Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
08-08-2019, 01:22 PM,
#11
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
खाला ने मेरे लिप्स से अपने लिप्स हटाए ऑर मेरी आँखों मे देखने लगी..

मेरा लंड अभी भी खाला के लेग्स के बीच मे था ऑर अभी भी खड़ा हुआ था...

खाला मेरी आँखे मे देखने लगी. ऑर एक बार फिर से मुझे हग कर लिया.. उनका जिस्म अब ढीला हो गया था.. शायद वो डिसचार्ज हो गई थी ऑर अब रिलॅक्स फील कर रही थी.

उन्होने मुझे छोड़ा ऑर मुझसे थोड़ा सा हट के खड़ी हुई ओर मुझे देखने लगी.. उनके फेस पर एक स्माइल थी..

खाला: अयान,,, कैसा लगा...??? अब तुम्हे किस करनी आ गई है या नही..

मैं: स्माइल करते हुए,, जी खाला...

खाला: कैसा लगा..

मैं: बहुत अच्छा लगा...

ये सुन कर खाला ने मुझे हग कर लिया ऑर मुझे बोली:

खाला; अयान, आइ लव यू मेरी जान..

मैं: खाला मैं भी आप से बहुत प्यार करता हूँ..

खाला: तुम मुझसे कितना प्यार करते हो???

मैं: मैं आप से इतना प्यार करता हूँ कि जितना कोई भी किसी से नही कर सकता..

खाला ने मेरे गाल पर किस की ऑर बोली...

खाला: अच्छा तो फिर जो मैं कहूँ गी तुम वो करो गे.????

मैं: जी खाला मैं आप के लिए कुछ भी कर सकता हूँ. बस आप मुझसे कभी भी नाराज़ होना प्लीज़...

खाला: मैं आज के बाद तुम से कभी भी नाराज़ नही हूँगी.. तुम भी मुझे हर्ट ना करना प्लीज़...

मैं: कभी नही करूँगा .. आइ लव यू सो वेरी मच खाला..

खाला ने मुझे हग किया हुआ था... ऑर फिर एक दम से मुझे याद आया कि हम ने तो आइस क्रीम खाने जाना था.. तो खाला को भी याद आ गया था..

वो बोली कि यार मोसम तो बहुत अच्छा है... मगर.....

मैं: मगर क्या खाला???

खाला: यार मुझे फिर से नहाना पड़े गा.

मेरे हाथ अभी भी खाला की कमर पर थे ऑर उनके हाथ मेरी कमर पर..

मैं: मैं समझ तो गया मगर अंजान बनते हुए पूछा कि,, क्यू....??
अभी तो आप नहाई हो..

खाला: वो यार, बस नहाना पड़े गा ना..

मैं: क्यू खाला...

खाला मेरे क़रीब आई ऑर मेरे कान मे कहा.. रात को पूछना फिर बता दूं गी...

खाला ने मुझे छोड़ा तो मेरा लंड खाला की थाइस से निकला..

खाला ने एक दम से मेरे लंड को देखा ऑर मुस्कुरा कर बोली...

ये क्या है..??? ऑर इसको क्या हुआ है???

मैने अपने लंड पर हाथ रख लिया ऑर बोला... वो, वो पता नही इसको क्या हुआ है..

खाला ने मुस्कुरा कर मेरी तरफ देखा ऑर कहा के: वॉशरूम चले जाओ ऑर जा कर इसको रिलॅक्स कर दो..

मैने अंजान बनते हुए पूछा कि कैसे रिलॅक्स करूँ इसको..

खाला ने कहा: वोही जैसे सुबह सोफे पर बैठ कर इसको रिलॅक्स कर रहे थे ओर हँसने लगी..

मेरे मुँह से एक दम से निकल गया कि.. तो आप ही इसको रिलॅक्स कर दो ना..

ये बात मेरे मुँह से अचानक ही निकल गई थी.. मैने किसी ख़ास इरादे से ये बात नही की थी. मैने एक दम से अपने मुँह पर हाथ रख दिया..

ऑर खाला से बोला: ओह्ह्ह्ह आइ आम सॉरी खाला... जल्दी मे मुँह से निकल गया..

खाला ने मेरी तरफ हैरान नज़रो से देखा ऑर फिर उनके फेस पर स्माइल आई ऑर वो मेरे कान मे बोली... “अभी तुम इसको रिलॅक्स करो,, मैं रात को कर दूं गी"..

ये बोल कर खाला वॉशरूम चली गई ऑर मैने जैसे तेसे कर के अपने लंड को दबाया ऑर आख़िर कार इसको सुला ही दिया..

खाला कपड़े चेंज कर के आई ऑर मुझे कहा कि तुम भी कपड़े चेंज कर लो. जब तक मैं तैयार होती हूँ. फिर चलते हैं..

मैं भी कपड़े ले कर चेंज करने चला गया ऑर खाला तैयार होने लगी.

मैं नहा कर ऑर कपड़े चेंज कर के आया तो खाला तैयार हो चुकी थी. ऑर रेडी थी..मैने भी कंघी की ओर खाला से कहा कि... चलो...

हम लोगो ने घर को लॉक किया ऑर निकल गये..

हम लोग रिक्शा मे बैठ कर बाज़ार गये ऑर वहाँ पर एक अच्छा सा आइस क्रीम पार्लर देखा जहाँ पर अलग अलग कॅबिन बने हुए थे. कॅबिन सिर्फ़ पर्दों के बने हुए थे.

वेटर ने हमें एक कॅबिन मे बिठाया ऑर ऑर्डर ले कर चला गया.

हमारी साथ वाली कॅबिन मे कोई कपल बैठा हुआ था ऑर वहाँ से बातों की आवाज़ आ रही थी. वेटर ने हमारे सामने आइस क्रीम रखी ऑर परदा ठीक कर के चला गया.. जब वेटर ने परदा खेंच कर ठीक किया तो साथ वाली कॅबिन का परदा भी हल्का सा खींच गया.. जिसाए उस कपल ने नोट नही किया.. मगर मैने नोट कर लिया..

मैने ज़रा सा पीछे हो कर देखा तो मुझे साथ वाले कॅबिन मे लड़की की एक झलक नज़र आ रही थी मगर उसको मैं नज़र नही आ रहा था..

हम लोग आहिस्ता आहिस्ता आइस क्रीम खाने लगे. आइस क्रीम खाते खाते मेरे कानो मे कुछ अजीब सी आवाज़ आने लगी..

मैने आवाज़ पर अपने कान लगाए तो मुझे ऐसा फील हुआ कि जैसे कोई किस्सिंग कर रहा हो.. ऑर मुझे पूकक्चहुउूउक्क्क पूकक्चहुूक्क्क की आवाज़ें आने लगी...

खाला ने भी इन आवाज़ों का नोटीस लिया ऑर मेरी तरफ देखने लगी..

मैने थोड़ा सा पीछे हो कर साथ वाले कॅबिन की तरफ देखा तो वहाँ पर वो कपल किस्सिंग करने मे लगा हुआ था..

मैने खाला को अपनी आँखे से इशारा किया ऑर अपने पास आने को कहा... खाला ने भी मुझे आँखों ही आँखों मे पूछा कि क्या हुआ???

मैने फिर से खाला को इशारा किया कि आओ तो सही..

खाला उठ कर मेरे पास आई तो मैने लिप्स पर हाथ रख के उनको खामोश रहने का इशारा किया ऑर साथ वाली कॅबिन की तरफ की तरफ देखने को कहा..

मैं बैठा हुआ था खाला खड़ी हुई थी ऑर झुक कर उनको देखने लगी... खाला ने अपना फेस मेरे फेस के साथ लगा रखा था ऑर वो उनको देखने मे मसरूफ़ थी.. मैने अपना हाथ पीछे कर के खाला की कमर पर रख दिया. खाला ने एक नज़र मेरी तरफ़ देखा ऑर फिर से उस कपल को देखने मे मसरूफ़ हो गई.. वो कपल किस्सिंग करने मे मस्त था ऑर उस लड़के ने अपनी गर्ल फ्रेंड या जो भी थी उसके बूब्स को दबाना शुरू कर दिया वो इतने मस्त थे कि उनको अहसास भी नही हुआ कि कोई उनको देख रहा है..

उनको देखते देखते मेरे लंड भी खड़ा होने लग गया ऑर मैं भी गरम होने लगा... मेरा हाथ खाला की कमर पर था.. अब मैं अपने आप को मूव करने लगा... खाला भी शायद उनको देख कर गरम होने लगी थी तो उन्होने मेरे हाथ की हरकत का कोई नोटीस नही लिया. खाला बस उन लोगो को देखे जा रही थी ऑर यहाँ मैं अपनी मस्ती मे लगा हुआ था..

मैने अपना हाथ खाला की कमर पर मूव करते करते बॅक से उनकी ब्रा के स्ट्रॅप पर रख दिया ऑर उनकी ब्रा को फील करने लगा... मैं उनकी ब्रा पर हाथ फेर रहा था..

मेरे माइंड मे एक आइडिया आया ऑर फिर मैने उसका रिज़ल्ट भी सोचा कि रिज़ल्ट क्या निकल सकता है..फिर मेरा माइंड इसी पेशोपस मे था. ऑर आख़िर कार मैने एक फ़ैसला कर ही लिया...

मैं अपना हाथ उनकी बॅक पर मूव करता करता नीचे की तरफ ले जाने लगा.. ऑर नीचे करते करते मैने अपना हाथ खाला के हिप्स पर रख दिया.. मैने जैसे ही अपना हाथ खाला के हिप्स पर रखा उनके जिस्म को एक हल्का सा झटका लगा मगर उन्होने कुछ ज़ाहिर ही नही होने दिया जेसे कि कुछ हुआ ही ना हो..

उधर दूसरे कॅबिन मे वो कपल बहुत हॉट तरीके से रोमॅन्स कर रहा था ऑर अचानक उस लड़के ने अपनी गर्ल फ्रेंड के बूब्स नंगे कर दिए.... ऑर उस लड़की के निपल्स को सक करने लगा... उस लड़की की आँखे क्लोज़ थी ऑर वो बहुत हॉट हो रही थी... उसकी देखा देखी मेरी खाला जान भी हॉट होने लगी.. ऑर खाला की आँखे भी हल्की हल्की नशीली होने लगी...

ये देख कर मेरी भी हिम्मत बढ़ गई ऑर मैने अपना पूरा हाथ खाला की हिप्स पर रख दिया ऑर मूव करने लगा...

खाला की हिप्स बहुत सॉफ्ट सॉफ्ट सी थी ऑर यहाँ मेरा लंड भी फुल शबाब पर था.. मैं खाला के हिप्पस पर हाथ फेर रहा था.. आहिस्ता आहिस्ता मैं खाला की गान्ड की दरमियानी लकीर को फील करने लगा... ऑर वहाँ हाथ फेरने लगा... खाला थोड़ा सा ऑर आगे को झुक गई ऑर अपनी गान्ड को थोड़ा सा खोल दिया.. मैं खाला का इशारा पा कर अपनी उंगली को उनकी लकीर के बीच मे फेरने लगा...

खाला की गान्ड ऑर मेरे हाथ के बीच मे सिर्फ़ ओर सिर्फ़ खाला की शलवार थी..
Reply
08-08-2019, 01:24 PM,
#12
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
मैं खाला की गान्ड की लकीर मे हाथ फेर रहा था मेरी सारी तवज्जो खाला की गान्ड मे ही थी.. मैं खाला की गान्ड का होल ढूँढने लगा.. उंगली फेरते फेरते मेरी उंगली खाला की गान्ड के सुराख से टच हुई ऑर खाला तड़प उठी. ऑर मेरे बाल पकड़ लिए...

मैं तो अपने काम मे बिज़ी था... मुझे अहसास ही नही था कि कब वो साथ वाला कपल उठ कर जा चुका है..

मैने जब साथ वाले कॅबिन की तरफ देखा तो वो खाली था जब के खाला वैसे ही खड़ी थी.. मुझे पता लग गया कि खाला क्यू खड़ी है..

मैने खाला का फेस अपने फेस के क़रीब किया ऑर खाला के लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए.. ऑर उनके लिप्स सक करने लगा...

हम दोनो किस्सिंग मे बिज़ी थी कि आइस क्रीम पार्लर मे बाहर की तरफ थोड़ा शोर हुआ.. तो हम दोनो को होश आया ऑर हम एक दूसरे से अलग हो गये..

खाला अपनी चेर पर बैठ गई ऑर आइस क्रीम खाने लगी.. हम दोनो ऐसे बिहेव कर रहे थे कि जैसे कुछ हुआ ही नही...

हम दोनो ने आइस क्रीम ख़तम की ऑर वहाँ से बाहर निकल आए.

मैने खाला का हाथ पकड़ा ऑर हम लोग आइस क्रीम पार्लर से बाहर निकल आए.. टाइम देखा तो 5 बज रहे थे...

हम दोनो ने आपस मे उस बारे मे कोई बात नही की जो कुछ हमारे बीच मे हो रहा था.. हम दोनो बिल्कुल नॉर्मल बिहेव कर रहे थे...

मैने खाला से पूछा कि अब कहाँ जाना है तो उन्होने कहा के चलो किसी पार्क मे चलते हैं तो मैं अपनी खाला को लाहोर के फेमस पार्क रेस कोर्स मे ले गया क्योंकि रेस कोर्स पार्क बहुत खूबसूरत जगह है.. ऑर वहाँ पर हर तरफ ट्रीस ऑर फ्लवर्स हैं..

मौसम भी सुहाना था.. ऑर वो जगह भी मोसम के लिहाज़ से बेस्ट थी तो हम वहाँ गये ऑर पार्क मे घूमने लगे... हम पार्क मे वॉक करते करते काफ़ी आगे निकल गये ऑर पार्क के दूसरे कॉर्नर मे जा पहुँचे..

मैने खाला से कहा.... अब वापस चलें????

खाला: कुछ देर यहाँ बैठ जाते हैं.. यहाँ पर सकून है..

मैने कहा.. ओके जैसे आप की मर्ज़ी..

अभी हमें बैठे हुए कुछ देर ही गुज़री थी कि एक यंग कपल हमारे सामने से गुज़रा.. बहुत खूबसूरत कपल था.. वो हम से कुछ दूर आगे जा कर एक ट्री की आड़ मे बैठ गये...

मैं उस कपल को देख रहा था क्योंकि वो लड़की बहुत खूबसूरत थी.. ऑर उसकी गान्ड बहुत प्यारी थी..

खाला ने मेरी नज़रो का पीछा किया ऑर बोली.. क्या देख रहे हो..

मैने कहा कुछ नही..

खाला: तुम उस लड़की को देख रहे हो ना..

मैं: नही खाला मैं तो बस वैसे ही......

खाला के बोलने से मैने नाराज़गी फील कर ली.. उनको मेरा उस लड़की को देखना बिल्कुल अच्छा नही लगा था...

हम दोनो के बीच मे कोई बात नही हो रही थी....

मैं खाला के क़रीब हो कर बैठ गया ऑर खाला से पूछा के.. आप खामोश क्यूँ हो गई हो..

खाला: तुम उस लड़की को क्यू देख रहे थे.... तुम्हे पता भी है ना कि मैं ये बर्दाश्त नही कर सकती कि तुम किसी ऑर लड़की को देखो...

मैं: मैने झूट बोलते हुए कहा...खाला कसम से मैं उस लड़की को नही उस लड़के को देख रहा था.. उस लड़के को मैने कहीं देखा हुआ है मगर याद नही आ रहा है...

मेरी इस बात पर खाला ने यक़ीन कर लिया ऑर मुझे स्माइल पास की ऑर बोली.... अच्छा तुम अपना सिर मेरी गोद मे रख कर लेट जाओ...

मैं खुश होते हुए... ठीक है.. मैं खाला की गोद मे सिर रख कर लेट गया ऑर खाला मेरे बालों मे उंगलिया मूव करने लगी... ऑर हम इधर उधर की बातें करने लगे....

कुछ देर बाद मैने खाला से बोला..... खाला मेरे ख़याल मे वो कपल जो अभी अभी गया है किस्सिंग कर रहे हैं....

खाला: अरे नही यार पार्क मे भला कौन किस्सिंग करता है..

मैं: खाला आप को पार्क्स का नही पता.. जिन लोगो के पास ओर कोई जगह ना हो.. वो पार्क्स मे ही आ कर सब कुछ करते हैं..

खाला ने मेरी बात का यक़ीन ना किया ओर बोली: मैं नही मानती...

मैं: शर्त लगा लो..

खाला: केसी शर्त...????

मैं : अगर वो कपल किस्सिंग कर रहा हुआ तो आप भी मुझे यहाँ ही किस दो गी....

खाला: नही नही यहाँ पर नही... कोई देख ले गा...

मैं: खाला यहाँ पर कौन है जो देखे गा....

खाला: नही यार यहाँ नही.... हाँ घर जा कर तुम जो बोलोगे करूँ गी मगर यहाँ नही करना कुछ..

मैं: मैं कुछ सोचते हुए..... ओके चलो ठीक है मगर घर जा कर ज़रूर....

खाला: मैने तुम्हे रोका थोड़ी है.. घर जा कर जितना तुम्हारा दिल चाहे कर लेना....

मैने खाला का हाथ पकड़ा ऑर बोला... कि आओ उनको देखते हैं....

खाला: अरे नही यार वो लोग देख लेंगे...

मैं: यार खाला डरो नही.. कुछ नही होता...

उस कपल की बॅक साइड पर भी ट्रीस थे.... हम उनकी बॅक साइड से गये ऑर उस कपल को देखने लगे.. हम ने जो कुछ देखा वो देख कर हमारी आँखें खुली की खुली रह गई.............


मैं तो सोचा रहा था कि वो कपल शायद किस्सिंग कर रहा होगा मगर वहाँ तो कुछ ऑर ही चल रहा था...

वहाँ पर लड़का अपनी लेग्स सीधी कर के ट्री से कमर लगाए बैठा हुआ था... ऑर उसकी पेंट उसके घुटनो पर थी.... ऑर लड़की उस की लेग्स के बीच मे बैठ कर उसका लंड चूस रही थी... लड़के की नज़र बार बार साइड पर जाती थी... क्योंकि उस तरफ रास्ता था.. वो देख रहा था कि अचानक कोई आ ना जाए.... मगर उसको अपनी बॅक का ख़याल ही नही था.... ऑर बॅक साइड पर थे भी ट्री जिस से उसका माइंड बॅक साइड पर जा ही नही सकता था..


मैं उनको बड़े गौर से देख रहा था ऑर मेरा अपना लंड खड़ा होने लग गया ऑर जब मैने खाला की तरफ नज़र की तो खाला बड़े शोक़् से उनको देख रही थी... खाला को वो सीन बहुत एग्ज़ाइटेड कर रहा था.. ऑर वो सीन था बी एग्ज़ाइटेड.. मेरा अपना हाल बुरा हो रहा था.. ऑर मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा सारा खून लंड मे आ कर जमा हो गया है.... मैं एक हाथ से अपने लंड को मसल्ने लगा.....

खाला उस सीन मे खोई हुई थी.. .मेरे माइंड मे आया कि मैं खाला की गान्ड को टच करूँ... मगर जैसे ही मैने खाला की गान्ड को टच किया.. खाला को एक दम से जैसे होश आ गया... ऑर उन्होने मेरी तरफ देखा... खाला ने सिर हिला कर मुझे मना किया.. मगर मैं मान नही हो रहा था...... खाला ने मेरा हाथ पकड़ लिया ऑर मुझे वहाँ से चलने को कहा...मेरा दिल तो नही कर रहा था कि वहाँ से हॅट जाऊ मगर खाला अकेली ही चल पड़ी जिसकी वजह से मुझे उनके पीछे पीछे जाना पड़ा...

मैं खाला के क़रीब गया ऑर उनका हाथ पकड़ लिया ऑर पूछा... खाला क्या हुआ...

खाला कुछ ना बोली...

मैने फिर से पूछा तो खाला ने मेरी तरफ़ देखा.. उनकी आँखे लाल हो रही थी.... ऑर पसीना आ रहा था...
मैने खाला के हाथ ज़ोर से पकड़ा तो मुझे ऐसा लगा कि जैसे खाला का जिस्म काँप रहा है... मैने खाला को कहा.... खाला आप की तबीयत तो ठीक है ना...

खाला ने आहिस्ता से जवाब दिया... अयान, मुझे जल्दी से घर ले चलो प्लीज़....

मैं खाला के साथ चल पड़ा.. चलते चलते अचानक खाला का हाथ मेरे लंड से टच हुआ तो मुझे जैसे करेंट सा लग गया.. मैने उछल कर खाला की तरफ देखा मगर खाला सामने देख रही थी... इसके बाद खाला ने 2 , 3 बार अपना हाथ मेरे लंड को टच किया...

मैं समझ गया कि खाला उस कपल को देख कर बहुत गरम हो चुकी है... मैने खाला का हाथ पकड़ा ऑर हम लोग रिक्शा मे बैठ कर घर आ गये.



घर आ कर खाला ने लॉक खोला ऑर हम लोग घर मे एंटर हो गये..
घर आते ही खाला जल्दी से रूम की तरफ चली गई. मैं भी खाला के पीछे पीछे रूम मे एंटर हो गया.. खाला ने जल्दी से अपनी चादर उतारी ऑर बेड पर बैठ कर लंबे लंबे साँस लेने लगी..

मैं खाला के पास गया ऑर उन से पूछा.... क्या हुआ खाला.. आपकी तबीयत तो ठीक है.

खाला ने मेरी तरफ देखा ओर बोली... हाँ मैं ठीक हूँ.

मैं: तो फिर आप इतनी जल्दी मे क्यू आ गई ऑर आप को पसीना क्यू आ रहा है..

मैं खाला के पास बैठ गया ऑर उनके माथे पर हाथ रखा ऑर बोला... आप को तो बुखार भी नही है. फिर क्यू.

खाला ने एक गहरी नज़र मुझ पर डाली ऑर बोली... बस छोड़ो तुम नही समझो गे..

मैं आप मुझे समझाओ ना प्लीज़. आप को आख़िर अचानक क्या हुआ है..

खाला ने कुछ ना कहा ऑर उठ कर बाहर जाने लगी.. मैने खाला का हाथ पकड़ा ऑर प्यार से बोला.. खाला आप कहाँ जा रही हो.. पहले मुझे बताओ कि आप को क्या हुआ है..
Reply
08-08-2019, 01:24 PM,
#13
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
खाला ने मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखा ऑर बोली.... चंदा मुझे कुछ नही हुआ. बस गर्मी की वजह से दिल घबरा रहा था... अभी भी गर्मी लग रही है.. इसीलिए मैं नहाने जा रही हूँ.

मैने कहा... हाँ गर्मी तो मुझे भी लग रही है..

खाला: तो आ जाओ तुम भी नहा लो...

मैं उनकी बात को नही समझा ऑर कहा. पहले आप नहा लो फिर मैं नहाता हूँ..

खाला जाने लगी ऑर बोली::: बुद्धूऊ (बेवक़ूफ़)

खाला ये कर रूम से निकल गई ऑर वॉशरूम मे एंटर हो गई नहाने के लिए..

मैं टी.वी लाउंज मे चला गया ऑर टी.वी ऑन कर के सॉंग्स लगा लिए..

टी.वी पर इमरान हाशमी का सॉंग लगा हुआ था..

भीगे होन्ट तेरे
प्यासा दिल मेरा
लगे अबार सा...
कभी मेरे साथ एक रात गुज़ारो..
तुम्हे सुबह तक मैं करूँ प्यार...

मैं ये सॉंग सुन रहा था.... ऑर वॉल्यूम हाइ कर लिया वॉल्यूम इतना हाइ था कि खाला तक वॉशरूम मे आवाज़ पहुँच सकती थी. ऑर मैने वॉल्यूम भी इसी लिए हाइ किया था कि खाला सुन ले...

मौसम भी अच्छा था,, बादल ये हुए थे.. केबल वालो ने सॉंग्स भी मोसम की मुसीबत से लगी हुई थी...

खाला नहा कर निकली तो वही ट्रॅन्स्परेंट सा ड्रेस पहना हुआ था..ऑर उनकी ब्रा नज़र आ रही थी...

खाला मेरे पास आ कर सोफे पर बैठ गई ऑर मेरे कंधे पर अपना हाथ रख लिया... उनका जिस्म मेरे जिस्म से टच हो रहा था..

केबल पर नेक्स्ट सॉंग भी रोमॅंटिक लग गया.. खाला मेरे साथ बैठी हुई थी तो मुझे ऐसा रोमॅंटिक सॉंग देखने मे कुछ शरम आई..

मैं चॅनेल चेंज करने लगा.. तो खाला एक दम से बोली.....

अरे क्या कर रहे हो... ये चॅनेल क्यू चेंज कर रहे हो...

मैं: कुछ नही वैसे ही...

खाला: शरम आ रही है मेरे साथ बैठ कर देखने मे...????

मैं: मुस्कुरा दिया ऑर सिर नीचे कर लिया..

खाला. अच्छाआआआआ.... ये देखते हुए शरम आ रही है.. ऑर वो जो पार्क मे मेरे साथ खड़े हो कर उस कपल को प्यार करते हुए देख रहे थे... तब शरम नही आई तुम्हे....

खाला ने फिर बात बदलते हुए मुझे कहा... तुम ने नहाना नही था...

मैने कहा कि नही अब मेरा दिल नही कर रहा....
खाला ने कहा... क्यू अब गर्मी नही लग रही तुम्हे..
मैं.. गर्मी तो लग रही है..

फिर मैने अपनी कमीज़ उतार ली...ऑर बनियान मे बैठ गया...

हम सॉंग सुन रहे थे...ऑर खाला ने अपना हाथ मेरे नंगे कंधे पर रखा हुआ था.. फिर वो अपना हाथ मेरी नेक पर मूव करने लगी...

मुझे कुछ कुछ फील हुआ मगर मैने खाला पे ज़ाहिर नही होने दिया...

हम लोग इसी तरह सॉंग्स सुन रहे थे.... ऑर खाला का दिल कर रहा था मुझसे मस्ती करने को... वो मेरी नेक पर हाथ मूव करते करते मेरी चेस्ट की तरफ ले कर जाने लगी मगर मैं अंजान बन कर बैठा रहा...

खाला ने कहा... अयान तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड है...??? मैने खाला की तरफ एक नज़र देखा ऑर कहा.... हां जी मेरी एक गर्ल फ्रेंड है...

खाला ने अचानक मुझे सीधा किया ओर बोली.... क्य्ाआआअ.... तुम ने तो कहा था कि तुम्हारी कोई गर्ल फ्रेंड नही है.... फिर......


मैने कहा.... जब आप ने पहले पूछा था तब तक नही थी...

खाला ने कहा.... तो फिर ये अचानक तुम्हारी गर्लफ्रेंड कहाँ से आ गई...

मैं खाला को टीज़ करते हुए........ बस मिल गई... ऑर वो मुझे बहुत पसंद है...

खाला... कौन है.... कब फ्रेंडशिप हुई...

मैं... बस अचानक ही मिल गई... ऑर मैं तो उस लड़की को पहले से पसंद करते था मगर अब कन्फर्म हो गया है कि वो भी मुझे पसंद करती है...

खाला मेरी बात को बिल्कुल भी नही समझी थी.... ऑर मुझसे नाराज़ हो गई....

वो मेरे पास से उठने लगी तो मैने एक दम से उनका हाथ पकड़ के बिठा दिया...

खाला.. नाराज़गी से.. छोड़ो मेरा हाथ.. मैं किचन मे जा रही हूँ काम करने...

मैने कहा..... खाला मेरी बात तो सुन लो...

खाला ने कहा...अब क्या रह गया है सुनने के लिए...

मैं समझा कि खाला नाराज़ हो गई है... मैने जल्दी से कहा... खाला मेरी गर्ल फ्रेंड आप हो... मैं आप से बहुत प्यार करता हूँ...

खाला ने एक दम से मेरी तरफ देखा ऑर हैरान रह गई..... वो मेरी दीदा दिलेरी पर बहुत हैरान हुई कि मैने उनको कैसे बोल दी इतनी बड़ी बात...

खाला मेरी तरफ़ देख रही थी.. मैने अपना सिर झुका लिया...

खाला ने एक दम से मुझे हग किया... ऑर मेरे गाल पर बार बार किस करने लगी....

वो मेरे पूरे फेस पर किस करने लगी... जब वो थक गई तो उन्होने मुझे छोड़ा ओर मेरी तरफ देख कर लंबे लंबे साँस लेने लगी... वो तक गई थी बहुत...

उन्होने मुझे फिर से हग कर लिया ऑर बोली... अयान, प्लीज़ कोई ऑर लड़की अपने लिए ना देखना.. मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ..

हम इसी तरह बातें कर रहे थे.. जब टाइम देखा तो 7 बज रहे थे..

खाला ने कहा.. यार लेट हो गये.. खाना भी बनाना है... खाला सोफे से उठी तो मैं भी उनके साथ ही खड़ा हो गया...

खाला बाहर जाने लगी तो मैने पीछे से आवाज़ दी.... खाला....

खाला ने पीछे मूड कर देखा ओर बोली... हां...

मैं: शरमाते हुए... एक बात पूछूँ...

खाला: हाँ पूछो चंदा.. क्या बात है...

मैं: क्या मैं आप को हग कर सकता हूँ....

खाला मुस्कुराती हुए मेरे पास आई ओर बोली.... तुम जब चाहो मुझे हग कर सकते हो... क्योंकि अब मैं तुम्हारी गर्ल फ्रेंड भी तो हूँ...

मैं आगे बढ़ा ऑर एक दम से खाला को हग कर लिया...

उन्होने दुपट्टा नही लिया हुआ था... मैने जब उनको हग किया तो उनके बूब्स मेरे सीने से टच हो रहे...

मैने जज़्बात की शिद्दत मे आ कर उनके शोल्डर पर अपने लिप्स रख दिए.. खाला को एक हल्का सा झटका लगा ऑर उन्होने मुझे टाइट हग कर लिया...

मैने खाला के शोल्डर पर एक हल्की सी किस की... ऑर उधर खाला ने भी मेरे शोल्डर्स पर भी किस कर दी...

मैं उनके शोल्डर पर अपनी ज़ुबान मूव करने लगा... ऑर वहाँ मेरे लंड साहिब को अचानक से एक झटका लगा... ऑर वो सीधा खड़ा हो गया...

मेरे लंड की कॅप खाला की चूत से टच हो रही थी... खाला ने अपनी लेग्स थोड़ी सी ओपन की ऑर मेरे लंड को आगे जाने का रास्ता दिया...

जब मेरा लंड खाला की लेग्स के बीच मे चला गया तो खाला ने अपनी लेग्स टाइट कर ली ऑर मेरा लंड अपनी चूत के साथ फँसा लिया...

खाला ने मेरा लंड अपनी लेग्स के बीच मे फँसा लिया... ऑर अब वो अपने जिस्म के नीचे वाले हिस्से को मूव करने लगी.. कभी वो अपनी लेग्स की गिरफ़्त मेरे लंड पर टाइट कर लेती ऑर कभी लूस कर देती...

मैं खाला के शोल्डर्स पर किस करता करता खाला की नेक पर अपने लिप्स ले कर आ गया... ऑर उनकी नेक पर हल्के हल्के से किस करने लगा... खाला के जज़्बात भी भड़क उठे ऑर उन्होने अपनी उंगलियाँ मेरे बालों मे डाल दी ऑर मूव करने लगी..

खाला भी मेरा साथ दे रही थी... वो मेरी नेक पर किस कर रही थी ऑर मैं उनकी.. मैने अपने दोनो हॅंड्ज़ खाला की कमर के गिर्द कर लिए ऑर उनको अपने साथ टाइट हग कर लिया...... मैं अपने हॅंड्ज़ को खाला की कमर पर मूव करने लगा ऑर मेरा हाथ उनकी ब्रा तक जा पहुँचा....

मैं खाला की ब्रा के स्ट्रॅप्स को फील करने लगा. ऑर कभी कभी खाला के ब्रा के बॅक वाली स्ट्रॅप को खेंच देता था ऑर इसी तरह उनकी फुल कमर पर हॅंड्ज़ मूव करने लगा...

मैं जब जब खाला की कमर पर हॅंड्ज़ मूव कर रहा था.. खाला जोश मे आ कर मुझे ज़ोर ज़ोर से किस्सिंग करने लग जाती...

मैने खाला की नेक से लिप्स हटा दिए ऑर खाला की आँखे मे देखने लगा... खाला ने मुझे इस तरह देखा.. जैसे आँखों ही आँखों मे पूछ रही हों कि... क्या हुआ...... रुक्क क्यू गये...

मैं ने एक मुस्कुराती हुई नज़र खाला के फेस की तरफ देखा तो खाला ने शरम के मारे अपना सिर झुका लिया... मेरे हाथ अभी भी खाला की कमर के गिर्द थे .. ना मैने अपने हाथ हटाए थे ऑर ना उन्होने कोई कोशिश की मेरे हाथ हटाने की....

मैने खाला का फेस उपर किया ऑर उनको देखने लगा.. खाला की आँखे जज़्बात की शिद्दत से लाल हो रही थी.. ऑर उनकी आँखे ये शो कर रही थी कि वो बहुत प्यासी है...

खाला ने भी मेरी तरफ देखा ऑर मेरे लिप्स पर किस करने के लिए अपने लिप्स आगे किए मगर मैने एक दम से अपने लिप्स थोड़ा पीछे कर लिए... खाला ने मेरी इस हरकत को देखा ऑर फॉरन से मुझे देखने लगी..

खाला ने एक बार फिर से मेरे लिप्स पर किस करनी चाही तो मैने फिर से वो ही हरकत की...

खाला मुझे देखने लगी मगर मुँह से कुछ नही बोली.. क्योंकि उनकी आँखे बहुत कुछ बोल रही थी.. ऑर मैं अब उनकी आँखे के इशारे समझ रहा था..

हम दोनो एक दूसरे को देख रहे थे.. जब खाला ने कुछ देर तक कुछ हरकत ना की मैने एक दम से खाला के लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए ऑर पागलो की तरह खाला के लिप्स चूसने लगा.... खाला पहले तो मेरे इस अचानक हमले से सम्भल नही पाई... फिर आहिस्ता आहिस्ता वो भी मेरा साथ देने लगी..

हम दोनो एक दूसरे को खूब किस्सिंग कर रहे थे.. फिर खाला ने अपनी ज़ुबान से मेरे लिप्स पर दस्तक दी.. मैं उनका इशारा समझ कर अपना मुँह खोल दिया ओर खाला अपनी ज़ुबान मेरे मुँह के अंदर मूव करने लगी...
मैने भी अपनी ज़ुबान खाला के सामने कर दी ओर वो मेरे ज़ुबान चूसने लगी... हम लोग बहुत रफ तरीक़े से किस्सिंग कर रहे थे क्योंकि हम दोनो मे से किसी को भी किस्सिंग ठीक से करनी नही आती थी... हम बस लगे हुए थे ऑर हमें लग रहा था कि जैसे यही तरीक़ा दुनिया का सब से अनोखा तरीक़ा है जो हम कर रहे हैं..
Reply
08-08-2019, 01:25 PM,
#14
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
हम लोग इसी तरह अपनी मस्तियों मे बिज़ी थे... मेरा लंड अभी तक खाला की चूत से टच हो रहा था ऑर मैं अब अपनी नीचे वाली बॉडी को आगे पीछे हरकत कर रहा था.. जिस की वजह से मेरा लंड खाला की चूत से रगड़ खा रहा था... खाला की चूत मेरे लंड की रगड़ से गरम हो रही थी.. मुझे भी अपने लंड पर बहुत हीट महसूस हो रही थी.. मैं सोच रहा था कि अभी मैने अपना लंड अंदर नही किया तो इतनी हॉट्टनेस फील हो रही है.. जब अंदर करूँगा तो मेरा क्या हाल होगा.. मैं इसी सोचों मे मगन था...

मैने अपना हाथ खाला की कमर पर मूव करते करते बॅक से खाला की कमीज़ मे डाला.. जब खाला ने मेरा हाथ अपनी नंगी कमर पर फील किया तो उन्होने झटका खाया ऑर मुझसे पीछे हटने की कोशिश की मगर मैने एक दम से एक हाथ उनके सिर की बॅक साइड पर रख कर उनके फेस को अपने फेस की तरफ ज़ोर देने लगा.. जिस से वो कुछ बोल ना सकी क्योंकि उनके लिप्स तो मैने जाकड़ रखे थे...

मैं खाला की नंगी कमर पर हाथ फेर रहा था तो खाला ने एक बार फिर से मेरा हाथ पकड़ लिया जैसे वो मुझे रोक रही हो.. मगर मेरे उपर तो अब वहशत छाई हुई थी.. ऑर मेरा दिल मेरे लंड मे धड़क रहा था.. मैं चाहता था कि बस किसी ना किसी तरह अपने इस लंड को सकून दूं... जो खाला की चूत से रगड़ खा कर बहुत गरम हो चुका था..

मुझे कुछ समझ नही आ रही थी कि मैं क्या कर रहा हूँ.. बस इतना पता था कि जो भी कर रहा हूँ इस मे मुझे वो मज़ा आ रहा है जो इस से पहले कभी नही मिला था... मैं अपने लंड को खाला की लेग्स के बीच मे आगे पीछे कर रहा था.. अचानक मुझे अपने लंड पर कुछ गीला गीला फील हुआ... मैं समझा कि मैं डिसचार्ज हो गया हूँ मगर जब घौर किया तो मेरा लंड तो उसी तरह अपने जोबन पर था... तो फिर ये नमी केसी थी... मैने अपना लंड थोड़ा सा पीछे करने लगा... मेरे दिमाग़ मे आया था कि मैं चेक करूँ कि मेरा लंड गीला कैसे हो गया है... मैं अपने लंड को खाला की लेग्स के बीच मे निकलना चाह रहा था मगर अब की बार खाला ने अपनी लेग्स टाइट कर ली... ऑर मेरी कमर पर हाथ रख कर अपनी तरफ पुश करने लगी.... उनकी इस हरकत से मुझे ओर भी जोश चढ़ गया ऑर मैं खाला की लेग्स के बीच मे ही घस्से मारने लगा...

घस्से मारते मारते खाला ने मुझे एक दम से अपनी तरफ पुश किया ऑर अपने साथ टाइट कर लिया.. मैं खाला से थोड़ा पीछे होना चाहता था मगर अब खाला मुझे छोड़ ने का नाम ही नही ले रही थी... फिर एक दम से खाला का जिस्म टाइट हुआ ऑर उन्होने मेरे बालों को कस कर पकड़ा ऑर फिर अचानक से ही मेरे जिस्म पर अपनी गिरफ़्त कमज़ोर कर ली ऑर अपना सिर मेरे शोल्डर्स पर रख लिया...

मैं अब इतना तो बच्चा नही था कि समझ ना सकूँ... मैं समझ गया था कि खाला डिसचार्ज हो गई है.. मैं खाला के सिर मे अपनी उंगली मूव करने लगा.... ऑर उनको रिलॅक्स करने लगा......

खाला ने अपना सिर मेरे शोल्डर्स पर रख दिया.... मैं उनके बालों मे अपनी उंगली मूव करने लगा... ऑर उनको रिलॅक्स करने लगा.... जब उनकी हालत थोड़ी बेहतर हुई तो उन्होने अपना सिर मेरे शोल्डर्स से हटाया ऑर बस मेरी तरफ गहरी नज़रों से देखने लगी..

मेरा लंड अभी भी खाला की लेग्स के बीच मे था.. ऑर अब मुझ मे भी इतना दम नही था कि ज़्यादा देर कंट्रोल कर सकूँ.. बस एक दो ज़ोर दार घस्सो की ज़रूरत थी.. फिर मैं भी डिसचार्ज हो जाता मगर अब खेल रुक चुका था... हम दोनो एक दूसरे को आँखे मे देख रहे थे....

खाला मेरी तरफ देखते हुए.. अयान,,,, एक बात कहूँ....??

मैं: ह्म्म्म्म ममम

खाला: तुम हमारी दोस्ती के बारे मे किसी को मत बताना प्लीज़.

मैं... नही मैं किसी को नही बताउन्गा... खाला: प्रॉमिस???

मैने खाला के माथे पर एक किस की ऑर बोला... आप की कसम...

खाला ने खुश हो कर मेरे सीने पर सिर रख लिया....... ऑर बोली... अयान,,, चंदा आइ लव यू सो मच... तुम कभी भी मुझसे नाराज़ ना होना...

मैं खामोश रहा ऑर खाला की कमर पर हाथ फेरता रहा...

खाला के मोबाइल की रिंग बजी..... खाला ने मोबाइल देखा तो मामू की कॉल आ रही थी... खाला ने कॉल रिसीव की ऑर बोली... हेलो भाई. क्या हाल है...

दूसरी तरफ से मामू ने कुछ बात की ऑर खाला के फेस पर परेशानी छा गई..... खाला मामू की बात भी सुन रही थी ऑर मेरी तरफ भी देख रही थी...

जब कॉल ख़तम हुई तो मैने उनसे पूछा.. क्या हुआ खाला... मामू क्या कहते रहे थे...

खाला ने उदास से बोल मे बोला के मामू आ रहे हैं ऑर हम ने उनके साथ जाना है....

मैं... कहाँ जाना है...

खाला के फेस पर उदासी छा गई थी ऑर वो उसी अंदाज मे बोली कि यार वो भाबी की सिस की अचानक शादी फिक्स हो गई है.. 3 दिन बाद उसकी शादी है ऑर भाई बोल रहे थे कि मैं (खाला) ने भी आज ही वहाँ जाना है...

मैने खाला से कहा... तो क्या हुआ आप चली जाओ ना... तो खाला ने मेरी तरफ ऐसे देखा कि जैसे उनको मेरी बात से कोई शिकायत है.. वो बोली कि मैं नही जाना चाहती.....

मैं: क्यू नही जाना चाहती... तो वो गुस्से से बोली... तुम कब समझो गे हाआनन्न... मैं तुम्हारे साथ अकेले मे टाइम स्पेंड करना चाहती हूँ.. खाला ने ये बात मुझे बहुत गुस्से मे कही... वो जाना नही चाह रही थी.. मगर अब मामू भी आ रहे उन्हे लेने..

मैं: अब मामू आ रहे हैं तो आप को जाना ही होगा ना... रास्ते मे मुझे मेरे घर छोड़ते हुए जाना....

खाला... मैं एक शर्त पर जाउन्गी.... मैने पूछा कि कौनसी शर्त तो उन्होने कहा... तुम भी साथ चलो गे तो मैं जाउन्गी वरना नही जाउन्गी...

अबी हम बातें कर रहे थे मेन डोर पे दस्तक हुई... खाला ने जल्दी से अपना दुपट्टा लिया ऑर अच्छी तरह दुपट्टा लपेट कर मुझे कहा कि जाओ डोर ओपन करो...

मैने डोर ओपन किया तो सामने मामू खड़े थे.. मामू ने मुझसे खाला के बारे मे पूछा तो मैने किचन की तरफ इशारा कर दिया... मामू ऑर मैं किचन मे आए तो खाला चाय बना रही थी....

मामू ने खाला की तरफ देख कर कहा.... अंबर... बेटा तुम अभी तक तैयार नही हुई.... खाला ने मामू की तरफ देखा ऑर कहा.. बस भाई अभी थोड़ी देर मे हो जाती हूँ... मामू ने कहा ओके जल्दी करो..

खाला ने डरते डरते मामू से कहा... भाई क्या ऐसा नही हो सकता है कि हम कल सुबह चले जाएँ.. तो मामू ने कहा कि नही हम लोगो को अभी जाना है.... तो खाला ने मेरी तरफ देख कर बोला... ऑर अयान..??? ये भी जाएगा ना.... मामू ने मेरी तरफ देख कर कहा.... हाँ अगर ये जाना चाहे तो चले... अच्छा है ना. तुम खाला भानजे की आपस मे दोस्ती है तुम दोनो का साथ मे टाइम अच्छा गुज़र जाएगा .... खाला ने मेरी तरफ देखा ऑर खुश हो गई...

मामू ने मेरे घर कॉल की ऑर मेरी अम्मी से कहा.... अयान के कपड़े वाघरा निकाल दो उसने हमारे साथ शादी मे जाना है ऑर फिर दूसरी तरफ से बात सुन कर कॉल बंद कर दी...

खाला ने जल्दी जल्दी अपने कपड़े बॅग मे डाले... अब वो रिलॅक्स थी क्योंकि उनका बॉय फ्रेंड भी उनके साथ जा रहा था...
हम लोग घर से निकले ऑर सीधा मेरे घर गये... वहाँ पर अम्मी से मिले ऑर मेरा समान ले कर मामी के पेरेंट्स की तरफ चल पड़े..

जब हम वहाँ पर पहुँचे तो सब लोग जल्दी जल्दी काम मे मसरूफ़ नज़र आए. शायद अचानक शादी फिक्स हो जाने की वजह से...

खाला भी वहाँ जा कर गर्ल्स के साथ बैठ गई... ऑर मैं मामू के साथ साथ रहा... सब लोग अपने अपने काम मे बिज़ी थे.... यहाँ पर बहुत से गेस्ट आए हुए थे ओर गॅप शॅप भी हो रही थी... हम लोग टाइम पास करने लगे......

हम लोग टाइम पास करने लगे. मुझे कभी मामू एक काम बोल देते कि अयान बाइक पर जाओ ऑर जा कर ये चीज़ ले आओ या वो चीज़ ले आओ.. मुख्तसिर ये कि मुझे एक बाइक दी हुई थी ऑर मुझसे काम ले रहे थे..

खाला घर के अंदर लॅडीस के साथ बैठी हुई थी ऑर मैं बाहर था... मुझे मामू ने किसी काम से मामी के पास भेजा.. मैं अंदर गया ऑर मामी को ढूँढने लगा... मैं मामी को देखने किचन की तरफ गया. मैं जैसे ही किचन के दरवाजे पर पहुँचा...एक लड़की जिसको पता नही किस बात की जल्दी थी. किचन से तेज़ी मे निकली उसके हाथ मे जूस का जग भरा हुआ था.. वो एक दम से मुझसे टकरा गई..

वो लड़की एज मे तक़रीबन मेरे ही बराबर थी... हम दोनो टकराने की वजह से गिर गये थे ऑर उसके हाथ से जूस का जग गिरा जिस से मेरे ऑर उसके दोनो के कपड़े गंदे हो गये...

वो उठी ऑर मेरी तरफ देख कर बोली. आप ने मुझे सारा गंदा कर दिया.. आप को क्या जल्दी थी जो इतनी जल्दी किचन मे आ रहे थे.. मैने उसकी तरफ देख कर कहा देखिए मेरी तो कोई ग़लती नही थी आप ही तेज़ी से किचन से निकली हो.... वो बोली तो आप रुक जाते ना... मैने कहा कि अगर मुझे पता होता कि आप तशरीफ़ ला रही हैं तो मैं रुक जाता....
हम दोनो इसी तरह हल्की हल्की बहस मे लगे हुए थे कि वहाँ मामी आ गई.. मामी ने मुझे देखा ऑर कहा कि अयान क्या हुआ.. मैने मामी से कहा कि मैं आप को ढूँडने किचन मे आया था कि इन से टक्कर हो गई..

मामी ने कहा अच्छा. क्या बात थी जो मुझे ढूंड रहे थे... मैने उनको मामू का मेसेज पहुँचाया.... ऑर मैं बाहर जाने लगा... मामी ने मुझे आवाज़ दी कि तुम्हारे कपड़े गंदे हो गये हैं.. तुम कपड़े चेंज कर लो.. मैने कहा कि कपड़े तो अंबर खाला के बॅग मे हैं.. मामी मुझे ले कर खाला के पास आई ऑर खाला को कहा कि इस के कपड़े चेंज करवा दो..

मामी ने वॉशरूम का बताया कि तुम उपर वाली वॉशरूम मे जा कर नहा के कपड़े चेंज कर लो... ऑर खाला को कहा कि अंबर तुम अयान के साथ जा कर इसको वॉशरूम दिखा दो. क्योंकि खाला पहले भी कई बार उनके घर आ चुकी थी..

खाला ने कहा कि ठीक है.. खाला अपना बॅग ढूँढने लगी.. खाला का बॅग नही मिल रहा था क्योंकि खाला का बॅग मामी की सिस ने सम्भहाल कर रखा हुआ था... तक़रीबन कोई 40 मिंट के बाद बॅग मिला.. खाला ने मेरे कपड़े निकाले.. ऑर हम दोनो छत पर चले गये..

उपर जो वॉशरूम था वो एक तरफ कॉर्नर पर था. ऑर वहाँ लाइट भी नही थी.. सिंपल बात ये थी कि पूरी छत पर अंधेरा ही अंधेरा था... ऑर उपर वाली छत पर कोई आता जाता नही था...

छत पर कॉर्नर मे कुछ टूटा फूटा समान पड़ा हुआ था... ऑर वो समान इतना था कि अगर उसके पीछे कोई छुप जाए तो नज़र नही आ सकता था जब तक कि ख़ास तोर पर आ कर चेक ना करता...

छत पर पहुँच कर मुझे मस्ती चढ़ि ऑर मैने खाला का हाथ पकड़ लिया... खाला ने मेरी तरफ देखा ऑर मेरी आँखों को समझते हुए मुस्कुरा दी मगर कुछ नही बोली... मैने खाला को आहिस्ता से कहा... खाला.... खाला ने मेरी तरफ देखा ऑर कहा कि जी चंदा...

मैने कहा कि आप ने अपना प्रॉमिस भी पूरा नही किया.. खाला ने कहा कि कौन सा प्रॉमिस...

मैने कहा कि आप ने जो पार्क मे प्रॉमिस किया था किस वाला...

खाला ने कहा ... घर पर इतना तो किया था. मैने कहा कि मेरी मर्ज़ी मैं जब चाहूं अपनी गर्लफ्रेंड को किस कर सकता हूँ... तो खाला ने कहा... तो कर लो.. तुम्हे किस ने रोका है...
Reply
08-08-2019, 01:25 PM,
#15
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
मैने खाला को अपनी तरफ किया ऑर उनके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए ऑर उनको किस्सिंग करने लगा... हम ने किस्सिंग करने के लिए वोही वॉशरूम वाला कॉर्नर सेलेक्ट किया.... ऑर वहाँ खड़े हो कर किस्सिंग करने लगे.. ता कि अगर कोई अचानक आ जाए तो मैं वॉशरूम मे घुस्स जाऊ...

अभी हम दोनो को किस्सिंग करते हुए कोई 30 सेकेंड ही गुज़रे होंगे कि हमे ऐसा लगा कि उपर कोई आ रहा है तो खाला डर गई ऑर उन्होने मेरा हाथ पकड़ा ऑर वो जो कबाड़ पड़ा हुआ था उस तरफ ले गई... हम दोनो वहाँ छुप गये... अब पोज़िशन ये थी कि वहाँ पर सिर्फ़ एक बंदे के खड़े होने की जगह थी.. मैं दीवार के साथ खड़ा हो गया... ऑर खाला मेरे आगे आ कर खड़ा हो गई... जिस से उनकी गान्ड मेरे लंड साथ लग गई ऑर खाला ने भी फील कर लिया ऑर वो कुछ नही बोली... वैसे तो वो कुछ बोलती भी नही मगर अब पोज़िशन ही ऐसी थी कि वो आवाज़ भी नही निकाल सकती थी....क्योंकि अगर किसी को पता लग जाता कि खाला अपने भानजे के साथ अंधेरे मे है तो हमारी बहुत बदनामी होती..

हम ने देखा कि उपर एक लेडी आई है.. उसकी बॅक हमारी तरफ थी.... उस लेडी ने अपना मोबाइल निकाला ऑर किसी को कॉल की... चूँकि खामोशी थी इसीलिए हमे उनकी आवाज़ हल्की हल्की आ रही थी.. फिर वो औरत दीवार से टेक लगा कर खड़ी हो गई थी.....

अभी उस औरत को आए हुए 5 मिंट ही हुए होंगे .. एक लड़का उपर आया ऑर उसने स्टेर्स का डोर बंद कर दिया... उसकी हाइट भी मेरे ही जितनी थी.. वो आया ऑर उस लड़की से किस्सिंग करने लगा.... वो लोग पागलों की तरह एक दूसरे को किस कर रहे थे जैसे कि बहुत अरसे बाद मिले हों..

उनको किस्सिंग करते हुए देख कर मैं भी गरम होने लगा था... ऑर मेरा लंड भी खड़ा होने लगा था... खाला डर रही थी कि कहीं उस कपल को हमारे यहाँ होने का पता ना चल जाए मगर मेरे दिमाग़ मे तो उस वक़्त शहवत छाई हुई थी... ऑर शलवार मे मेरा लंड भी खड़ा हो चुका था जो अब खाला की गान्ड से लग रहा था.. मैं अपने लंड को खाला की गान्ड पर मूव करने लगा... ऑर लंड से ही उनकी गान्ड की लकीर ढूंड रहा था... मगर मुझे नही मिल रही थी उनकी गान्ड की लकीर.. खाला ने अपनी गान्ड को मूव किया ऑर मेरा लंड अपनी गान्ड की बीच लकीर मे ले आई...

उधर वो कपल अपनी मस्ती मे गुम था ऑर वो लड़का अपनी उस लड़की को पागलो की तरह किस्सिंग और काट रहा था..
इतने मे लड़की की आवाज़ आई... ब्स्स्स्स करो नाआ जाआंन्नीणणन्
.. किस्सिंग ही करते रहोगे या कुछ ऑर भी करोगे.......
तो उस लड़के ने किस्सिंग छोड़ कर उस लड़की की कमीज़ उपर की ऑर उसके मम्मो पर ज़ुबान फेरने पगा ऑर उनको चूसने लगा... वो लड़की आहिस्ता आहिस्ता सिसकियाँ लेने लगी... सिसकियों की आवाज़ हम तक साफ पहुँच रही थी...

उसकी सिसकियों की आवाज़ सुन कर मैं ऑर गरम हो रहा था... मैने पीछे से अपने लिप्स खाला की गर्दन पर रखे तो एक दम से खाला के मुँह से सिसकी निकली जो उन्होने अपने होंठ भींच कर अपने मुँह के अंदर ही जज़्ब कर ली..... मैं खाला की नेक पर अपने लिप्स मूव करने लगा जिसकी वजह से खाला भी गरम हो रहे थे...

उधर वो कपल अपनी मस्ती मे मगन था... जब मैने उस लड़की की तरफ गौर किया तो उस लड़की को कमीज़ उतरी हुई थी ऑर वो लड़का उसके मम्मे चूस रहा था जिसकी वजह से वो लड़की आआआआआआहह आआआआआअहह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्ससे सस्स्स्स्स्स्स्सेसएसस्स्स्सस्स की आवाज़े निकल रहे थे.. ऑर वो लड़का मुसलसल उस लड़की के साथ लगा हुआ था... लड़का उस लड़की के उपर से उठा ऑर उस लड़की की शलवार उतारने लगा... लड़की ने अपनी गान्ड उपर की तो लड़के ने उसकी शलवार उतार दी... अब लड़के ने लड़की की लेग्स के बीच मे आ कर उसकी चूत को चाटने लगा....

यहाँ मैं खाला की गर्दन ऑर कान पर किस्सिंग करने लगा.... ऑर मैने अपना हाथ आगे कर के खाला के पेट पर रख दिया... ऑर अपना हाथ खाला के पेट पर मूव करने लगा.... मेरा लंड खाला की गान्ड की बीच वाली लकीर मे था ... ऑर खाला कभी अपनी गान्ड को ओपन करती कभी क्लोज़ करती... जब वो अपनी गान्ड ओपन करती तो मैं लंड को आगे कर देता ऑर जब मेरा लंड आगे चला जाता तो खाला अपनी गान्ड बंद कर लेती... मैं खाला के पेट पर हाथ फेरने लगा... ऑर पेट पर हाथ फेरते फेरते मैं अपना हाथ खाला के मम्मो की तरफ ले जाने लगा ..... मैने अपना हाथ कमीज़ के उपर से ही खाला के मम्मो पर रखा ऑर उनके एक मम्मो को प्रेस करने लगा...खाला की साँसे तेज होने लगी.... ऑर वो बहुत गरम हो रही थी... मेरा हाथ खाला के मम्मो पर था ऑर मैं खाला के एक मम्मे प्रेस कर रहा था... खाला ने अपना हाथ मेरे हाथ के उपर रखा ऑर मेरा हाथ अपने मम्मे के उपर टाइट कर लिया....

उधर वो लड़का उस लड़की की चूत चाट रहा था ऑर लड़की सिसकियाँ ले रही थी ऑर अपनी गान्ड उछाल रही थी बार बार... वो लड़की बिल्कुल नंगी थी जब कि लड़के ने कपड़े पहने हुए थे... लड़का जब चूत चाट के थक गया तो वो खड़ा हुआ ऑर अपनी कमीज़ उतार दी.. लड़की उठ कर बैठ गई ऑर लड़के की शलवार का नाला खोलने लगी..... शलवार नीचे करते ही लड़के का लंड फंफनाता हुआ बाहर आया जो कि सीधा खड़ा हुआ था... लड़की ने उसके लंड पे पहले अपने हाथ आगे पीछे किए ऑर फिर उस लड़के का लंड अपने मुँह मे ले लिया ऑर लंड चूसने लगी....

यहाँ खाला मेरे हाथों का अहसास पा कर तड़प रही थी.. ऑर मेरा हाथ अपने मम्मों का उपर दबा रही थी

खाला वो लाइव सेक्स सीन देख कर हॉट हो रही थी.. ऑर अपने मम्मे पर मेरा हाथ दबा रही थी.. मेरे होन्ट मुसलसल उनकी नेक पर मूव कर रहे थे.... ऑर कभी कभी मैं अपनी जीब उनके कानों से भी टच कर देता.... मैं खाला का मम्मा दबा रहा था.. ऑर फिर मैने अपना दूसरा हाथ भी खाला के पेट पर रख दिया.. ऑर उस हाथ से खाला की कमीज़ आहिस्ता आहिस्ता उपर करने लगा... जिसका अहसास खाला को नही हुआ....

मैने खाला की कमीज़ थोड़ी सी उपर की ऑर अपना हाथ उनके नंगे पेट पर रख दिया.. खाला ने जैसे ही मेरा हाथ अपने नंगे पेट पर फील किया उनके मुँह से आहिस्ता से एक सिसकी निकली.. सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स....

मैं खाला के नंगे पेट पर हाथ मूव करने लगा.. ऑर अब मैने पीछे खड़े खड़े खाला का फेस पीछे की तरफ किया ऑर उनके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए........ ऑर उनके लिप्स को सक करने लगा... कभी मैं उनके उपर वाली होन्ट को सक करता ऑर कभी नीचे वाली होन्ट को...

उधर हमारी नज़रो के सामने वो दूसरा कपल अपनी मस्ती मे मगन था..... ऑर वो लड़की अपने बॉय फ्रेंड का लंड चूस रही थी ऑर उसके बॉय फ्रेंड के मुँह से ऊऊऊऊओह,,, उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़,, सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ें निकल रही थी... इसके बाद वो लड़की नीचे लेट गई ऑर अपने बाय्फ्रेंड से बोली... जान मेरे अंदर आग लगी हुई है.. अब जल्दी से मेरे अंदर अपना लंड डालो ना ऑर मेरी आग बुझा दो... वो लड़का उस लड़की के लेग्स के बीच मे बैठा ऑर अपने लंड का टोपा उस लड़की की चूत के होल पर रखा ऑर एक ज़ोरदार झटका दिया... लड़की के मुँह से आआआआआआआआआआआहह की आवाज़ निकली तो वो लड़का बोला... यार आहिस्ता आहिस्ता आवाज़ निकालो.. कहीं कोई आ ना जाए.... फिर वो लड़का लड़की की चूत के अंदर अपना लंड पेलने लगा.. वो बार बार अंदर बाहर कर रहा था.. जिसकी वजह से लड़की की सिसकियाँ गूँज रही थी........

उधर मैने खाला के नंगे पेट पर हाथ फेरते फेरते उनके मम्मे पर रख दिया.. उन्होने ब्रा पहना हुआ था... ऑर मैं ब्रा के उपर से खाला के मम्मे दबाने लगा.... खाला ने एक दम से मेरा हाथ पकड़ लिया जैसे मुझे रोकना चाह रही हों... मगर मैं अब उस कपल को देख कर जोश मे आया हुआ था... मैं अब रुकने वाला नही था.. मैने खाला के लिप्स को अपने लिप्स मे ज़ोर से जाकड लिया जिसकी वजह से वो सिसिकि भी नही ले पा रही थी......

वहाँ वो लड़का अपने झटके की रफ़्तार मे इज़ाफ़ा करता जा रहा था... ऑर फिर लड़की ने उसकी कमर के गिर्द अपनी टांगे लपेट लीं ओर उसको बोली.. आआआआआआआआआहह ओर्र्र्र्र्र्र्ररर ताआआआईयईईईईईईईईईईईज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़्ज़ कार्रर्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्र्रूऊओ... मैं चूऊऊऊऊवटतत्टटटटट्तत्नेयययी वाााआाालल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्ल्लीइीईईईईईईईईईईईईईई हूँ..... लड़के ने अपने झटकों की रफ़्तार मे इज़ाफ़ा कर दिया ऑर लड़की आआआआआआअहह ऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊहह मैं मर गई... ऑर तेज ऑर तेज आआआआआआआआआआआहह आआआआआआआआआआआहह ऑर इस तरह वो लड़की छूट गई मगर शायद अभी वो लड़का नही छूटा था वो उसी तरह लगा हुआ था....

मैं खाला की ब्रा के उपर से उनके मम्मे दबा रहा था.. फिर मैने आहिस्ता आहिस्ता अपनी उंगली से खाला का ब्रा उपर करने की कोशिश की मगर खाला मुझे बार बार रोक रही थी.. क्योंकि उनके साथ जो कुछ भी हो रहा था... वो शायद बहुत ज़्यादा हो गया था... मैने उनके ब्रा को थोड़ा सा उपर किया तो खाला के मम्मो का निपल ब्रा से बाहर निकल आया.... ऑर मैने उनके निपल को अपनी 2 उंगली मे पकड़ लिया.. ऑर उनको दबाने लगा.... फिर मैं एक दम से चोंक गया ऑर चोन्कने की वजह उस लड़के की आवाज़ थी...

वो लड़का झटके मार मार कर बोल रहा था कि मैं डिसचार्ज होने वाला हूँ.... ऑर उसकी चाआअप्प्प्प्प चप्प्प्प की आवाज़ें गूंजने लगी.......ऑर वो लड़का एक ऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊऊफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ की आवाज़ लगा कर डिसचार्ज हो गया...

जब वो लड़का डिसचार्ज हो गया तो वो उठा ऑर लड़की भी उठ कर खड़ी हो गई.. लड़की ने कहा कि जान आज इतने अरसे बाद तुम ने तो दिल खुश कर दिया... अच्छा अब अपने मोबाइल की टॉर्च ऑन करो ता कि मैं अपने कपड़े ढूंड लूँ....

लड़के ने जब मोबाइल की टॉर्च ऑन की लड़की के फेस की तरफ की तो मैने ओर खाला ने उनकी तरफ देखा... कुछ टाइम के लिए हम दोनो को ऐसा लगा कि वक़्त रुक गया हो... ऑर सारी दुनिया मे सिर्फ़ ऑर सिर्फ़ हम 4 लोग हों.... खाला ऑर मैं कुछ देर तक तो उन्हे देखते रहे...... ऑर हम लोगो की आवाज़ भी नही निकल रही थी...

फिर खाला के मुँह से रुक रुक कर हल्की सी आवाज़ निकली ऑर सिर्फ़ एक ही लफ्ज़ मेरे कानो मे पड़ा ऑर वो लफ़्ज था....."""""भाबी""""""तो मैने एक दम से खाला के मुँह के उपर हाथ रख दिया... ये तो अच्छा हुआ कि खाला की आवाज़ बहुत हल्की थी.. वरना हम भी पकड़े जाते...

वो लड़की मेरी मामी थी जो उस लड़के से चुदवा रही थी.. जब मामी ने कपड़े पहन लिए तो उस लड़के ने टॉर्च मामी को दी ऑर कहा कि अब तुम टॉर्च पकडो मैं भी कपड़े पहन लूँ... जब मामी ने टॉर्च पकड़ी तो उस लड़के के फेस पर भी रोशनी आई ऑर एक बार फिर से हमारे पैरों तले ज़मीन निकल गई... ऑर हैरत के मारे हमारी आँखें फटी की फटी रह गई... क्योंकि वो लड़का कोई ऑर नही मामी का सगा """भाई""" था...
Reply
08-08-2019, 01:25 PM,
#16
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
खाला ऑर मेरे दिमाग़ सुन्न हो गये थे ऑर हम हैरत के दरिया मे गोते खा रहे थे कि मामी अपने भाई के साथ सेक्स कर रही थी.. उस दिन पहली बार मुझे अंदाज़ा हुआ कि सेक्स इतनी कुत्ति चीज़ है कि जब सिर पर चढ़ जाए तो इंसान को अपना पराया कुछ नही नज़र आता ऑर उसकी एक मिसाल मैं खुद था जो कि सेक्स के हाथों मजबूर हो कर अपनी खाला को चोदने का इरादा रखता था ऑर खाला सेक्स के हाथों इतनी मजबूर हो गई थी कि वो अपने सगे भानजे से चुदवाने के लिए तैयार थी..... मामी को अपने भाई के साथ सेक्स करते हुए देख कर मैं ऑर जोश मे आ गया था.. ऑर मेरा वो हाथ जो खाला की कमीज़ के अंदर था ऑर उनके निपल को टच कर रहा था.. जल्दी जल्दी खाला के अकडे हुए निपल को सहलाने लगा मगर खाला का दिमाग़ तो कहीं ऑर खोया हुआ था...

सेक्स कर के मामी ऑर उनका भाई नीचे चले गये.. ऑर हम कबाड़ के पीछे से निकले... ऑर खुली फ़िज़ा मे आ गये.. वहाँ आ कर खाला ने लंबे लंबे साँस लिए ऑर अपने होंटो को अपने दांतो से काटने लगी...

फिर खाला ने मेरी तरफ देख ऑर रुकते रुकते हुए बोली:: अयान, त्त्त्त तुम ने देखा.. वो भाबी अपने भाई के साथ...

खाला अभी तक उसी हैरत मे पड़ी थी... मैने खाला का हाथ पकड़ा ऑर खाला को प्यार से कहा कि खाला कोई बात नही... बस आप टेन्षन ना लो इस बात को छोड़ो
..
खाला ने मुझे कहा कि अयान तुम जा कर जल्दी से नहा लो ऑर कपड़े चेंज कर लो... मैने खाला से कहा कि अगर आप ने नहाना है तो आप भी नहा लो मेरे साथ ही..

खाला ने एक गहरी नज़र मुझे पर डाली ऑर कहा नही चंदा मेरे सिर मे दर्द हो रहा है.. तुम जा कर जल्दी से 2 मिंट मे नहा कर निकलो बहुत देर हो गई है...

मैं वॉशरूम मे घुस गया नहाने के लिए ऑर खाला वहाँ ही बाहर खड़ी रही.. जब मैं नहा कर निकला तो खाला ज़मीन पर बैठी हुई थी.. उनको मेरे बाहर आने का अहसास नही हुआ था..

मैने खाला से कहा: खाला मैने नहा लिया है...
खाला ने मेरी तरफ देख कर कहा... हाआन्न.. हाँ ठीक है चलो.. ऑर उठ कर खड़ी हो गई

मैने खाला का हाथ पकड़ा ऑर खाला से कहा... देखो खाला जैसे आप की अपनी ज़िंदगी है ऑर आप अपनी लाइफ मेरे साथ एंजाय करना चाहती हो उसी तरह मामी का भी तो दिल है.. उनको भी उनकी लाइफ पूरी तरह एंजाय करने का हक़ है..

खाला ने मुझे हग कर लिया.. ओह्ह अयान मैं बहुत डर गई हूँ.. अगर वो लोग हमें भी देख लेते तो क्या हो जाता..

मैने मुस्कुरा कर खाला से कहा.. खाला कुछ नही होता.. अगर वो हमें भी देख लेती तो वो इस कंडीशन मे हमें कुछ नही बोल सकती थी... ऑर सब से अच्छी बात तो ये है कि हमें किसी ने नही देखा.. ऑर आप ने ये बात किसी से शेयर नही करनी.. इस बात का सिर्फ़ ऑर सिर्फ़ आप को ऑर मुझे पता है कि हम मामी को उनके अपने भाई को सेक्स करते हुए देख चुके हैं...

खाला ने मुस्कुरा कर कहा कि अच्छा ठीक है... ऑर मैं भी मुस्कुरा दिया मगर मेरे मुस्कुराने की वजह कुछ ऑर थी.. क्योंकि मैं उस वक़्त कुछ ऑर ही सोच रहा था.. ऑर अपनी खाला के साथ रोमॅन्स करते करते मुझ मे इतनी बोल्डनेस तो आ ही गई थी कि मैं किसी से बात कर सकता.. मैं कुछ अजीब ही बात सोच कर खाला कि साथ नीचे की तरफ जाने लगा....

हम जब स्टेर्स से नीचे उतरे तो स्टेर्स के साथ ही वॉशरूम बना हुआ है.. हम ने जैसे ही लास्ट स्टेर से क़दम नीचे रखे...... तो उसी वक़्त उस वॉशरूम का डोर ओपन हुआ ऑर उस मे से मामी बाहर निकली.. वो हम दोनो को नीचे उतरते देख कर घबरा गई ऑर फटी फटी आँखो से हमारी तरफ देखने लगी.. जैसे उनको बहुत बड़ा शॉक लगा हो हमे स्टेर्स से नीचे देख कर...... उनके माथे पर पसीना आने लगा था... ऑर वो रुकते रुकते बोली...... त्त्त्त्त्त्त्त्त्त त्त्त्त्त्त्त्त्त्त्त्त्त त्त्त्तुउउउम्म्म दोनो उपर थे... ?????

खाला कुछ बोलने लगी.. मगर मैं एक दम से बोला कि मामी हम अबी एक मिंट पहले उपर गये हैं.. आप को ढूंड रहे थे... मेरी ये बात सुन कर मामी ने एक लंबी सी सांस छोड़ी .... ऑर एक दम से अपने आप को संभालते हुए बोली... क्यू मुझे क्यू ढूंड रहे थे.. कोई काम था क्या.....???

मैं.... जी मामी वो मैने पूछना था कि मैं तक गया हूँ तो हम ने सोना कहाँ है.... इस पर मामी ने कहा कि तुम लोगो के लिए सोने का बंदोबस्त मैं कर दूंगी...... पहले बताओ कि तुम दोनो ने खाना भी खाया है या नही... इस पे खाला बोली.. मुझे तो भूक ही नही है.. हाँ अयान को खाना खिला देना आप....

मामी ने कहा अच्छा चलो मेरे साथ... हम लोग किचन की तरफ जाने लगे तो रास्ते मे मामी की अम्मी हमारे सामने आ गई... ऑर मामी को देखते हुए बोली.. अरे कहाँ थे तुम लोग... खाना नही खाना क्या... तो मामी ने कहा के हाँ मैं इन को खाना खिलाने ले जा रही हूँ.. तो इस पर उनकी अम्मी ने खाला की तरफ देखा ऑर बोली.... अंबर बेटा तुम तो गर्ल्स के साथ जा कर खाना खा लो.. वहाँ खाना लग चुका है.. अयान किचन मे खा ले गा...... खाला ने मामी की तरफ देखा तो मामी ने कहा कि हाँ अंबर तुम गर्ल्स के साथ खा लो.. अयान की फिकर मत करो इसको मैं खाना खिला दूंगी...

खाला मामी की अम्मी के साथ चली गई ऑर उनके जाते ही मेरे फेस पर एक शरारती सी मुस्कुराहट फैल गई.. जिसे मामी ने नोट कर लिया था... हम लोग किचिन मे आए ऑर मामी मेरे लिए खाना गरम करने लगी... ऑर मैं मामी की तरफ देख कर मुस्कुराए जा रहा था.. मामी मेरी मुस्कुराहट को नोट कर रही थी.... ऑर मेरी मुस्कुराहट पर उनके फेस पर परेशानी फेल्ती जा रही थी....

फिर जब मामी ने खाना गरम कर दिया तो किचन मे एक छोटी टेबल पड़ी हुई थी.. मामी ने उस टेबल पर खाना लगा दिया ऑर 2 प्लेटों रख दिया.. मेरी तरफ देखते हुए बोली कि आ जाओ.. खाना खा लो.. इत्तेफ़ाक़ से जिस टाइम मामी खाना गरम कर रही थी मैं उनके मम्मो को देख रहा था... मैं चुन्कि मामी को चुदते हुए देख चुका था तो अब मेरे दिल मे ख़याल आया कि क्यू ना अपनी मामी पर लाइन मारी जाए... मामी के बड़े बड़े गोल गोल मम्मे बहुत अच्छे लग रहे थे... उनका साइज़ कम आज़ कम 38 होगा.. उनकी शादी को 2 साल हो गये थे मगर अभी तक कोई बच्चा नही हुआ था.. बच्चा हो या ना हो.. मगर ये बात तो लाज़मी था ना कि 2 साल से उनकी टका टक चुदाई हो रही थी.. ऑर अब मैं सोचने लगा कि मामी की चूत मे तो मामू अपना लंड पेलते ही होंगे ... मेरे दिल मे मामी के लिए भी आग भड़क उठी...
Reply
08-08-2019, 01:48 PM,
#17
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
मामी ने जिस टाइम मुझे खाने का बोला उस टाइम मैं मामी के मम्मो की तरफ देख रहा था... जिसको मामी ने नोट कर लिया... ओर जब मुझे एहसास हुआ कि मामी ने भी मुझे देख लिए है तो मेरे चेहरे पर एक गहरी सी स्माइल आ गई.... मामी मेरी इस स्माइल को देख कर परेशान हो रही थी.. ऑर मुझे उनकी परेशानी का भी पता था.. उनको अभी तक शक था कि कहीं हम ने उनको सेक्स करते हुए देख ना लिया हो....

मैं चेयर पर बैठा खाना खाने के लिए..... तो मामी मेरे सामने वाली चेयर पर बैठ गई. उनका दुपट्टा एक कंधे पर पड़ा हुआ था जिसकी वजह से उनके मम्मो का क्लीवेज मुझे साफ दिखाई दे रहा था....

मामी मेरी तरफ परेशान नज़रो से देख रही थी बार बार... मैं खाना खाने लगा ओर मैने मामी को कहा कि आप भी खाना खा लो.. उन्होने कहा कि नही मुझे भूक नही है... तुम खाओ....

मेरे मुँह से जल्दी मे निकल गया कि हाँ जी आप ने तो खा लिया है ना..... मेरी इस बात पर मामी बुरी तरह चोंक गई ऑर मुझे देखते हुए बोली... क्या मतलब... मैने जल्दी से कहा.. मैने उस टाइम देखा था कि आप कुछ खा रही थी अपनी अम्मी के साथ बैठे हुए तो इसीलिए बोला... मामी कुछ सोच मे पड़ गई.. वो शायद मुझसे पूछना चाहती थी.. मगर उनको समझ नही आ रहा था कि कैसे पूछें...

मामी ने फिर हिम्मत कर के मुझसे पूछ ही लिया.... अयान,,, एक बात पूछूँ..... किसी को बताओ गे तो नही....

मामी ने मुझसे पूछा कि अयान,,, एक बात पूछूँ किसी को बताओ गे तो नही....???

मैने मामी की तरफ देखा ऑर उनसे बोला कि जी मामी पूछें.. मैं किसी को नही बताउन्गा ... तो मामी ने मेरी आँखों मे आँखें डाल कर मुझसे पूछा.. तुम मुझे देख कर क्यू मुस्कुरा रहे थे...

मैं... मामी वैसे ही मुस्कुरा रहा था ऑर आप को देख कर नही मुस्कुरा रहा था बस मुझे कुछ बात याद आ गई थी इसलिए मुस्कुरा रहा था..

मामी.. क्या बात याद आ गई थी..

मैं.. कुछ नही बस वैसे ही अपनी बात थी..

मामी... अच्छा तुम ने कपड़े चेंज कर लिए थे..

मैं... हाँ जी वो तो जब आप ने मुझे कहा कि जाओ जा कर उपर वाली वॉशरूम मे जा कर नहा लो तो हम लोग उसी टाइम चले गये थे......

मामी मेरी बात सुन कर परेशान हो गई ऑर बोली कि मैं तो तुम लोगो को ढूंड रही थी ऑर उपर भी गई थी तुम लोगो को देखने मगर तुम लोग तो मुझे कहीं भी नज़र नही आए.....

मैने मामी की बात का कोई जवाब नही दिया ऑर बस सिर नीचे कर के मुस्कुराने लगा..... मामी मेरी मुस्कुराहट की वजह से बहुत उलझन मे थी ऑर घबरा रही थी.. वो मुझसे फिर पूछने लगी कि बताओ ना तुम लोग कहाँ थे तुम लोग तो मुझे उपर नज़र नही आए...

मैने अपने दिमाग़ मे पूरा मंसूबा बना लिया था ऑर मामी की घबराहट को देख कर तो जैसे मैं शायर बन गया था.. मैने मुस्कुराती हुए मामी की आँखों मे देखा तो वो अपने सवाल का जवाब माँग रही थी....

मैने कुछ सोचा ऑर खाना खाने लगा... अब मामी को शक हो गया था कि मैं उनकी हरकतें देख चुका हूँ... उन्होने मुझे बहुत प्यार से कहा कि अयान देखो तुम बहुत अच्छे हो.. मैं तुमसे कुछ पूछ रही हूँ..

मैने हिम्मत कर के मामी को कह ही लिया कि जिस वक़्त आप उपर आई थी मैं उस टाइम उपर ही था... मामी की शकल रोने वाली हो गई ऑर उनका हलक खुश्क हो गया ओर अपने खुश्क होंठो मे ज़ुबान फेरने लगी...

फिर मामी ने मुझसे पूछा कि तुम कहाँ थे मुझे तो तुम नज़र नही आए.. ऑर अंबर भी नज़र नही आई थी...

मैने ने झूट बोलते हुए कहा.. कि जिसस टाइम आप उपर आई थी,, उस टाइम अंबर खाला वॉशरूम मे नहा रही थी... चूँकि अंधेरा था तो खाला डोर ओपन कर के नहा रही थी... इसीलिए मैं वॉशरूम के दरवाज़े का सामने से हट कर वो जो कबाड़ पड़ा हुआ है वहाँ जा कर खड़ा हो गया था....

मामी परेशानी से चेयर मेरे क़रीब करते हुए... फिर उसके बाद...????

मैं: जब आप उपर आई तो मैं आप को तंग करने के लिए कबाड़ के पीछे च्यू गया था... कि मैं मामी को डराउंगा.. अंबर खाला तो वॉशरूम मे थी उनको तो आप के आने का पता ही नही लगा.... मगर मुझे पता लग गया था.. ऑर मैने आप को देख लिया था...

मामी परेशानी ऑर शर्म से ज़मीन मे गढ़ी जा रही थी... ऑर मैं खाना खाने मे मसरूफ़ हो गया...

मैने खाना ख़तम किया तो मामी की तरफ देखा वो मुझे देखे जा रही थी.. मैने उनसे कहा कि मामी मैने कहाँ सोना है...
मामी एक ठंडी साँस लेते हुए बोली.. आओ मेरे साथ... ऑर मैं मामी के साथ चल पड़ा...

मामी सब की नज़रो से बचाती बचती स्टेर्स की तरफ जाने लगी.. ऑर मेरी तरफ देखा तो मैने एक स्माइल पास की ऑर ढीठ आशिक़ों की तरह उनकी तरफ देखने लगा.. मगर मुँह से कुछ नही बोला... मैं स्टेर्स के पास आ कर रुक गया.. ऑर मामी से बोला.. उपर कहाँ जा रहे हैं हम..

मामी... मैने तुमसे कुछ बात करनी है.. तुम आओ तो सही... ऑर मेरा हाथ पकड़ के मुझे उपर की तरफ ले कर जाने लगी...

जब हम उपर पहुँच गये तो मामी मेरे सामने आ कर खड़ी हो गई ऑर मुझसे पूछा के बताओ तुम कहाँ छुपे थे.. मैने उनको कबाड़ की तरफ इशारा किया ओर बोला ..... वहाँ......

मामी... तुम ने मुझे उपर आते हुए देखा था.. तो मैने हाँ मे सिर हिला दिया.... तो मामी फॉरन बोली कि ऑर क्या क्या देखा..

अब मुझे भी डर लगने लगा था क्योंकि मामी का लहज़ा कुछ बदला बदला सा लग रहा था.. या शायद वो अपनी हरकत को छुपाने के लिए मुझ पर रौब जमा रही थी...... मामी ने फिर बोला... मैं तुमसे पूछ रही हूँ... तुम क्यू छुपे थे.. ऑर तुम ने क्या देखा था.. मैं खामोश खड़ा रहा... तो मामी गुस्से ऑर परेशानी से बोली... अयान,,,, जवाब दो मुझे.. तुम कुछ बोलते क्यू नही हो... खामोस्स्सस्शह क्यू हो तुम......

मैं चूँकि उनको गुस्से मे देख कर डर गया था तो डरते डरते मामी से बोला.... मैने सब कुछ देखा है..... मेरी इस बात को सुन कर मामी की आँखें फटी की फटी रह गई... ऑर उनकी सूरत रोने वाली हो गई... वो ज़मीन पर बैठ गई ऑर अपना सिर हाथों मे थाम लिया... मैं उनके साथ बैठ गया ऑर उनके हाथ पर अपना हाथ रख दिया.... मामी ने मेरा हाथ अपने हाथ पर महसूस किया... ऑर मेरी तरफ देखा... उनकी आँखों मे आँसू थे...उन्होने मेरी तरफ देखा तो उनकी आवाज़ नही निकल रही थी.... मैने मामी से पूछा कि.. आप की तबीयत ठीक है.. आप को क्या हुआ है......... मामी ने मेरी तरफ रोते रोते देखा ऑर रुक रुक कर बोली...अयान,,, त्त्त्त्त्त त्त्त्त्त्त्त्म्म्म्म ने सब कुछ देखा तो मैने हल्का सा सिर हाँ मे हिला कर अपना सिर झुका लिया तो मामी ने एक बार फिर से अपना सिर अपने हाथों मे थाम लिया....

उफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ अब क्या होगा... मेरी ज़िंदगी बर्बाद हो जाए गी..... ऑर रोने लगी.. वो हिचकियाँ ले ले कर रो रही थी मगर उनके रोने की आवाज़ बहुत आहिस्ता आहिस्ता थी.. इसलिए मुझे इस बात का तो डर नही था कि कोई उनकी आवाज़ सुन कर उपर आ जाएगा .. ऑर वैसे भी उपर किसी ने आना भी नही था क्योंकि उपर वाली हिस्से मे लाइट भी नही थी.. ये तो बस स्ट्रीट लाइट्स ऑन थी जिसकी वजह से मैं मामी को देख रहा था.. ऑर मामी मुझे....

रोते रोते मामी ने फिर अपना सिर उठाया.. ऑर यक़ीन ना आने वाली बोली मे बोली... अयान तुम ने सब कुछ देखा है.. तुम सच बताओ मुझे... तुम्हारे ""मामू"" भी तो उपर आए थे मेरे साथ.... उन्होने अपने भाई का नाम हटा कर मामू का नाम लगा दिया कि अगर किसी को पता भी लग गया तो कोई कुछ नही कर सकता क्योंकि वो तो अपने पति का नाम ले रही थी...

जब उन्होने मामू का नाम लिया तो मुझे हँसी आ गई.. ऑर मैने मामी की तरफ देखा ऑर प्यार से बोला..... मामी आप टेन्षन ना लो... मैं किसी को नही बताउन्गा कि आप उपर आई थी ऑर आप ने कॉल की थी तो आप की कॉल के बाद आप का भाई भी उपर आ गया था.....

मामी ने मेरी बात सुनते ही मेरे होंठो पर हाथ रख कर मेरा मुँह बंद किया ऑर बोली... अयान,,, प्लीज़ तुम ने तो सब कुछ देख लिया है..... मगर अब किसी को नही बताना.. अपने मामू को भी नही बताना.. देखो चंदा ये मेरी ज़िंदगी का सवाल है.... मेरी ज़िंदगी बर्बाद हो जाए गी... मामी ने मेरी टांगे पकड़ रखी थी ऑर मेरी मिन्नते किए जा रही थी.....

फिर मामी को अचानक से ख़याल आया ऑर वो मुझे बोली.... क्या अंबर ने भी देखा था ये सब.... मैने सॉफ झूट बोलते हुए कहा कि नही अंबार खाला ने कुछ भी नही देखा...

मामी.. परेशानी से.. उसने भी देख ही लिया होगा... तो मैने बहुत कॉन्फिडेन्स से जवाब दिया.... नही जब आप लोग नीचे जा चुके थे तो अंबर खाला उसके कुछ देर बाद नहा कर निकली थी तो मैने खाला को कहा कि मामी उपर आई थी तो खाला ने कहा.. अच्छा... मुझे तो पता ही नही लगा.....
Reply
08-08-2019, 01:48 PM,
#18
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
मामी को मेरी बात पर यक़ीन आ गया... ऑर वो फिर से मेरी मिन्नते करने लगी... अयान,,, प्लीज़ तुम ये बात किसी को मत बताना... अगर तुम ने किसी को भी बताया तो मेरा घर बर्बाद हो जाएगा ... देखो.. तुम जो कुछ बोलोगे मैं करूँगी... ऑर इसके साथ ही मामी ने अपनी ब्रा मे हाथ डाला ऑर वहाँ 1000 के कुछ नोट निकाल कर मुझे दिए.... ऑर बोली देखो तुम ये रख लो.. अगर ऑर चाहिए हैं तो मुझे बता दो मैं तुम्हे ऑर भी दूँगी .. मगर प्लीज़ किसी को बताना नही.. मेरी बहुत बदनामी होगी... अगर तुम ने किसी को बताया तो मैं अपने आप को जान से मार दूँगी .... ऑर फिर तुम्हारे मामू अकेले रह जाएँगे ....

मैने मामी का हाथ पकड़ा ऑर उनको प्यार से बोला... मामी आप परेशान ना हों.... मैं किसी को नही बताउगा.. ऑर पेसे उनको वापस करते हुए कहा..... ये पेसे आप वापस रख लो... मुझे पेसे नही चाहये.... मुझे अगर कुछ चाहये होगा तो मैं आप से माँग लूगा.... मामी ने मेरी तरफ हैरान नज़रो से देखा शायद सोच रही थी कि मैं पेसे भी वापस कर रहा हूँ ऑर किसी को ना बताने का वादा भी कर रहा हूँ....

मेरे यक़ीन दिलाने पर उनको कुछ रिलॅक्स फील हुआ... ऑर वो मुझे बोली के तुम्हे जब भी कभी किसी भी चीज़ की ज़रूरत हो तो मुझे लाज़मी बता देना... मैने मुस्कुराते हुए कहा कि ठीक है बता दूँगा ... ऑर मामी का हाथ पकड़ कर हल्का हल्का दबाने लगा.... मामी ने मुझे खूब एमोशनल कर दिया था... मैने मामी से कहा कि अब चलें... मगर मामी को अभी भी टेन्षन लगी हुई थी....

मामी ने अपनी टेन्षन ख़तम करने के लिए मुझ पर एक तीर फेंका.... ऑर बोली.....

अयान,,,,, मुझसे दोस्ती करोगे...............

मामी ने अपनी तरफ से मुझ पर एक जाल फेंका था... मगर उनको ये तो पता ही नही था कि मैं तो खुद इस जाल मे आने के लिए तैयार बैठा हुआ हूँ...

मैने कुछ ना समझने वाले अंदाज़ मे मामी से बोला... मामी मैं समझा नही... दोस्ती क्या मतलब....

मामी: हाँ तुम मुझसे दोस्ती कर लो... हम लोग बहुत अच्छे दोस्त बन कर रहेंगे ... मैं तुम्हारी हर ज़रूरत पूरी करूँ गी... प्लीज़

मैने कहा.. मगर आप मेरी मामी हो.. मैं आप से कैसे दोस्ती कर लूँ.. दोस्ती तो अपनी उमर के लोगो से की जाती है ना.. ना कि अपने से बड़ों के साथ.... तो मामी मेरे क़रीब आई तो प्यार भारी बोलने मे बोली के.. चंदा दोस्ती मे कोई बड़ा छोटा नही होता.... तो मैने एक मिंट के लिए सोचा ऑर मामी से पूछा.... आप इस लिए मुझ से दोस्ती कर रही हो ना कि मैं किसी को बता ना दूं ये सब क़िस्सा.... तो मामी खामोश हो गई ओर कुछ देर बाद बोली... हां....

मैने मामी को कहा कि अगर मैं आप से दोस्ती करने के बावजूद भी मामू को बता दूँगा जा कर तो फिर...... मैं दरअसल मामी को टेन्षन मे रखना चाहता था... क्योंकि मैं तो इनको चोदने का प्रोग्राम बना चुका था... मगर अब समझ नही आ रही थी कि कैसे बात स्टार्ट करूँ....

मामी ने मेरी बात सुनी ऑर उनके फेस पर फिर से परेशानी ज़ाहिर होने लगी..... मामी ने डरते डरते पूछा.. फिर तुम्हे क्या चाहिए... देखो तुम जो कुछ बोलोगे मैं करूँ गी... बस तुम मेरी ये बात किसी को नही बताना प्लीज़.... तो मैं हंस पड़ा ऑर फिर बोला.. ठीक है मामी मैं किसी को नही बताउन्गा.... मगर मेरी एक शर्त है.....

मामी ने जल्दी से पूछा.. कैसी शर्त... जल्दी बताओ.. तुम जो कुछ बोलोगे वो पूरा हो जाएगा .. जल्दी बता... तो मैने मामी के कान मे आहिस्ता से कुछ कहा जिस को सुन कर मामी एक दम से पीछे हट गई... ऑर मेरी तरफ देखने लगी....

मैने मामी के कान मे आहिस्ता से एक बात कही ओर मामी एक दम से जंप लगा कर पीछे हो गई.. मामी के फेस पर हैरत भी थी ऑर अब उनको गुस्सा आने लगा....

मामी ने मुझे देखते हुए कहा.... आयाआन्न्न,,, तुम्हे अंदाज़ा है कि तुम क्या कह रहे हो ऑर किस को बोल रहे हो.... तुम्हे शरम नही आई मुझसे ऐसी बात करते हुए....

मामी को गुस्से मे देखते हुए मैं कुछ देर खामोश रहा ऑर फिर मेरे दिल ने मुझे आवाज़ दी... मेरा दिल मुझसे बोल रहा था कि अयान देख गान्डु नही बन,,, उसका राज़ तेरे पास है ऑर तू फिर भी उस से दर रहा है.. जो कुछ बोलना है सॉफ सॉफ बोल दे....

मैने ने डरते डरते मामी से कहा.. मामी इस मे क्या ग़लत है... मैं भी तो आप को वोही काम बोल रहा हूँ जो आप अपने भाई के साथ कर रही थी....

मामी परेशान होते हुए......

""मगर मैं तुम्हारे सामने अपने भाई के साथ कैसे कर सकती हूँ"""''''

मैने एक दम से बोला.. मामी शायद आप भूल रही हैं... आप ने अभी कुछ देर पहले भी तो मेरे सामने ही किया था... तो अब जब के मैं बोल रहा हूँ तो आप मेरे सामने क्यू नही कर सकती....

जी हाँ दोस्तो,,, मैने मामी के कान मे उनको चोदने के लिए बात नही की थी... मैने उनके कान मे जस्ट ये कहा था कि मामी आप ने जो कुछ अभी अभी किया है वो मेरे सामने भी करना होगा... ऑर ये बात मैने उनको इसीलिए की थी कि मैं उनके सेक्स सीन की वीडियो बना लूँगा.... मगर मामी नही मान रही थी..

मामी ने मुझे कहा... अयान ये नही हो सकता.... तो मैने मामी से कहा... चलें ठीक है अगर नही हो सकता तो ना सही... कोई बात नही...

फिर मैने मामी से कहा... अच्छा आप मुझे ये बताएँ कि मैने सोना कहाँ है.. अगर आप मेरे लिए जगह अरेंज नही कर सकती तो खेर है कोई बात नही.. मैं मामू के पास जा कर सो जाता हूँ... मेरे मुँह से मामू का नाम सुन कर मामी जल्दी से बोली.... न्णून्न् नही नही.. तुम उनके पास नही जाओगे... मैं करती हूँ कुछ....

वो शायद डर गई थी के मैं उनको ब्लॅक मेल कर रहा हूँ ऑर हक़ीक़त मे था भी ऐसा ही... मैं उनको ब्लॅकमेल ही कर रहा था....

मामी... परेशानी के आलम मे अपने होन्ट काट'ते हुए बोली.... अयान,,, मैं तुम्हारे सामने अपने भाई के साथ नही कर सकती.... इस से बहुत बड़ी प्राब्लम हो जाए गी... तो मैने कहा.. कैसी प्राब्लम.. अभी भी तो आप दोनो के इलावा सिर्फ़ मुझे पता है... बाद मे भी मैं किसी को नही बताउन्गा..

मामी मेरी तरफ देख रही थी.. वो मुझसे बोली... मुझे सोचने का कुछ टाइम दो.. मैं तुम्हे कल बता दूँगी ... इतने मे मामू की कॉल आ गई ऑर उन्होने मेरे बारे मे पूछा तो मामी ने उनको कहा कि अयान की फिकर मत करो.. वो मेरे पास ही सो रहा है.... ऑर मामी मेरी तरफ देखने लगी...

मैने मामी को देखते हुए कहा कि ठीक है मामी आप मुझे कल बता देना...... फिर मामी ने मुझसे बोला कि अयान मुझसे दोस्ती कर लो प्लीज़... तुम जो कहो गे मैं वो करूँ गी..... तो मैने कहा ओके आज से हम दोस्त हैं तो मामी ने मुझसे प्रॉमिस लिया ऑर हम दोनो नीचे आ गये... जब हम नीचे आए तो मैने मामी से पूछा कि खाला कहाँ होंगी.. तो मामी लॅडीस वाले कमरे मे गई तो खाला वहाँ बिस्तर पर लेटी हुई थी जो मामी की अम्मी ने खाला के लिए लगाया हुआ था..उनके साथ ही मामी का बिस्तर था... मामी ने मेरे लिए भी बिस्तर डाल दिया मगर अपने ऑर खाला से कुछ दूर... जब मामी ने मेरा बिस्तर खाला से कुछ दूर डाला तो मैने खाला की तरफ देखा तो खाला भी मेरी तरफ ही देख रही थी... मगर कुछ ना बोली.... मैं अपने बिस्तर पर लेटा ऑर हम सारा दिन के थके हुए थे तो मुझे नींद आ गई.... उस रात कुछ नही हुआ था...

नेक्स्ट डे सुबह जब मैं उठा तो नाश्ता वाघेरा कर के मामू के पास चला गया.. कुछ देर बाद मामी भी वहाँ आ गई... मामी ने डरते डरते मुझ पर एक नज़र डाली ऑर फिर मामू की तरफ देखते हुए बोली... सुनो... यार वो मेरी कुछ चीज़ें घर मे पड़ी हैं... अब शादी अचानक फिक्स हुई है तो मैने वो चीज़े लानी हैं... तो मामू ने कहा कि चलो ठीक है.. घर जा कर चीज़े ले आते हैं.... मामी भी राज़ी हो गई... अभी हम बातें कर ही रहे थे कि मामी की अम्मी आ गई ऑर उन्होने मेरे मामू को कुछ काम बताया.. तो मामू ने मामी की तरफ देख कर कहा.. .यार मैं ये काम कर लेता हूँ.. तुम एक काम करो.. तुम अयान कि साथ बाइक पर चली जाओ.. ऑर वो चीज़े ले आओ.. मामी ने एक गहरी नज़र मुझ पर डाली ऑर कहा कि चलो ठीक है...

मुझे बाइक दे दी गई ऑर फिर मामी खाला को बता कर मेरे पीछे बाइक पर बैठ गई... मामी जैसे ही मेरे पीछे बैठी तो मैने मामी से आहिस्ता से कहा.. मामी क्यू ना आप के भाई को भी ले लिया जाए... मामी ने रिक्वेस्ट भरी नज़रो से मेरी तरफ देखा ऑर फिर बोली.... अयान प्लीज़................. ऑर मैने बाइक स्टार्ट कर दी ऑर घर की तरफ रवाना हो गये.

घर पहुँच कर मामी ने लॉक खोला ऑर हम घर मे एंटर हो गये.. .मैने बाइक अंदर कर के स्टॅंड की ऑर मामी ने मेन डोर अंदर से लॉक कर दिया... मामी अपने रूम मे चली गई ऑर मैं टी.वी लाउंज मे आ कर टी.वी देखने लगा.... कुछ देर बाद मामी टी.वी लाउंज मे आई तो उन्होने ड्रेस चेंज किया हुआ था ऑर दुपट्टा नही लिया हुआ था..... मामी आई ऑर मुझसे बोली... अयान,, मैने तुम से कुछ बात करनी है...

Reply
08-08-2019, 01:48 PM,
#19
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
मैने मामी की तरफ देखा.. जी मामी बोलें.. मैं ऐसा मासूम बन गया था कि जैसे मुझे तो कुछ पता ही नही.. मामी मेरे पास ही सोफे पर बैठ गयी ओर अपनी कमीज़ का दामन अपनी उंगली मे घुमाने लगी... फिर मामी ने कुछ देर की खामोशी के बाद मेरी तरफ देखा ऑर बोली... अयान क्या ऐसा नही हो सकता कि तुम अपनी शर्त चेंज कर लो...... मैने कुछ ना कहा तो मामी उठ कर मेरे पाओं मे बैठ गई ऑर मेरे पाओं पकड़ लिए.... ऑर मुझे बोली.. प्लीज़ अयान प्लीज़.. जो शर्त तुम ने रखी है. मैं ऐसा नही कर सकती.. मेरे भाई का इस मे कोई क़सूर नही है... उसको बहकाने वाली मैं हूँ... उस ने मुझे बहुत पहले ही बोल दिया था कि अगर इस रीलेशन का किसी को पता लग गया तो वो अपने आप को जान से मार दे गा....

अगर मैने अपने भाई से ज़िक्र किया कि तुम्हे सब कुछ पता लग गया है तो वो मर जाएगा अयान... प्लीज़ अयान.. मेरी मजबूरी को समझो... मैं सोफे पर बैठा हुआ था.. ऑर मामी मेरे सामने ज़मीन पर बैठी हुई थी उन्होने अपने हाथ मेरे घुटनो पर रखे हुए थे... मैने मामी की तरफ देखा मगर उनकी तरफ देखते देखते मेरी नज़र कहीं ऑर जा कर टिक गई... मामी के मम्मो का क्लीवेज मुझे सॉफ नज़र आ रहा था..... मेरा दिल कर रहा था कि अभी मामी पर हमला करूँ ऑर उनके मम्मो को खा जाऊ... क्योंकि इतने दिन से सिर्फ़ खाला के साथ रोमॅन्स ही हो रहा था.. मेरी सेक्स की तलब पूरी नही हो रही थी... आज जब मामी को इस हालत मे देखा तो मुझे अपनी सेक्स की तलब पूरी होती हुई नज़र आई.... ..

मैने मामी को उठाया ऑर कहा.. चलो ठीक है.. आप इस बात को भूल जाओ...... तो मामी मेरी तरफ देखने लगी.. तो क्या तुम ने शर्त ख़तम कर दी.... मैने मुस्कुराते हुए कहा.. हाँ शर्त ख़तम हो गई....

मामी मेरी बात सुन कर बहुत खुश हुई ऑर इसी खुशी मे उन्होने मुझे हग कर लिया... उन्होने जैसे ही मुझे हग किया तो उनके मम्मे मेरे सीने से टच होने लगे.... यहाँ उनके मम्मे मेरे सीने से टच हुए ऑर वहाँ मेरे लंड साहिब मामी को सलामी देने की गरज से उठ खड़े हुए... मामी ने मुझे हग किया हुआ था.. ऑर मैने उनकी कमर पर हाथ रखा हुआ था... मेरे दिल मे फिर सेक्स की ख्वाहिश जाग उठी थी..ऑर मेरा लंड मुझे मजबूर कर रहा था कि मैं उसकी प्यास मिटाऊ.....

मैने मामी की कमर पर हाथ रखा हुआ था ऑर आहिस्ता आहिस्ता मैं मामी की कमर पर हाथ फेरने लगा... मैने जैसे ही मामी की कमर पर हाथ फेरा.. मामी के जिस्म मे हल्की सी हरकत हुई.. मगर उन्होने मुझे हग किए रखा... वो कुछ ना बोली... ऑर शायद वो खुद भी यही चाहती कि मुझसे भी चुदवा लें... फिर उनका राज़ भी मेरे सीने मे दफ़न हो जाएगा ......

मैं मामी की कमर पर हाथ फेरने लगा... हाथ फेरते फेरते मैं उनके ब्रा के उपर हाथ ले गया.. क्योंकि मेरी पसंदीदा चीज़ इसी ब्रा मे ही तो छुपी हुई थी... मामी मेरी इन हरकतों का नोटीस ले रही थी.. ऑर उन्होने अपने हाथों की गिरफ़्त मेरी कमर पर कर ली... मेरा लंड शलवार मे झटके मार रहा था ऑर बिल्कुल सीधा खड़ा हो गया था.. मेरा लंड इतना टाइट हो गया था कि अगर अब इस का पानी जब तक ना निकलता इसको सकून नही मिलता.... अपने लंड की सख्ती को महसूस करते हुए मेरे दिमाग़ मे मस्ती छाने लगी.... ऑर मेरा दिल कर रहा था कि बस जल्दी से अपने लंड को सकून दे दूं....

मेरे दिमाग़ पर मस्ती छाने लगी ऑर मैने मामी की कमर पर जल्दी जल्दी अपना हाथ मूव करना स्टार्ट कर दिया... मैने एक दम से अपना हाथ मामी की गान्ड पर रख दिया पीछे से उनकी गान्ड के उपर से कमीज़ उठाने लगा मगर उनकी कमीज़ तो बैठ ने की वजह से उनकी गान्ड के नीचे दबी हुई थी.. मैने कमीज़ को हल्का सा झटका दिया तो मामी ने मेरी इस हरकत को नोट करते हुए अपनी गान्ड थोड़ी सी उठा दी जिसकी वजह से उनकी कमीज़ गान्ड के नीचे से निकल आई........ मैने कमीज़ उपर कर के मामी की गान्ड पर हाथ रख दिया ऑर उनकी गान्ड को हल्का हल्का दबाने लगा....... फिर मेरे दिमाग़ मे एक आइडिया आया ऑर मैने अपना हाथ गान्ड से उपर करते करते मामी की नंगी कमर पर रख दिया.... मामी को मेरा हाथ अपनी नंगी कमर पर फील हुआ तो उनके जिस्म को करेंट लगा.... ऑर उनकी साँसे तेज होने लगी.....

मैने मामी की नंगी कमर पर हाथ फेरना स्टार्ट कर दिया.... ऑर उनकी साँसे तेज होने लगी... साँसे तो मेरी भी तेज हो रही थी ऑर मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरे जिस्म का सारा खून मेरे लंड मे जमा हो गया हो..जिसकी वजह से मुझे अपने लंड पर दर्द महसूस हुआ...... मैं एक हाथ मामी की कमर पर फेर रहा था.. दूसरे हाथ से मैने मामी का फेस उपर किया तो उनकी आँखे लाल हो रही थी....... ऑर साँसे तेज चल रही थी... मामी ने जब मेरी आँखे मे देखा तो शरम की वजह से उन्होने अपनी नज़रें झुका लीं... मुझे उस टाइम कुछ समझ मे नही आ रहा था.. ऑर फिर मैने मामी के लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए.. मैं मामी के लिप्स सक करने लगा.... ऑर अपनी ज़ुबान से उनके मुँह पर दस्तक देने लगा.. मामी ने अपना मुँह खोल दिया ऑर मेरी ज़ुबान को अपने मुँह के अंदर जाने की इजाज़त देने लगी... हम लोग इसी तरह किस्सिंग करने लगे.... ऑर मैं मुसलसल अपना हाथ कभी उनकी कमर ऑर कभी उनकी गान्ड मे फेरने लगा...

तक़रीबन कोई 10 मिंट तक किस करने के बाद मैने मामी के लिप्स से अपने लिप्स हटाए ऑर दोनो उनके मम्मो पर हाथ रख दिए.... मामी ने मेरी तरफ प्यार भरी नज़रो से देखा ओर अपने लिप्स मेरे कान के क़रीब ला कर मेरे कान मे कुछ कहा.... ऑर वहाँ से उठ कर चली गई....

मामी उठ कर चली गई तो मेरे फेस पर एक स्माइल आ गई.. क्योंकि मामी जाते जाते मुझे बोल गई थी कि """मेरे रूम मे आ जाओ ऑर जो कुछ करना है वहाँ पर आ कर करो"""".......

मैं मुस्कुराता हुआ उठा ऑर अपने लंड को हाथ से दबाते हुए मामी के पीछे उनके रूम की तरफ जाने लगा....

मामी अपने रूम मे चली गई.. ऑर मैं अपने लंड को हाथ मे दबाता हुआ मामी के पीछे उनके रूम मे जाने लगा....

जब मैं मामी के रूम मे पहुँचा तो मामी बेड पर बैठी हुई थी ऑर उन्होने एक प्यार भरी नज़र मुझ पर डाली.. फिर शरम के मारे उन्होने अपना सिर झुका लिया...

मैं मामी के सामने जा कर खड़ा हो गया.. हम दोनो मे कुछ बात नही हो रही थी.. मैं बस खामोश खड़ा हुआ था... जब मुझे खड़े हुए एक या दो मिंट गुज़र गये तो मामी ने मेरी तरफ देखा ऑर बोली... अयान, तुम खड़े क्यू हो.. यहाँ बैठ जाओ ना....

मैं उनके पास बेड पर बैठ गया.... मैने भी खामोशी इख्तियार कर ली थी क्योंकि मैं चाहता था कि अब की बार मामी खुद स्टार्ट करे.....

मामी ने मेरी तरफ देखा ऑर बोली... अच्छा तो तुम ये चाहते थे... वो दूसरी शर्त तो वैसे ही रखी थी ना तुम ने.... दरअसल तुम ये काम करना चाहते थे... इसी लिए तुम मुझे ब्लॅक मेल कर रहे थे....

मामी ने जब ब्लॅक मेल लफ्ज़ बोला तो मैने फॉरन ही बोला... मामी मैने आप को ब्लॅक मेल तो नही किया था.... मैने जस्ट आप से कुछ पूछा था... कि आप ऐसा कर सकती हो या नही....

मामी ने फिर बोला कि अच्छा अभी तुम टी.वी लाउन्ज मे क्या कर रहे थे.. तुम्हे शरम नही आई ऐसा करते हुए... मैं तुम्हारी मामी हूँ.... मैं आगे हुआ ऑर मामी का हाथ पकड़ लिया.. ऑर उनका हाथ पकड़ कर उनकी तरफ देखा...

मैने मामी से कहा... मामी अभी जो कुछ भी हुआ वो उस वजह से नही हुआ कि मैं आप को देख चुका हूँ ऑर आप मजबूरी मे मेरे साथ करो... मैं आप को पहले से पसन्द करता था ऑर आप से दोस्ती करना चाहता था...

मामी ने मेरी तरफ देखा ऑर बोली... अगर तुम मुझे पहले से पसंद करते थे तो तुम ने मुझे बताया क्यू नही...

मैं.... बस मुझ मे हिम्मत नही होती थी कि मैं आप से बोलूं... आप मुझे बहुत अच्छी लगती हो मामी... मेरी बातें सुन कर मामी के फेस पे स्माइल आ गई... ऑर उन्होने अपना दूसरा हाथ भी मेरे हाथ के उपर रख दिया... ऑर मुस्कुरा कर कहा... अब तो हम दोस्त हैं... किसी भी चीज़ की ज़रूरत हो तो मुझे बता देना...

मैने खुश होते हुए मामी से कहा कि ठीक है मैं आपसे सब कुछ ले लूँ गा जो भी मुझे चाहिए होगा...

फिर कुछ देर खामोश रहने के बाद मैने मामी से कहा... अब तो हमारी दोस्ती पक्की हो गई है ना...

मामी ने कहा.... हां हन बिल्कुल पक्की समझो....

मैने मुस्कुरा कर कहा... मामी मैं आपको किस कर सकता हूँ तो मामी ने कहा कि “अभी तक जो कर रहे थे. मुझसे पूछ के कर रही थे क्या.... तुम्हे मुझसे पूछने की ज़रूरत नही है..... तुम बिना पूछे भी कर सकते हो...

मैं मामी के क़रीब हो गया ऑर उनके गाल पर किस कर दी तो मामी ने मेरी तरफ हैरत से देखा ऑर कहा... कभी किसी लड़की को किस किया है पहले...???

मैने झूठ बोलते हुए कहा.... नही अभी तक कोई मिली ही नही.. ज़ाहिर है मैने उनको खाला के बारे मे तो बताना नही था...

मामी ने फिर पूछा कि अच्छा कभी किसी लड़की को बिना कपड़ों के देखा है कभी...??? मैने फॉरन कहा कि हां जी देखा है....

मामी ने हैरान होते हुए पूछा किस को तो मैने फॉरन ही कहा कि... आप को देखा है रात को... मेरी बात सुन कर मामी शरमा गई... मैने उनको प्यार से देखा ऑर उनके क़रीब हो गया... मामी ने जब मुझे अपने क़रीब होते हुए देखा तो मुस्कुरा दी ऑर आगे बढ़ कर खुद ही मेरे लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए... ऑर वो मेरे लिप्स को सक करने लगी.... मैं भी उनका साथ देने लगा.. अब जो कुछ भी कर रही थी. मामी खुद ही कर रही थी..

मेरा लंड मेरी शलवार मे एक बार फिर से खड़ा होने लगा.. ऑर मैं अपने हाथों से अपना लंड दबाने लगा... किस्सिंग करते करते हम बेड पर लेट गये.. मैं नीचे था ऑर मामी मेरे उपर लेट गई... मामी का हाफ जिस्म मेरे उपर था ऑर हाफ बेड पर था....

मामी मेरे लिप्स पर किस्सिंग कर रही थी ऑर अपनी ज़ुबान मेरे मुँह के अंदर मूव कर रही थी... मैने भी मामी की कमर पर हाथ रख दिया ऑर उनकी कमर सहलाने लगा... जिस से मामी को भी गर्मी चढ़ने लगी ऑर वो जल्दी जल्दी किस्सिंग करने लगी... मैने पीछे से मामी की कमीज़ मे हाथ डाला ऑर उनकी नंगी कमर पर हाथ मूव करने लगा... मेरा लंड इतना टाइट हो गया था कि उस मे दर्द शुरू हो गया था... मामी के बड़े बड़े मम्मे मेरे सीने से रगड़ खा रहे थे जिसकी वजह से मेरे अंदर की शहवात मे मज़ीद इज़ाफ़ा होता जा रहा था... मेरा दिल कर रहा था कि बस मैं मामी के जिस्म से अपने जिस्म की प्यास बुझा दूं जल्दी से..

मैने मामी की कमीज़ को उपर करना चाहा मगर मुझसे नही हो सकी... मेरी इस हरकत को देखता हुए मामी उठ कर बैठ गई ऑर खुद ही अपनी कमीज़ उतारने लगी.

मैने मामी की कमीज़ उपर करनी चाही मगर कमीज़ मामी के जिस्म की नीचे दबी हुई थी.. जब मामी ने देखा कि मैं उनकी कमीज़ उतारना चाहता हूँ तो वो खुद ही उठ कर बैठ गई ऑर अपनी कमीज़ उतारने लगी..... जब मामी ने अपनी कमीज़ उतार दी तो मैं देख कर हैरान रह गया... मैं बस टिकतिकी बाँधे एक ही चीज़ देख रहा था ओर वो थे मामी के बड़े बड़े मम्मे... मैं मामी के मम्मो को गौर से देख रहा था... जो कि ब्लॅक ब्रेज़ियर मे छुपे हुए थे... मामी के मम्मो का बस नही चल रहा था कि वो ब्रेज़ियर को फाड़ कर बाहर निकल जाएँ... मैं गौर से मामी के मम्मो को देख रहा था..

मामी ने मेरी नज़रो की मंज़िल को परख लिया ऑर बोली... ऐसे क्या देख रहे हो.... मैने मामी के मम्मो को देखते हुए कहा.. मामी आप के ... ये बहुत प्यारे हैं.. मामी ने कहा कि "ये क्या"??? मैने उनको हाथ लगा कर कहा के ये... तो उन्होने कहा के तुम्हे इनका नाम नही आता क्या... मैं मासूम बन कर बोला... नही... मैं तो पहली बार देख रहा हूँ..... मामी ने कहा के इनको "बूब्स" कहते हैं तो मैं ने कहा कि मामी आप के बूब्स बहुत प्यारे हैं...

मामी ने कहा कि इट्स नोट फेयर अयान,, तुम ने मेरी तो कमीज़ उतरवा दी मगर खुद अभी तक कपड़े पहने हुए हैं... ये सुन कर मैं उठा ऑर अपनी कमीज़ उतारने लगा तो मामी ने मेरा हाथ रोक दिया ऑर अपना हाथ आगे कर खुद मेरी कमीज़ के बटन खोलने लगी... जब सब बटन खुल गये तो उन्होने खुद ही मेरी कमीज़ उतार दी.. मैने नीचे बनियान पहनी हुई थी... तो मामी ने वो भी उतार दी..

मामी मेरे सीने पर हल्के हल्के बालों पर हाथ फेरते हुए बोली... ह्म्म्म्म तुम भी जवानी की सरहद मे दाखिल हो गये हो...

मैने मामी की तरफ देखा ऑर उनके लिप्स पर अपने लिप्स रख दिए... मामी ने फिर मुझे उसी तरफ लिटा दिया ऑर मुझे किस्सिंग करने लगी.. वो किस्सिंग मे बहुत एक्सपर्ट थी ऑर होना भी चाहिए था आख़िर सेक्स मे इतना एक्षपीरियँस जो था उनका... मामी मुझे किस्सिंग भी करती जा रही थी... ऑर अपने मम्मे मेरे सीने से भी रगड़ रही थी... मुझे मामी के मम्मो की रगड़ अपने सीने पर बहुत मज़ा दे रही थी ऑर किस्सिंग करते करते मेरी साँसे तेज होती जा रही... मैं मामी की कमर पर हाथ फेरने लगा ऑर उनके ब्रा को छेड़ने लगा... मैने कोशिश कर के उनकी ब्रा को खोल दिया ऑर उन्होने मेरे सीने पर लेटे लेटे अपनी ब्रा उतार दी...... मगर मेरे सीने से अपने मम्मे नही उठाए ऑर ब्रा को खेंच कर उतार दिया... मैं अभी तक मामी के मम्मे नही देख पाया था... मामी किस करते करते मेरे सीने से नीचे उतर गई ऑर बेड पर सीधी लेट गई.. उस वक़्त जब मैने उनके मम्मे देखे तो मेरी आँखें फटी की फटी रह गई..
Reply
08-08-2019, 01:48 PM,
#20
RE: Muslim Sex Stories खाला के संग चुदाई
मैं मामी के मम्मो को बहुत गौर से देख रहा था.. उनके गोरे गोरे मम्मे ऑर उन मम्मो पर लाइट ब्राउन कलर की घुंडी बहुत खूबसूरत लग रही थी.. मैने मामी के मम्मे देख कर कहा कि "तभी तो मैं कहूँ कि आप का भाई आप से इतना प्यार क्यू करता है"..... मामी ने मुस्कुराते हुए मुझे कहा कि अब तो तुम भी मुझे प्यार कर रहे हो.. ऑर मेरा सिर पकड़ कर मेरे लिप्स अपने लिप्स पर रख दिए ऑर मेरे लिप्स सक करने लगी... मैने अपना एक हाथ मामी क एक मम्मे पर रखा ऑर हैरान रह गया.... मामी के मम्मे बिल्कुल रूई की तरह नरम थे.... मुझे बहुत मज़ा आने लगा ऑर मैने मामी के लिप्स पर से अपने लिप्स हटा कर उनके मम्मे पर रख दिए..

मैने जैसे ही मामी के मम्मों पर अपने लिप्स रखे .. मामी के मुँह से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ निकली.... मामी की सिसकारी सुन कर मैने मामी की तरफ देखा ऑर पूछा.. क्या हुआ...... मामी ने खुमार भरी नज़रो से मुझे देखा ऑर कहा कि कुछ नही... तुम करो ऑर खा जाओ उनको.... मैने पॉर्न मूवीस मे देखा था कि कैसे लड़का अपने मुँह मे लड़की के मम्मे लेता है ऑर सक करता है तो मैने उसी तरह करने की कोशिश की मगर कुछ एक्सपरशियेन्स तो था नही मुझे मगर मैं फिर भी उनके बूब्स को सक कर रहा था....

मामी के मुँह से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ आआआआअहह की आवाज़ें निकल रही थी.... मामी की इन आवाज़ों को सुन कर मेरे जिस्म मे जोश तेज़ी से दौड़ने लगा... ऑर अब मैं पागलो की तरह मामी के मम्मो को सक करने लगा.....

मामी मेरे फेस को अपने मम्मो पर दबा रही थी ऑर मेरे जिस्म के नीचे पानी से निकली हुई मछली की तरह तड़प रही थी... उसकी एक वजह ये भी थी कि मुझे कुछ करना तो आता नही था... ऑर मैं वहशियों की तरह मामी के जिस्म को खा रहा था...ऑर शायद मेरी इसी वहशत की वजह से मामी भी हॉट हो रही थी...

मैने पॉर्न मूवीस की तरह मामी के बूब्स को सक करते हुए उनके पेट से होता हुआ उनकी चूत पर अपना हाथ रख दिया..... जैसे ही मैने उनकी चूत पर हाथ रखा उनके जिस्म को एक ज़बरदस्त झटका लगा ऑर उउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ ऑर उन्होने मेरा हाथ अपनी चूत पर दबा दिया....ऑर मेरे हाथ को अपनी चूत पर रगड़ने लगी.... इधर मेरा लंड जो मामी के पेट से टच हो रहा था बहुत गरम हालत मे झटके मार रहा था... मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे अभी मेरा लंड फट जाएगा ..... मैने जो हाथ मामी की चूत पर रखा हुआ था वो चूत से हटा कर अपने लंड पर रखा ऑर उंसको दबाने लगा.... मामी ने एक बार फिर से मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चूत मे रख लिया, उनको शायद मेरी प्राब्लम का अहसास हो गया था इसीलिए उन्होने अपने हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया ऑर अपने हाथ को मेरे लंड पर आगे पीछे करने लगी...... जब मेरे लंड ने मामी के हाथ का नरम अहसास महसूस किया तो वो गर्मी के मारे भड़क उठा ऑर मेरे दिमाग़ से ले कर पाओं के नाख़ून तक गर्मी की एक लहर दौड़ गई...

मेरा लंड जो मामी के पेट से टच हो रहा था.. मैने गर्मी की वजह से मामी के पेट मे घस्से मारने शुरू कर दिए.. वो मेरी हालत को समझ गई थी... उन्होने मुझे अपने उपर से उठा कर बेड पर सीधा लिटा दिया... जब उन्होने मेरे फेस की तरफ देखा तो मेरी आँखे ऑर फेस लाल हो रहे थे जैसे जिस्म का सारा खून मेरे फेस पर आ गया हो... मामी ने मुझे रिलॅक्स करने की गार्ज से मेरे बालों मे अपनी उंगली मूव करना स्टार्ट कर दी... वो मुझे छोटा बच्चा समझ रही थी जो ज़रूरत से ज़्यादा हॉट हो गया था ऑर हक़ीक़त मे हुआ भी ऐसा ही था... मेरी साँसे तेज थी ऑर जिस्म आग की तरह तप रहा था....

मामी ने कुछ देर तक तो मेरे बालों मे उंगली मूव की... ऑर मैं मामी के मम्मो को अपने हाथों से मसल रहा था.....

जब मेरी हालत कुछ सम्भल गई तो मामी ने मेरे लिप्स पर अपने लिप्स रखे ऑर सॉफ्ट किस्सिंग करने लगी.... किस्सिंग करते करते वो मेरी आँखे, नाक. और वो मेरे फुल फेस पर सॉफ्ट किस्सिंग करने लगी...

मुझे मामी की वो सॉफ्ट किस्सिंग बहुत मज़ा दे रही थी ऑर मज़े की शिद्दत से मैने अपनी आँखे बंद कर ली.... फेस पर किस्सिंग करने के बाद वो मेरी नेक पर अपनी ज़ुबान मूव करने लगी.... मेरा लंड तो पहले से ही टाइट था. झटके मारने लगा... मामी मेरे लंड को झटके मारते हुए देख रही थी... उन्होने मेरे लंड को टाइट पकड़ लिया ऑर दबाने लगी... जिस से मेरे लंड की सख्ती कुछ कम होने लगी... वो शायद मेरे लंड को सुलाना चाहती थी कि कहीं मैं डिसचार्ज ही ना हो जाऊ...

वो मेरे सीने पर अपनी ज़ुबान मूव करने लगी ऑर मेरी चेस्ट के निपल पर अपनी ज़ुबान राउंड मे घुमाने लगी जिस से मुझ पर मस्ती छाने लगी मगर मेरा लंड तो मामी ने टाइट पकड़ा हुआ था जिस की वजह से मेरा लंड झटके नही मार सका....

चेस्ट पर ज़ुबान मूव करते करते मामी ने मेरी शलवार का नाडा खोल दिया ऑर मेरी शलवार मेरे लंड के उपर से हटा कर मेरा लंड पकड़ लिया ऑर अपनी ज़ुबान मेरी चेस्ट से आहिस्ता आहिस्ता नीचे ले जाने लगी..... मेरे मुँह से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स सिसकियाँ निकलने लगी ऑर जिस्म को कुछ कुछ होने लगा...... मामी इसी तरह ज़ुबान को मेरे पेट पर मूव करने लगी....... मेरे मुँह से सिसकियाँ निकलती जा रही थी. मैने अपनी सिसकियों को रोकने की बहुत कोशिश की मगर नही रोक पा रहा था..

मामी ने मेरी शलवार नीचे करनी चाही जो मेरी गान्ड के नीचे दबी हुई थी... मामी ने मेरी गान्ड पर हल्का सा हाथ मारा जैसे वो मुझे बोल रही हो कि अपनी गान्ड उपर करो... मैने उनका इशारा समझ कर अपनी गान्ड को थोड़ा उपर उठाया.... तो उन्होने उठ कर मेरी शलवार मेरी लेग्स से निकाल कर बेड की साइड पर रख दी...

मामी की नज़र जेसी ही मेरे लंड पर पड़ी उनका मुँह हैरत से खुला रह गया... वो मेरे लंड को गौर से देख रही थी... कभी मेरे लंड को देखती कभी मेरी बॉडी को ऑर कभी मेरे फेस पर देखती.... फिर वो बोली.... अयान,, इतनी सी उमर मे तुम्हारा लंड इतना बड़ा है.. इतना तो आदमियों का होता है.... अयान अगर मुझे पता होता कि तुम्हारे पास इतना बड़ा लंड है तो मैं कब का इस पर क़ब्ज़ा कर चुकी होती.... मैने कहा कि अब भी आप के सामने ही है.. कर लो क़ब्ज़ा... ऑर मैने अपने लंड को झटके देने शुरू कर दिए.... मामी बोली.... हाँ अब तो मैं इसको नही छोड़ूँगी ऐसे.... मैं बोला आप के लिए ही है ये.... आप इसको प्यार करो ना... मामी ने मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखा ऑर मेरे लंड की कॅप पर अपने लिप्स रख कर उसको किस किया ऑर मेरे लंड से एक 2 क़तरे निकल रहे थे उस पर अपनी ज़ुबान मार कर उसको निगल लिया... फिर मामी मेरे लंड पर अपनी ज़ुबान फेरने लगी .....

मैं तो मज़े से पागल हो गया था... मैने अपनी आँखे बंद कर ली ऑर मामी के सिर की बॅक साइड पर हाथ रख कर उनका फेस अपने लंड पर दबाने लगा... मामी ने अपनी ज़ुबान मेरे लंड की कॅप से ले कर एंड तक फेरी तो मज़े की शिद्दत से मेरे मुँह से उूुउउफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ आआआआआआआआआअहह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की सिसकारियाँ निकल्ने लगी....

मामी मेरी सिसकारियों को सुन कर बहुत हॉट हो गई ऑर मेरे लंड को अपने मुँह मे अंदर बाहर करने लगी.... मेरी बर्दाश्त की हद ख़तम होने लगी.... आख़िर मैं अभी छोटा था ऑर वर्जिन था.... कब तक एक ओरत की ज़ुबान को अपने लंड पर बर्दाश्त कर पाता.... मेरा लंड मामी के मुँह के अंदर था....

मैने दोनो हाथों से मामी का फेस अपने लंड पर दबाया..... ऑर आआआआअहह आआआअहह उफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ म्म्म्मफमाआआआआमम्म्मममममममममिईीईईईईईईईईई की आवाज़ निकालता हुआ उनके मुँह मे ही डिसचार्ज हो गया.

मैं एक वर्जिन लड़का था.. जो मामी के मुँह की गरमाइश को ज़्यादा देर बर्दाश्त ना कर सका ऑर मामी के मुँह मे ही डिसचार्ज हो गया....

मैं जब मामी के मुँह मे अपना पानी छोड़ रहा था तो मामी ने अपना मुँह मेरे लंड पर से हटाना चाहा मगर मैने मामी के सिर को ज़ोर से अपने लंड मे दबाया हुआ था जिसकी वजह से मामी अपना मुँह नही हटा सकी ऑर मेरा लंड झटके मारता हुआ मामी के मुँह के अंदर ही पानी छोड़ ने लगा.....

जब मेरे लंड मे से सारा पानी निकल गया तो मैने मामी का सिर छोड़ दिया मगर मामी ने मेरे लंड अपने मुँह से निकाला नही ऑर फिर से मेरा लंड अपने मुँह मे अंदर बाहर करना शुरू कर दिया जब तक मेरे लंड का लास्ट क़तरा तक ना निकल गया.... जब मेरा लंड पूरी तरह खाली हो गया तो मैने अपनी आँखे बंद कर ली...
ऑर मामी ने मेरे लंड से मुँह हटा कर मेरे लंड का सारा पानी ज़मीन पर थूक दिया...

मैने मामी की तरफ हैरानी से देखा क्योंकि मैं तो समझा था कि मामी शयड मेरे लंड का सारा पानी पी चुकी है मगर मामी ने सारा पानी अपने मुँह मे जमा किया हुआ था.. मैने उनकी तरफ देखा ऑर मामी से पूछा कि थूक क्यू दिया..... मामी ने मेरी तरफ देखा ऑर हल्के गुस्से से बोली.... तुम ने मेरे मुँह मे पानी क्यू छोड़ा , तुम मुझे बता नही सकते थे क्या... ऑर उपर से बोल रहे हो कि थूक क्यू दिया....
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Porn Kahani हलवाई की दो बीवियाँ और नौकर sexstories 136 36,481 08-23-2019, 12:47 PM
Last Post: sexstories
  चूतो का समुंदर sexstories 659 859,508 08-21-2019, 09:39 PM
Last Post: girdhart
Star Adult Kahani कैसे भड़की मेरे जिस्म की प्यास sexstories 171 60,275 08-21-2019, 07:31 PM
Last Post: sexstories
Star Desi Sex Kahani दिल दोस्ती और दारू sexstories 155 34,791 08-18-2019, 02:01 PM
Last Post: sexstories
Star Parivaar Mai Chudai घर के रसीले आम मेरे नाम sexstories 46 81,409 08-16-2019, 11:19 AM
Last Post: sexstories
Star Hindi Porn Story जुली को मिल गई मूली sexstories 139 34,557 08-14-2019, 03:03 PM
Last Post: sexstories
Star Maa Bete ki Vasna मेरा बेटा मेरा यार sexstories 45 72,672 08-13-2019, 11:36 AM
Last Post: sexstories
Thumbs Up Incest Kahani माँ बेटी की मज़बूरी sexstories 15 27,017 08-13-2019, 11:23 AM
Last Post: sexstories
  Indian Porn Kahani वक्त ने बदले रिश्ते sexstories 225 114,493 08-12-2019, 01:27 PM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna तूने मेरे जाना,कभी नही जाना sexstories 30 47,202 08-08-2019, 03:51 PM
Last Post: Maazahmad54

Forum Jump:


Users browsing this thread: 8 Guest(s)