को माल की छत पर 4 आदमी खड़े दिखते है..


जब वीर उनके माइंड मे नज़र डालता है तो वो समझ जाता है वोही चार है जो हमला कर रहे है..

उन्हो ने ही कार मे बॉम्ब लगाए थे..


वीर चुपके से मोम को साथ ले सीधा उपेर उनके पास पहुँच जाता है..


वीर. हाँ भाई क्या चक्कर है क्यूँ मारने पर तुले हो.

मोम ने एक बार मे ही चारों को धूल चटा दी 

वीर..क्या बात है मोम.क्या सबक सिखाया आपने उसे..


मोम..मेरी जान के उपर हाथ उठाए उसे जान से ना मार दूं मैं....एक माँ भी हूँ ऑर एक पत्नी भी...कभी नही सह सकती के आपके उपर कोई हमला करे...

वीर आगे बढ़ कर मोम को किस करने लगता है..थोड़ी देर तक किस करने के बाद दोनो वहाँ से सीधा घर पहुँच जाते है


घर पहुँच कर 

रात को सभी डाइनिंग टेबल पर बैठ जाते है ....


तभी वहाँ अवनी आती है..

अवनी...हाई सर
.

वीर...हेलो अवनी..आआओ नाश्ता करो


मों..कैसे हो अवनी बेटा..


अवनी.मैं ठीक हूँ माँ आप सूनाओ....

मोम अवनी के मुँह से माँ सुन थोड़ी भावुक हो जाती है..मोम आगे बढ़ अबनी को हग कर लेती है..


मोम..आज के बाद तुम मुझे मोम.ही बोलोगि..


अवनी...जी मोम..वीर सर कल एक बार ऑफीस आ जाना कुछ इम्पोटेड पेपर्स पर आपके साइन चाहिए...


वीर...ठीक है अवनी मैं पहुँच जाउन्गा..


फिर सब से विदा ले वहाँ से गायब हो जाती है .


ये देख सब शॉक हो जाते है...

डॅड..इसमे भी पवर्स है क्या..


वीर..हाँ डॅड इसे मैने पवर्स दी है..ये अपना पूरा बिजनेस संभाल रही है...


डॅड...ऑर बेटा तुम कब शादी कर रहे हो संजू से...


वीर...डॅड अभी रुक जाओ..थोड़े दिन गुरुजी को आने दो फिर देखते है


डॅड.ठीक है बेटा जैसा तुम्हे ठीक लगे...


फिर सब अपने अपने रूम मे चले जाते है.ऑर सो जाते है...


नेक्स्ट डे ..उधर...


अज्जु..साला समझता क्या है अपने आप को वो है कौन जो मेरे डॅड भी उसके आगे झुक गये.....


कोई बात नही कल एक पार्टी है..उस पार्टी मे मैं उसे बहुत बेइज्जत करूगा... मेरे से पंगा लिया है उसने आज्जु से पंगा..



अज्जु...मीना इधर आओ एक काम करना है.....


मीना..हाँ बोलो मैं तेरे लिए कुछ भी...




नेक्स्ट मॉर्निंग......

वीर जल्दी उठ जाता है ऑर जॉगिंग कर योघसाधना मे लीन हो जाता है...

वीर अपने अंदर की शक्ति को देख रहा था..महसूस कर पा रहा था.


...2 घंटे तक साधना मे लीन रहा फिर वहाँ से उठ बाथरूम जाता है ऑर फ्रेश होता है 


वीर बाहर आ डाइनिंग टेबल पर सबके साथ आ कर बैठ जाता है....

वीर....गुड मॉर्निंग एवेरी बॉडी...

सब एक साथ.गुड मॉर्निंग वीर

वीर...लड़कियो रेडी जो जाओ आज कॉलेज मे पार्टी है ..


सब मिल कर खाना खाते है.ओर निकलते है कॉलेज की ओर.

जैसे ही वीर कॉलेज मे एंटर करता है सभी लड़के लड़कियाँ उन्हें घेर के खड़े हो जाते है...


सभी कोई ना कोई वीर ऑर उसके फ्रेंड्स को मॉर्निंग विश कर रहे थे...


वीर...चुप हो जाओ यार..भाई इतनी भी इज़्ज़त मत दो भाई मैं भी आप जैसा ही हूँ..


लड़की..नही सर आप बहुत ख़ास है.हमारे लिए..आप के होते अब हमे किसी का डर नही..

वीर...चलो पार्टी एंजाय करते है....
Reply
01-31-2019, 11:40 AM,
#66
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
फिर सभी पार्टी इंजोय करने लगते है.


पार्टी मे स्टेज पर स्क्रीन भी लगी हुई थी..


प्रिन्सिपल आता है ऑर अपना बोरिंग लेक्चर्स देता है..
जैसे ही वो जाने लगा.तभी स्क्रीन पर कुछ फोटुस आने शुरू हुए....


पिक्स को देख प्रिंसी गुस्से मे आ जाता है.ऑर वीर को पुकारता है....वहाँ खड़े सारे लोग हैरान परेशान थे कि ये सब क्या है..


आप सोच रहे होंगे क्या हुआ.

बात ये है कि अज्जु ने चुपके से स्क्रीन पर कुछ फोटुस चला दी थी..उन पिक्स मे वीर किसी लड़की के साथ नग्न अवस्था मे था....

ऑर उसमे जो लड़की थी वो प्रिंसी की बेटी थी..


प्रिंसी...हाउ डेर यू...तुम्हारी इतनी हिम्मत मेरी बेटी के साथ ऐसी हरकत..वीर के साथ वीर के दोस्त भी स्टेज पर आ गये.थे.

इधर प्रिंसी वीर को थप्पड़ मारने ही वाला था कि तभी अलीज़ा आगे बाद प्रिंसी का हाथ पकड़ लेती है


अलीज़ा...थप्पड़ मारने से पहले 100 बार सोच लीजिएगा कि थप्पड़ किसे मार रहे है..


आप हमारे गुरु है..इसीलिए छोड़ रही हूँ..


वीर...सर इन पिक्स मे मैं नही हू....मैं साबित कर सकता हूँ ये पिक्स एडिट की गयी है...


प्रिंसी ठीक है करो साबित...

वीर...बिस्वा को इशारा करता है..

बिस्वा वहाँ से किसी को लाने चला जाता है. इन्सब को तो पता ही था ये काम किसका है .
थोड़ी देर मे बिस्वा 2 लड़को को साथ ले कर आता है...


वीर....सर आप चेक कर के देंखे ये पिक्स असली है या नकली...

तभी वो लड़के उस पिक्स को अच्छे से स्कॅन करते है और उसकी ओरिजिनली पिक्स को निकालते है..


जब ओरिजिनल पिक्स सबके सामने आती है सब शॉक हो जाते है...


उस पिक्स मे कोई ऑर नही बल्कि अज्जु खुद था...


तभी जस्सी ऑर मोहित अज्जु को थप्पड़ मारते हुए ला रहे थे


दोनो अंजू को प्रिन्सिपल के पैरो मे गिरा देते है..


आज्जु जैसे ही खड़ा होता है.तो प्रिंसी अज्जु को थप्पड़ लगा देता है...

प्रिंसी निकलजा यहाँ से आज के बाद अपनी शकल मत दिखाना



प्रिंसी वीर की तरफ हाथ जोड़ खड़ा हो जाता है..


वीर. ऐसे मत कीजिए सर आप हमारे गुरु है ....आप घबराए मत ये पिक्स बाहर नही जाएगी..

वीर उन लड़को को बोल सभी पिक्स को एरेज़ करवा देता है..


वीर...सभी से दोस्तों अगर आप मुझे अपना समझते हो तो कभी भी इस पिक्स के बारे मे किसी को मत बताना
.

उसके बाद सभी पार्टी इंजोय करते है....

सभी अपनी मस्ती मे झूम रहे थे..


उधर अज्जु अपनी दोबारा हुई बेज़्जती से बौखलाया हुआ था ऑर दारू पर दारू पिए जा रहा था


अज्जु..मेरी बेज़्जती की नही छोड़ुगा..साला समझता क्या है आपने आप को....

उधर....


सभी कॉलेज मे मस्ती कर रहे थे पर वहाँ कुछ ऐसे भी थे जो वीर पर नज़र रखे हुए थे..ये कोई ऑर नही टोनी के आदमी थे...


जो आज के हमले की तैयारी कर रहे थे


इनसे बेख़बर सब पार्टी का मज़ा लूट रहे थे.....


पार्टी ख़तम होते ही सब घर की तरफ निकलते है..


गाड़ी वीर चला रहा था कि रास्ते मे आगे चोर रास्ता पड़ता है जैसे ही वीर उस जगह से निकलने लगा तभी वहाँ से एक ट्रक आया ऑर कार को साइड से टक्कर दी..


कार फुल स्पीड से जा रही थी ऑर जैसे ही कार से ट्रक की टक्कर हुई..कार उड़ती हुई दूर जा गिरी..


कार के गिरते ही. विशु का सर छत पर ज़ोर से लगता है जिस से वो वहीं बेहोश हो जाती है

ऑर उसे कुछ हल्की फुल्की चोट भी आती है..

वीर गाड़ी से बाहर निकलता है..
अभी बाहर खड़ा ही था के तभी वहाँ वीर को ठीक देख कुछ गुन्डे आ जाते है..


गुंडा..किस्मत अच्छी थी बच गया पर अब नही..फाइरिंग..तभी वो गुन्डे वीर पर फाइरिंग कर देते है...


जिस से वीर को कुछ फ़र्क नही पड़ता ये देख गुन्डे हैरान हो जाते है..
Reply
01-31-2019, 11:40 AM,
#67
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
गुन्डा....तू क्या समझता है बुलेट प्रूफ जॅकेट पहन तू बच जाएगा..ओ बच्चे तेरे जैसे को तो मैं हाथ से मसल दूं...


गुंडा वीर के पास जा उसे मारने ही वाला था कि तभी वो उड़ता हुआ दूर जा गिरा..


हुआ ये था कि जैसे ही गुन्ड वीर के पास पहुँचा वीर उसकी 
चेस्ट पर एक पंच मारता है.


पंच लगते ही हड्डिया के टूटने की आवाज़ आती है जिस से 
वो वहीं मर जाता है..


उसके साथी ये देख एक साथ हमला करते है..


उनमे से एक ने वीर के पास आकर हाथ उठाया ही था कि तभी वीर तेज़ी से ट्विस्ट करता हुआ.
उस लड़के को किक जड़ देता है.


ऑर वो लड़का उड़ता हुआ बाकी साथी को भी साथ ले दूर गिरता है....



वीर आगे बढ़ता है ऑर लड़के को गले से पकड़ उठा देता है ऑर गला को ज़ोर से ट्विस्ट करता है जिस से उस गुन्डे की जान निकल जाती है..


बचे दो लड़के थर थर काँपने लगते है..वीर वहीं खड़ा हाथ से दो गोले निकाल उनपर फेक देता है जिस से दोनो ब्लास्ट हो जाते है..


तभी कोई दूर खड़ा रॉकेट फाइयर करता है रॉकेट वीर को लगते ही रॉकेट ब्लास्ट हो जाता है.... जिस से वीर तेज़ी से उड़ता हुआ गाड़ी से जा टकराता है..


तभी अलीज़ा ऑर प्रीत बाहर निकलती है.ऑर वीर की हालत देख गुस्से मे आग उगलने लगती है...


अलीज़ा ऑर प्रीत दोनो एक साथ अपने हाथ से 20 25 गोले निकाल लगातार जहाँ से रॉकेट आया था वहाँ फेक देती है..


वहाँ छुपे गुंडों पर एक के बाद एक गोला आ गिरता है जिस से भयानक ब्लास्ट होता है वहाँ खड़े लोगो के छितरे उड़ जाते है..


बिस्वा की गाड़ी पीछे आ रही थी..जब वो वीर के उपर हुए हमले को देखता है तो जल्दी से वीर के पास पहुँच जाता है...


बिस्वा....भाई आप ठीक तो हो ना...

वीर...हाँ मैं ठीक हूँ..फिर वीर वहाँ से विशु के पास जाता है ऑर उसके सर पर हाथ फेरता है ऑर देखते ही देखते विशु की चोट ठीक हो जाती है ऑर उसे होश आ जाता है..


प्रीत...जान मैं उन्हे नही छोड़ुगी..जा रही हूँ उस टोनी को ख़तम करने...


तभी वहाँ मोम आती है..ऑर सब का हाल चाल पूछती है..


आशीष..भाई लगता है अब उसका इंतज़ाम करना ही होगा .


वीर...उसके बारे मे बाद मे सोचेगे..अभी रुक जाओ..कॉज़ आज रात एक बड़ा हमला होने वाला है...चलो पहले सब घर चलो


सभी वहाँ से घ्ऱ पहुँच जाते है...


चाची...आ गये बच्चो..बैठो..

दी आप कहाँ चले गये थे...


मोम..कही नही बस यहीं थी कुछ काम आ गया था....


वीर..अपने रूम मे जाता है.यहाँ सब आ जाते है


संजू..भाई कैसा हमला होने वाला है..


वीर..जान आज वैम्पायर के साथ भेड़िया भी हमला करने वाले है.


बिस्वा..भाई आप निसचिंत रहे हम सब आपके साथ है....


वीर...ऑर हाँ सब गन इस्तेमाल करेगे...समझे...


मोम...बेटू मैं भी चलूगी..


वीर...ठीक है मोम...जैसा आपको ठीक लगे........


प्रीत ..हमला होगा कहाँ पर..


वीर..हमला हमारे घर पर होगा...ऑर मैने फ़ैसला ये किया है कि हम उन्हे रास्ते मे जंगल मे ही रोके गे....


मोम.हाँ ये ठीक रहेगा.....बिस्वा तुम इस पूरे घर को शील्ड से कवर करदो....


फिर सभी इधर उधर की बात कर रहे थे..
Reply
01-31-2019, 11:41 AM,
#68
RE: Desi Sex Kahani अनदेखे जीवन का सफ़र
सब अपने अपने रूम मे चले जाते है..


प्रीत वीर की गोद मे बैठ किस करने लगती है..


दोनो किस मे एस कदर खो जाते है ऑर ये भी भूल जाते है कि गेट खुला है....



तभी वहाँ कोई लड़की आती है जो इन्हे कुछ पल देखती है..कि तभी उसकी आँखो मे आँसू आ जाते है ऑर वो तेज़ी से वहाँ से भाग जाती है.


वो लड़की अपने रूम मे जा बेड पर लेट जाती है ऑर रोने लगती है


लड़की..क्यूँ मैं तुम्हे किसी ऑर की बाहों मे नही देख सकती आख़िर क्यूँ...ये पता होते हुए भी कि मैं तुम्हारी कजन हूँ तुम्हारे चाचा की लड़की..


जी हाँ ये विशु है..

.विशु .....मैं तुमसे अब दूर नही रह पाउन्गी...चाहे जो हो जाए.......


उधर...दोनो मिया बीवी अपना खेल ख़तम करते है..ऑर बाहर साइटिंग मे बैठ जाते है यहाँ सब बैठे थे...


थोड़ी देर मे वहाँ विशु भी आ जाती है...


वीर....मैं ऑफीस हो कर आता हूँ...ओके


विशु...भाई मुझे भी जाना है आपके साथ..


वीर..चल आजा फिर दोनो वीर ऑर विशु गाड़ी पर बैठ निकलते है


वीर...क्या हुआ विशु क्या सोच रही हो इतनी चुप चुप सी क्यूँ हो


विशु..नही भाई ठीक हूँ.. भाई आपसे एक बात कहूँ...

वीर...हाँ मेरा बच्चा बोल...


विशु..भाई वो बात ये है कि....आइ लव यू मैं आपसे बहुत प्यार करती हूँ मैं आप के बिना एक पल भी नही रह सकती क्या आप भी मुझे प्यार करते है...


विशु सब तेज़ी से बोल जाती है...वीर जैसे ही सब सुनता है ज़ोर से ब्रेक लगा देता है..


वीर..विशु तुम पागल तो नही होगयि..हम दोनो मे प्यार कैसे संभव है..


वीएर का इतना ही बोलना था कि विशु रोने लगती है...


वीर...प्लज़्ज़्ज़ विशु रो मत तू खुद सोच हम भाई बेहन है 


विशु...संजू भी तो आपकी सग़ी बेहन है..


विशु ऑर ज़ोर से रोने लगती है...
अगर आप मेरे नही हुए मैं अपनी जान दे दूँगी...


विशु का इतना ही बोलना था कि वीर तेज़ी से विशु को अपने गले लगा लेता है..


ऑर उसके लिप पर हल्की सी किस कर देता है....


विशु को उसका प्यार मिल चुका है ये सोच वो खुशी से झूम उठती है ऑर वीर को किस करने लगी है..


वीर पहले तो हड़बड़ा जाता है पर बाद मे वो भी किस करने लगता है..


5 मिनट किस करने के बाद दोनो अलग होते है....विशु वीर से शरमाने लगती है..


वीर....देख कैसे फेस खराब किया है रो रो कर..तभी वीर विशु के फेस की तरफ हाथ करता है


तो विशु का गेटअप चेंज हो जाता है विशु ओर भी सुंदर लगने लगती है...


तभी वीर..आँख बंद कर कुछ बोलता है ऑर तभी वहाँ एक जिन्न आ जाता है..

जिन्न..आपने याद किया आका...



वीर....हाँ रिमी...आज के बाद तुम हर वक्त विशु के साथ रहोगे.इसकी रक्षा करोगे..


रिमी..जी मेरे आका..इतना बोल रिमी गायब हो जाता है


वीर..विशु आज के बाद तुम्हे कुछ भी चाहिए हो अपने मन मे सोचना तुम्हे हर एक चीज़ मिलेगी...ओककककक....


फिर दोनो वहाँ से ऑफीस पहुँच जाते है...

यहाँ इनका वेलकम अवनी करती है..

अवनी...आइए सर मैं आपका ही वेट कर रही थी...


वीर ऑर विशु दोनो वीर के कॅबिन मे जाते है..रास्ते मे जो भी लड़की वीर को देखती बस आँहे भरने लगती ..


लड़की..यार ही इज सो हॅंडसम.कौन है ये...

लड़की.2...पागल तुझे नही पता ये ही हमरे बॉस है...मिस्टर .धनवीर सिंग....


लड़की...ओह्ह्ह्ह...काश ये मेरा बाय्फ्रेंड होता....


उधर..अवनी वीर को कुछ पप्पेर्स देती है. वीर उसे पढ़ कर साइन कर देता है......


अवनी...सर ड्रिंक्स भिजवाऊ


वीर....हाँ भिजवा दे...


विशु...जान तुम्हारा कॅबिन तो बहुत सुंदर है.....बहुत मस्त है
..

वीर...जान तुम खुश तो हो ना..

विशु..जी मैं बहुत खुश हूँ


वीर...तुम्हे पता है ना विशु..हम शादी नही कर पाएगे


विशु ..मुझे पता है .पर जब तक हो सके मैं आपके साथ रहूगी चाहे कुछ भी हो जाए...


जिंदगी मे पहली बार प्यार किया है वो भी आप से..


तभी पेओन कॉफ़्फीे लेकर अंदर आता है साथ मे अवनी भी थी..


तीनो बैठ कॉफ़्फीे पीने लगते है..


वीर...अवनी कोई ऑर काम है क्या , क्यो कि मुझे जाना होगा..थोड़ी देर मे हमला होने वाला है
ऑर यहाँ का ध्यान रखना...


अवनी..जी ऑर कोई काम नही..


फिर वीर ऑर विशु वहाँ से घर चले जाते है


वीर सब को तैयार रहने के लिए बोलता है
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Desi Porn Kahani कहीं वो सब सपना तो नही sexstories 487 145,880 07-16-2019, 11:36 AM
Last Post: sexstories
  Nangi Sex Kahani एक अनोखा बंधन sexstories 101 190,940 07-10-2019, 06:53 PM
Last Post: akp
Lightbulb Sex Hindi Kahani रेशमा - मेरी पड़ोसन sexstories 54 39,113 07-05-2019, 01:24 PM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna kahani वक्त का तमाशा sexstories 277 81,447 07-03-2019, 04:18 PM
Last Post: sexstories
Star vasna story इंसान या भूखे भेड़िए sexstories 232 63,392 07-01-2019, 03:19 PM
Last Post: sexstories
Thumbs Up Incest Kahani दीवानगी sexstories 40 45,928 06-28-2019, 01:36 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Bhabhi ki Chudai कमीना देवर sexstories 47 58,043 06-28-2019, 01:06 PM
Last Post: sexstories
Star Maa Sex Kahani हाए मम्मी मेरी लुल्ली sexstories 65 53,743 06-26-2019, 02:03 PM
Last Post: sexstories
Star Adult Kahani छोटी सी भूल की बड़ी सज़ा sexstories 45 44,587 06-25-2019, 12:17 PM
Last Post: sexstories
Star vasna story मजबूर (एक औरत की दास्तान) sexstories 57 49,643 06-24-2019, 11:22 AM
Last Post: sexstories

Forum Jump:


Users browsing this thread: 2 Guest(s)