Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
09-11-2019, 01:19 PM,
#1
Star  Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
बॉलीवुड की मस्त अभिनेत्रियों की सेक्सी कहानियाँ


मित्रो एक और फेंटसी थरड शुरू कर रहा हूँ जो आपको ज़रूर पसंद आएगी मित्रो इस थरड मे आप सब भी अपनी अपनी फेंटसी पोस्ट करने के आमंत्रित ( इन्वाइट ) हैं
Reply
09-11-2019, 01:19 PM,
#2
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
सोनम कपूर का दीवाना


‘माफ कीजिए, क्या आप मेरे साथ आएँगी?’ एयरपोर्ट पर अपने बाप अनिल कपूर के साथ लाइन में खड़ी हुई सोनम कपूर से सुरक्षाकर्मी ने पूछा।

औसत कदकाठी वाला सुरक्षाकर्मी बहुत ज्यादा आकर्षक नहीं था, उसने सुरक्षाकर्मियों वाली एक विशेष वर्दी पहनी हुई थी लेकिन उसके साथ उसकी बंदूक, हथकड़ी, यहाँ तक कि नाइट स्टिक भी नहीं थी।
पर सोनम कपूर के पास उसे दिखाने के लिए बहुत कुछ था। उसने कैजुअल ड्रैस में नीची कमर वाली नीली जींस और कसी हुई गुलाबी रंग की टीशर्ट पहनी हुई थी जिसमें से उसका चिकना पेट और आकर्षक मांसल बूब्स साफ दिख रहे थे।

उसके बाल छोटे कटे हुए एवं बेहतरीन तरीके से उसकी नई रॉक स्टाइल के अनुसार बने हुए थे। वह अपना पूरा वजन अपने बायें नितम्ब पर डाले हुए मुड़ कर खड़ी हुई थी।
‘क्या कुछ गलत है, अम्म राज?’ उसने उसके आई डी कार्ड को देखते हुए कहा।

‘यह हमारी जाँच का एक हिस्सा है, आपको तकलीफ के लिए खेद है लेकिन मुझे यह करना होता है।’ राज ने जबाब दिया।

सोनम कपूर ने उसे देखा और लाइन से निकल कर उसके पीछे चली आई।
अनिल कपूर भी अकेले इंतजार करने के बजाए सोनम कपूर के साथ आ गया ।
राज ने उसे जाँच खत्म होने तक उसी स्थान पर इंतजार करने को कहा।
सोनम कपूर ने बैग जाँच के लिए टेबल पर रख दिया और सुरक्षाकर्मी उसकी जाँच करने लगा।

‘आप जानती हैं, मैं आपका बहुत बड़ा फैन हूँ!’ राज ने कहा।

सोनम कपूर प्रत्युत्तर में केवल मुस्करा दी लेकिन वह काफी बेचैन लग रही थी।
वह बैग की जाँच करते हुए बैग के निचले हिस्से में पहुँचा जहाँ उसे उसके अंडरवियर मिले, उसमें दो ब्रा और कच्छियाँ थी।

राज ने अपनी उंगलियों के बीच लेकर उन्हें मसला और उसके संवेदनशील अंगों को छूने के बारे में सोचने लगा।

‘वास्तव में मुझे आपकी जांच के लिये नहीं कहा गया था लेकिन मैंने आपसे मिलने का यह अवसर छोड़ना नहीं चाहा।’
यह क्या बकवास है? मुझे यकीन ही नहीं हो रहा!’ सोनम कपूर ने कहा।

राज चौंका, उसे इस तरह के रिएक्शन की उम्मीद नहीं थी!
और थोड़ी देर के लिए सन्नाटा छा गया।
इससे पहले कि वह कुछ और कहती, राज ने उसके बैग से कुछ मिलने की जैसी प्रतिकिया दी।

राज ने एक कैंची सोनम कपूर को दिखाते हुए कहा- क्या यह तुम्हारी है? कृपया मेरे साथ आइये।
राज को मौका मिल गया था, उसने सोनम कपूर की कलाई को पकड़ा और उसे खींचते हुए पास ही के जाँच कक्ष में ले गया और दरवाजे को बन्द कर लिया।

वहाँ एक भी खिड़की नहीं थी पूरी प्राइवेसी थी।
‘मुझे आपकी गहनता से जाँच करनी पड़ेगी। आप कृपया अपने जूते, पैन्ट और शर्ट खोलिए।’

सोनम कपूर के लिए यह सब अचम्भित कर देने वाला था, ‘एक्स्क्यूज मी! यह क्या बकवास है?’ सोनम कपूर ने कहा।

‘मुझे खेद है मिस, लेकिन मुझे अपने देश की आंतरिक और बाहरी दुश्मनों से रक्षा के लिए यह करना पड़ेगा।’ राज ने अपने जीवन में इस आनन्ददायी क्षण की कभी उम्मीद नहीं की थी।
‘ठीक है!’ उसने अपने सेंडल उतार फेंके और अपने सिर के ऊपर से शर्ट खोलने लगी।
राज को लगा जैसे वह स्वर्ग के सपने देख रहा हो।
सोनम कपूर उसके सामने कपड़े खोल रही थी। जब वह अपनी बाहों को उठा रही थी तो उसके कसे हुए एब्स और अधिक खिंच रहे थे और जल्द ही राज ने अपनी निगाहें काली ब्रा पर जमा दी जो उसके मांसल चुचों को सम्भाले हुए थी।

उसने अपनी शर्ट को उस छोटे से कमरे में रखी हुई मेटल की एक टेबल पर फेंक दिया और अपनी जींस का बटन खोलने लगी।

जैसे ही उसने जींस को अपने घुटनों से नीचे गिराया और पैरों से अलग किया, सुरक्षाकर्मी राज एकटक उसे देखने लगा।

उसके नितम्बों के पास में जहां से जांघों की हड्डियों को फैलाव हो रहा था छोटे गड्ढे थे।
सोनम कपूर कुछ पल के लिए राज की तरफ देखते हुए खड़ी रही।

राज उसके खूबसूरत बदन को निहारते हुए बोला- बहुत ही खूबसूरत लग रही हो !

राज ने उसे मेज पर झुका कर खड़ी करते हुए उसका हाथ टेबल पर रख दिया।

वह उसके पीछे घूमा और अब उसके नितम्बों को गहराई से देखा। वह अपने हाथों को उसकी ब्रा के पास चलाते हुए उसके वक्षों के इर्दगिर्द घुमाने लगा और उसके बूब्स को महसूस करने लगा।
यह जाहिर सी बात थी कि सोनम कपूर अब वास्तव में मदहोश होने लगी थी।

‘तस्करी रोकने के लिए हमें इस तरह की जाँच करनी होती है!’ राज ने जाँच के आशय को समझाते हुए कहा।
राज ने एक गहरी सांस ली और एक मादक बॉडी स्प्रे की गन्ध को महसूस किया। मुझे कुछ छिपी हुई वस्तुओं के बारे में और अधिक जाँच करने की आवश्यकता है राज ने कहा और उसकी ब्रा को खोलते हुए उसके कंधों से उतार दिया।
‘हे भगवान!’ सोनम कपूर बुदबुदाई।

उसकी आँखों के सामने एक अजनबी उसकी ब्रा के अन्दर जाँच कर रहा है।

इस बात से संतुष्ट हो जाने के बाद कि ब्रा और वक्षस्थल में कुछ भी छुपाया नहीं गया है, वह नीचे झुका और उसकी गोल नितंबों की जाँच करने लगा।

उसकी पैन्टी के बगलों में अपना अंगूठा फंसाकर राज धीरे से उसे टखनों तक नीचे करते हुए इस प्रत्येक पल का आनन्द लेने लगा।
‘शायद सोनम कपूर की चूत शेव की हुई है?’ राज ने मन में सोचा और उसकी पैंट में कठोरता आने लगी वह लालायित होने लगा, उसने सोनम कपूर को घूमने के लिये कहा।
सोनम कपूर की चूत हल्की सी गुलाबी थी और बहुत ज्यादा कसी हुई लग रही थी।

इस नजारे को देखने के लिए दुनिया भर में लोग एक दूसरे को मार डालेंगे, जो उसके सामने था।
राज ने आगे बढ़ कर धीरे से अपनी जीभ को सोनम कपूर की चूत के होठों पर रगड़ा एक आननिदत करने वाला स्वाद उसने महसूस किया।
‘आहहह… यह क्या कर रहे हो?’ सोनम कपूर ने झटके से अपनी पैंटी को चढ़ाया और दरवाजा खोलने के लिए लपकी।

राज ने तेजी से उसका पीछा किया लेकिन जब तक वह उसे रोक पाता वह दरवाजे तक पहुँच गई थी।
सोनम कपूर ने हत्थे को धकेला लेकिन वह दरवाजा नहीं खोल पाई।

सोनम कपूर ने महसूस किया कि दरवाजा अन्दर से बन्द है, वह चिल्लाने लगी- हैल्प! कोई मुझे इस परेशानी से बाहर निकालो।
चेहरे पर आनन्द के भाव लिए हुए राज उसके पीछे आया। यह कमरा साऊँड प्रूफ़ है। हम यहाँ संभावित आतंकियों से बात करते हैं। जब तक मैं आपको जाने नहीं दूंगा आप यहाँ से बाहर नहीं जा सकती। क्या तुम यहां से बाहर जाना चाहती हो?
‘बिल्कुल!’ सोनम कपूर ने जबाब दिया।
Reply
09-11-2019, 01:19 PM,
#3
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
‘ठीक है, फिर शांत हो जाओ। मैं तुम्हे एक शर्त पर बाहर जाने दूंगा। मैं अपने तरीके से तुम्हे चोदना चाहता हूँ। जवाब देने से पहले सोच लेना तुम्हारी माँ अभी तक बाहर है। यदि मैं तुम्हें इस स्थिति में ले गया तो सोचो उन पर क्या गुजरेगी। मैं तुम्हें वापस भारत भेज सकता हूँ और इससे भी बुरा कर सकता हूँ?’
सोनम कपूर के चेहरे पर हार साफ झलकने लगी और उसने एक आह भरी।
‘अच्छी बात है!’ अब वापस टेबल के पास जाकर अपनी पेंटी उतार दो। राज ने उसकी पेंटी को उतार दिया और धीरे से उसे ऊपर उठाकर टेबल पर खड़ा कर दिया।
जैसे ही उसकी गांड ने ठण्डी टेबल को छुआ उसकी जांघे सिकुड़ गई। अब में जो कहता वह करने का ध्यान रखो। मैं तुम्हे किस करने जा रहा हूँ ऐसा कहकर राज ने अपने होठ सोनम कपूर के होठों में फंसा दिए।
स्टाबेरी स्वाद का अनुभव करते हुए राज अपने हाथों से सोनम कपूर के मांसल एवं आकर्षक चुचों को मसलते और दबाते हुए टटोलने लगा। उसने अपनी जीभ को सोनम कपूर के मुँह में धकेल दिया और उसकी जीभ को चूसने लगा। अब दोनों एक दूसरे से लिपटने लगे।
राज ने महसूस किया कि उसका लण्ड कठोर और बड़ा हो रहा है। ऐसा ही कुछ सोनम कपूर ने भी महसूस किया लेकिन उसने इस पर ध्यान नहीं दिया।

फिर राज ने उसके छोटे से निप्पल्स को पकड़ा और उन्हे अपनी उंगलियों के बीच कड़ा होते महसूस किया। सोनम कपूर के लिए शायद यह सब आनन्ददायक नहीं था लेकिन उसका शरीर अवश्य कष्ट पा रहा था। राज ने सोनम कपूर के होठों को चूमना बन्द किया और अपनी जीभ से सोनम कपूर की लम्बी गर्दन को चूमने लगा।
चूमते हुए वह उसके दांए बूब्स की तरफ बढा और चूमने लगा- आहहह! तुम्हारे चूचुक बहुत ही शानदार हैं।
राज उसके चूचुकों को चूसते और काटते हुए बुदबुदाया।

अब वह उसके बांए स्तन को चूमने लगा।
राज अपने हाथों से सोनम कपूर की खूबसूरत चिकनी जांघ का सहला रहा था।

जब मैं तुम्हारे चूचकों को चूस रहा हूँ तो क्या तुम्हें मजा आ रहा है? राज ने पूछा।

‘नहीं, बिल्कुल नहीं!’ सोनम कपूर ने दुबारा आत्मविश्वास के साथ जबाब दिया।

हाँ, तुम मेरे कार्य से आनन्दित हो! स्वीकार कर लो!’ राज ने प्रतिवाद करते हुए कहा और सोनम कपूर के चेहरे पर अचानक आए आत्मविश्वास को देखने लगा।
‘असल में तुम्हें मजा आता है जब मैं तुम्हारे चुचों को चूमता और चूसता हूँ।’ राज ने कहा।

‘जब तुम मेरे चूचुक चूसते हो तो मुझे अच्छा लगता है!’ सोनम कपूर ने अपनी उत्तेजना को दबाते हुए दबी हुई आवाज में कहा।

राज के चेहरे पर अब एक विजयी मुस्कान थी और वह सोनम कपूर के सुडौल चिकने पेट को चूमने लगा।
राज को प्रोत्साहित करने के लिए उसने अपने आप को ढीला छोड़ दिया और पीठ के सहारे मेज पर लेट गई।

राज घुटनों पर बैठ गया और मन में यह सोचते हुए कि जिस खूबसूरत बदन की वह इतनी दिनों से अभिलाषा कर रहा था वो अब ठीक उसके सामने नग्न है।
राज ने उसकी जांघ को मसलना और दबाना शुरू किया। सोनम कपूर की जांघों की मांसपेशियाँ उसके हाथों में कठोर हो रही थी।

अपने घुटनों पर खड़े होते हुए राज ने सोनम कपूर के होठों और जीभ को चूमना शुरू किया।

सोनम कपूर ने उसके पैरों को अन्दर आते हुए महसूस किया और राज ने अपनी मंजिल को सामने पाया, उसने उसकी कोमल जांघों के अन्दर अपना मुँह लगाया और मीठी सी खुशबू को महसूस किया।
सोनम कपूर का बदन अब इस अजनबी के सामने बहुत अधिक प्रतिक्रिया दे रहा था लेकिन यह अभी शुरूआत थी। राज अपनी जीभ से सोनम कपूर के चूत के बाहरी होठों को चाट रहा था। राज के गर्माते होठों से भगनासा को चाटने से सोनम कपूर की चूत सा चिपचिपा पानी छोड़ने लगी।

सोनम कपूर अपना प्रतिरोध छोड़कर अब अपनी प्रतिक्रिया दे रही है, यह देख कर राज के चेहरे पर मुस्कुराहट तैर रही थी।
अब राज की जीभ सोनम कपूर की चूत के होठों को अलग करती हुई मीठे अमृत का अनुभव करती हुई अन्दर चली गई।

राज अपनी जीभ से चूत की दीवारों के अन्दर घूमते हुए नए आनन्द की छानबीन करने लगी। राज द्वारा चूत के दाने को चाटने से सोनम कपूर आनन्द की लहरों में डोलने लगी और इस आनन्द की अधिकता की वजह से वह अपनी गहरी सांस को नहीं रोक पाई।
राज ने अपनी नजरें उपर उठाईं और देखा कि सोनम कपूर की आँखें आनन्द के कारण बन्द हैं और चेहरा यौनेत्त्जना के कारण कसा हुआ। राज हर संवेदना को महसूस करते हुए हर अनुभव को याद रखते हुए सोनम कपूर की चूत के हर हिस्से को चूमता रहा।

राज को लगा कि अब उसकी बारी है और उसने अपनी शर्ट उतार दी।
जैसे ही राज ने उसकी चूत को चाटना बन्द किया सोनम कपूर दुबारा से प्रतिरोध के लिए खड़ी हो गई।
‘खड़ी हो जाओ और अब मेरा लण्ड बाहर निकालो!’ राज ने टेबल के किनारे की तरफ बढ़ते हुए कहा।
सोनम कपूर अब अपने घुटनों पर बैठ गई और राज ली पैन्ट को खोलने लगी जिसमें उसके लण्ड का उभार साफ दिखाई दे रहा था।

उसने राज की पैन्ट और अण्डरवियर को नीचे खिसका दिया जिसके कारण राज का लण्ड उछल कर बाहर आ गया।

राज का 7 इंच लम्बा गर्माता हुआ लण्ड अब सोनम कपूर के चेहरे के ठीक सामने उछल रहा था।
‘अब तुम क्या चाहते हो?’ पर वह बिना उत्तर की प्रतिक्षा किए लण्ड से खेलने लगी।

‘तुम क्या करना चाहती हो?’ राज ने सोनम कपूर पर जोर देते हुए पूछा।

‘मैं तुम्हारा लण्ड चूसना चाहती हूँ!’ सोनम कपूर ने कहा।
प्रत्युत्तर में राज केवल मुस्कुराया लेकिन वह जानता था कि वह उससे कुछ ज्यादा करवा सकता है।
मेरे सामने गिड़गिड़ा कर कहो कि तुम मेरा लन्ड चूसने के लिये तड़प रही हो!’ राज ने कहा।

सोनम कपूर एक पल के लिए चौंकी लेकिन अचानक उसकी अन्तर्वासना के सैलाब ने सोनम कपूर को बोलने पर मजबूर कर दिया- प्लीज राज, मुझे अपना लण्ड चूसने दो।
राज को यह सुनने में अच्छा लगा, राज ने सोनम कपूर को अपना लण्ड चूसने की इजाजत दे दी और सोनम कपूर राज का लण्ड चूसने लगी।

उसने लण्ड के सुपारे को अपने पतले पत्ले होंठों से छुआ, उस पर जीभ फ़िराई फ़िर उसे मुँह में ले लिया और से अपने गले के अन्दर की तरफ लेकर पूरा चूसने लगी।
‘मेरी तरफ देखो! सोनम कपूर ने कहा।

राज एकटक सोनम कपूर के चमकते चेहरे को देखने लगा।

वह लण्ड को बहुत प्यार से मुँह में लेकर चूस रही थी। हर एक शॉट के बाद सोनम कपूर लण्ड को मुँह से बाहर निकालती और नीचे से उसके सुपारे तक अपनी जीभ घुमाती और फिर उसे दुबारा अपने मुँह में लेकर चूसने लगती।

राज के मुख से ‘आहहह हम्म्म्म आअहह’ की आवाज आने लगी।
‘टेबल पर पीछे थो कर अपनी टाँगें फ़ैला कर बैठ जाओ! राज ने कहा और उसने बचे हुए कपड़े भी उतार दिए।

सोनम कपूर अब बिल्कुल वही कर रही थी जो राज कह रहा था।
राज उसके सामने आया, उसने देखा कि सोनम कपूर की फैली हुई टांगों के बीच उसकी चूत के लब उभरे हुए उसका इंतजार कर रहे हैं।

राज अब उसके पैरों के बीच में था और उसका लण्ड सोनम कपूर की चूत से कुछ इंच की दूरी पर लहरा रहा था।
‘क्या तुम मुझसे चुदना चाहती हो सोनम कपूर?’ राज ने उत्तेजित और कंपकपाती आवाज में कहा।

‘नहीं, यह गलत है!’ अभी भी सोनम कपूर सोच रही थी कि जो हो रहा है वह गलत है। लेकिन उसका उत्तेजित बदन उसके दिमाग का साथ नहीं दे रहा था।
राज ने अपने लण्ड को सोनम कपूर की चूत के भगनासा और चूत के होठों को थोड़ा अलग करते हुए रगड़ना शुरू किया।

राज अपने लण्ड को चूत पर रगड़ते हुए उसे उत्तेजित करने लगा।

‘हाँ, हाँ, मुझे चोद दो, इस लम्बे तगड़े लण्ड से मेरी चूत को फाड़ दो!’ सोनम कपूर ने कहा।
राज यही सब सुनना चाहता था, अब राज को विजयी भाव से सोनम कपूर की गीली चूत को चोदना था।
वे दोनों उत्तेजना से आहें भर रहे थे, राज ने अपना लण्ड सोनम कपूर की चूत के बीच में टिकाया और सोनम कपूर के मुख से एक सुख भरी आह निकल गई।
राज ने एक झटके में अपना पूरा लन्ड सोनम कपूर की गीली गर्म चूत में डाल दिया और सोनम कपूर को चोदने लगा।

राज सोनम कपूर की चूत की अपने लण्ड पर कसी हुई पकड़ से उत्तेजित था तो सोनम कपूर राज के लण्ड के चूत में अन्दर तक जाकर चोदने से।
जैसे ही राज ने सोनम कपूर के चूतड़ों को पकड़ा और अपने लण्ड को जितना अन्दर वह डाल सकता था डाल दिया वैसे ही सोनम कपूर ने अपने पैरों को उपर उठाकर राज को उनके बीच जकड़ लिया।

राज अपने लण्ड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा।

जब सोनम कपूर के मुख से उत्तेजना से कराहने और चिल्लाने की आवाज आने लगी, तब राज और तेजी से सोनम कपूर को चोदने लगा।
सोनम कपूर के निप्पल कड़े होकर पसीने से चमक रहे थे, उसके चेहरे पर परमानन्द के भाव साफ झलक रहे थे, जैसे जैसे वह स्खलन की तरफ बढ़ रही थी, वह अपने कूल्हों को तेजी से आगे पीछे चला रही थी, अपने पैरों को और अधिक जोर से राज को जकड़ रही थी-

आअह हहह आआअहहह हहहह राज! चोदो मुझे! हाँ चोद दो, मुझे और जोर से फाड़ दो मेरी चूत को।
‘चोदो, हाँ चोद दो मेरी चूत को…’ सोनम कपूर ने झटके के साथ अपने सर को पीछे की तरफ किया और अपने बदन को धनुष की तरह मोड़ने लगी, अब उसका बदन ऐंठने लगा था।
राज ने एक हाथ से उसे अपनी ओर खींचा और उसके निप्पल को चूसने लगा।

सोनम कपूर को पूर्ण आनन्द की अनुभूति करवाने के लिए राज उसके निप्पल्स को जोरदार तरीके से चूसने लगा और सोनम कपूर अपनी चेतना खो बैठी और आनन्द के सागर में गोते लगाने लगी।

यह पूर्णतया अजनबी था कि मजबूरन इस स्थिति में आने के बावजूद वह अब असीम आनन्द का अनुभव कर रही थी।
लगभग दो मिनट के बाद सोनम कपूर शांत हो गई।
राज इस अद्भुत स्थिति को निहार रहा था।

सोनम कपूर की आंखें बन्द थी, वह जोर जोर से साँसें ले रही थी, उसका पूरा शरीर पसीने से चमक रहा था।
अभी तक राज स्खलित नहीं हुआ था, उसने अपना लण्ड बाहर निकाला और सोनम कपूर को नीचे आकर पीछे घूमने को कहा।

सोनम कपूर स्वेच्छा से टेबल पर घूमकर लेट गई और अपने चूतड़ राज की तरफ कर दिए।

सोनम कपूर के पैर पूरी तरह से जमीन पर नहीं आ रहे थे।

राज ने दुबारा से अपना लण्ड पीछे से सोनम कपूर की चूत में डाला और बहुत तेज गति से सोनम कपूर की चूत को पीछे से चोदने लगा। सोनम कपूर राज के लण्ड को पीछे की तरफ से अनुभवी तरीके से अपनी चूत में ले रही थी।
राज अर्थपूर्ण नजरों से सोनम कपूर की गान्ड को देख रहा था। राज ने अब उसकी गांड को निशाना बनाने के बारे में सोचा। आखिरकार राज ने सोनम कपूर की गांड को पकड़ा और उसे फैलाने लगा। उसने अपनी एक उंगली को सोनम कपूर की गांड के छेद में डाल दिया।


‘हे! जरा रूको। यह क्या कर रहे हो? मैं गान्ड नहीं मरवाऊँगी, अपनी गान्ड तो मैंने कभी अपने बॉयफ़्रेन्ड से भी नहीं मरवाई है।’ सोनम कपूर ने पीछे घूमकर राज की इस हरकत का विरोध किया।

राज ने सोनम कपूर को वापस पीछे घुमाकर अपनी दूसरी उंगली भी उसकी गांड में डाल दी।
सोनम कपूर की कुंवारी गांड को चोदने के लिए वह उंगलियों को अन्दर बाहर करने लगा और गांड के अन्दर घुमाने लगा।

पूरी तैयारी के साथ राज ने अपने लण्ड को सोनम कपूर की गांड के छेद पर रखा लेकिन वह आगे बढ़ने में नाकामयाब रहा।

राज ने दुबारा कोशिश करते हुए पूरे जोर के साथ अपना लण्ड उसकी गांड में पेलने की कोशिश की।
सोनम कपूर को अहसास हुआ कि राज अब उसकी गान्ड मारे बिन मानेगा नहीं और राज ने उसकी चूत की वाकयी अच्छी चुदाई की है लेकिन उसने कभी गांड नहीं मरवाई थी इसलिए उसने अपनी गांड को ढीला छोड़ दिया और राज ने सोनम कपूर की कसी हुई गांड में अपना लण्ड घुसा दिया।

सोनम कपूर गान्ड में हुए जबरदस्त दर्द से चिल्ला उठी।
राज ने अब सोनम कपूर को पीछे से जकड़ा हुआ था और उसका लण्ड सोनम कपूर की गांड में पूरी तरह से घुसा जा रहा था।

जब लण्ड पूरी तरह से अन्दर चला गया तो राज उसे धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा।

सोनम कपूर इस नए आनन्द को बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी।
एक तरफ तो गांड पर हुआ यह हमला बहुत दर्दनाक था तो दूसरी तरफ गांड में गहराई तक समाए हुए लण्ड का स्खलन सोनम कपूर के लिए आनन्ददायक था।
सोनम कपूर का विरोध अब आनन्दप्रदायक कराहती हुई आवाजों में बदल गया और वह गांड मरवाने का मजा लेने लगी।

अब सोनम कपूर के मुख से ‘आहहम्म्म आअहह आह…’ की आवाजें आने लगी।
राज सोनम कपूर को टेबल पर दबाए हुए लगातार उसकी गांड में धक्के मार रहा था।

सोनम कपूर अपने चरमोत्कर्ष पर पहुँच गई और अपनी चूत को उंगली से सहलाने लगी।

राज भी अब अपने चरम सीमा पर था, वो ज्यादा देर नहीं रूक सकता था।

सोनम कपूर दुबारा से झड़ गई और उसकी चूत से निकला पानी उसकी गोरी चिकनी जांघों से होकर बहने लगा, सोनम कपूर आनन्द से चीखने लगी।
राज ने अपना लन्ड बाहर निकाला और सोनम कपूर को सामने घुमाकर उसके सीने पर सवार हो गया। उसका लण्ड अब सोनम कपूर के मांसल उरोजों के बीच था।

राज झड़ते हुए सोनम कपूर के चूचुकों को मसल रहा था, सोनम कपूर पागलों की तरह चीख रही थी- हाँ हाँ आओ, मेरे चेहरे पर झड़ जाओ…

आहहह हहहम्म्म ओेहह!
सोनम कपूर के मुख से आवाजें आ रही थी।
सन्तुष्टि भरी आवाज के साथ राज ने अपना पूरा पानी सोनम कपूर के वक्ष, गले और चेहरे पर निचोड़ दिया।

राज के लण्ड से निकलने वाली पहली धारा ऊपर जाते हुए सोनम कपूर के पतले गुलाबी होंठों पर गिरी, बाकी बचा हुआ उसके गले और चुचों पर गिर गया।
सब कुछ समाप्त हो जाने के बाद वह सोनम कपूर के नंगे बदन के ऊपर से हटा और अपने कपड़े पहनने लगा।

सोनम कपूर अभी वहीं लेटी हुई थी और अपनी सांसों को नियंत्रित करने की कोशिश रही थी।
राज के लण्ड का पानी उसके चेहरे पर बह रहा था, सोनम कपूर ने जीभ निकाल कर अपने होंठों पर लगे वीर्य को चाट लिया।
उधर राज ने उसके कागजों पर हस्ताक्षर किए और कमरे से यह सोचते हुए बाहर आ गया कि उसे अपनी एक पसंदीदा सेलिब्रिटी के साथ जबरदस्त चुदाई का कैसा नायाब मौका मिला।
Reply
09-11-2019, 01:19 PM,
#4
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
आलिया भट्ट की चुदाई


मेरा नाम राज है बात कुछ समय पहले की है। बहुत नौकरी ढूँढने के बाद मेरी नौकरी रसोइए के तौर पर आलिया भट्ट के घर लग गई।
शुरुआत में तो इन बड़े लोगों को देखता ही रह गया, बाद में आदत पड़ गई।
आलिया मैडम तो घर पर केवल टी-शर्ट ही पहनती थीं.. नीचे कुछ भी नहीं।
उनकी मांसल जांघें देखते ही मेरा लण्ड कड़क हो जाता था।
वो अक्सर किचन में आकर कुछ न कुछ खाती रहती थीं।
एक दिन वो मुझसे कहने लगीं- तुम्हारा शरीर इतना हट्टा-कट्टा है.. क्या खाते हो?
मैं शरमा गया, कुछ बोल भी नहीं पाया।
वो हल्का सा मुस्कुराकर चली गईं।
उस दिन मैंने उसके नाम की मुठ मार ली क्योंकि चोद तो सकता ही नहीं था।
दिन बीतते गए।
एक दिन घर के सभी लोग लन्दन गए थे, आलिया मैडम शूटिंग करके रात को 9 बजे आईं।
किचन में आकर वे मुझसे बोलीं- मैं थक गई हूँ.. तुम मेरे कमरे में आओ।
मैं उनके कमरे में गया.. तो दंग रह गया कि आलिया बिस्तर पर चादर लपेटे हुए लेटी थीं।
वो मुझसे बोलीं- दरवाज़ा बंद कर दो और मेरी मालिश करो।
इतना बोलते ही उन्होंने अपनी चादर भी अलग कर दी आलिया भट्ट पूरी नंगी होकर बिस्तर पर लेटी थी।
मेरा तो लंड ही खड़ा हो गया।
जैसे ही मैं उनके पास गया उन्होंने कहा- तुम सिर्फ अंडरवियर में रहो।
मैंने कहा- जी मैडम।
अब मैं उनकी मालिश करने लगा।
पहले पीठ की मालिश की.. फिर घुटनों.. फिर जांघों तक हाथ पहुँच गए।
फिर आई बारी उनके नितंबों पर हाथ फेरने की… माँ कसम क्या बदन है उनका.. मानो पूरा बदन केवल चाटने के लिए ही बना हो।
काफी देर तक मालिश के बाद वो सीधे पलट गई।
मेरी तो गांड ही फट गई।
दूध क्या मस्त थे एकदम गोल.. उन पर छोटे-छोटे से कड़क निप्पल चिपके थे।
क्या गजब का सीन लग रहा था।
मैंने उसके दूधों की खूब मालिश की।
उसके बाद में उनके पेट पर आया। संगमरमर सा एकदम चिकना पेट…
अब बारी थी चूत की.. क्या गजब की खुशबू आ रही थी।
मैंने बातों-बातों में अपनी उंगली उनकी चूत में डाल दी।
वो चिहुँक उठीं, बोलीं- क्या कर रहे हो.. धीरे..
इतने मैं उनकी नज़र मेरे लंड पर गई.. तो तपाक से बोलीं- अच्छा तेरा इतना बड़ा हथियार है.. तभी तूने उंगली डाल दी। इधर आ.. मैं भी तो देखूँ कितना बड़ा है ये।
जैसे ही उन्होंने मेरे लंड पर हाथ रखा, मेरा लंड एकदम लौकी सा लंबा हो गया।
वो उसे बड़े प्यार से सहलाने लगीं और अपने होंठों के करीब लेकर मुँह में लेने लगीं।
मेरे तन-बदन में आग सी लग गई।
मैंने तुरंत उनको अपनी बांहों में ले लिया, उनको चुम्बन करने लगा।
उनके होंठ इतने रसीले थे कि क्या बताऊँ।
मैं उसका रस पीने लगा।
उसके बाद वो ‘आह.. आह..’ करने लगीं।
फिर मैंने उनके दूध को खूब दबाया और जी भर के पिया।
दूध इतने कड़े हो गए कि उन पर मेरे दांतों के निशान दिखने लगे।
जब मैं उनके दूध पी रहा था.. तो वो मस्ती में मेरे सर को हाथों से सहलाने लगीं, कहने लगीं- पियो.. जितना पीना है।

मैं कभी दांया.. कभी बांया चूचा पीता.. दोनों दूध खूब चूसे।
अब आलिया मैम अपने हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगीं, कहने लगीं- दूध ही पियोगे या जूस भी पीना है?
मैं समझ गया कि वो अपनी चूत चटवाने की कह रही हैं।
मैंने उनकी दोनों टांगों को ऊपर किया और खुद नीचे बैठकर उनकी चूत पर हल्का सा चुम्बन लेकर चूत को रगड़ दिया।
दोस्तो आलिया भट्ट की चूत पर एक भी बाल नहीं था..
वो सिहर उठीं और कहने लगीं- आह्ह.. क्या कर रहे हो.. खा जाओगे क्या… आराम से चाटो ना!
मैं अहिस्ता-अहिस्ता उनकी चूत को चाटता गया।
जैसे-जैसे उनकी चूत चाटता.. वो अपने हाथ मेरे सर पर घुमाती रहीं, कहती रहीं- आज मेरी चूत को पूरा पी जाओ।
मैंने अपनी पूरी जीभ उनकी चूत के अन्दर डाल दी।
वो बड़े प्यार से अपनी पूरी नंगी चूत को मेरे मुँह के अन्दर डालती रहीं।
‘आह.. आह..’ कहते हुए वो अपनी चूत मेरे होंठों से चिपका कर मेरे सर को सहलाती रहीं।
वो बार-बार कह रही थीं- पूरा रस आज तुम पी जाना।
मैंने भी ‘हाँ’ करते हुए अपनी मुंडी हिला दी।
उनकी चूत का रस जैसे-जैसे मेरे मुँह में जा रहा था.. मुझको नशा छाने लगा।
अब मैंने और जोर-जोर से उनकी चूत को चाटना और चूसना शुरू किया।
अचानक आलिया ने अपनी चूत मेरे सर पर बुरी तरह चिपका ली और कहने लगीं- प्लीज पूरा रस जोर से पियो.. कुछ भी नहीं छोड़ना।
‘आह.. आह..’ करते हुए आलिया अपनी दोनों जांघें आगे-पीछे करते हुए मेरे सर को हाथों से सहलाते हुए अपना रस मेरे मुँह में छोड़ बैठीं।
मैंने भी उनके रस की एक-एक बूँद को पी लिया।
पूरा रस पीने के बाद आलिया मुझे कहने लगीं- कैसा लगा मेरा रस।
मैंने ध्यान ही नहीं दिया.. क्योंकि मैं तो अब भी उसकी चूत को चूसने-चाटने में लगा हुआ था।
मैं दिल ओ जान से आलिया की चूत में मस्त था। अपने दोनों हाथों से उनकी जांघों को मसल रहा था और रस को चूत में से निकाल-निकाल कर पी रहा था।
अब आलिया बोलीं- रस ही पियोगे कि कुछ और भी करोगे.. ऐसे तो मैं प्यासी ही रह जाऊँगी। प्लीज अब मुझे चोदो भी तो।
मैंने कहा- पहले आप सोफे पर बैठो।
वो सोफे पर जा बैठीं.. तो मैंने उनके दूध को पीना शुरू किया। उन्होंने बड़े प्यार से मेरे मुँह में अपने दूध लगा दिए और बोलीं- लो पी लो जितना पीना है।
मैं दबा-दबा कर उनकी मुसम्मियाँ पीने लगा।
‘अहह.. क्या कर रहे हो.. काटो मत प्लीज.. धीरे-धीरे पियो.. मैं पागल हो रही हूँ.. आह.. आह..’
आलिया के मुँह से ‘आह..’ की आवाज़ सुनकर मैं और जोश में आ गया, मैंने तुरंत अपना लंड आलिया के मुँह में दे दिया।
वो बड़े मज़े से लौड़े को चूसने लगीं.. और कहने लगीं- वाओ.. क्या मस्त है तुम्हारा।
इतने में मैंने अपना लंड वापस उनके मुँह से निकाल कर उनकी चूत में डाल दिया। वो एकदम से पागल हो गईं.. अपनी जांघों को मेरे कमर में लपेट लिया और मुझे किस करने लगीं।
उनके किस से मैं जोश में आ गया, मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी।
आलिया पूरी नंगी मेरे जिस्म से बेल की तरह लिपटी हुई थीं।
यही सोच-सोच कर मेरे लंड में कसावट बनी हुई थी।
आलिया ने अपनी जांघों को मेरे बदन में इतने जोर से लिपटा लिया कि मुझे दर्द होने लगा।
चुदाई करते काफी देर हो गई थी आलिया शायद दो बार झड़ चुकी थीं। आलिया आखिर में मुझे कहने लगीं- आह्ह.. तेज करो प्लीज प्लीज.. नहीं तो मैं मर जाऊँगी।
ये कहते हुए वो एक बार फिर स झड़ गईं।
अब आलिया की चूत में मेरे लंड ने भी पिचकारी छोड़ दी।
माल झड़ने के बाद आलिया पूरी मेरी कमर से लिपटी रहीं। उनके दूध बुरी तरह से लाल हो गए थे। उनकी चूत का रस मेरे लंड से चिपका हुआ था।
आलिया मुझसे चिपकी ही रहीं।
जब जोश ठंडा हुआ तो आलिया ने अपनी चूत को मेरे होंठ से साफ़ करवाया।
मुझे अपनी टांगों के बीच में फंसा लिया और मैं बैठा ही रहा, वो खड़े-खड़े अपनी चूत को मुझसे साफ़ करवाती रहीं।
फिर वो मस्त चुदाई के बाद सुबह शूटिंग पर चली गईं।
यह थी आलिया को चोदने की काल्पनिक कहानी।
Reply
09-11-2019, 01:20 PM,
#5
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
बिपाशा के साथ थ्रीसम


दोस्तो जैसा कि आप जानते है की मेने श्रद्धा कपूर की चुदाई कैसे की। उसके बाद मझे सेक्स करने का मन बहुत करता था, इस लिए मेने जो बार मे लाडिया आती उनपर ट्राय किया, पर कोई काम नही बना उल्टा मेरे हाथ से मेरा जॉब छूट गया। बहुत कोशिश करने पर एक होटेल में काम मिल गया रूम सर्विसेस के तौर पर।

मैं अपना काम मन लगा कर करने लगा कोई कंप्लेन नही आने दी। और ऐसे ही किस्मत ने मेरा फिर से साथ दिया। मैं रूम क्लीनिंग के लिए जारहा था, रूम का बेल्ल बजाते ही मैं शॉक हो गया। क्यों कि मेरे सामने बिपाशा बासु खड़ी थी वो भी बाथ रॉब में उसके बाल गीले थे। शायद वो अभी नहा रही थी।

में:- रूम क्लीनिंग...
मेने मुह से निकला...

वो साइड हो गई और मैं अंदर जाकर साफ सफाई करने लग। वो एक कोने में पड़े चेयर पर बेठ कर मुझे साफ कसरते हुए देख रही थी।

बिपाशा अचानक से उठी और टेबल पर पड़े अपने पर्स में से कुछ ढूंढने लगी। उसकी पीठ मेरी तरफ थी। उसके हाथ से पर्स छूट कर नीचे गिर गया.... और जैसे ही वो पर्स उठाने के लिए नीचे झुकी... उसका बाथ रॉब पीछे से ऊपर हो गया और उसकी गोल मटोल गांड मेरी आँखों के सामने आगई...

उसने नीचे पैंटी पहनी हुई थी जो कि ना के बराबर थी क्योंकि, वो उसकी गांड की दरार में घुसी हुई थी... और झुकने के कारण वो पैंटी चूत के दरार में भी अटक गई थी।

मेरा तो मुह खुला रहा गया ये नज़ारा देख कर...


वो कुछ ज्यादा ही देर तक झुकी हुई थी... उसकी हरकते देख कर मुझे कुछ-2 समझ मे आरहा था।

मेरी नजर तो उसकी गांड से हट ही नही रही थी... उसने मुझे अपनी तरफ देखते हुए देख लिया था... मेरा लंड खड़ा हो चुका था जो पैंट के ऊपर से आसानी से देखा जासकता था।

इसलिए मैंने अपना काम जल्दी-2 खत्म किया और जाने लगा...

बिपाशा:- रुको....

उसकी आवाज सुन कर मैं अपनी जगह पर ही खड़ा रहा... मुझे अपनी जगह से न हिलता देख वो मेरे सामने आई... उसकी नजर मेरे पैंट में बने तम्बू पर ही थी।

कुछ देर ऐसे ही खड़े रहने के बाद... मेने उसकी तरफ देखा तो वो अपने हाथ घड़ी कर के मेरी तरफ ही देख रही थी...


बिपाशा:- ये क्या है ?

उसने मेरी पैंट में बने तम्बू की तरफ देख कर बोला...

मैं:- वो...... वो....

मुझे कुछ समझ नही आरहा था कि क्या बोलू... इसलये मेने अपने हाथों से उस तम्बू को छिपा लिया।

बिपाशा:- ये वो.... वो.... क्या कर रहे हो.... रुको अभी तुम्हारे मैनेजर से कंप्लेन करती हूं।

उसकी बात सुन कर में डर गया था... कही ये जॉब भी हाथ से न चले जाए।

में:- सॉरी मेम गलती से हो गया... प्लीज कंप्लेन मत करो...

बिपाशा:- नही रुको अभी तुम्हारे मैनेजर को कॉल करती हूं...

बिपाशा फ़ोन कसरने ही वाली थी कि मैं बोला....

में:- प्लीज मेम कंप्लेन मत करो.... आप जो बोलोगी मैं वो करूँगा.... आप चाहे तो मुझे कोई भी सज़ा देदो... पर कंप्लेन मत करो....

बिपाशा:- जो बोलूंगी वो करोगे ?

में:- हा कुछ भी जो आप बोलो...

बिपाशा:- ठीक है तो फिर... यहा बेठो...
उसने बेड की तरफ इशारा कर के कहा...

में चुप चाप जाकर बेड पर बैठ गया और वो मेरे सामने आकर खड़ी हुई और अपने घुटनों पर बैठ कर मेरे पैंट को खोलने लगी...

अब तो सब कुछ क्लियर होगया था वो क्या चाहती है... वैसे तो में उसे रोकना नही चाहता था पर थोड़ा नाटक करना तो बंता था...

तो मैने उसका हाथ पकड़ कर रोक दिया...

में:- ये आप क्या कर रही हो...

भिपश:- तुम ने कहा था की, जो में बोलूंगी वो तुम करोगे... तो अब नाटक करना बंद करो और मज़े लो...

उसने मेरी पैंट के साथ अंडर वेयर भी उतार दिया और मेरा अधखडा लंड उसकी आँखों के सामने आगया...

हालांकि मेरा लंड अधखडी हालात में था पर एक्ससाइटमेंट के कारण वो एक दम से पूरी तरह खड़ा होगया...
Reply
09-11-2019, 01:20 PM,
#6
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
ये सब बिपाशा ही आंखों के सामने हुआ था और ये नजर देख कर उसकी आँखें चमक उठी थी...

उसने झट से मेरा लंड अपने मुलायम ठंडे हाथ से पकड़ कर लंड की खाल को नीचे सरका कर उसके टोपे को अपने नर्म होठो से चुम कर अपने होठों से रगड़ दिया...


उसके ठंडे हाथ और मुलायम होठो की स्पर्श से मेरी मस्ती में "आह" निकल गई...

मेरी आवाज सुन कर उसने मुझसे पूछा "कैसा लगा..."

मैं:- आप मुझे पागल कर दोगी...

मेरी बात सुन कर बिपाशा खड़ी होगई और अपना बाथ रॉब खोल कर एक ही झटके में अपने बदन से अलग कर दिया... उसने ब्रा नही पहनी थी... उसके गोलमटोल चुचे खुली हवामें लहरा रहे थे... वो अपने सीने को ऊपर नीचे करके उन गोल मटोल पानी के गुब्बारे जैसे बूब्स को हवे में लहराने लगी... उसके बूब्स जैसे नाच रहे थे...

ये नजर देख कर मुझसे रहा नही गया और मैने अपने हाथ उसके बूब्स की तरफ बड़ा दिए...

पर उसने मेरा हाथ पकड़ कर रोक लिया... तो में उसकी तरफ देखने लगा...

बिपाशा:- इतनी भी क्या जल्दी है... थोड़ा सब्र करो...

में:- मेरे पास ज्यादा टाइम नही है... मुझे और भी काम करने है...

बिपाशा:- में तुम्हे जल्दी फ्री कर दूंगी मेरी जान... चलो अब जल्दी से बेड पर अछे से लेट जाओ...

में बेड पर चित लेट गया और बिपाशा ने झट से अपनी पैंटी उतार दी... मुझे तो उसकी चूत की एक झलक तक नही मिली वो सीधा मेरे पैरों के बीच आगई और मेरी पैंट के साथ ही चड्डी भी उतार दी... अब में नीचे से पूरी तरह से नंगा था और मेरा लंड बिपाशा के नंगे बदन को देख कर झटके मार रहा था...


मेरे झटके खाते हुए लंड को देख कर बिपाशा के चेहरे पर मुस्कान आगई और उसने अपने हाथ बड़ा कर मेरे लंड को हाथ मे पकड़ कर मुठ मारने लगी और मेरे टट्टो को किस्स कर के अपनी जीभ निकाल के चाट ने लगी...

मेरे लंड की नोक पर प्रिकाम की बूंद जमा हो गई थी जो उसने अपनी उंगलियों से लंड के टोपे पर फैला दिया और लंड के टोपे को सूंघ लिया...

जैसे ही उसके नथुने में मेरे लंड की मधहक कुशभु आई तो वो अपने आप को उसे मुह में लेने से रोक नही पाई... और यहा पर मेरी हालत खराब होगई... ऐसे लग रहा था कि बस अब पानी छूटने ही वाला है पर मैने अपने आप को कन्ट्रोल किया और अपने लंड की चुआई का मज़ा लेने लगा...

उसके मुह का गीलापन और लपलपाती हुई जीभ मुझे अलग ही दुनिया मे ले गई... धीरे-2 उसने मेरे लंड को पूरा अपने मुह में भर के चूसने लगी...

मेरा मोटा लंड उसके मुह में नही आरहा था पर फिर भी वो लंड के टोपे को अपने मुह में भर कर चूस रही थी... उसने अपने होठो को ज़ोर से बीच लिया...


इस तरह की चुसाई से मेरा मज़ा दुगना होगया और मेरी आँखें अपने आप बंद होगई... बिपाशा मेरे टट्टो के साथ खेलते हुए लंड को अपने मुह में दबा कर चूस रही थी... मेरा लंड पूरा उड़की लार से सरोबार को गया था और उसकी चिकनाई से उसे मुठ मारने में भी आसानी होरही थी...

अब और कन्ट्रोल करना मुश्किल था... "बस अब मेरा होने वाला है" मेने उसके चेहरे को पकड़ कर धक्के मरते हुए कहा...

तो उसने और ज़ोर लगा कर अपबे होठो को बीच लिया और एक के बाद एक धक्के लगा कर मेरे लंड ने उसके मुह में ही पानी छोड़ दिया... उसने सारा वीर्या अपने मुह में पहले जमा किया और जब मेरे लैंड ने सारा पानी उसके मुह में उड़ेल दिया तो उसने अपना मुह मेरे लंड से अलग किया और घुट-2 कर के मेरा सारा पानी पी गई...

मेरा वीर्या थोड़ा सा उड़की थुड़ी पर लगा हुआ था... मेने इशारे से उसे बताया... तो वो सीधा मेरे पेट पर आकर बैठ गई और मेरे होठो को चूसने लगी...

मुझे मेरे वीर्या का टेस्ट भी आरहा था पर मैने उसको नज़र अंदाज़ करते हुए उसके मुलायम होठो का स्वाद लेने लगा और उसके मुलायम चुचो को ज़ोर से दबा दिया...


मेरी जीभ उसके मुह में जाकर गोल-2 घूम रही थी... थोड़ी देर किस्स करने के बाद हम दोनो अलग हुए और एक दूसरे को देख कर हाँफने लगे... मेने एक बार फिर उसके दोनों बूब्स को ज़ोर से दबा दिया और अपनी पैंट पहने लसग...

बिपाशा:- रात में आओ गे...

मैं:- हा... ज़रूर... (में खिशी से बोला)

बिपाशा:- 12:30 बजे मैं तुम्हारा इंतज़ार करूँगी...

मैं:- ठीक है...

और मैं अपने काम मे लग गया... स्टोर रूम मेसे कुछ सामान लेने जारहा तो मेरी मैनेजर लीना मिल गई...

लीना मेम:- कहा थे इतनी देर से... पता है ना लॉन्ड्री का कितना सारा काम पड़ा है...

में:- मेम वो रूम नम्बर *** में कोन है आप को पता है...
में खुश होते हुए बोला..

लीना मेम:- टॉपिक मत चेंज करो जो पूछा है उसका जवाब दो...

में:- वही तो बता रहा हु मेम वो रूम में सेलेब्रेटी बिपाशा बसु है... और उनका रूम ठीक से साफ भी नही किया था... तो मुझे ही जाकर साफ करना पड़ा..

लीना मेम:- ठीक है... जाओ काम करो...

"हाश... जान बची" में मन मे बोला...

अब तो बस रात का इंतजार है...


मेने अपना सारा काम 11:30 तक निपटा दिया सीधा अपने रूम में नहाने चला गया... नहाकर एक दम फ्रेश लग रहा था... अब तो चुदाई करने में मज़ा आ जाएगा... में बाथ रूम से बाहर निकला तो मेरे दोस्त किसी से फ़ोन पर बात कर रहे थे... उनका बात कर के हो गया तो वो मुझे बताने लगे कि उनलोग ने एक रात के लिए कोई कॉल गर्ल को बुलाया है...

तीन लोग से साथ चुदाई करने के पैसे भी उसे देदिये... वो दो और एक मैं... पर मेरा प्लान तो कुछ और था इसलिए मैंने कोई बहाना बना कर मना कर दिया और दस मिनट पहले की बिपाशा के पास जाने के लिए निकल गया...

पर रास्ते मे मुझे फिर से लीना मेम (मेरी मैनेजर) मिल गई...

लीना मेम:- इतनी रात में कहा जारहे हो...
उन्होंने मुझे देखते ही सवाल किया...

मैं:- आइस क्रीम खाने आप चलोगी मेरे साथ आइस क्रीम खाने...

लीना मेम:- नही तुम जाओ
बोल कर वो वहा से चली गई... शायद वो अपने बॉय फ्रेंड से मिलने गई होगी... वो हमेशा यही टाइम पर अपने बॉय फ्रेंड से मिलने जाती है... मेने कही बार उसे देखा है... क्यों कि मैं भी इसी तरह रोज़ आइस क्रीम खाने जाता हूं और वह हर बार मुझ से पूछती है कि, "कहा जा रहे हो" और मेरा हर बार यही जवाब होता है "आइस क्रीम खाने आप भी चलो मेरे साथ" और वह भी कहती "नही तुम जाओ"...

काश वो मेरे साथ चलने के लिए हा कह देती... लीना मेम भी बहुत कड़क माल है... उनकी वो गोल मटोल सी मोटी सी भारी भरकम गांड तो मेरी फेवरेट है... मुझे तो लगता है उनका बॉय फ्रेंड सिर्फ उनकी गांड ही मरता होगा...

खेर में तेज कदमो के साथ बिपाशा की रूम में घुस गया क्यों कि डोर खुला था... अंदर का नज़ारा भी बहुत सेक्सी था... बिपाशा पिंक कलर के छोटे से लिंगरी में एक दम हॉट लग रही थी...
Reply
09-11-2019, 01:20 PM,
#7
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
मेरा तो मन किया की उसके ऊपर कूद कर उसके पूरे बदन को चूम लू... मैं धिरे-2 उसकी तरफ कदम बढ़ाए और जब में उसके करीब पहुचा तो उसने आगे से अपनी लिंगरी ऊपर करदी... उसकी फूली हुई चूत मेरी आँखों के सामने आगई जो कि पिंक कलर के पैंटी में कैद थी...

में जल्दी से अपने घुटनों पर बैठ गया और उसकी प्यारी सी मुनिया को और करीब से देखने लगा...

उसके चूत के होंठ पैंटी के ऊपर से ही दिख रहे थे... मुझ से रहा नही गया और मैने ऊनी उंगलिया पैंटी की इलास्टिक में अटकाया और एक ही झटके में पैंटी उसके पैरों में गिरादी... अब उसकी डबल रोटी जैसी चूत मेरी आँखों के सामने थी... उसने पैरों से पैंटी निकल कर अपने तांग फैला दिए ताकि मुझे उसकी चूत आराम से दिखे...


ऐसे लग रहा था कि उसने अभी-2 अपनी चूत के बाल साफ किये है... मेने उसके चूत के होठो कर तीन चार चुमियाँ देदी... उसके चूत से पानी बह रहा था और वो चिपचिपा पानी मेरे होठो पर भी लग गया... में उसकी चूत को चूमते ही जारहा था... उसने मेरा सिर पकड़ कर मुझे रोक दिया और अपने पैरों के पास पैंटी की तरफ इशारा कर के बोला "मेरी निशानी अपने पास रख लो"

मेने पैंटी उठा कर जेब मे दाल दी... और फिर से उसकी चूत को चाटने लगा... अपनी जीभ को नुकीला करके उसकी चूत के अंदर दाल कर चूत को जीभ से चोदने लगा... मस्ती में उसने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी चुत पर दबा दिया और अपने पैर भी फैला दिए... उसके मुह से लगातार सिसकारियां निकल रही थी...

इसी तरह लगातार उसकी चुत चाटने की वजह से उसके पैर कप रहे थे... तो मैने उसे अपने गोद मे उठा कर बेड पर चित्त लेटा दिया और खुद भी बेड पर चढ़ कर उसके पैरों के बीच मे आकर उसके चुत के होठो को फैला कर अंदर का गुलाबी भाग देखने लगा... उसके चुत के छेद में से पानी बह रहा था...

बिपाशा ने मेरे हाथ चुत से हटा कर खुद ही अपने चुत के होठो को फैला दिया...


"प्लीज सक्क मि... बेबी प्लीज..." उसने अपनी उंगलियों से चुत के होठो को फैला कर बोला...

मेने उसकी बात मानते हुए उसकी चुत के गुलाबी छेद को अपनी खुरदरी जीभ से चाटने लगा... चुत से चिपचिपा सफेद पानी बह रहा था जिसका स्वाद कुछ नमकीन और खटा सा था...

जब मैने उसकी चुत के होठो को अपने मुह में भर कर जोर की चुस्की ली तो उसने बेड शीट को अपने हाथों से बीच लिया और अपने पैरों से मेरे चेहरे को जोर से चुत पर दबा दिया...

"ओहहह... मय्य्य्य..... गोड़ड़ड़ड़..... ओऊहहह... एससस... एससस... एससस... बेबी सक्क मय पुसी..." ऐसे ही बिपाशा की सिसकारियां और तेज़ चलती साँसों की आवाज पुरे रूम में गूंज रही थी...

जब वो झादने वाली थी तो उसने मेरा चेहरा अपनी चुत पर दबाकर अपनी कमर जोर-2 से हिलाने लगी जैसे कि वो मेरे मुह को चोद रही हो और मैने भी अपने दांतों से और जीभ से वॉर करते हुए उसकी चुत को जोर-2 से चूसने लगा...

"ओहहह फक्कककक... आहहहहह... डोंट बाईट..." तेज़ सिसकारियां भरते हुए वो झाद गई...

में उसका सारा पानी पी गया और उसकी चुत से मुह हटा कर हफ्ते हुए उससे देखने लगा....

वो भी आँखे बंद करके लंबी-2 साँसे भर्ती हुए अपने ओर्गास्म को एन्जॉय कर रही थी... बिपाशा का बदन पसीने से पूरी तरह भीग चुका था और चमक रहा था... उसकी चुत मेरे दातो की वार के वजह से लाल हो चुकी थी...

उसके नंगे बदन को देख कर मुझ से राह नही गया और अपने सारे कपड़े एक-2 कर के उतार दिए... मेरा लंड तो पहले से ही लोहे की रॉड की तरह तन कर खड़ा था...

मेने उसे संभालने का कोई मौका नही दिया और उसके ऊपर चढ़ कर उसके गाल और गर्दन को चूमने लगा... मेरे इस हरकत पर उसके चेहरे पर मुस्कान आगई और उसने भी मेरा साथ देते हुए मेरी पीठ को सहलाने लगी और अपना चेहरा एक तरफ करके मज़ा लेने लगी...

पर चेहरा उस तरफ करते ही उसकी सिसकियाँ बंद होगई थी इसलिए मैंने अपनी जीभ से उसके गर्दन और कान को चाटा तो उसकी सिसकारियां फिर से सुरु होगई...

"आहहहह.... उममममम... ओहहह"

पर अचानक एक झटके के साथ वो मेरे ऊपर आगई और वो मेरे गाल और कान के पास किस्स करने लगी...

उसने मेरे कान को अपनी गीली जीभ से चाटा तो मेरे बदन में झुर-झूरी सी उठने लगी जो उसने भी महसूस किया...

"सोनो जो अब में बोलने वाली हु उस पर रियेक्ट मत करना" उसने मेरे कान में फुस-फसते हुए कहा...

मेने "ह्म्म्म" में उसकी बात का जवाब दिया...

"दरवाजे पर कोई लड़की खड़ी है... तुमने डोर लॉक नही लिया था क्या" उसने मेरे कान को अपने दातो से काट कर कहा...

उसके काटने की वजह से मैने अपने लंड को उसकी चुत पर दबा दिया पर चुत के बहते पानी की वजह से वो फिसल कर उसकी झंगो के बीच घुस गया और सीधा गांड की दरार में फस गया...

मेने दरवाजे की तरफ तिरछी नज़र कर के देखा तो वहा पर सच मे कोई था और उसे में अछि तरह से जनता था...

उसकी आंखें हमारे सेक्सी सिन देख कर वासना के कारण गुलाबी हो गई थी और माथे पर पसीना भी जम गया था..

वो दरवाजे पर खड़ी लड़की कोई और नही बल्कि लीना मेम थी मेरी मैनेजर... इस वक्त उन्हीने लाइट ब्लू कलर का नाईट ड्रेस पहना था... उस ब्लू कलर के सांडो टाइप टॉप में उनके कड़क निप्पल्स आसानी से दिख रहे थे...


उसके पाजामे के ऊपर भी एक ढबा सा बन गया था जो बता रहा था कि उसकी चुत भी बहुत टाइम से पानी छोड़ रही है... इसका मतलब की वह हमारी रास लीला बहुत टाइम से देख रही है...

मेरे मन मे पता नही क्या आया और में बहुत सारी हिम्मत इकट्ठा कर बिपाशा को अपने ऊपर से हटाया और अपने कदम लीना मेम की तरफ बड़ा दिए...

उनकी नज़र मेरे लंड पर ही थी जो कि चलने के कारण उछल रहा रहा था...

उनके करब पहुचते की मेने उनका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया... उनके हाथ बहुत ही ज्यादा ठंडे थे और उनके हाथ ने सीधा मेरे लंड के टोपे को ही पकडा था...

"ओहहह...आहहहह..." उनके ठंडे हाथो के कारण मेरे मुह से सिसकारियां निकल गई...

उन्होंने मेरे एक दम करीब आकर अपने पैरो के पंजों पर खड़े हो कर मेरे होठो पर एक किस्स दे कर मेरे लंड के टोपे को जोर से दबा दिया और इस बात का प्रमाण दिया कि वो भी हमारे साथ है...

उसने घूम कर डोर को लॉक किया और फिर से मेरे लंड को पकड़ कर मुझे सोफे तक लेजाकर उसपर बिठा दिया...

मेरे बैठते ही मेम ने टॉप को उतार दिया और उनके पिंक कलर के निप्पल्स जिसका अरेओला काफी फैला हुआ था जो एक दम कमाल लग रहा था...


मेरे मुह से तो लार टपकना सुरु होगई थी मन कर रहा था कि अभी पूरा निप्पल अरेओला समेत मुह में भर है चूस लू...

पर उसके बूब्स ज्यादा समय तक मेरे सामने नही रहे वो घूम गई और जुक कर अपना पैजामा पैंटी के साथ उतार दिया...

मेम की मोटी सी भारी भरकम गांड मेरी आँखों के सामने थी जिस का दरार काफी गहरा लग रहा था... वी अपनी मोती गांड को मेरी आँखों के सामने हिलाने लगी और तब मुझे उसकी चुत की झलक भी मिल गई जो काफी फूली हुई लग रही थी...


मैं जैसे ही उसकी गांड को हाथ लगाने गया तो वो घूम गई और उसकी डबल रोटी जैसी फूली हुई चुत सामने आगई... चुत पे बाल का नामोनिशान नही था...
Reply
09-11-2019, 01:20 PM,
#8
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
मैं चुत को और करीब से देखने के लिए उठा तो उसने मुझे धक्का दे कर वापिस बिठा दिया और खुद मेरे बाजू में बैठ गई...

उसने अपने हाथ पर थूक लगाया और मेरे लंड की मुठ मारने लगी...


ये सारा नज़ारा बिपाशा बेड पर बैठ कर मुस्कुराते हुए देख रही थी... जब मेरी नज़र बिपाशा से मिली तो मैने उसे अपने पास आने का इशारा किया... वो झट से उठके मेरे दूसरी तरफ बेठ गई और एक हाथ मेरी झांग पर रख कर सहलाने लगी...

मेने लीना मेम का सिर पकड़ कर अपने लंड की तरफ झुकने लगा तो उन्होंने मेरा हाथ हटा दिया और ना में सिर हिलाया... शायद उनको लंड चूसना अच्छा नही लगता था इसलिए मेरे भी उनके साथ जबरदस्ती नही की...

पर बिपाशा से रह नही गया और उसने मेरे लंड की तरफ झुक कर उसे मुह में भर कर धीरे-2 चूसने लगी... उसे चुसाई में इतना मज़ा आरहा था कि वो मेरे लंड को जड़ तक मुह में लेती और फिर अपने लार से गिला कर देती...


में अपने सिर लीना मेम के सिने में दबा कर आँखे बंद कर के मेरे लंड की चुसाई का मज़ा लेने लगा... मेरी नज़र जब लीना मेम के बूब्स की तरफ गई तो उनका बड़ा सा अरेओला वाला निप्पल मुझे अपनी तरफ चूसने के लिए बुला रहा था.... मेने देर ना करते हुए उन के एक चुचे को मुह में भर कर चूसने लगा और एक हाथ से दूसरे चुचे को सहलाने लगा...

उनके बूब्स एक दम कड़क थे जैसे कोई पहली बार दबा रहा हो...


हम तीनो एक दूसरे को मज़ा देने में लसगे हुए थे... इतने में लीना मेम उठी और अपने पैजामे में से कोई दवाई का स्ट्रिप निकल कर ले आई और मुझे खाने के लिए बोला...

मैं:- ये किस लिए...

लीना मेम:- इसे तुम्हारा स्टैमिना बढेगा और तुम ज्यादा देर तक तिकोगे...

बिपाशा:- खालो हम दो है और मेरे चुत में तो बहुत आग लगी है में तुम्हे जल्दी छोड़ने वाली नही हु...

लीना मेम:- में भी तुम्हे जल्दी नही छोडूंगी...

उन दोनों की बात मानते हुए मैं गोली खाने के लिए तैयार हो गया और लीना मेम के हाथ से गोली ले कर पानी लेने के लिए उठा ही था कि...

"कहा जारहे हो" मुझे बिपाशा ने उठते देख कहा...

में:- पानी लेने... बिना पानी के ये गोली कैसे खाऊंगा...

बिपाशा:- रोको में हेल्प करती हूं...

उसने मेरे हाथ से गोली ले कर कहा "मुह खोलो"

मेने अपना मुह खोला तो उसने गोली मेरे मुह में एक दम अंदर तक रख दी और अपने होठ मेरे होठो से मिला कर अपने मुह का सारा थूक मेरे मुह में डालने लगी...

उसने कसके मेरा चेहरा पकड़ा हुआ था ताकि में अपने आप को छुड़ा ना सकू और हुआ भी ऐसे ही... उसका सारा थूक मुझे ना चाहते हुए भी गोली के साथ निगलना ही पड़ा...



वैसे किस्स करते हुए भी थूक मुह में जाता है पर इतना सारा थूक एक साथ... और टेस्ट भी बहुत अजीब लग रहा था... बिपाशा तो रुकने का नाम ही नही ले रही थी वो लगातार अपना थूक मेरे मुह में उड़ेलते जारही थी...

मेने अपनी पूरी ताकत लगा कर बिपाशा को अपने से अलग किया... उसका पूरा थूक मेरे होठो से बहते हुए मेरे थुड़ी तक आने लगा...

बिपाशा ने सारा थूक चाट-2 कर साफ कर दिया...

मैं:- गंदी कही की...

मेरी बात सुन के वो मुस्कुराने लगी...

बिपाशा ने मेरे होठो पर किस्स कर के सॉरी कहा...

मेने दोनो का हाथ पकड़ा और बेड पर लेआया...

"तो पहले किस की बारी" मेने दोनो को एक दूसरे के बाजू में चित लेटा कर पूछा...

"पहले मैं" बिपाशा झट से बोली...

तो फिर क्या था में बिपाशा के पैरो के बीच मे आकर उसकी चुत पर एक किस्स दिया और अपने लंड के टोपे को उसकी गर्म चुत के छेद पर रख कर धीरे से धक्का दिया तो मेरा टॉप उसकी चुत में चला गया और बिपाशा के मुह से हल्की सी चीख निकल गई...

मुझ पे गोली का असर हो रहा था... आंखे भी लाल हो गई थी... अब और कंट्रोल नही हो रहा था... मेने सीधा दो धक्के में लंड को चुत के अंदर की...

"आहहहह.... ओहहहहहह.... फ़क.... कुत्ते.... धीरे कर... आहहह... दर्द हो रहा.... है...." बिपाशा चीखते हुए बोली...

"अब मुह से और कंट्रोल नही हो रहा" मेने उसकी चुत में धीरे-2 लंड को अंदर बाहर करना सुरु करदिया था...

में पूरे लंड को टोपे तक बाहर निकालता और उसकी चुत के जड़ तक अंदर दाल देता...


जब भी मेरा लंड उसके बच्चे दानी से टकराता उसके मुह से हल्की दी चीख निकल जाती... उसकी चुत का गिला पन और गर्माहट में अपने लंड पर महसूस कर सकता था... मेने उसके पैरों को अपने कंधों पर ले कर अपनी धक्कों की रफ्तार बड़ा दी और उसके हिलते हुए बूब्स देख कर में और तेज़ चोदने लगा...


बिपाशा मज़े में अपनी आंखें बंद कर के अपनी चुत चुदाई का मज़ा ले रही थी... मेरे झांग उसकी गांड से टकरा कर थाप-2 की आवाज कर रहे थे...

अचानक बिपाशा ने मुझे कसके अपनी बाहों में भर लिया और अपने पैरों से मेरी कमर दबा कर जोर-2 से सिसकारियां भरने लगी...

"ओहहह.... येससस.... येससस.... येससस.... आई एम कमिंग.... आई एम कमिंग.... आई एम कमिंग.... यस... ओहहह... फक्क में बेबी... मेक में कम.... यु आर सो गुड...." बिपाशा की सिसकारियां पूरे रूम में गूंज रही थी...

मेने और तेज़ धक्के लगाए और बिपाशा "ओहहह... आहहहह..." करते हुए झाड़ गई...

उसके आंखों में से पानी भी निकल रहा था... उसने अभी तक अपनी आंखें बंद कर के मुझे कस कर अपनी बाहों में जकड़ा हुआ था...

मेने उसकी आँखों से पानी पोछ कर पूछा "इतनी जल्दी क्यों झाड़ गई"

बिपाशा:- इतना तेज चोदोगे तो किसी का भी पानी निकल जाएगा बेबी...
उसने मेरे होठो को चूम कर कहा... वो अभी तक हाफ रही थी...

मेने फिर से उसकी चुत में धक्के लगाने शुरू किए...

"छोड़ा मुझे... अब उसकी बारी है" उसने मुझे अपने ऊपर से हटाते हुए कहा...

मैं लीना मेम के पास गया तो वो भी अपने पैर फैला कर लेट गए... पर मैं भी उनके बाजू में लेट गया और उनको इशारा किया... वो मेरा इशारा समझ गई और वो अपनी भारी भरकम गांड उठा कर मेरे ऊपर आगई...

मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर अपने चुत पर सेट किया और धिरे-2 कर के वो लंड पर बैठ गई... वो अपनी आँखें बंद करके मेरे लंड को अपनी चुत के गहराई तक महसूस करने लगी...

उनकी चुत किसी भट्टी की तरह गर्म थी... मेरा लंड उनकी चुत में ही झटके मार रहा था... मेने उसके बूब्स दबा कर उन्हें कूदने का इशारा किया...

वो मेरे सीने पर हाथ रख कर धिरे-2 अपनी गांड को ऊपर नीचे करने लगी... और कुछ ही देर में वो धक्के तेज़ होगए... उसकी गांड मेरे झंगो से टकरा कर थाप-2 की आवाज करने लगी...


उनकी चुत से सफेद पानी निकल रहा था जिसके वजह से चुत पर झाग बन रहा था...

बिपाशा भी हमारी चुदाई देख कर फिर से गर्म हो गई थी उसकी चुत फिर से पानी छोड़ रही थी... वो उठी और मेरे चेहरे पर अपनी गांड रख कर बैठ गई और ऊनी चुत चटवाने लगी...

मैं भी चुत से बहता हुआ पानी चाटने लगा... वो अपनी चुत के दाने को रंगने लगी...

उसका चेहरा लीना मेम की तरफ था... उनदोनो की आँखे एक दूसरे से मिली और दोनों में किस्स शुरू होगया...

अब बिपाशा मेरे चेहरे पर बैठ कर अपनी चुत चटवा रही थी और लीना मेम मेरे लंड पर बैठ कर अपनी चुत चुदवा रही थी और दोनों ही एक दुदरे को किस्स कर रहे थे...


लीना मेम मेरे लंड पर कूद-2 कर थक गई थी तो वो मेरे साइड में ही चित लेट गई... मेने बिपाशा को अपने चेहरे पर से हटाया और उसे लीना मेम के ऊपर ही घोड़ी बना दिया...

मेने एक ही झटके में लंड को लीना मेम की चुत में डाला और तेज़ धक्के मारने लगा और कुछ ही देर में वो बिपाशा को किस्स करते और गु... गु... की आवाज निकालते हुए झाद गई...

मेने झट से अपनी लंड बिपाशा की चुत में डाल दिया... बिपाशा को इस वॉर की उमीद नही थी... उसके मुह से चीख निकल गई और मेरी तरफ देखने लगी...


मेरे धक्कों की वजह से बिपाशा के बूब्स लीना मेम के बूब्स से रगड़ रहे थे और वो दोनों फिर से किस्स करने लगे थे...

लंड को बिपाशा की चुत से निकाला और लीना मेम की चुत में दाल दिया... कुछ देर उनको चोदने के बाद बिपाशा को चोदने लगा... इसी तरह में दोनो को बारी-2 से चोदने लगा...

और वहा पर दोनों कभी किस्स करते तो कभी एक दूसरे के बूब्स दबाते और चूसते... दोनो के बूब्स पूरे लाल हो चुके थे...
Reply
09-11-2019, 01:20 PM,
#9
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
मेने बिपाशा की गांड के छेद पर थूक लगाया और उसके छेद को उंगली से खुरेदने लगा...

"ओहहह.... वह पर नही... प्लीज...." बिपाशा ने मेरा हाथ हटा कर बोला...

तो मैने लीना मेम की चुत से लंड निकल कर बिपाश की चुत में दाल दिया और लीना मेम के गांड के छेद को छेड़ने लगा तो उन्होंने भी मन कर दिया...

मुझे गांड मारने का बहुत मन कर रहा था पर क्या कर सकते है... और वैसे भी मैं दो-2 चुत एक साथ पहली बार चोद रहा था जो मेने कभी सोचा भी नही था...

बिपाशा फिर से झाद गई और लीन मेम के ऊपर से हट कर एक तरफ लेट कर हाँफने लगी... मेने लीना मेम को घोडी बनाया और उनकी गांड पर थपड मरते हुए चुत चोदने लगा...

लीना मेम भी अपन गांड मज़े में आगे पीछे कर के खुद चुद रागी थी... उनकी गोरी गांड एक दम लाल हो गई थी...

इस पोजीशन में लीना मेम को उनकंफेर्टेबले फील हो रहा था... तो मैने उनको बेड पर एक करवट ले कर लेटा दिया और खुद उनके पीछे जाकर चुत में लंड डाला उनकी चुत को ज़ोर-2 से रगड़ ते हुए में लीना मेम को चोदने लगा... वो एक पेर हवे में लहराते हुए मस्ती में चुद रही थी...



"ओहहह यससस... केविन... आई... एम कमिंग्गगग.... फक्क में हार्ड... हार्डर... मय्य्य्य पुसी इस... सोऊ वेट... यु लाइक फैकिंग मय पुसी... हाँ... यस... यस... यस... आई एम कमिंग्गगग..." चीखते, चिल्लाते और सिसकारियां भरते हुए वो झाद गई...

मेरा अभी तक पानी नही निकला था... मेने लीना मेम को आराम करने दिया और बिपाशा को खड़ा किया और उसे दीवार का सहारा दे कर झुका दिया और लंड को उसकी चुत में पेल दिया... फिर से रूम में थाप-2 की आवाज गूँजने लगी...


लीना मेम फिर से गर्म हो गई थी और अपनी चुत को रगते हुए हमारी चुदाई देख रही थी...

अचानक बिपाशा ने मेरा लंड अपनी चुत से बाहर निकल दिया और मेरा लंड पकड़ कर मुझे बाथ रूम ले आई...

बाथ रूम की दीवार पर अपने हाथ रख मेरे लंड को फिर अपनी चुत में लेलिया... मेरे शुरू से ही तेज़ धक्के लगाने शुरू कर दिए...

और कुछ ही देर में बिपाशा झादने लगी उसकी चुत से चुत रस के साथ-2 पेशाब भी निकलने लगा और एक मधुर सिटी की आवाज आने लगी...

वो अपनी चुत को रगड़-2 कर मूत रही थी...


उसने अपना निशाना कमोड को बना रखा था पर फिर भी उसका थोड़ा पेशाब इधर उधर गिर रहा था...

लीना मेम बाथ रूम के दरवाजे पर खड़े रह कर अपनी चुत को रगड़ते हुए ये सारा नज़ारा देख रही थी... उनको तो दरवझे से ही देखने की आदत है... इस बार भी में उनका हाथ पकड़ कर बाथ रूम में ले आया...

उनको दीवार से टिका कर किस्स किया और नीचे झुक कर अपने लंड को उनकी चुत पर सेट किया और मेरे सीधा खड़े होते ही मेरा लंड उनकी चुत में चला गया... मेने उनको दीवार से पूरा चिपका दिया और उनके दोनों पैसो को पकड़ कर हवे में उठा लिया... मेरा लंड अपनी चुत में एक दम अंदर तक मोहसूस कर के लीना मेम का मुह खुला राह गया...

मेने उनकी चुत में धक्के देना सुरु कर दिए... उन्होंने एक हाथ मेरे गले मे दाल दिया और मज़े से सिसकारियां लेने लगी...


"ओहहह... केविन यु... आर से स्ट्रांग... फक्क... मि... फक्क में हार्ड... मेरा निकलने वाला है... आई एम कनिंगगग..." बोलते हुए वो झादने लगी...

मेरा भी अब बहुत देर की चुदाई की वजह से पानी छूटने ही वाला था... "आई एम कमिंग टू लीना डार्लिंग" मैं झादते हुए बोला...

एक के बाद एक वीर्या कि पिचकारी मेरे लंड ने छोड़ना सुरु किया और लीन मेम की चुत मेरे वीर्या से भर गया... उनकी चुत ने मेरे लंड को पूरा निचोड़ दिया...

लीना मेम की चुत से मेरा लंड बाहर आते ही उनकी चुत से उनका चुत रस और मेरा वीर्या मिक्स हो कर टपकने लगा...

बिपाशा झट से आई और अपने घुटनो पर बैठ कर लीना मेम की चुत को चाट-2 कर वो सारा पानी पीगई...

उसने तो मेरे लंड को पकड़ कर आखरी बून्द तक निचोड़ कर वो चाट गई...


इस धुआंदार चुदाई के बाद हम तीनों थक गए थे... बिपाशा बाथ रूम में नहाने लगी तो मैने उसके होठो पर किस्स किया और उससे अलविदा कह कर फिर मिलने का वादा करके... लीना मेम के साथ अपने कपड़े पहन कर बाहर आगया...

"गुड नाईट मेम" लीना मेम का रूम आगया तो में बोला...

"अब लीना मेम नही लीना डार्लिंग कहो बेबी" उन्होंनेे मेरे होठ चुम कर कहा "गुड नाईट" उन्होंने मेरे पूरे चेहरे पर चुमियाँ दी और वो अपने रूम में चली गई...

में भी अपने रूम में आगया... अब तो बस सोने का मन कर रहा था...


मेरे पास रूम की दूसरी चाबी थी उसे मेने रूम खोला और सीधा बाथ रूम में घुस गया... मेने अपने लंड को अछे से साफ किया... इतनी चुदाई के वजह से पूरा चिपचिपा सा होगया था...

नाहा धो कर में सिर्फ शॉट्स में बाहर आया और बेड पर सोने के लिए गया ही था पर ये क्या बेड पर पहले से ही कोई सो रहा था.... शायद मेरा दोस्त सो रहा होगा... साला पूरा चादर ओढ़ कर अंधे मुह सो रहा था...

मेने चादर हटा कर उसके गांड पर लात मारने के लिए गया ही था कि मैं उसकी गांड देखता ही रह गया... अब मैं कोई गे तो था नही जो किसी लड़के की गांड को देखता... हा दोस्तो वो लड़की ही थी...

एक लड़की मेरे बेड पर अंधे मुह सो रही थी... उसकी गांड देख कर मेरा लंड शर्ट्स के अंदर तम्बू बनाने लगा... रूम की लाइट जली हुई थी और उस लाइट में उसकी गोरी और गोल मटोल मुलायम गांड चमक रही थी...


जब उसने करवट बदली तो उसकी चुत की झलक भी मिल गई... शायद ये वही कॉल गर्ल है... क्या मस्त माल है... मेरा तो मन कर सहा था कि अभी इसकी गांड में लंड पेल दु...

उस कॉल गर्ल के बदन पर ठंडी हवा पड़ने की वजह से उसकी नींद खुल गई और उसने मुझे अपने गांड को घुरते हुए पाया तो उसने एक हाथ अपने गांड पर रख कर फैला दिया...


उसकी गांड का भूरा रंग का छेद मेरी आंखों के सामने आगया... अब तो मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो कर कड़क हो गया था और शॉर्ट्स में ही बड़ा सा तम्बू बन गया था...
Reply
09-11-2019, 01:21 PM,
#10
RE: Bollywood Sex बॉलीवुड की मस्त सेक्सी कहानियाँ
अब तो मुझ से राह नही जा रहा था... उसने मुझे अपने पास आने का इशारा किया... मेने झट से अपना शॉर्ट्स निकाल दिया और उसे सीधा करके उसके ऊपर चढ़ गया...

पर उसने मुझे पलट दिया और खुद मेरे ऊपर आगई... उसने मेरे सीने पर किस्स करना सुरु किया और अपने जीभ बाहर निकाल कर मेरे निप्पल पर अपनी जीभ से चुभलाने लगी...

धीरे-2 करके वो मेरे पेट को चूमते हुए मेरे लंड पर आगई... उसने मेरे लंड की खाल को नीचे किया और उसके टोपे को चूम कर उसके ऊपर थूक दिया... और ज़ोर-2 से मेरे लंड की मुठ मरते हुए आपने थूक को मेरे लंड पर मलने लगी...


उसका गर्म थूक और ठंडे हाथ मुझे कुछ अलग ही मज़ा दे रहे थे... मेरे लंड पर एक और बार थूकने के बाद उसे अछि तरह से मलने के बाद...

वो उठी और मेरा लंड का टोपा अपनी चुत के मुह पर रखाऔर एक झटका मारा... मेरा लंड आधा उसकी चुत में चला गया... और मेरे दुसरा झटका मरते ही मेरा लंड उसकी चुत के गहराइयो में उत्तर गया और हैम दोनो के मुह से चीख निकल गई...

क्या की उसकी चुत अभी तक गीली नही हुई थी और मेरा लंड का टोपा उसकी चुत के दीवारों से रगड़ता हुआ अंदर गया था तो मुझे भी दर्द हुआ था....

वो मेरे ऊपर झुक गई और मैने उसके एक चुचे को अपने मुह में भर कर चूसने लगा... वो भी मेरे बालो को सहलाते हुए मज़ा ले रही थी... धीरे-2 उसकी चुत पानी छोड़ने लगी और मैने उसके चुचो को चूसते हुए उसकी चुत में धक्के मरना शुरू किया...


धीरे-2 धक्के तेज़ हो गए और वो भी अपनी कमर हिला कर मस्ती में सिसकारियां ले रही थी... अब मेरा लंड उसकी गीली चुत की दीवारों से बराबर रगड़ कर मज़ा देरहा था...

मेरे उसकी कमर को पकड़ कर अपने लंड पर दबा कर रोक दिया...

में:- पीछे से करने दोगी...

कॉल गर्ल:- क्यों नही... पर पहले तेल लगा लो...

उसने ड्रेसिंग टेबल से तेल की शीशी उठाई और मेरे लंड पर दाल कर उसके ऊपर अछे से लगने लगी... उसने ढेर सारा तेल मेरे लंड पर लगाया और मेरे सामने घोड़ी बन कर अपनी गांड मेरी तरफ कर दिया...

मेने तेल लेकर उसकी गांड के छेद पर लगाना शुरू किया... एक उंगली को उसके गांड के अंदर दाल कर अंदर तक तेल लगाया...


मैं उसके गांड में उंगली कर रहा था और वो अपनी चुत को सहला रही थी...

फिर उसने अपनी गांड को हाथो से फैलाया...



तो में समाज गया वो क्या चाहती है और मैने लंड पकड़ कर उसकी गांड के छेद पर टिकाया और धीरे-2 अंदर करने लगा...



धीरे-2 उसकी गांड मेरा पूरा लंड खागई... मेने उसे सीने से पकड़ कर उठाया और उसके बूब्स दबाते हुए पूछा "धीरे-2 करू या ज़ोर से"

तो उसने कहा "ज़ोर-2 से करना और चिखु तो भी मत रुकना"

उसके बोलते ही मेने धक्के लगाना सुरु किया और सच मे उसके मुह से चीख निकलने... उसकी गांड काफी टाइट थी... तेल लगाने की वजह से उसकी गांड मारने मज़ा आरहा था...

मेने अपने दो उंगली उसकी चुत में दाल कर अंदर बाहर करना सुरु किया... उसकी चुत से बहता हुआ पानी झंगो तक आरहा था...

मेने लंड बाहर निकाल दिया और उसे सीधा लिटा कर साइड में पड़ी हुई उसकी पैंटी उठा कर उसकी चुत से बहता हुआ पानी पोछा और लंड उसकी चुत में पेल दिया... अब में उसकी चुत बहुत तेज़ी से मार रहा था...

"ओहहह.... येस येस येस.... फक्क मि.... फक्क मि हार्ड... आई एम कमिंग... येस फक्क मि"

उसने मुझे कसकर पकड़ लिया और अपने पैरों को मेरे कमर पर लॉक करके वो ज़ोर-2 से कमर हिलाते हुए झादने लगी...

उसका चेहरा पूरा लाल पड़ गया था... झादने के बाद वो लंबी-2 साँसे भरते हुए मेरे बालो को अपने उंगलियों से सहलाने लगी...

थोड़ी देर रुकने के बाद मेने उसको उलट दिया और उसके पेट के नीचे एक तकिया रख दिया... जिससे उसकी गांड ऊपर आगई... मेने लंड को उसकी गांड के छेद पर सेट किया और उसके ऊपर ही लेट गया... मेरा लंड उसकी गांड में पूरा अंदर तक घुस गया था...

मेने उसकी कसी हुई गांड में धक्के लगाना शुरू किया और वो बड़े प्यार से मेरे बालो को सहलाते हुए सिकरिया भर रही थी...

धीरे-2 मेरे धक्के तेज़ होते गए... उसकी टाइट गांड मारने में काफी मज़ा आरहा था...

मेने इतने तेज़ धक्के लगाने शुरू किए की अब वो मज़ा दर्द में बदल गया और उसके मुह से चीख और आंखों से आंसू निकलने लगे... पर फिर भी उसने मुझे रुकने के लिए नही बोला...

मेरा भी बस निकलने ही वाला था.. में लगातार उसकी टाइट गांड मार रहा था...



कुछ दस धक्कों के बाद ही मेरे लंड ने उसकी गांड के गहराइयो में पानी छोड़ने शुरू किया...



उसकी गांड में झादने के बाद में उसके ऊपर से हट कर साइड में लेट गया और कब मुझे नींद आगई मुझे पता ही नही चला...

तो दोस्तो आपको ये कहानी कैसी लगी कमेंट करके जरूर बताए...
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Thumbs Up Hindi Sex Kahaniya अनौखी दुनियाँ चूत लंड की sexstories 80 26,826 Yesterday, 03:03 PM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna kahani नजर का खोट sexstories 118 233,233 09-11-2019, 11:52 PM
Last Post: Rahul0
Star Hindi Adult Kahani कामाग्नि sexstories 84 58,978 09-08-2019, 02:12 PM
Last Post: sexstories
  चूतो का समुंदर sexstories 660 1,119,998 09-08-2019, 03:38 AM
Last Post: Rahul0
Thumbs Up vasna story अंजाने में बहन ने ही चुदवाया पूरा परिवार sexstories 144 184,451 09-06-2019, 09:48 PM
Last Post: Mr.X796
Lightbulb Chudai Kahani मेरी कमसिन जवानी की आग sexstories 88 40,118 09-05-2019, 02:28 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Ashleel Kahani रंडी खाना sexstories 66 56,068 08-30-2019, 02:43 PM
Last Post: sexstories
Lightbulb Kamvasna आजाद पंछी जम के चूस. sexstories 121 139,509 08-27-2019, 01:46 PM
Last Post: sexstories
Star Porn Kahani हलवाई की दो बीवियाँ और नौकर sexstories 137 175,768 08-26-2019, 10:35 PM
Last Post: @bigdick
Star Adult Kahani कैसे भड़की मेरे जिस्म की प्यास sexstories 171 143,652 08-21-2019, 08:31 PM
Last Post: sexstories

Forum Jump:


Users browsing this thread: 3 Guest(s)