Antarvasna kahani रिसेशन की मार
07-10-2018, 11:43 AM,
#31
RE: Antarvasna kahani रिसेशन की मार
रिसेशन की मार पार्ट--30

गतान्क से आगे..........

मुझे ऑफीस का काम समझने मे ऑलमोस्ट 2 महीने लग गये और मैं अपने काम मे पर्फेक्ट हो गयी. डीके का डेली रुटीन यह था के जैसे ही वो ऑफीस मे आते पहले मेरी चूत की सेवा करते और फिर काम करते. कभी कभी तो जब काम ज़ियादा नही होता तो खुद भी नंगे हो जाते और मुझे भी नंगा करके अपने खड़े लंड पे बिठा लेते और हम ऐसे ही मस्तियाँ करते रहते. और जब कही वो टूर पे जाते तो मैं भी उनके साथी ही जाती. अभी टेक के टाइम देल्ही और कानपुर ही गये थे. जब बाहर का टूर होता तो हम एक ही रूम मे रहते और दूसरे रूम का जो रेंट रहता उसकी इन्वाइस ऑफीस मे सब्मिट कर देते और इन्वाइस अमाउंट मुझे दे देते तो मेरी अछी ख़ासी इनकम हो जाती. मैं उनके साथ बोहोत ही खुश थी और मुझे अपनी वाइफ जैसा ही ट्रीट करते. इन्न दो महीनो मे अछी ख़ासी अमाउंट बन गयी थी जिसे मैं ने सतीश के अकाउंट मे ट्रान्स्फर करवा दिया. सतीश भी बोहोत ही खुश हो गया और अपने कर्ज़े फ़ेड़ने मे जुट्ट गया. उधर उर्मिला और सतीश पति पत्नी की तरह से रह रहे थे और दोनो ही एक दूसरे से खुश थे. उर्मिला के हज़्बेंड का वाकेशन अभी एक साल और था इसी लिए इतमीनान था.

तीसरे महीने मे हमारा 3 दिन का बॅंगलुर का टूर बना तो मैं ने डीके से बोला के मुझे अपने हज़्बेंड से मिलने दोगे क्या तो उसने बोला के अरे इसमे पूछने की क्या बात है ज़रूर जाना लैकिन रात मे वापस आजाना. अपने खड़े लंड की तरफ इशारा कर के बोले क्यॉंके इसे तुम्हारी मस्ती भरी टाइट चूत की आदत पड़ गयी है यह क्या करेगा तो मैं ने उनके खड़े लंड को अपने हाथो मे पकड़ के दबाया और मुस्कुरा के बोला इसकी फिकर आप क्यों करते है मैं आपके लिए एक नयी चूत का बंदोबस्त कर दूँगी तो डीके का मूह हैरत से खुल गया और पूछा "क्या मतलब" तो मैं ने उनको उर्मिला के बारे मे बताया और उनके लंड को ज़ोर से दबाते हुए बोला के वो मेरी पक्की और बचपन की फ्रेंड है और जब मैं ने आपके इस शानदार लंड के बारे मे बोला तो उसने खुद ही यह मूसल लंड से चुदने की इच्छा ज़ाहिर किया तो डीके मुस्कुरा के बोले के ठीक है तुम्हारी फ्रेंड की चूत की भी सर्विसिंग कर देंगे पर तुम्हारा क्या ख़याल है वो मेरे लंड को झेल पाएगी तो मैं ने बोला के हा कर लेगी वो भी एक नंबर की चुड़क्कड़ है, कॉलेज लाइफ मे ही वो थोड़े क्लासमेट्स से चुदवा चुकी है. अब उसकी शादी हो गयी है पर उसका हज़्बेंड गल्फ मे काम करता है और इधर मेरे हज़्बेंड की तबीयत ठीक नही थी इसी लिए अब वो दोनो साथ साथ ही रहते है तो डीके ने आँख मार के बोला के इसका मतलब है के तुम्हारा हज़्बेंड तुम्हरे फ्रेंड की चुदाई भी करता है तो मे ने बोला के हा मैं ने ही यह अरेंज्मेंट किया है क्यॉंके दोनो अकेले थे सतीश को भी एक सहारे की ज़रूरत थी और मेरी फ्रेंड को भी, इसी लिए वो दोनो अब साथ ही रहते है और उन दोनो को मेरे और तुम्हारे बारे मे भी सब पता है. डीके ने एक बोहोत ही

लंबी साँस ली और मेरी तरफ देखने लगे तो मैं ने बोला के हा आक्च्युयली मैं ने पहले ही अपने पति की पर्मिशन ले ली थी और पूछा था के अगर ऐसा मौका आए के मुझे जॉब हासिल करने के लिए चुदवाना पड़े तो क्या करू तो मेरे पति ने बोला के देखो अभी हमको पैसो की सख़्त ज़रूरत है और तुम शादी शुदा भी हो चुदी चुदाई भी हो, तुम्हारी चूत कोई वर्जिन चूत नही है अगर एक और लंड से चुदवलोगी तो कोई प्राब्लम नही होगी. कोई बात नही अगर ऐसा कोई टाइम आए तो जस्ट गो अहेड आंड डू वॉटेवर यू कॅन डू टू गेट दिस जॉब. मेरे इतना बोलने तक डीके मेरी तरफ्ह टिक टिकी बाँधे देखते रहे. और फिर मुझे अपनी बाँहो मे समेत के मुझे किस करने लगे और बोले के स्नेहा यू आर दा बेस्ट, तुम बोहोत ही अछी हो मेरी जान. तुम्हारा दिल बोहोत ही सॉफ है. मेरे दिल मे तुम्हारी इज़्ज़त अब और बढ़ गयी है. तुम ने अपनी फॅमिली के प्रॉब्लम्स को सॉल्व करने मे अपनी पति की बोहोत मदद की है. तुम एक बोहोत ही शानदार औरत हो और अपने पति के लिए क्या क्या कर दिया तुम ने तो मैं ने बोला के आक्च्युयली मुझे ट्रॅवेल के दरमियाँ राज मिल गया था और मैं बोहोत दीनो से चुदी भी नही थी क्यॉंके मेरे पति की तबीयत ठीक नही थी और करीब 3 महीने से मुझे चोदा नही था और रास्ते मे जब राज से मुलाकात हुई और मैं उसकी जवानी पे मर मिटी और फिर रास्ते मे ही आक्सिडेंटली उस से चुदवा भी लिया. राज ने मुझे जॉब के लिए हेल्प करने का वादा किया था और मुझे इस होटेल मे रूम का बंदोबस्त भी राज ने ही किया था अपने एक्सपेन्स पे. और अब तुमको तो पता ही है के मेरा इंटरव्यू ऐसा लिया तुमने के मेरी जान ही निकाल दी और मेरी चूत और गंद दोनो को फाड़ के सत्यानस कर्दिआ और बदले मे मुझे जॉब दिया. इतना बोलते बोलते मैं उस से एक बार फिर से लिपट गयी और उसको किस करने लगी. मैं ने देखा के डीके की आँखो मे एक नयी चूत को चोदने की चमक आ गयी थी.

मैं और डीके सुबह की फ्लाइट से बॅंगलुर आ गये और होटेल मे चेक इन करने के बाद दोनो काम पे निकल गये. मैं ने घर फोन कर दिया था और सतीश को बोल दिया था के मैं शाम मे आने वाली हू तो वो बोहोत ही खुश हो गया और फिर मैं ने उर्मिला से बात की और उसको बोला के वो शाम 8 बजे तक यहा होटेल आ जाए और डिन्नर साथ ही कर ले तो उसकी खुशी का ठिकाना नही था और सोच रही थी के अब तक तो स्नेहा से डीके के लंड की तारीफ ही सुनती आए थी पर आज देखने और चुदने का मौका मिलेगा. उर्मिला तो फॉरन ही रात की तय्यरी मे लग गयी. मैं ने पहले ही बोल दिया था के डीके और राज दोनो को ही एक दम से चिकनी बेबी चूत बोहोत पसंद है तो वो रगड़ रगड़ के अपनी चूत के बॉल सॉफ करने मे लग गयी और शाएद 3 टाइम क्रीम लगा के अपनी चूत को चिकना किया. अब उसकी चूत सच मे बेबी चूत लग रही थी.

उर्मिला टाइम से थोड़ा पहले ही हमारे होटेल पोहोच गयी. मैं ने डीके और उर्मिला का इंट्रोडक्षन करवाया. थोड़ी देर हसी मज़ाक किया और खुल के डीके से बोल दिया के यह मेरी फ्रेंड है उर्मिला जिसका जीकर मैं बार बार आपसे बोलती रहती हू. यह मेरी बोहोत ही अछी और पक्की फ्रेंड है इस ने मेरे और मेरे पति के लिए वो किया है जो शाएद कोई और लड़की नही कर पाती तो उर्मिला मुझ से लिपट गयी और प्यार करते बोला के अरे मेरी स्नेहा जान तेरे लिए तो मैं वो सब कर सकती हू जिसका तू सोच भी नही सकती और आँख मार के खुल के बोली के अरे तू बोलेगी तो मैं तुम्हारे एमडी से क्या किसी से भी चुदवा लेगी तो डीके हस्ने लगे और बोले के ठीक है उसका भी मैं कल इंतेज़ाम कर दूँगा तो मेरी समझ मे कुछ नही आया और फिर हम तीनो मिल के हस्ने लगे. मैं ने डीके से बोला के आप ऊर्मि के साथ डिन्नर लेलो और उसके बाद ऊर्मि की चूत का बजा बजा दो तो फिर से उर्मिला हस्ने लगी और बोली के चल अब तू जा वहा सतीश खड़े लंड से तेरा वेट कर रहा है. डीके ने भी बोला के हा स्नेहा अब तुम जाओ लैकिन कल सुबह 8 बजे तक आ जाना कल हमारी 10 बजे मीटिंग है कुछ तय्यरी भी करनी है. मैं ने बोला के कोई बात नही मैं आ जाउन्गी और बाहर निकल गयी.

उधर डिन्नर के बाद डीके उर्मिला को ले के अपने रूम मे चले गये. उर्मिला बोहोत ही फ्रेंड्ली नेचर की लड़की थी इसी लिए डिन्नर से पहले ही दोनो अछी तरह से घुल मिल गये थे. उर्मिला को जब भी मौका मिलता वो लंड चूत और चुदाई जैसे शब्द से डीके का दिल जीत लेती थी और दोनो अब पक्का सेक्सी बातें करने लगे थे. डिन्नर के बाद जैसे ही वो दोनो कमरे मे गये. उर्मिला डीके से ऐसे लिपट गयी जैसे बरसो से जानती हो. डीके और वो दोनो पॅशनेट किस करने लगे और 5 मिनिट के अंदर ही दोनो के दोनो नंगे हो चुके थे. डीके का मूसल देखते ही उर्मिला की आँखें हैरत से फटी की फटी रह गयी और उसने उनके लंड को अपने हाथो मे वेट करते करते पूछा स्नेहा ने इस लंड से चुदवाया है तो डीके ने हा बोला तो उसको यकीन नही आया उसने फिर पूछा तो फिर भी डीके ने बोला के हा उसने इसी लंड से चुदवाया है और गंद भी मरवाई है और इसकी सारी मलाई भी खाई है. उर्मिला नीचे बैठ गयी और डीके के लंड को चूसने लगी.

उर्मिला डीके का लंड चूस्ते हुए

डीके भी फुल मूड मे आ गये थे. उर्मिला के बूब्स भी मेरे बूब्स से थोड़े बड़े थे और उसका बदन भी बोहोत सॉफ्ट और गोरा था. डीके उर्मिला का सर पकड़ के उसके मूह को चोदने लगे और कभी कभी तो इतनी ज़ोर से उसके हलक मे लंड घुसा देते के उसको खाँसी आ जाती. उर्मिला भी बड़ी मस्ती मे लंड चूस रही थी. उर्मिला के ऐसा मस्ती मे लंड चूसने से डीके भी जल्दी ही रेडी हो गये और पूरी ताक़त से अपने लंड को उर्मिला के हलक के अंदर तक उतार दिया उर पिचकारियाँ मार के उसके पेट मे डाइरेक्ट डालने लगे. उर्मिला के थ्रोट के अंदर उनका लंड घुसते ही उर्मिला ने साँस लेना बंद कर दिया था और उसका मूह तकलीफ़ से लाल हो गया था. पर थोड़ी ही देर मे डीके ने अपना लंड बाहर निकाल लिया तो उर्मिला को कुछ सुकून मिला. अब डीके ने उरिमला को बेड पे लिटाया और खुद नीचे बैठ गये और उसकी टाँगें अपने शोल्डर्स पे रख के उसकी चूत के चारो तरफ अपनी जीभ घुमा के उसको मज़ा देते रहे. उर्मिला के दोनो हाथ डीके के सर पे थे और वो बार बार अपनी चूत उठा उठा के डीके के मूह मे अपनी चूत को घुसेड़ना चाह रही थी पर डीके उसको तड़पाने पे तुले हुए थे. उर्मिला की चूत से ऐसे ही जूस बहने लगा. थोड़ी देर के बार उर्मिला की पूरी चूत को अपने मूह मे भर लिया और अपने दांतो से चबाने लगे तो उर्मिला दीवानी हो गयी और उनके बालो को पकड़ के उनके सर को अपनी चूत मे बहुत ज़ोर से घुसा लिया और उनके मूह मे झड़ने लगी. और फिर डीके अपनी जगह से उठ कर उर्मिला के ऊपेर झुक गये तो ऑटोमॅटिकली उर्मिला की टाँगें उनके कमर से लिपट गयी और फिर उर्मिला ने अपना हाथ बढ़ा के डीके के लंड के डंडे को ज़ोर से दबाया और थोड़ा आगे पीछे किया और अपनी चूत के अंदर लंड के सूपदे को रगड़ने लगी.

डीके का लंड उर्मिला की चूत फाड़ने को तय्यार. उर्मिला बोहोत खुश है

उसकी चूत बोहोत ही लाल हो चुकी थी. डीके के लंड का सूपड़ा स्लिप हो के उसकी चूत के सुराख मे अटक गया तो उसके मूह से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स निकल गया और एक मिनिट के लिए उसका बदन अकड़ गया तो डीके ने हस्ते हुए बोला के अभी तो सिर्फ़ हेड ही गया है मेरी जान तो उसने बोला के अरे कोई बात नही लगता है आज मेरी चूत का भुर्ता बनने वाला है और मेरी चूत ऐसी कातिलाना चुदाई के लिए तय्यार है. डीके हस्ने लगे और थोडा से लंड को चूत के अंदर पुश किया तो उसके मूह से चीख निकल गयी ऊवूवुयियैआइयीयीयियी म्‍म्म्मममाआआआआआअ और फिर डीके अपने आधे ही लंड से ऊर्मि को चोद्ते रहे तो उर्मिला ने समझा के शाएद उसकी चूत ने पूरा लंड खा लिया है और डीके की तरफ ऐसे देखने लगी जैसे बोल रही हो के देखो मेरी चूत ने तुम्हारा सारा लंड अपने अंदर ले लिया तो डीके उसकी नज़र को समझ गये और बिना कुछ बोले उसके ऊपेर पूरा झुक गये, उसके शोल्डर्स को टाइट पकड़ लिया और अपने लंड को पूरा हेड तक बाहर खेच लिया और इस से पहले के उर्मिला कुछ समझ पाती इतनी ज़ोर से लंड को उसकी चूत के अंदर घुसेड़ा के वो बोहोत ही ज़ोर से चिल्लाई ऊऊओईईईईईइ म्‍म्म्ममाआअ म्‍म्म्मममाआआररर्र्ररर डड्ड्ड्डयायाऑल्ल्लायाआयाया र्रररीईए म्‍म्म्मईएईईईई एम्ममाययाआर्रियियीयियी न्न्नीईइक्क्क्क्काआल्ल्ल्लूऊऊ ब्ब्ब्बाअहहीएरररर प्प्प्प्ल्ल्ल्लीईएआआसस्स्स्सीईए और अपनी टांगो से और अपने हाथो से डीके को टाइट पकड़ लिया. उर्मिला की आँखो से आँसू निकलने लगे, उसका चेहरा पूरा लाल हो गया और साँस बंद हो गयी. उसकी चूत पूरी तरह से फॅट चुकी थी. उसकी चूत के चॅम्डी डीके

के लंड से चिपकी हुई थी. डीके का लंड उर्मिला की चूत फाड़ता हुआ उसकी बच्चे दानी के मूह मे घुस गया था. डीके थोड़ी देर तक उसके ऊपेर ऐसे ही पड़े रहे फिर धीरे धीरे धक्के मारने लगे.

डीके उर्मिला को डॉगी स्टाइल मे चोदने लगे

उर्मिला का बदन थोड़ी देर तक तो टाइट रहा फिर उसको भी मज़ा आने लगा और वो अपनी गंद उचका उचका डीके का लंड अपनी चूत मे लेने लगी. डीके का लंड उर्मिला की चूत मे बोहोत ही टाइट जा रहा था जैसे पहले पहले मेरी चूत मे टाइट जाता था फिर थोड़ी ही देर मे उर्मिला की चूत डीके के लंड से अड्जस्ट हो गयी और मज़े से चुदवाने लगी. तकरीबन हर 8 – 10 धक्को के बाद उर्मिला की चूत झाड़ जाती थी और चूत के जूस से उसकी चूत कुछ और स्लिपरी हो जाती थी. थोड़ी ही देर मे डीके तूफ़ानी रफ़्तार से चोदने लगे, सारा बेड बोहोत ज़ोर ज़ोर से हिलने लगा. ऐसा लग रहा था जैसे डीके दीवाने हो गये हो और उसको दीवानो की तरह से चोद रहे थे और फिर देखते ही देखते डीके का लंड उर्मिला की चूत मे फूलने लगा. उर्मिला काफ़ी चुदी चुदाई थी फॉरन समझ गयी के अब डीके का फव्वारा छूटने वाला है तो उसने डीके के चूतदो को हाथो से पकड़ लिया और अपनी टाँगों से भी डीके के चूतदो को अपनी ओर खेचने लगी और अपनी चूत उठा उठा के बड़ी मस्ती मे चुदवाने लगी. उसकी आँखें मस्ती मे बंद हो गयी थी और एक फाइनल झटका इतनी ज़ोर से मारा के उर्मिला फिर से चिल्लाई हहाआआआआईईईई सस्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स फफफफफफफफफफफफ्फ़ उसकी आँखें अपने सॉकेट मे ऊपेर चढ़ गयी और उसकी आँख से एक बार फिर से आँसू निकलने लगे और डीके का लंड जैसे उसके पेट मे घुस के उसके हलक तक आ गया और लंड से मलाई का फव्वारा ऐसे लगा जैसे उसकी चूत के अंदर फ्लड आ गया हो. उनकी मलाई की पहली बूँद के

साथ ही वो फिर से झड़ने लगी. दोनो गहरी गहरी साँसें लेने लगे. डीके उर्मिला के बदन पे कोलॅप्स हो गये उनका लंड बिना सॉफ्ट हुए ऐसे ही एरेक्षन पोज़िशन मे उर्मिला की चूत के अंदर फूल पिचकने लगा.

क्रमशः......................
Reply
07-10-2018, 11:44 AM,
#32
RE: Antarvasna kahani रिसेशन की मार
रिसेशन की मार पार्ट--31

गतान्क से आगे..........

डीके का लंड उर्मिला की चूत मे घुसते ही उसकी आँखें ऊपेर च्चढ़ गयी.

थोड़ी देर ऐसे ही लेटे रहने के बाद जब दोनो अपने अपने सेन्सस मे वापस आए तो उर्मिला ने देखा के अभी तक डीके का लंड वैसे का वैसा ही सख़्त लोहा बना हुआ है तो उसने डीके को चूम लिया और थॅंक्स बोला तो डीके ने बोला थॅंक्स क्यों तो उसने बोला के ऐसे शानदार लंड से चोदने के लिए. आज मुझे ऐसा लगा जैसे मे सच मैं आज पहली बार चुदी हू और ज़िंदगी मे फेली बार आज सॅटिस्फाइ हुई हू. फिर उसके बाद डीके ने उसको उस रात 6 या 7 टाइम चोदा डिफरेंट स्टाइल मे और उसकी गंद भी मारी. जब उर्मिला की गंद फटी तब वो बोहोत रोई उसकी चूत और गंद दोनो से ही खून निकला था जैसे मेरी चूत और गंद से निकला था.

डीके उर्मिला को अपने ऊपेर ले के चोदने लगे

डीके उर्मिला की चिकनी चूत को घचा घच चोद रहे थे.

इधर मैं घर मे जाते ही सतीश से लिपट गयी और बोहोत ज़ोर ज़ोर से रोने लगी के मैं उसके साथ वफ़ा नही कर पाई तो उसने मुझे चूम लिया और बोला के अरे मेरी जान कोई बात नही यह बात सिर्फ़ हम ही तो जानते है इस बात को बॅस अपने हद तक ही रहने दो और जैसे चल रहा है चलने दो मुझे तुम से कोई शिकायत नही है बलके मैं तो तुम्हारा शुकुरग़ुज़ार हू के तुमने मेरे गिरते बिज़्नेस को संभाल लिया और अपना सब कुछ दाव पे लगा दिया और मुझे लिपताए हस्ते हुए बोलेके अपनी चूत और गंद भी मेरे लिए दाव पे लगा दी तो मैं ने उसके गालो पे धीरे से प्यार से मारा और बोला के "हॅट शैतान कही का" मैं तुम्हारे लिए पानी जान भी दे सकती हू सतीश यह चूत और गंद क्या चीज़ है. उस रात सतीश ने मुझे जम के चोदा पर सच बोलू के मुझे सतीश के लंड मे थोड़ा भी मज़ा नही आया. अब यह तो दुनिया की रिवाज और रीति है के शोहार चोद्ता है और वाइफ चुदती है बॅस यही रसम पूरी करने के लिए सतीश ने मुझे चोदा और मैं उस से चुद गयी पर मज़ा तो दूर की बात मेरा तो एक टाइम भी जूस नही निकला. मेरी चूत तो राज के और डीके के मूसल लंड की आदि हो गयी थी. सारी रात मे सतीश ने बड़ी मुश्किल से 2 टाइम चोदा पर जल्दी ही झाड़ भी गया. मैने उसको बोला ही नही के मुझे मज़ा नही आया और ना ही मेरी चूत से जूस निकला. मैं ने ऐसे पोज़ किया जैसे मुझे बोहोत ही मज़ा आया हो पर ऐसा कुछ नही था.

दूसरे दिन अभी उर्मिला होटेल मे सोई पड़ी थी के मे पोहोच गयी. उर्मिला को उठाया, उतनी देर मे, मैं ने डीके के लंड को चूसा और बोला के डीके प्लीज़ एक टाइम चोद डालो ना मेरी चूत मे आग लगी है जिसे सतीश बुझा नही पाए तो डीके ने मुझे बघल से पकड़ के उठा लिया और खड़े खड़े ही दीवार से टीका दिया और मेरी टाँगो को अपने कमर पे लपेट लिया और मैं ने उनकी गरदन मे अपनी बाहें डाल के उनको पकड़ लिया और दूसरे हाथ से उनके लंड को पकड़ के अपनी चूत के सुराख मे टीका दिया और बोला के मारो डीके चोद डालो साली को यह बोहोत फदाक रही है और फिर डीके ने भी एक इतना पवरफुल धक्का मारा के मेरी तो जान ही निकल गयी. और वो मुझे पागलो की तरह से चोदने लगे. अभी हमारी चुदाई चल ही रही थी के उर्मिला स्नान करके बाहर आई और हमे देखने लगी और बोली के क्यों सतीश ने नही चोदा क्या जो चुदवाने को इतनी उताओली हो रही है तो मैं ने बोला के अब तो तुझे डीके के मूसल लंड मिल गया अब तू खुद ही देख लेना के तुझे सतीश से चुदवाने मे मज़ा आता है या डीके के लंड से तो वो मुस्कुरा दी. डीके के धक्के तेज़ होते चले गये और फिर वो मेरी चूत के अंदर अपनी गरम गरम मलाई का तूफान छ्चोड़ने लगे. मैं एक दम से सॅटिस्फाइ हो गयी. मैं और मेरी चूत दोनो ही डीके के लंड से चुदने के बाद निहाल हो गये.

मैं ने और डीके ने साथ साथ शवर लिया और ब्रेकफास्ट रूम पर ही मंगवा लिया. ब्रेकफास्ट के बाद मैं और डीके तो मीटिंग के लिए चले गये जाने से पहले डीके ने उर्मिला से बोला के तुम आज यही रुक जाओ शाम को मेरा एक कोलीग आने वाला है तो हम तीनो मिल के मस्ती करेंगे तो मुझे जब पता चला के शाम की फ्लाइट से राज आने वाला है. हम शाम तक होटेल वापस आ गये थे और थोड़ी ही देर मे राज पोहोच गया. राज को हिंट दे दिया था के यहा एक नयी चूत चुदने का वेट कर रही है. राज के आने के बाद मैं ने उर्मिला का और राज का इंट्रोडक्षन करवाया. डिन्नर को जाने से पहले राज ने उर्मिला को चोदा और मुझे डीके ने. हम दोनो यानी मैं और उर्मिला डीके और राज के लंड पे चढ़ि बैठी थी और वो दोनो नीचे से धक्के मार मार के हमारी चुदाई कर रहे थे. फिर हम दोनो ने लंड एक्सचेंज किए और दोनो को दोनो ने चोदा. डिन्नर से पहले ही मे घर जाने को रेडी होने लगी तो देखा के उर्मिला डॉगी स्टाइल मे है और डीके का लंड पीछे से उर्मिला की चूत मे घुसा हुआ है और वो उसको धना धन चोद रहे है और सामने राज घुटनो के बल बैठे है और उर्मिला राज के लंड चूस रही है. पीछे से डीके धक्का मारते तो उर्मिला आगे को बढ़ जाती और जैसे ही आगे बढ़ती राज का लंड उसके हलक तक घुस जाता. मैं कपड़े चेंज कर के रेडी हो रही थी इतनी देर मे देखा के राज नीचे लेटे हुए है और उर्मिला राज के लंड की सवारी कर रही है. नीचे से राज उर्मिला की चूत मे लंड डाले उसे चोद रहे है और पीछे से डीके ने अपना लंड उसकी गंद मे घुसाया हुआ है और दोनो रिदमिकली उर्मिली की चूत और गंद को चोद रहे थे. डीके और राज दोनो ही उर्मिला को चोदने मे बिज़ी थे. मैं ने बाइ बोला तो भी किसी ने जवाब नही दिया और मैं रूम से बाहर निकल गयी और रूम का डोर ऑटोमॅटिकली लॉक हो गया. उस रात को डीके और राज ने दोनो ने मिल के उर्मिला की चुदाई की सारी हेकड़ी निकाल दी और उसकी चूत और गंद दोनो का चोद चोद के भोसड़ा बना दिया. ऐसा लग रहा था जैस उर्मिला कोई प्रोफेशनल रंडी है और चुदवाने मे माहिर है. दूसरे दिन उर्मिला चलने के काबिल नही थी. हमे वापस मुंबई आना था. शाम तक उर्मिला ने रूम मे ही रेस्ट किया और शाम को जब हमारे साथ वापस जाने के लिए नीचे उतर रही थी तब भी उसकी चाल मे लड़खड़ाहट थी और वो लंगड़ा लंगड़ा के अपनी टाँगें चौड़ी कर के चल रही थी. हम तीनो एरपोर्ट की तरफ चले गये और उर्मिला अपने घर को चली गयी. जाने से पहले डीके ने अपनी और राज की तरफ से उर्मिला को एक डाइमंड सटडेड एअर रिंग और लॉकेट का सेट दिया और इतने शानदार गिफ्ट को देख के उर्मिला बोहतो ही खुश हो गयी. उर्मिला ने जाने से पहले बोला के डीके और राज थॅंक्स फॉर एवेरितिंग आंड प्लीज़ डॉन'ट फर्गेट मी व्हेन यू आर हियर इन बॅंगलुर, आइ आम ऑल युवर्ज़ आंड विल सर्व यू टू दा बेस्ट ऑफ माइ अबिलिटी. डीके और राज ने बोला के उर्मिला ट्रूली स्पीकिंग यू आर वेरी गुड. हम ने सोचा भी नही था के कोई हमै इतनी अछी तरह से

सॅटिस्फाइ कर सकता है तो उर्मिला ने बोला के प्लेषर ईज़ माइन. हम एरपोर्ट चले गये और उर्मिला घर.

जब से मैने जॉब जाय्न किया , राज से और डीके से चुदी तो मेरी चुदाई की इच्छा बोहोत ही बढ़ गयी. अब मुझे सतीश जैसे छोटे लंड से मज़ा नही आता था. जब कभी बॅंगलुर जाना होता और सतीश से मजबूरी मे चुदवाना पड़ता तो मुझे बिल्कुल भी मज़ा नही आता और सतीश से चुदवाने के बाद अपनी ही उंगली से अपनी चूत के दाने को रगड़ रगड़ के अपनी चूत का जूस निकलती लैकिन एक टाइम भी सतीश को नही बोला के मैं क्या करती हू. उर्मिला को मालूम था के मुझे अब सतीश के लंड से मज़ा नही आता और मैं चुदने के बाद भी अपनी चूत का अपनी उंगली से मसाज करती हू. पता नही उसने सतीश से बोला या नही मुझे नही मालूम.कुछ यही हाल उर्मिला का भी हो गया था उसको भी सतीश के लंड मे मज़ा नही महसूस हो रहा था और वो भी अपनी उंगली से ही अपनी चूत का मसाज करते करते झाड़ जाती थी क्यॉंके सतीश उसको सॅटिस्फाइ नही कर पा रहा था.

मेरा जॉब बोहतो अछा चल रहा था. मैं फॉरिन के टूर पे भी जाती रही हू और कभी कभी तो बिज़्नेस डील फाइनल करने के लिए मुझे कस्टमर्स से भी चुदवाना पड़ता था और हर एक चुदाई के मुझे कंपनी से अलग से

र्स 50,000,00 मिलते थे. मैं ने सोचा के एक डील फाइनल करवाने के अगर इतने पैसे मिले तो क्या बुरा है. एक टाइम जब हज़्बेंड की अलावा किसी दूसरे मर्द से चुद चुकी जिसका मेरे पति को भी पता है तो फिर एक और लंड से चुदना क्या दो से क्या और तीन से क्या. फिर मुझे अपनी प्राइवेट लाइफ की सीक्रेसी याद आई तो मैं ने इस बात को किसी से भी शेर नही किया बस आज पहली बार आप से शेर कर रही हू और यह बात तो उर्मिला को भी नही पता के मैं कभी डील फाइनल करने के और कांट्रॅक्ट साइन करवाने के लिए मैं अपने कस्टमर्स से भी चुदवाती हू. अरे हा यह तो बताना भूल ही गयी के मैं अपने फॉरिन कस्टमर से ही चुदी हू अभी तक और हमेशा ही कॉंडम लगवा के चुदी हू कभी भी बिना कॉंडम के किसी फॉरिन कस्टमर से नही चुदवाया. अमेरिकन लंड आछे ख़ासे बड़े और मोटे होते है और उनके चोदने का ढंग भी थोड़ा अलग है. वो एक टांग उठा के चोद्ते है जिस्मै लंड अछी तरह से चूत के अंदर जाता तो है पर लंड का वो पवरफुल मार जितना ज़ोर से पड़ना चाहिए उतनी ज़ोर से नही पड़ता जितना मिशनरी पोज़िशन मे पड़ता है. हा इतना है के अमेरिकन लंड बोहोत देर से डिसचार्ज होते है और उनके लंड से चुदवाने मे मज़ा भी आता है क्यॉंके वो चोदने से पहले चूत को बोहोत अछी तरह से चाट ते है और फिर अपने लंड को भी चुस्वते है और मूह मे झाड़ भी जाते है. ब्रिटिश लंड से भी चुद चुकी हू उनके लंड उतने बड़े तो नही होते

बस ठीक ठाक ही होते है और वो चोद्ते भी अछा है मज़ा आता है उनसे चुदवाने मे भी. इटॅलियन लंड भी ठीक ठाक होते है. अरे एक टाइम तो एक आफ्रिकन से चुदवाना पड़ गया तो मेरी गंद ही फॅट गयी इतना लंबा मोटा तगड़ा लंड था साले का. काला भुजंग देखते ही डर लगने लगा था पर जब चुदवाना था तो चुदवाना था. उसने बोहोत बुरी तरह से चोदा और मार मार के मेरा और मेरी चूत का कचूमर बना दिया. उस आर्फीकन से चुदवाने मे एक बार फिर से मेरी चूत से खून निकला था. बाप रे क्या बताउ साले का कितना बड़ा था और लोहे जैसा सख़्त भी. साले ना सारी रात मे कोई 6 टाइम चोदा और फिर गंद भी मारना चाह रहा था पर मैं ने बड़ी मुश्किल से अपनी गंद की जान बचाई और उस से कांट्रॅक्ट पे साइन करवा ही लिया. डीके से जब बताया तो उसने मेरी चूत देखी और बोला के साला आदमी था या जानवर भेन्चोद फ्री की चूत मिली तो भिकारी की तरह से टूट पड़ा मदरचोड़ मेरी प्यारी स्नेहा डार्लिंग की चूत का क्या हाल बना दिया है भोसड़ी वाले ने. तुम्हारी चूत तो एक दम से खुल गयी है. इस आफ्रिकन से चुदवाने के और उस से कांट्रॅक्ट साइन करवाने के मुझे 1 लाख रूपीए मिले थे. मैं ने सोचा के चलो रात तो जैसे तैसे गुज़र ही गयी पर एक लाख रूपिया भी तो मिला जो मेरे बोहोत काम आएगा.

इंडिया से बाहर किसी एनआरआइ इंडियन से चुदवाने का मोका नही मिला. आगे पता नही के कोई लोकल या इंडियन कस्टमर से भी चुदना पड़े. स्टिल डॉन'ट नो. जब टाइम आएगा देखा जाएगा. और हा जब से मैं ने कंपनी जाय्न की है और फॉरिन कस्टमर्स से बिज़्नेस के लिए चुदवाया है हमारा बिज़्नेस एक दम से स्काइ रॉकेट हो गया और बोहोत ही बढ़ गया. फॅक्टरी का सेल्स और प्रोडक्षन एक दम से बोहोत ज़ियादा हो गया है यह देखते हुए डीके और राज ने मुझे कमिशन देने का भी फ़ैसला कर लिया. अब मुझे यियर्ली ऑलमोस्ट 20 से 25 लाख तक का तो सिर्फ़ कमिशन ही मिलता है और फिर दूसरे सर्वीसज़ के मिला कर ऑलमोस्ट4 या 5 लाख मोन्थलि मिलते है. सतीश ने अपने सारे करज़रे उतार दिए. हम ने बॅंगलुर मैं अपना एक शानदार घर बनवा लिया और सतीश ने फिर से बिज़्नेस स्टार्ट कर दिया. इस मर्तबा बिज़्नेस कुछ बड़े स्केल पे खोला था इसी लिए सतीश कुछ ज़ियादा ही बिज़ी हो गया था. अब मैं और सतीश कभी कभी ही मिल पाते है बस हमारी टेलिफोन पर ही बात चीत होती रहती है. उर्मिया के पति को शाएद किसी ने बता दिया के वो किसी और के घर मे रहने लगी है तो उसके पति ने भी फोन करना कम कर दिया. उर्मिला को भी अब हमारी ही फॅक्टरी मे डीके ने एक जॉब ऑफर की और बॅंगलुर मैं ही एक ब्रच खोल के उसको ब्रांच मॅनेजर बना के बिठा दिया. अब उर्मिला के पास भी पैसे की रेल पेल होने लगी और वो भी पैसो मे खेलने लगी. प्रोबेशन पीरियड ख़तम होते ही उसको भी कमिशन मिलने लगा था जो अछा ख़ासा था और मंत्ली ऑलमोस्ट 20,000.00 से

25,000.00 तक बन जाता था. वो भी काफ़ी बिज़ी हो गयी थी अब उसको भी ज़ियादा टाइम नही मिलता था. इसी लिए अब वो अपने पति के फोन का भी इंतेज़ार नही करती थी और उसने भी सोचना छ्चोड़ दिया था के उसका फ्यूचर बिना पति के कैसा होगा. उसकी सॅलरी भी अब तक इनक्रीमेंट के साथ 40,000.00 तक पोहोच गयी थी और फिर उसको हाउसिंग अलग से मिलती थी. उर्मिला और सतीश एक साथ ही रहते थे और अभी तक एक दूसरे को चोद्ते थे. राज और डीके जब बॅंगलुर आते तो उर्मिला को ज़रूर चोद्ते. उर्मिला भी बड़े मज़े से चुदवाती.

मैं ने दुबई मे अपना खुद का एक आउटलेट खोल लिया जहा से मैं अपनी फॅक्टरी का सेल्स किया करती हू. अपने दुबई ऑफीस के मॅनेजर के लिए मैं ने ममता को बोह्त अछी सॅलरी पे रख लिया. ममता अभी अनमॅरीड थी और बोहोत ही खूबसूरत और नाज़ुक लड़की थी. ममता बोहोत खुश हो गयी. ममता को मैं ने शोरुम कम ऑफीस के ऊपेर ही 2 रूम की फेसिलिटी मे रख लिया. दुबई मे घर मिलना बोहोत मुश्किल है इसी लिए ऑफीस के ऊपेर ही उसको अकॉमडेशन दे दिया. मैं जब कभी अपने दुबई ऑफीस को अटेंड करती तो वही ममता के साथ ही रहती. ममता एक बोहोत ही अछी लड़की थी पर उसको सेक्स के बारे मे कुछ भी पता नही था. एक रात जब मैं और ममता साथ साथ लेटे थे तब पता नही कैसे सेक्स का टॉपिक और डीके से मेरा चुदवाना डिस्कशन मे आया और मैं गरम हो गयी और ममता की चूत पे हाथ रख दिया तो उसके मूह से सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स की आवाज़ निकली और उसने अपनी टाँगें टाइट बंद कर ली फिर धीरे धीरे रिलॅक्स हुई और मैने उसकी चूत पे हाथ रख दिया और मसाज करने लगी. ममता ने बताया के वो अक्सर अपनी चूत का मसाज करती है. मैं ने ममता को नंगा कर दिया और खुद भी नंगी हो गयी और फिर हम दोनो एक दूसरे के बदन से खेलने लगे. मैं ने ममता को अपने ऊपेर खेच लिया और उसको पलटा दिया और उसकी चूत को चाटने लगी. उसका मूह मेरी चूत के सामने थी तो उसने भी फॉरन ही मेरी चूत को चाटना शुरू कर दिया. यह उसका पहला लेज़्बीयन सेक्स एक्सपीरियेन्स था. उसको बोहोत मज़ा आया. ममता की चूत बोहोत छोटी थी. अभी उसकी उमर ही क्या थी बेचारी की मॅग्ज़िमम होगी कोई 22 – 23 साल की. मजबूरी मे जॉब करना पड़ गया था उसको. डीके ने उसको मेरे साथ काम करने की पर्मिशन दे दी थी और अब वो मेरे पेरोल पे थी. हा तो यह ममता का पहला लेज़्बीयन सेक्स एक्सपीरियेन्स था जिसे उसने बोहोत ही अछी तरह से एंजाय किया. मैं ने पूछा के डीके से चुद्वओगि क्या ? तो वो मुस्कुरा के बोली के मेडम आपके बोलने के हिसाब से तो मैं तो उन से चुदवाने के मर ही जाउन्गी तो मैं ने हस्ते हुए कहा के नही मेरी जान चुदवाने से कोई नही मरता. मैं ने बोला के अगर ऐसे मोटे लंड से चुदवाने मे मरना होता तो ज़रा खुद सोचो डेलिवरी के टाइम पे औरत की चूत से इतना बड़ा बच्चा कैसे निकल पाता तो उसकी समझ मे बात आ गयी और उसने बोला के मुझे अभी भी डर लग रहा है तो

मैं ने बोला के अरे ऐसे डरती रहोगी तो कैसे काम चलेगा एक टाइम हिम्मत कर्लो और चुदवा लो तब तुम्है पता चलेगा के चुदवाने मे कितना मज़ा आता है और लड़की के लिए एक अछा लंबा मोटा लोहे जैसे लंड से चुदवाना क्या मायने रखता है. यूँ तो तुम चुदवा ही लोगि शाएद शादी से पहले या शादी के बाद, पता नही तुम जिस लंड से चुद्वओगि वो कैसा होगा. डीके का लंड तो ट्रस्टेड है मुझे पता है के ऐसा शानदार लंड जब मुझे कही नही मिला तो तुम्है क्या मिलेगा. ममता मेरी बात सुन के थोडा थोड़ा रेडी तो हो रही थी पर डर भी रही थी. मैं ने बोला के जब तुम अपनी कुँवारी चूत की सील डीके के शानदार लंड से तूडवाओगी तो तुम्हारी चूत भी तुम्है दुआए देगी के कैसे मस्त लंड से टूटी है तो वो हस्ने लगी फिर मैं ने उसको अपनी बाँहो मे भर लिया और फिर हम एक बार फिर से 69 की पोज़िशन मे आ गये और एक दूसरे की चूतो को चाटने लगे और फिर झड़ने के बाद एक दूसरे की बाँहो मे बाहें डाल के गहरी नींद सो गये.

क्रमशः......................
Reply
07-10-2018, 11:45 AM,
#33
RE: Antarvasna kahani रिसेशन की मार
रिसेशन की मार पार्ट--32

गतान्क से आगे..........

सेक्सी स्वीट छोटी सी खूबसूरत, इनोसेंट ममता और उसके छोटे से मस्त बूब्स

दो वीक्स के बाद ही मैं और डीके दुबई के डीलर्स से मीटिंग करने के लिए आ गये. दुबई मे उस टाइम पे ट्रेड फेर चल रहा था और किसी होटेल मे भी अकॉमडेशन नही मिल सकता था तो मैं ने बोला के हमारे साथ यही शोरुम के ऊपर ठहर जाना तो उसने भी मान लिया और मेरे साथ ही ऑफीस अकॉमडेशन पे चले आए. वाहा ममता को देखा तो देखते ही रह गये

और बोले के वाउ ममता तुम तो बोहोत ही सुंदर हो तो वो शर्मा गयी और गर्दन नीचे झुका का थॅंक यू सर बोला बस. हम तीनो रेडी हो के ट्रेड फेर को चले गये जहा पे कुछ डीलर्स से मिलना भी था और फेर देखना भी था. दुबई का ट्रेड फेर एक दम से मस्त होता है बोहोत प्रमोशन्स चल रहे होते है दुनिया भर से लोग आते रहते है. हर किसम की लड़किया हर किसम के ड्रेसस और सारी दुनिया के रेस्टोरेंट्स जहा मज़े मज़े के खाने मिलते है. रात तकरीबन 10 बजे तक हम फेर मे घूमते रहे. खाना भी वही एक अरब रेस्टोरेंट मे खाया. अरब खाने भी बोहोत आछे होते है वो लोग अपने खानो मे वो मसाले नही डालते जो हम इंडियन अपने खानो मे डालते है इसी लिए अरब्स के खाने बोहोत लाइट होते है और टेस्टी भी.

हम रात 11 बजे के करीब अपने अकॉमडेशन पे वापस आ गये तो डीके ने मुझ से पूछा के क्या प्रोग्राम है स्नेहा, आँख मार के बोले के कुछ पिलाओगी या ऐसे ही प्यासा रखोगी तो मैं उनकी बात समझ गयी और बोला के अरे डीके आपको खिलाउंगी भी और पिलाउंगी भी, तो डीके ने बोला के सच ? क्या खिलाओगी. मैं ने ममता से बोला के फ्रिड्ज से विस्की और शॅंपेन की बॉटल निकल लाए. ममता के जाने के बाद डीके को आँख मार के बोला के ममता को खाओगे ? तो डीके की आँखो मे चमक आ गयी और पूछा क्या ? तो मैं ने आपनी दोनो आँखें बंद कर के और अपने सर को धीरे से हिला के इशारा दिया के हा. डीके ने बोला के अरे यार यह इतनी छोटी तो है तो मैं ने बोला के तुम फिकर ना करो मैं उसको तय्यार करलूंगी बॅस तुम एक कुँवारी चूत को चोदने की तय्यरी करो तो डीके ने मेरा हाथ पकड़ के अपने खड़े हुए लोहे जैसे लंड पे रख लिया और बोला के देखो यह तो रेडी हो गया अब तुम जल्दी से काम करदो और मेरे लंड को चूत दिलवा दो तो मैं ने उनके लंड को ज़ोर से दबाते हुए कहा के थोड़ा तो सबर करो अभी मिलेगी ममता की कुँवारी चूत. उसकी चूत बोहोत ही छोटी है ज़रा धीरे से उसकी सील तोड़ना तो उसने बोला के तुम्है कैसे मालूम के उसकी चूत छोटी है तो मैं ने बोला के अरे यार मैं देख चुकी हू और टेस्ट भी कर चुकी हू तो डीके हस्ने लगे और बोले के तुम बोहोत शैतान होती जा रही हो और हम दोनो हस्ने लगे इतने मे ममता शराब और 2 ग्लास ले आई तो मैं ने बोला के अरे 2 ग्लास क्यों 3 लाओ तो उसने बोला के नही मेडम मैं ड्रिंक्स नही लेती तो मैं ने बोला के अरे यार चलो आओ थोडा सा कंपनी देदो ना तुम्है कोन एक दिन मे शराबी बना देगा. थोड़े से सीप लेना और हमारा साथ देना बॅस तो वो उठ के गयी और एक ग्लास और ले की आ गयी.

मैं तो अब आछे तरीके से ड्रिंक्स लेने की आदि हो गई थी. ममता का यह पहले टाइम था तो वो डर रही थी. उसको शॅंपेन का ग्लास दिया तो उसने थोड़ा सा

सीप लिया और मूह बनाने लगी तो हम दोनो हंस दिए और बोला के कोई बात नही थोड़ा थोड़ा लो टेस्ट आएगा तो वो भी थोड़ा थोड़ा सीप करने लगी और ऐसे ही सीप ले ते ले ते उसने आधे से ज़ियादा ग्लास ख़तम कर दिया. डीके ने पूछा कोई फिल्म हो तो लगाओ तो मैं ने ममता से पूछा के कोई फिल्म है क्या तो उसने बोला के हा मेडम आप के सीडी बॉक्स मे बोहोत सारी फिल्म्स है मैं ने देखी नही तो मैं ने बोला के ठीक है इधर लाओ बॉक्स और उस्मै से एक ब्लू फिल्म की सीडी निकाल के ममता को दे दिया और बोला के पहले अपना ग्लास ख़तम करो उसके बाद सीडी लगाना. ममता अपनी जगह पे बैठ गयी और धीरे धीरे सीप करने लगी तो मैं ने बोला के तुम ऐसे ही इतनी देर तक सीप लेती रहोगी तो मज़ा नही आएगा. एक टाइम मे ही सारा अपने हलक मे उंड़ेल लो तो मज़ा आएगा तो उसने ऐसा ही क्या. शॅंपेन उसके हलक से नीचे उतर गयी पर ममता अपने गले को पकड़ के खांसने लगी. थोड़ी देर तक खांसने के बाद वो ठीक हो गयी. अब ममता को शराब का नशा चढ़ने लगा था. उसकी आँखें और उसका चेहरा एक दम से लाल टमाटर हो गया था.

ममता अपने आप मे मुस्कुराने लगी और हस्ने लगी तो मैं समझ गयी के अब इसको नशा चढ़ने लगा है. मैं अपनी जगह से उठी और सीडी प्लेयर पे फिल्म लगा के वापस आ गयी और अपनी सीट से थोड़ा हट के बैठ गयी. अब पोज़िशन ऐसी थी 4 सीटर वाले बड़े सोफे पे के ममता बीच मे बैठी थी. एक तरफ मे और दूसरी तरफ डीके बैठे थे. यह 4 सीटर स्पेशल सोफा भी बोहोत बड़ा और स्पेशियस था. इतना बड़ा था के इस पे एक आदमी बोहोत आराम से सो सकता था. फिल्म जैसे ही स्टार्ट हुई नंबरिंग के साथ बड़े बड़े लंड वाले मेल्स और नखरे करती चूत वाली लड़कियाँ आती गयी जिन्है देखते ही ममता का चेहरा लाल हो गया और वो मेरी तरफ देखने लगी तो मैं ने उसको सामने देखने का इशारा किया तो वो फिर से टीवी की तरफ देखने लगी जहा पहले सीन शुरू हो चुक्का था. सीन मैं भी वो आदमी का बोहोत ही बड़ा और बोहोत मोटा लंड था और उसके साथ वाली लड़की भी छोटी सी ही थी जो उसके लंड को अपने हाथो से मसल रही थी और फिर घुटनो के बल बैठ के उसके लंड को चूसने लगी. ममता की हालत देखने की थी वो अपनी नाइटी के ऊपेर से ही अपनी चूत को ऐसे मसाज कर रही थी जैसे कमरे मे वो अकेली हो. डीके ने अपना हाथ ममता के थाइ पे रख दिया और सहलाने लगा साथ मे उसकी चूत को भी सहलाने लगा तो ममता ने अपना हाथ अपनी चूत से हटा लिया. डीके ने मोका देख कर ममता का हाथ पकड़ा और अपने खड़े हिलते हुए लंड पे रख लिया. ममता को शराब का नशा तो चढ़ने ही लगा था. उसने डीके के पॅंट की ज़िप खोल दी और उसके लंड को पॅंट से बाहर निकाल के दबाना शुरू कर दिया. उसका लंड इतना बड़ा था के ममता के दोनो हाथो मे समा नही रहा था. मैं झुक के ममता की नाइटी को उतार दिया और उसके बूब्स को चूसने लगी. ममता जोश मे पागल सी हो गयी थी

और उसके मूह से आआआआअहह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स फफफफफफफफफफफफफ्फ़ जैसी आवाज़ें निकल रही थी.

ममता अब पूरी तरह से नंगी हो चुकी थी. मैं ने भी अपनी नाइटी निकाल दी और मैं भी नंगी हो गयी. और सोफे पे थोड़ा कोरसस हो के बैठ गयी और ममता के मूह मे अपनी चुचिओ को दे दिया जिसे वो फॉरन ही चूसने लगी. ममता शराब के नशे मे पूरी तरह से डूब चुकी थी. उसको कुछ पता ही नही था के उसके साथ क्या हो रहा है. डीके ममता की चुचिओ को चूस रहे थे और साथ ही उसकी चूत का मसाज भी कर रहे थे. ममता की टाँगें पूरी तरह से खुल चुकी थी और अपनी गंद उठा उठा के डीके की उंगली से चुद रही थी. उसकी कुँवारी चूत से कंटिन्यू जूस निकल रहा था. ममता की आँखें मस्ती मे बंद हो गई थी. मैं अपनी जगह से उठी और नीचे ममता की टाँगो को खोल के उनके बीच मे घुटनो के बल बैठ गयी और ममता की चूत पे किस किया तो उसने फॉरन ही अपना हाथ डीके के लंड से हटा लिया और मेरा सर पकड़ के अपनी चूत मे घुसा लिया. उसकी गंद सोफे से काफ़ी ऊँची उठ चुकी थी और अपनी चूत को मेरे मूह मे रगड़ रही थी. यह देख के डीके अपनी जगह से उठे और सोफे के ऊपेर ममता के पैरो के दोनो तरफ अपने पैर रख के ऐसे खड़े हो गये के उनका मस्ती मे लहराता लंड ममता के मूह के सामने झटके मारने लगा जिसे ममता ने फॉरन ही अपने मूह मे ले लिया. उस बेचारी के मूह मैं डीके के लंड का सिर्फ़ सूपड़ा ही घुस पाया. डीके ममता का सर पकड़ के उसके मूह को चोदने लगे. थोड़ी देर की कोशिश के बाद डीके उसके मूह मे आधा लंड घुसाने मे कामयाब हो गये थे. ममता भी बड़े मज़े से लंड चूस रही थी, कभी दोनो हाथो से लंड के डंडे को पकड़ के मूठ जैसा मारती तो कभी एक हाथ से उनके गोल्फ बॉल जैसे टॅटू को मसल्ति और अपने मूह को आगे पीछे कर के ऐसे एक्सपर्टीस स्टाइल से चूस रही थी जैसे लगता था के वो लंड चूसने मे बड़ी एक्सपर्ट है और बचपन से यही करती आई है और लौदे चूसना उसके बाएँ हाथ का खेल है जब के ममता ने आज पहली बार ही किसी मर्द के लंड को अपने सामने देखा, उसको पकड़ा और चूसा था. आज से पहले ममता ने कभी किसी का लंड नही देखा था वो बेचारी तो बोहोत ही मासूम थी. उसकी चूत बिना चुदी और एक दम से कुँवारी थी.

ममता डीके का मोटा लंड चूस्ते हुए

नीचे से मैं उसकी चूत को चाट रही थी. ममता तो जैसे पागल हो गयी थी और उसकी चूत पता नही कितने टाइम झाड़ चुकी थी. ममता के इस मस्त तरीके से लंड चूसने को डीके भी ज़ियादा देर तक बर्दाश्त नही कर पाए और उसका सर पकड़ के हलक तक लंड घुसा दिया और अपनी मलाई का फव्वारा छ्होर्ने लगे जिसे वो बड़े मज़े से पी गयी.

डीके ने अपना लंड उसके मूह से बाहर निकल लिया और साइड मे बैठ के उसकी चूत को सहलाने लगे और उसके बूब्स को चूसने लगे. ममता वासना की आग मे बुरी तरह से जलने लगी और फॉरन ही डीके के लंड को फिर से अपने हाथो मे पकड़ के मूठ मारना शुरू कर दिया. ममता बोले जा रही थी आअहह मादडामम्म ब्ब्बूहहूवततत्त म्‍म्माआज़्ज़्ज़्ज़ाआ आआ र्र्र्ररराआआ हहाा हहीएईईइ ऊऊईईइ म्‍म्म्माऐईयईई गग्ग्गाआययययए और उसने मेरा सर बड़ी ज़ोर से पकड़ लिया और अपनी चूत को मेरे मूह मे दबा दिया और वो मेरे मूह मे झड़ने लगी.

अब ममता वासना की आग मे बुरी तरह से जलने लगी थी अब उसकी चूत को एक आछे मोटे लंड की ज़रूरत थी. ममता की चूत झड़ती ही चली गयी और उसकी आँखें बंद हो गयी थी और मैं उसकी चूत को कंटिन्यू चाट रही थी. ममता बे दम हो के सोफे पे टेढ़ा लेट गयी थी. डीके ने ममता को उठाया और बेड पे लिटा दिया और उसके ऊपेर झुक के उसके बूब्स को चूसने लगे. डीके का रॉकेट लंड ममता की चूत के पंखदिओं के बीचे मे था. ममता से अब रहा नही जा रहा था और उसने डीके के लंड को अपने हाथो मे पकड़ लिया और अपनी चूत मे घिसने लगी. इतनी देर मे, मैं ममता के मूह पे च्चढ़ गयी और उसके मूह के ऊपेर अपनी चूत को रख के बैठ गयी. मेरी चूत को अपने मूह के सामने देख के ममता ने मेरे चूतदो नो पकड़ा और अपनी ओर खेच लिया और मेरी चूत को चूसने और चाटने लगी. मैं इतनी देर से यह सब देख रही थी जिस से मेरी चूत एक दम से गीली हो चुकी थी और झड़ने के कगार

पर थी. इधर मे अपनी चूत ममता के मूह मे रगड़ रही थी उधर ममता डीके का लंड पकड़ के अपनी चूत मे रगड़ रही थी. डीके के लंड से मोटे मोटे कतरे प्री कम के निकल रहे थे और चूत बोहोत ही स्लिपरी हो गयी थी. डीके ने एक झटका मारा और लंड का सूपड़ा ममता की कुँवारी चूत के सुराख मे फँस गया. ममता का मूह एक दम से खुल गया पर मेरी चूत उसके मूह के ऊपेर होने से वो चिल्ला ना पाई.

मैं अपने हाथ आगे कर के ऐसे लेट गयी के मेरे दोनो घुटने ममता के सर के दोनो तरफ थे और मेरा बदन बेड के दूसरे तरफ और मैं अपनी गंद उठा उठा के अपनी चूत को ममता के मूह पे पटक रही थी. उसके दाँत लगने से मेरी चूत मे एक हलचल होने लगी. उधर डीके अपने लंड के सूपदे को उसकी चूत के सुराख मे अंदर बाहर करते करते एक पवरफुल झटका मारा तो डीके का मूसल ममता की चूत को फड़ता हुआ उसकी चूत के अंदर ऑलमोस्ट आधा घुस गया और वो बोहोत ज़ोर से चिल्लाई आआआआआईयईईईईईई म्‍म्म्माआआआअ और मैं ने उसके मूह को अपनी चूत से दबा दिया. डीके ममता की छोटी सी चूत मई अपना आधा लंड घुसा के ऐसे ही लेते रहे. उनके लंड को ममता की चूत के मसल्स ने टाइट पकड़ा हुआ था.

ममता की कुँवारी चिकनी चूत मैं डीके का लंड

मैं बोहोत ही बेचैन हो गयी थी और मुझे बोहोत ही मज़ा आ रहा था और फिर मैं ममता के मूह मे अपनी चूत को रगड़ते रगड़ते झाड़ गयी. मेरी चूत से जूस की धारा बहती रही और मैं अपनी चूत को ममता के मूह मे दबाए गहरी गहरी साँसें लेती हुई ढेर हो गयी.

डीके का लंड ममता की टाइट चूत मे फँसा हुआ था और वो तकलीफ़ से छटपटा रही थी. डीके को अपने ऊपेर से धकेलने की पूरी कोशिश कर रही थी और शराब के नशे मे बोल रही थी हट साले मेरे ऊपेर से हट भेन्चोद यह मूसल डाल दिया मेरी छोटी सी चूत मे निकाल इसे क्या समझा है तेरी मा की चूत है यह साले निकल. डीके ने कुछ नही बोला और झुक के उसके ऊपर आ गये

और उसके बूब्स को चूसने लगे. और ममता को किस करने लगे तो थोड़ी देर मे वो रिलॅक्स हो गयी और अपने टाँगें उसके बॅक पे लपेट ली. अब उसको भी डीके का लंड अपनी चूत मे अछा लगने लगा था.

डीके का मोटा लंड ममता की चूत मे आधा घुस गया

डीके ममता को आधे लंड से ही चोद्ते रहे और ममता एंजाय करती रही. इतनी देर मे मेरी साँसें कुछ ठीक हो गयी थी तो मैं अपनी जगह से उठी और ममता के बूब्स को चूसने लगी. ममता को भी मज़ा आने लगा था और उसने मेरे सर को अपने सीने मैदबा लिया. उधर डीके ममता को चोद रहे थे. लगता था के अभी ममता की सील नही टूटी थी.

ममता तकलीफ़ से चिल्लाई ऊओईई म्‍म्म्माआआआआअ

डीके अब ममता के ऊपेर झुक गये और धीरे धीरे उसको चोदने लगे. उसकी चूत से जूस निकलता रहा और चूत गीली हो गयी थी. अब ममता डीके के लंड से शाएद अड्जस्ट हो गयी थी. अब डीके को उसकी छोटी सी चूत को चोदने मे बोहोत मज़ा आ रहा था. वो ममता के ऊपेर पूरा झुके हुए थे और उसके शोल्डर्स को अपने हाथो से टाइट पकड़ लिया. ममता ने अपनी टाँगें डीके की बॅक पे लपेट ली. अब डीके ममता की चूत को कुँवारी चूत को चोद के ममता जैसी कच्ची कली को फूल बनाने वाले थे. ममता के बूब्स डीके के सीने से चिपक गये थे. डीके उसको पॅशनेट किस करने लगे और अपनी गंद उठा उठा के धीरे धीरे चोदने लगे. और फिर एक ही झटके मे अपने लंड को उसकी चूत से पूरा बाहर तक खेच लिया और पूरी ताक़त से उसकी चूत मे घुसेड दिया. ममता बड़ी ज़ोर से चिल्लाई म्‍म्म्मममाआआअरर्र्र्र्र्र्ररर गगग्गगाआईईई हहाआआआआआआईईईई फफफफफफफफफफफफफफफफफ्फ़ और उसकी आँखो से आँसू निकलने लगे. डीके ममता के बदन पे ऐसे ही पड़े रहे और ममता भी बिना हरकत करे डीके के नीचे पड़ी गहरी गहरी साँसें लेती पड़ी रही. उसकी कुँवारी चूत की सील टूट चुकी थी, चूत फॅट के पूरी तरह से खुल चुकी थी और एक कच्ची कली फूल बन गयी थी.

डीके का लंड ममता की चूत मे पूरा धँस गया

क्रमशः......................
Reply
07-10-2018, 11:45 AM,
#34
RE: Antarvasna kahani रिसेशन की मार
रिसेशन की मार पार्ट--33

गतान्क से आगे..........

थोड़ी देर के बाद डीके उसके ऊपेर से थोडा सा ऊपेर उठे और उसको चोदने का प्लान बना रहे थे तो देखा के उसकी तो आँखें पूरी तरह से बंद है और वो गहरी गहरी साँसें लेती पड़ी है. डीके समझ गये के उसको चूत फटने का शॉक लगा है. डीके ने मुझ से बोला के स्नेहा तुम थोड़ा सा ठंडा पानी लाओ और इसके मूह पे छीटें मारो. मैं अभी इसकी चूत से लंड बाहर नही निकालूँगा. अगर अब इस टाइम पे मैं अपना लंड इसकी चूत से बाहर निकाल लूँगा तो फिर यह ज़िंदगी भर किसी से नही चुदवायेगी. इसको बोहोत बुरी तरह से शॉक लगा है. मैं अपनी जगह से उठी और फ्रिड्ज से ठंडा पानी निकाल लाई और ममता के मूह पे छीटें मारने लगी. 1 मिनिट के अंदर ही ममता अपने मूह कोझटक के आँखें खोल के देखने लगी. उसका नशा उतर चुका था और पहले मेरी तरफ देखा फिर डीके की तरफ देखा और फिर झुक के अपनी चूत की तरफ देखा जिसके अंदर डीके का मूसल गढ़ा हुआ था. पहले तो उसकी समझ मे कुछ नही आया फिर मैं ने ममता को किस करना शुरू किया और बोला के सब ठीक हो जाएगा तुम फिकर ना करो जो होना था सो हो चुका है. तुम्हे बोहोत मुबारक हो अब तुम कुँवारी नही रही. आज तुम लड़की से औरत बन गयी हो और शूकर करो के तुमने ऐसे शानदार लंड से अपनी कुँवारी चूत की सील तुडवाई है. ममता मुस्कुरा के मुझे और डीके की तरफ देखने लगी.

इतनी देर मे उसका दरद कम हो गया था. डीके उसको अब धीरे धीरे चोदने लगे. ममता अब अपनी गंद उठा उठा के डीके के लंड को अपनी चूत के अंदर ले रही थी. ममता को अब चुदवाने मे बोहोत मज़ा आ रहा था और वो नीचे से बोल रही थी आअहह ड्ड्ड्ड्ख्ख्ख्ख्ख्ख्ख्ख्ख्ख्ख्क ब्ब्ब्बूओह्ह्ह्हूऊओत्त्त्त्त म्‍म्माआज़्ज़्ज़्ज़ाआअ आआआअ र्र्र्राआअह्ह्ह्ह्हाआ हीईएईईईईईई आईई म्‍म्माआ उउउउउउफ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ्फ उसको थोड़ी तकलीफ़ भी हो रही थी और मज़ा भी आ रहा था और फुल मस्ती मे चुदवा रही थी. आज वो सही मानो मे एक कच्ची कली से पूरी तरह से जवान हो गयी थी. डीके अब पूरी रफ़्तार से घचा घच चोद रहे थे और ममता नीचे पड़ी ऐसे हिल रही थी जैसे वो किसी रन्निंग ट्रेन मे सवार हो. अभी तक उसकी चूत से एक क़तरा भी खून का नही टपका था क्यॉंके डीके का मोटा लंड उसकी चूत मे एक दम से फिट बैठा और एक मिल्लिमेटेर की जगह भी खाली नही थी जहा से खून बाहर आता. डीके ने चोदने की रफ़्तार तेज़ कर दी थी और अब तो ममता की चूत को बिल्कुल किसी दीवाने की तरह से चोद रहे थे लंड कब चूत के अंदर जाता और कब बाहर आता पता ही नही चल रहा था और नीचे पड़ी ममता प्लेषर के पीक पे पोहोच चुकी थी और उसकी चूत से कंटिन्यू जूस निकल रहा था और जूस चूत के अंदर ही रुका हुआ था जिसकी वजह से पच पॅक की आवाज़ें आ रही थी और वो बोल रही थी आअहह म्मीरीए सस्शहीएररर ब्बूहहूवततत म्‍म्माआज़्ज़्ज़ाआ एयाया र्राअह्ह्ह्हाअ हाऐईयइ आआआआआआहह ऊऊऊऊऊऊहह हह सस्स्स्स्सस्स हाआाआअँ आआआआआआईईई ईईईईईईईईईईई बोहुत अच्छााआआअ लग रहाआआआ हाआईईईईइ. आऐईएसस्सीए हहीए कक्चहूओद्दद्डूऊऊ और फिर ममता का बदन बोहोत ज़ोर से अकड़ गया और फॉरन ही वो किसी सूखे पत्ते की तरह से हिलने लगी और झड़ती ही चली गयी.

इधर डीके भी अब आने के लिए रेडी हो गये थे. धना धन चोद रहे थे दोनो के बदन पसीने से भर गये थे. डीके का लंड ममता की चूत मा फूलने लगा था और पूरा अंदर तक घुस के उसकी बच्चे दानी के सुराख मे जा के ठोकर मार रहा था और उधर ममता ऐसे मस्त चुदाई से बे हाल हो चुकी थी और दीवानो की तरह से बड़बड़ा रही थी डीके भर दो मेरी चूत को अपने गरम गरम शेहेद से भर दो मुझे और मेरी चूत को भर दो आआअहह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स और वो एक बार फिर से झड़ने लगी. डीके मस्ती मे चोद रहे थे और बोल रहे थे ममता मैं आने वाला हू मैं आने वाला हू मैं आ रहा हूओन्न तो ममता ने बोला के आआअहह द्दददककककक एयाया जाआओ एम्मीयीयिरर्रईयियी प्प्प्य्य्य्याअस्स्स्सीई कककचहूऊतततत म्‍म्मीइ आप्प्पन्न्नाआ गग्ग्गाआररर्राआंम्म ग्ग्गारराययाम ल्ल्ल्ल्लाआववववाअ दद्दालल्ल्ल दूऊव आआआहह. डीके ज़ोर से चिल्लाए मैं आअय्य्याआअ आआआआआईईईईई मैआआ र्र्रएययेयीययाया हूऊऊन्न्‍नननणणन् म्‍म्म्माआंम्म्ममतत्त्त्त्ताआआआआआआआआआआआ आआआआहह आआआआररर्र्र्ररराआआआआअहहाआआआआअ हहूऊवन्न्‍ननणणन् ययईएहह ल्ल्ल्लूऊऊऊओ न्न्न्नियैआइयैयीयिक्क्क्क्क्क्क्क्क्ल्लायाआयाययाया म्‍म्म्मईएररर्राआ आआआआअहह सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स हाआाआअँ सस्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्स्सस्स ऊऊऊऊओह हह हाआआआआआआआआ आआअन्न्‍नननननणणन् ईईईईईईईईई ईहह आआआआआआआहह हह लो भाआआआआआअर राआआआहह आआआआआआ हूऊऊऊऊऊऊवंन्न न्‍न्‍नणणन् लो लो लो लो लो लो लो लो हाआआआआआआं उउउउउउउउउउउह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह हह. एक फाइनल झटका बोहोत ज़ोर से मारा और लंड को ममता की चूत के अंदर दफ़न कर दिया और बोहोत ही तेज़ी से डीके के लंड से गरम गरम मलाई की पिचकारी निकली. पहली पिचकारी चूत के अंदर लगते ही फॉरन ही ममता की चूत एक बार फिर से काँपने लगी और एक बार फिर से झड़ने लगी और वो उठ के डीके के बदन से चिपक गयी और उनको बोहोत टाइट पकड़ लिया और झड़ती ही चली गयी और साथ मे अपनी चूत मे डीके के लंड से गिरती एक एक बूँद को महसूस करती रही. दोनो की आँखें बंद हो गयी थी और दोनो ही गहरी गहरी साँसें ले रहे थे और डीके ममता के बदन पे ढेर हो गये.

दोनो एक दूसरे से लिपटे पड़े रहे. डीके ने धीरे से ममता के कान मे कहा ममता यू आर सिंप्ली वंडरफुल तुम्है चोदने मे जितना मज़ा आया किसी को चोदने मई नही आया तो ममता उसके नीचे पड़े ही पड़े मुस्कुरा के बोली "डीके आज मैं पूरी हुई हूँ. एक लड़की बिना लंड के औरत

बन ही नही सकती और तुम ने मुझे आज एक कुँवारी लड़की से औरत बना दिया. एक औरत की चूत बिना लंड के अधूरी होती है और आज तुमने मुझे ऐसे शानदार लंड से चोद के पूरा कर दिया. आज मैं पूरी हुई हूँ".

जैसे ही डीके ने अपना लंड ममता की चूत से बाहर खेच के निकाला, ममता की चूत से जैसे खून का फव्वारा निकल पड़ा. इतना खून देख के ममता घबरा गयी और रोने लगी. मैं ने ममता को समझाया के ऐसा तो होता ही है फर्स्ट टाइम चुदाई मे जब सील टूट ती है और कुँवारी चूत जब कली से फूल बनती है तब हर चूत से खून ज़रूर निकलता है. तुम्हारी चूत लकी है के डीके के शानदार लंड से तुम्हारी चूत की सील टूटी है. ममता थोड़ी थोड़ी देर मे अपनी चूत को सहलाने लगी. उसकी चूत सूज के बोहोत मोटी और लाल हो गयी थी. उसकी चूत का सुराख किसी इंग्लीश के " ओ " की तरह से खुल गया था. उस रात ममता और ना चुदवा सकी. डीके ने ममता के सामने जब मेरी चूत और गंद मारी तो ममता हैरत से देखने लगी. उसकी चूत बोहोत दुख रही थी. अगले दिन डीके ने और मैं ने मिल के ममता को फिर से शराब मे डुबो दिया और डीके ने मार मार के उसकी गंद फाड़ डाली. उसकी गांद मे से भी ढेर सारा खून निकला और एक बार फिर ममता बोहोत रोई. अब तो खैर ममता भी एक दम से चुड़क्कड़ हो गयी है. अब उसको भी छोटे लंड से चुदवाने मे मज़ा नही आता अब तो वो डीके और राज के लंड से चुदने के बाद ही संतुष्ट होती है.

ममता डीके का लंड चूत मे घुसते देख रही है

ममता की चूत एक ही चुदाई मे भोसड़ा बन गयी.

कच्ची कली से फूल बन के ख़ुसी से मुस्कुराने वाली ममता

लड़कियों का ड्रीम लंड जिस से हर लड़की चुदवाना पसंद करे

जब कभी भी डीके का दुबई आना होता तो वो ममता को इतना चोद्ते इतना चोद्ते के ममता ऐसी चुदाई से बे हाल हो जाती और 4 – 5 दीनो तक चलने के काबिल नही रहती.

मैं तो हमेशा ही डीके के साथ रहती. वो मुझे दिन मे 2 – 3 बार तो ज़रूर चोद्ते और अब मेरी चूत भी उनके लंड से इतनी घुल मिल गयी थी के जब तक कम से कम 3 टाइम चुदाई ना हो मुझे मज़ा ही नही आता और लगता जैसे मैं भूकि हू और मेरी चूत प्यासी है.

राज भी जब हमारे साथ होता तो हम 3सम करते और अगर राज, डीके और मैं बॅंगलुर मे होते तो उर्मिला भी आ जाती और हम सब मिल के चुदाई समारोह मनाते.

उर्मिला तो सतीश के साथ ही रहती थी और वो दोनो किसी वाइफ हज़्बेंड की तरह से ही रहने लगे. सतीश भी आजकल बोहोत ही बिज़ी हो गया था और जब भी मौका मिलता उर्मिला उस से चुदवा लेती.

हम सब अपनी अपनी जगह बोहोत खुश रहने लगे थे.

कभी कभी जब मैं अपनी पस्त ज़िंदगी के बारे मे सोचती तो यही ख़याल आता के सतीश के बिज़्नेस को रिसेशन की मार लगी हो या ना लगी हो मेरी चूत को तो रिसेशन की मार ज़रूर लगी और ऐसी लगी जिसने मेरी ज़िंदगी मे खुशियाँ ही खुशियाँ भर दी. "हॅट्स ऑफ टू दिस लव्ली रिसेशन"

दा एंड

दोस्तो अब मैं यह फॅंटेसी यही ख़तम करता हू,

कहानी पढ़ के मुझे ज़रूर बताना के कैसी लगी. इस कहानी को लिखते लिखते ऑलमोस्ट 3 मंत्स हो गये है. कभी टाइम नही मिलता था ओरजब टाइम मिलता तो मूड नही होता था. खैर अब तो कहानी तय्यार हो चुकी है आपको बस पढ़ना और एंजाय करना है.

दोस्तो आपको एक बात का पता होना चाहिए के हमे कहानी लिखने मे 3 – 3 महीने लग जाते है और आप लोग इसको 3 घंटे के अंदर पढ़ लेते है. ज़रा सोचिए के हम इतनी लंबी कहानी कैसे लिख लेते है. कभी सोचा आप ने ???

दोस्तो प्लीज़ डॉन'ट फर्गेट टू मैल मी के आपको यह फॅंटेसी कैसी लगी.

दोस्तो पढ़ कर ज़रूर बताना के यह मेरी लिखी हुई कहानी आप को कैसी लगी. मैं आपके मैल का वेट करूगा. थॅंक्स फॉर रीडिंग माइ स्टोरी.

आपका ग्रेटवॉरियर
Reply


Possibly Related Threads...
Thread Author Replies Views Last Post
Star Chodan Kahani चंचल चूत sexstories 22 2,069 Yesterday, 12:12 PM
Last Post: sexstories
Star Kamukta Story हवस मारा भिखारी बिचारा sexstories 41 2,760 Yesterday, 11:31 AM
Last Post: sexstories
Star Antarvasna तूने मेरे जाना,कभी नही जाना sexstories 29 840 Yesterday, 11:15 AM
Last Post: sexstories
Star Biwi ki Chudai किराए का पति sexstories 24 1,645 Yesterday, 11:04 AM
Last Post: sexstories
Star Incest Sex Kahani घर के रसीले आम sexstories 10 5,467 07-16-2018, 12:18 PM
Last Post: sexstories
Star Kamuk Kahani मेरी चाची नंबर वन sexstories 9 1,709 07-16-2018, 12:15 PM
Last Post: sexstories
Star Behen Sex Kahani दो भाई दो बहन sexstories 66 4,898 07-16-2018, 12:13 PM
Last Post: sexstories
Star Maa Beti Chudai माँ बेहाल बेटी छिनाल sexstories 7 2,606 07-16-2018, 11:17 AM
Last Post: sexstories
Star Chudai Story अनोखी चुदाई sexstories 32 3,272 07-16-2018, 11:11 AM
Last Post: sexstories
Star XXX Hindi Kahani बिना झान्टो वाली बुर sexstories 20 9,102 07-12-2018, 12:21 PM
Last Post: sexstories

Forum Jump:


Users browsing this thread: 2 Guest(s)